POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Blog: "निरंतर" की कलम से.....

Blogger: डा.राजेंद्र तेला "निरंतर
बड़े चाव से धरती में बीज लगाया मन में सुन्दर सपना संजोया बीज एक दिन सुन्दर वृक्ष का रूप लेगा सुगन्धित फूलों से लदेगा मीठे फलों से सजेगाह्रदय में आशाओं कासंसार बसाया अति उत्साह में बार बार पानी पिलाता रहा आतुरता से निहारता रहा पूरा हो सपना सुहानाइश्वर से प्रार्थना कर... Read more
clicks 146 View   Vote 0 Like   6:40am 7 Mar 2013 #निरंतर
Blogger: डा.राजेंद्र तेला "निरंतर
प्रेम केवल तन मन भक्ति आसक्ति स्नेह ही नहीं प्रेम दिव्य ज्योति है परमानंद हैप्भावनाओं का अथाह सागर है जितना भी डूबना चाहो डूब सकते होप्रकृति और जीवों कोजितना भी समझना चाहो समझ  सकते हो अपने अन्दर समाहित करना चाहो कर सकते हो फिर भी उसकी सीमाओं को छू नहीं सकते गहराई कोन... Read more
clicks 185 View   Vote 0 Like   2:30pm 6 Mar 2013 #निरंतर
Blogger: डा.राजेंद्र तेला "निरंतर
आस्था विश्वास अनिष्ट और भय के मकड़ जाल में उलझा हूँ एक का पल्ला पकड़ता हूँ दूसरा अपनी ओर खीचने लगता हैआस्था और विश्वास मुझे मरने नहीं देतेअनिष्ट और भय मुझे जीने नहीं देतेनिरंतर असमंजस के संसार में डुबकियां लगाता रहता हूँना खुल कर हँस पाता हूँ ना खुल कर रो पाता हूँ12-12-06-01-... Read more
clicks 126 View   Vote 0 Like   5:47am 6 Mar 2013 #अनिष्ट
Blogger: डा.राजेंद्र तेला "निरंतर
ज़िन्दगी का लुत्फ़ उठाना होमस्ती में जीना हो तो रोना छोड़ना होगा निरंतर हँसना होगा छोटी छोटी बातों को भूलना होगा रिश्तों को निभाना होगा ग़मों को सहना होगा मोहब्बत को जीने का मकसद बनाना होगाजीओ और जीने दो का नारा लगाना होगा11-11-05-01-2013ज़िन्दगी डा.राजेंद्र तेला,निरंतरDr.Rajendra T... Read more
clicks 181 View   Vote 0 Like   5:39pm 5 Mar 2013 #निरंतर
Blogger: डा.राजेंद्र तेला "निरंतर
तुम्हारा ख़त मिलाउसमें लिखातुम्हारा पैगाम मिलाघर वाले हमारी नियत परशक करते हैंइसलिए अब हमसेबात नहीं कर पाओगीघर में फजीहत नहींकरवाओगीकभी ये भी सोचा तुमनेघर वाले तो तुम पर भीयकीन नहीं करतेगर यकीन होतातो हमारी नियत परसवाल ही नहीं उठातेमिलो ना मिलो हमसेहम नहीं चाहते... Read more
clicks 128 View   Vote 0 Like   7:26am 5 Mar 2013 #शक
Blogger: डा.राजेंद्र तेला "निरंतर
थोड़ी सीसफलता मिल गयीतुम बेकाबू हो गएढोल नगाड़े बजाने लगेखुशी में नाचने लगेसारी दुनिया कोबढ़ा चढ़ा कर बताने लगेअपने को सबसेबेहतर समझने लगेकभी फूल कोखिलते समय शोरमचाते देखामहक फैलाते हुएनाचते गाते देखाकुछ तो फूलों से हीसीख लोसफलता कोघमंड की सीमा तकना जताओआगे बढ़... Read more
clicks 178 View   Vote 0 Like   6:53pm 4 Mar 2013 #निरंतर
Blogger: डा.राजेंद्र तेला "निरंतर
