Hamarivani.com

आपका-अख्तर खान "अकेला"

कि फँराख़ व कुशादा जिरह बनाओ और (कडि़यों के) जोड़ने में अन्दाज़े का ख़्याल रखो और तुम सब के सब अच्छे (अच्छे) काम करो वो कुछ तुम लोग करते हो मैं यक़ीनन देख रहा हूँ (11)और हवा को सुलेमान का (ताबेइदार बना दिया था) कि उसकी सुबह की रफ़्तार एक महीने (मुसाफ़त) की थी और इसी तरह उसकी शाम...
आपका-अख्तर खान "अकेला"...
Tag :
  January 5, 2019, 8:05 am
आसमानों में है और जो कुछ ज़मीन में है (ग़रज़ सब कुछ) उसी का है और आख़ेरत में (भी हर तरफ) उसी की तारीफ है और वही वाकि़फकार हकीम है (1) (जो) चीज़ें (बीज वग़ैरह) ज़मीन में दाखि़ल हुयी है और जो चीज़ (दरख़्त वग़ैरह) इसमें से निकलती है और जो चीज़ (पानी वग़ैरह) आसामन से नाजि़ल होती है और ...
आपका-अख्तर खान "अकेला"...
Tag :
  January 4, 2019, 7:58 am
मुफ़्ती अख्तर हुसैन उर्दू कॉलेज में आज संचालक मुफ़्ती अख्तर हुसैन के नेतृत्व में दलित ,,अल्पसंख्यक ,शोषित ,उत्पीड़ित क्षेत्र में स्वरोजगरोंमुखी योजनाओं को क्रियान्वित करने में मदद करने वाले कार्यकर्ताओं , समाजसेवकों का सम्मान किया ,,विज्ञाननगर स्थित मुफ़्ती अख्तर हु...
आपका-अख्तर खान "अकेला"...
Tag :
  December 30, 2018, 8:18 am
कोटा कोचिंग नगरी है ,यहां अल्पसंख्यक विभाग की सरकारी बेशुमार कथित योजनाए है ,अरबों रूपये की वक़्फ़ सम्पत्ति ,,करोड़ों करोड़ रूपये के भामाशाह दानदाता है ,,यहां कोचिंग गुरु है ,छात्र छात्राओं को शैक्षणिक अध्ययन की व्यवस्थाएं है ,एक दर्जन से अधिक कॉर्पोरेट स्कूल है ,नहीं है ...
आपका-अख्तर खान "अकेला"...
Tag :
  December 30, 2018, 8:15 am
एक सिंह जो किंग है ,,एक सिंह जो विश्व आर्थिक उदारीकरण का हीरो है ,एक सिंह जो भारत का गौरव ,भारत का अभिमान है ,,एक सिंह जो निर्विवाद है ,एक सिंह जो पद्मभूषण पुरस्कृत है ,एक सिंह जिसने दुश्मन देश पाकिस्तान के घुटने टिका दिए ,एक सिंह जिसने मुंबई हमलावरों को सबक़ सिखाया ,फांसी प...
आपका-अख्तर खान "अकेला"...
Tag :
  December 30, 2018, 8:12 am
इनमें से जिसको (जब) चाहो अलग कर दो और जिसको (जब तक) चाहो अपने पास रखो और जिन औरतों को तुमने अलग कर दिया था अगर फिर तुम उनके ख्वाहा हो तो भी तुम पर कोई मज़ाएक़ा नहीं है ये (अख़तेयार जो तुमको दिया गया है) ज़रूर इस क़ाबिल है कि तुम्हारी बीवियों की आँखें ठन्डी रहे और आर्जूदा ख़ा...
आपका-अख्तर खान "अकेला"...
Tag :
  December 27, 2018, 8:06 am
ऐ ईमानवालों बाकसरत खु़दा की याद किया करो और (41)सुबह व शाम उसकी तसबीह करते रहो (42)वह वही तो है जो खु़द तुमपर दूरूद (दर्दों रहमत) भेजता है और उसके फ़रिश्ते ताकि तुमको (कुफ्ऱ की) तारीकि़यों से निकालकर (ईमान की) रौशनी में ले जाए और खु़दा ईमानवालों पर बड़ा मेहरबान है (43)जिस दिन उस...
आपका-अख्तर खान "अकेला"...
Tag :
  December 26, 2018, 6:46 am
और तुममें से जो (बीवी) खु़दा और उसके रसूल की ताबेदारी अच्छे (अच्छ) काम करेगी उसको हम उसका सवाब भी दोहरा अता करेगें और हमने उसके लिए (जन्नत में) इज़्ज़त की रोज़ी तैयार कर रखी है (31)ऐ नबी की बीवियों तुम और मामूली औरतों की सी तो हो वही (बस) अगर तुम को परहेज़गारी मंजू़र रहे तो (अजन...
आपका-अख्तर खान "अकेला"...