रोज़ चमकते चमकतेसूरज बेचारा थक गयाथक हार कर अपनी व्यथाचाँद को बताने लगातुम कितने खुश किस्मत होपूनम को पूरे खिलते होबाकी समयकम में काम चलाते होना थकते होना व्यथित होते होचाँद ने उत्तर दियामित्र क्यों ऐसा सोचते होहर इच्छाकिसकी पूरी होती हैमैं भी चाहता हूँसातों दिन प... Read more
clicks 152 View   Vote 0 Like   7:26am 4 Mar 2013 #आशा
Blogger: डा.राजेंद्र तेला "निरंतर
आंकड़ों केमकड़ जाल में सारा देशउलझ गयागरीब बेचारा गरीब रह गयामुद्रास्फीति,महंगाई दर ,रोज़ कितने पैसों मेंगरीब का घर चलताइस जोड़ बाकी मेंगरीब बेचारा पिस गयावातानुकूलित कमरों में बैठेअर्थशास्त्रियों की ज़द्दोज़हद मेंगरीब बेचारा उलझ गयाउसे क्या लेना देनाक्या बड़... Read more
clicks 166 View   Vote 0 Like   5:39pm 3 Mar 2013 #जनता डा.राजेंद्र तेला
Blogger: डा.राजेंद्र तेला "निरंतर
कल रात लिखने बैठा तोअचनाक ख्यालों मेंउनका चेहरा सामने आ गयादुविधा में फंस गया,लिखने में ध्यान लगाऊंगातो चेहरे से ध्यान हटाना पडेगाचेहरा देखता रहूँगातो कुछ लिख नहीं पाऊंगाउहापोह में सारी रातकलम हाथ में लिए बैठा रहाकलम से तो कुछ नहीं लिख सकापर इतनी लम्बी देर तकउनके ... Read more
clicks 115 View   Vote 0 Like   7:16am 3 Mar 2013 #प्यार
Blogger: डा.राजेंद्र तेला "निरंतर
बसा करप्रियतम को ह्रदय मेंखोल दिएप्रतीक्षा के द्वार मन मेंपल पलदिन महीनों और सालबांधती रही आशाओं के बाँधनिद्रा खोयी चैन खोयामिला नहीं फिर भीप्रियतम का साथआँखों से अश्रूओं की धाराअविरल बहती रहीमन रहा सदा उदासचेहरे कीचमक विदा हो गयीमन की आस पूरी ना हुयीजीवन मरण हुआ ... Read more
clicks 127 View   Vote 0 Like   12:41pm 2 Mar 2013 #प्यार
Blogger: डा.राजेंद्र तेला "निरंतर
जब भाग्य ने दिया इतना जिसकी कभी आशा भी ना थी फिर भी आज खुश क्यों नहीं हूँ जो निर्णय मैंने स्वयं किये थे उन निर्णयों के लिए किसी और को क्यों जिम्मेदार कहूं किसी से सलाह मांगी होगी उसकी सलाह भी मानी होगी ठीक नहीं निकली तो उसकी गलती कैसे मानूं फिर जिस पथ पर चल कर आज यहाँ तक पह... Read more
clicks 137 View   Vote 0 Like   5:40pm 1 Mar 2013 #आशा
Blogger: डा.राजेंद्र तेला "निरंतर
सोच रहा हूँ आज कुछ लिखूं या ना लिखूं कागज़ को रीता छोड़ दूं कलम को विश्राम दे दूंमन में प्रश्न कोंधने लगता है क्या कागज़ को मेरा व्यवहार अच्छा लगेगाकलम को भाएगा उन्हें तो मेरे मन से निकले शब्दों को अँधेरे से निकाल कर उजाला दिखाने की आदत पड़ चुकी हैआज कुछ नहीं लिखूंगा तो... Read more
clicks 127 View   Vote 0 Like   5:38am 1 Mar 2013 #भावनाएं
Blogger: डा.राजेंद्र तेला "निरंतर