Tag :
  December 25, 2018, 7:07 am
(मुसलमानों) तुम्हारे वास्ते तो खु़द रसूल अल्लाह का (ख़न्दक़ में बैठना) एक अच्छा नमूना था (मगर हाँ यह) उस शख़्स के वास्ते है जो खु़दा और रोजे़ आखे़रत की उम्मीद रखता हो और खु़दा की याद बाकसरत करता हो (21)और जब सच्चे ईमानदारों ने (कुफ्फार के) जमघटों को देखा तो (बेतकल्लुफ़) कहने ...
आपका-अख्तर खान "अकेला"...
Tag :
  December 24, 2018, 8:04 am
यहाँ पर मोमिनों का इम्तिहान लिया गया था और ख़ूब अच्छी तरह झिंझोड़े गए थे। (11)और जिस वक़्त मुनाफेक़ीन और वह लोग जिनके दिलों में (कुफ्र का) मरज़ था कहने लगे थे कि खु़दा ने और उसके रसूल ने जो हमसे वायदे किए थे वह बस बिल्कुल धोखे की टट्टी था। (12)और अब उनमें का एक गिरोह कहने लगा थ...
आपका-अख्तर खान "अकेला"...
Tag :
  December 23, 2018, 8:28 am
ऐ नबी खुदा ही से डरते रहो और काफिरों और मुनाफिक़ों की बात न मानो इसमें शक नहीं कि खु़दा बड़ा वाकि़फकार हकीम है। (1)और तुम्हारे परवरदिगार की तरफ से तुम्हारे पास जो “वही” की जाती है (बस) उसी की पैरवी करो तुम लोग जो कुछ कर रहे हो खु़दा उससे यक़ीनी अच्छा तरह आगाह है। (2)और खु़दा ...
आपका-अख्तर खान "अकेला"...
Tag :
  December 22, 2018, 7:42 am
मज़ा चखाएँगें जो अनक़रीब होगा ताकि ये लोग अब भी (मेरी तरफ) रुज़ू करें (21) और जिस शख़्स को उसके परवरदिगार की आयतें याद दिलायी जाएँ और वह उनसे मुँह फेर उससे बढ़कर और ज़ालिम कौन होगा हम गुनाहगारों से इन्तक़ाम लेगें और ज़रुर लेंगे (22)और (ऐ रसूल) हमने तो मूसा को भी (आसमानी किताब) ...
आपका-अख्तर खान "अकेला"...
Tag :
  December 21, 2018, 7:46 am
(ऐ रसूल) तुम कह दो कि मल्कुलमौत जो तुम्हारे ऊपर तैनात है वही तुम्हारी रूहे क़ब्ज़ करेगा उसके बाद तुम सबके सब अपने परवरदिगार की तरफ लौटाए जाओगे (11)और (ऐ रसूल) तुम को बहुत अफसोस होगा अगर तुम मुजरिमों को देखोगे कि वह (हिसाब के वक़्त) अपने परवरदिगार की बारगाह में अपने सर झुकाए ...
आपका-अख्तर खान "अकेला"...
Tag :
  December 20, 2018, 7:10 am
इसमे कुछ शक नहीं कि किताब क़ुरान का नाजि़ल करना सारे जहाँ के परवरदिगार की तरफ से है (2)क्या ये लोग (ये कहते हैं कि इसको इस शख़्स (रसूल) ने अपनी जी से गढ़ लिया है नहीं ये बिल्कुल तुम्हारे परवरदिगार की तरफ से बरहक़ है ताकि तुम उन लोगों को (ख़ुदा के अज़ाब से) डराओ जिनके पास तुमस...
आपका-अख्तर खान "अकेला"...
Tag :
  December 19, 2018, 7:11 am
क्या तूने इस पर भी ग़ौर नहीं किया कि ख़ुदा ही के फज़ल से कश्ती दरिया में बहती चलती रहती है ताकि (लकड़ी में ये क़ूवत देकर) तुम लोगों को अपनी (कु़दरत की) बाज़ निशानियाँ दिखा दे बेशक उस में भी तमाम सब्र व शुक्र करने वाले (बन्दों) के लिए (कुदरत ख़ुदा की) बहुत सी निषानियाँ दिखा द...
आपका-अख्तर खान "अकेला"...
Tag :
  December 16, 2018, 8:09 am
एक गुल जिसपर नाज़ है पुरे लाडपुरा विधानसभा क्षेत्र को ,,,एक गुल जिसने कोटा ज़िले की ही नहीं ,,राजस्थान की पूरी कांग्रेस को महका दिया है ,,,एक नईमुद्दीन जो हार कर भी जीते है ,,,एक नईमुद्दीन जो हार कर भी लाडपुरा विधानसभा क्षेत्र के मतदाताओं के दिलों की धड़कन ,आने वाले कल के शासन म...
आपका-अख्तर खान "अकेला"...