मैं कठपुतली नहीं हूँ जैसे चाहो नचा लो मुझ कोमैं मदारी भी नहीं हूँ जैसे चाहूँ नचा लूं किसी को मैं एक साधारण इंसान हूँ नचाना चाहो तो प्यार से नचा लो मुझ कोगले मिल कर अपना बना लो मुझ कोमैं फिर भी किसी को नचाना नहीं चाहूंगाकेवल अपना बना कर रखना चाहूंगा खुशी में साथ हंस लूंगा ... Read more
clicks 168 View   Vote 0 Like   7:35am 28 Feb 2013 #निरंतर
Blogger: डा.राजेंद्र तेला "निरंतर
मैं कुंठित नहीं हूँ जो किसी से प्रशंसा की आशा करूँ किसी के आलोचना करने पर क्रोध करूँकिसी के पैमाने पर खरा उतरने के लिए सिद्धांतों से समझौता करूँ मैं जैसा भी हूँ वैसा ही हूँ पर कुंठित हो कर जीता नहीं हूँनिरंतर लिखता रहता हूँ खुश रहता हूँ मन को संतुष्ट रखता हूँ जो भी स्वी... Read more
clicks 170 View   Vote 0 Like   2:08pm 27 Feb 2013 #निरंतर
Blogger: डा.राजेंद्र तेला "निरंतर
कोई रात अंधेरी नहीं होती कोई दिन उजला नहीं होता केवल रोशनी की कमीया अधिकता होतीमन संतुष्ट ह्रदय प्रसन्न हो तो काली रात उजली उजले दिन में भीअन्धेरा लगता978-95-30-12-2012मन,ह्रदय,संतुष्ट,संतुष्टिDr.Rajendra Tela"Nirantar"... Read more
clicks 122 View   Vote 0 Like   7:30pm 26 Feb 2013 #ह्रदय
Blogger: डा.राजेंद्र तेला "निरंतर
 कुचली जायेंगी नौची जायेंगी जलाई जाती रहेंगी नारियां मोमबत्तियां जलाई जायंगीमोमबत्तियां बुझ भी जायेंगीतस्वीर पर फूल चढ़ाए जायेंगे फूल मुरझा भी जायेंगेसैकड़ों सालों सेनहीं बदली है स्थिति सैकड़ों सालो तकनहीं बदलेगी स्थिति जब तक बदलेंगे नहींपुरुष मानसिकता अप... Read more
clicks 107 View   Vote 0 Like   1:57pm 26 Feb 2013 #माँ
Blogger: डा.राजेंद्र तेला "निरंतर
देश में अज़ब तमाशा हो गया हैप्रजातंत्र का सत्यानाश हो गया हैदेश नेताओं की भेंट चढ़ गया हैनेता का बेटा भी नेता हो गया हैरातों रात अमीरों को बाप हो गयाबिना पैंदे का नेता तो बना हीबिना धंधे का धंधेबाज़ हो गया हैपढ़ा चाहे चार क्लास भी नहीं होपढने वालों से आगे निकल गया हैबे... Read more
clicks 91 View   Vote 0 Like   2:02pm 25 Feb 2013 #देश
Blogger: डा.राजेंद्र तेला "निरंतर
निरंतर चलता रहा हूँ जीवन से सीख कर जीवन में उतारता रहा हूँकई मोड़ों पर ठिठका हूँ कई मोड़ों पर झिझका हूँ फिर भी रुका नहीं पथ से भटका नहीं रुकावटों से लड़ता रहा हूँविवेक को नहींउसूलों को तोड़ा नहीं लाभ हानि देखी नहीं आँखें भीगी मगर असफलता में कभी रोया नहीं हूँ अपनी शर्तो... Read more
clicks 104 View   Vote 0 Like   7:02pm 24 Feb 2013 #निरंतर चलता रहा हूँ
Blogger: डा.राजेंद्र तेला "निरंतर
निरंतर चलता रहा हूँ जीवन से सीख कर जीवन में उतारता रहा हूँकई मोड़ों पर ठिठका हूँ कई मोड़ों पर झिझका हूँ फिर भी रुका नहीं पथ से भटका नहीं रुकावटों से लड़ता रहा हूँविवेक को भूला नहींउसूलों को तोड़ा नहीं लाभ हानि देखी नहीं आँखें भीगी मगर असफलता में कभी रोया नहीं हूँ अपनी श... Read more
clicks 92 View   Vote 0 Like   7:02pm 24 Feb 2013 #निरंतर चलता रहा हूँ
Blogger: डा.राजेंद्र तेला "निरंतर
आँखों के सामनेबोतल भरी शराब कीपीने का मन नहीं करताखूबसूरत फूल खिले हैंघर के बगीचे मेंदेखने का मन नहीं करताहमें हाँसिल हैंहर तरह की खुशहालियाँमगर तेरे बगैर जीने कामन नहीं करता974-91-19-12-2012शायरी ,तेरे बगैर,मोहब्बतDr.Rajendra Tela"Nirantar"... Read more
clicks 90 View   Vote 0 Like   12:38pm 24 Feb 2013 #तेरे बगैर
Blogger: डा.राजेंद्र तेला "निरंतर
नित नए खेल दिखाती ज़िन्दगी कभी उठाती कभी गिराती ज़िन्दगीटुकड़ों टुकड़ों मेंबांटती ज़िन्दगीकभी रुलाती कभी हंसाती ज़िन्दगी किस की हुयी है ज़िन्दगी जो मेरी होगी पता नहीं कब साथ छोड़ देगी ज़िन्दगी973-90-19-12-2012ज़िन्दगीDr.Rajendra Tela"Nirantar"... Read more
clicks 135 View   Vote 0 Like   7:15pm 23 Feb 2013 #ज़िन्दगी
Blogger: डा.राजेंद्र तेला "निरंतर
तुम्हारी तरफ  हाथबढाता हूँतुम्हारा अभिवादनकरता हूँतुम मेरा हाथ पकडती भी होमुस्कराकर मेरा अभिवादनस्वीकार भी करती होफिर अचानकमुंह फिरा लेती होबार बार यही  बातदोहराई जाती हैया तो तुम सोचती होमैं तुम पर आसक्त हूँतुमसे प्रेम का इज़हारकरता हूँया तुम समझती हो मैंकेवल ... Read more
clicks 91 View   Vote 0 Like   6:02am 23 Feb 2013 #बहम
Blogger: डा.राजेंद्र तेला "निरंतर
जब इंसान चाहताठहराव ज़िन्दगी मेंठहरती नहीं ज़िन्दगीजब चलना चाहताचलती नहीं ज़िन्दगीकिसी मन की इच्छामानती नहीं ज़िन्दगीसदा अपने तरीके सेचलती ज़िन्दगीजिसने जैसे भी देखाज़िन्दगी कोउसे वैसी ही लगीज़िन्दगी971-88-19-12-2012ज़िन्दगीDr.Rajendra Tela"Nirantar"... Read more
clicks 145 View   Vote 0 Like   6:41pm 22 Feb 2013 #ज़िन्दगी
Blogger: डा.राजेंद्र तेला "निरंतर
ज़िन्दगी भरमंजिल की तलाश मेंनिरंतरबिना रुके चलता रहापर इच्छाएं मुझसे भीआगे चलती रहीमंजिल भी हर दिनबदलती रहीना इच्छाएं रुकीना मंजिल मिलीदोनों की कशमकश मेंज़िन्दगी ज़रूरउलझ कर रह गयी970-87-19-12-2012ज़िन्दगी,कशमकशDr.Rajendra Tela"Nirantar"... Read more
clicks 150 View   Vote 0 Like   1:36pm 21 Feb 2013 #ज़िन्दगी
Blogger: डा.राजेंद्र तेला "निरंतर
मुझे बगीचे में जानाअच्छा भी लगता हैअच्छा नहीं भी लगता हैह्रदय हँसता भी हैह्रदय रोता भी हैकुछ फूल खिले हुएकुछ मुरझाये मिलते हैंमेरे आस पास केलोगों के जीवन काआभास होता हैकुछ के पासआवश्यकता से अधिककुछ के पासआवश्यकता से भी कमभाग्य केइस विचित्र न्याय कीयाद दिलाता है969-86-... Read more
clicks 105 View   Vote 0 Like   12:55pm 20 Feb 2013 #जीवन

Share:

Members Login

    Forget Password? Click here!
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3994) कुल पोस्ट (195651)