Tag :
  December 14, 2018, 7:53 am
(ऐ रसूल उनसे कह दो कि) ये तो खु़दा की खि़लक़त है कि (भला) तुम लोग मुझे दिखाओं तो कि जो (जो माबूद) ख़ु़दा के सिवा तुमने बना रखे है उन्होंने क्या पैदा किया बल्कि सरकश लोग (कुफ़्फ़ार) सरीही गुमराही में (पडे़) हैं (11) और यक़ीनन हम ने लुक़मान को हिकमत अता की (और हुक्म दिया था कि) तुम ख...
आपका-अख्तर खान "अकेला"...
Tag :
  December 14, 2018, 7:40 am
अलिफ़ लाम मीम (1) ये सूरा हिकमत से भरी हुयी किताबा की आयतें है (2)जो (अज़सरतापा) उन लोगों के लिए हिदायत व रहमत है (3)जो पाबन्दी से नमाज़ अदा करते हैं और ज़कात देते हैं और वही लोग आखि़रत का भी यक़ीन रखते हैं (4)यही लोग अपने परवरदिगार की हिदायत पर आमिल हैं और यही लोग (क़यामत में) अपन...
आपका-अख्तर खान "अकेला"...
Tag :
  December 13, 2018, 7:31 am
वह उससे पाक व पाकीज़ा और बरतर है ख़़ुद लोगों ही के अपने हाथों की कारस्तानियों की बदौलत ख़ुश्क व तर में फ़साद फैल गया ताकि जो कुछ ये लोग कर चुके हैं ख़़ुदा उन को उनमें से बाज़ करतूतों का मज़ा चखा दे ताकि ये लोग अब भी बाज़ आएँ (41) (ऐ रसूल) तुम कह दो कि ज़रा रुए ज़मीन पर चल फिरकर द...
आपका-अख्तर खान "अकेला"...
Tag :
  December 12, 2018, 7:54 am
उसी की तरफ़ रुजू होकर (ख़ुदा की इबादत करो) और उसी से डरते रहो और पाबन्दी से नमाज़ पढ़ो और मुशरेकीन से न हो जाना (31) जिन्होंने अपने (असली) दीन में तफरेक़ा परवाज़ी की और मुख़्तलिफ़ फिरके़ के बन गए जो (दीन) जिस फिरके़ के पास है उसी में निहाल है (32)और जब लोगों को कोई मुसीबत छू भी गयी ...
आपका-अख्तर खान "अकेला"...
Tag :
  December 11, 2018, 7:20 am
मोहब्बत में आज मेंअपना सब कुछ हार आया हूँ ,वोह मुस्कुराहटें ,, वोह खिलखिलाहटेंवोह ज़िद , वोह अरमानवोह ख्वाब , वोह ख्वाहिशेंवोह सांसे ,,वोह धड़कने ,वोह रूहसब कुछ जो मेरा था वोह में मोहब्बत में हार आया हूँ ,, अख्तरwww.akhtarkhanakela.blogspot.com...
आपका-अख्तर खान "अकेला"...
Tag :
  December 10, 2018, 6:58 am
ख़ुदा ही ने मख़लूकात को पहली बार पैदा किया फिर वही दुबारा (पैदा करेगा) फिर तुम सब लोग उसी की तरफ़ लौटाए जाओगे (11)और जिस दिन क़यामत बरपा होगी (उस दिन) गुनेहगार लोग ना उम्मीद होकर रह जाएँगे (12)और उनके (बनाए हुए ख़ुदा के) शरीकों में से कोई उनका सिफ़ारिशी न होगा और ये लोग ख़़ुद भी अप...
आपका-अख्तर खान "अकेला"...
Tag :
  December 10, 2018, 6:56 am
अलिफ़ लाम मीम (1) ये सूरा हिकमत से भरी हुयी किताबा की आयतें है (2)जो (अज़सरतापा) उन लोगों के लिए हिदायत व रहमत है (3)जो पाबन्दी से नमाज़ अदा करते हैं और ज़कात देते हैं और वही लोग आखि़रत का भी यक़ीन रखते हैं (4)यही लोग अपने परवरदिगार की हिदायत पर आमिल हैं और यही लोग (क़यामत में) अपन...
आपका-अख्तर खान "अकेला"...
Tag :
  December 8, 2018, 6:57 am
और अगर हम (खेती की नुकसान देह) हवा भेजें फिर लेाग खेती को (उसी हवा की वजह से) ज़र्द (परस मुर्दा) देखें तो वह लोग इसके बाद (फ़ौरन) नाशुक्री करने लगें (51) (ऐ रसूल) तुम तो (अपनी) आवाज़ न मुर्दो ही को सुना सकते हो और न बहरों को सुना सकते हो (ख़ुसूसन) जब वह पीठ फेरकर चले जाएँ (52)और न तुम अंध...
आपका-अख्तर खान "अकेला"...
Tag :
  December 7, 2018, 7:18 am
उसी की तरफ़ रुजू होकर (ख़ुदा की इबादत करो) और उसी से डरते रहो और पाबन्दी से नमाज़ पढ़ो और मुशरेकीन से न हो जाना (31) जिन्होंने अपने (असली) दीन में तफरेक़ा परवाज़ी की और मुख़्तलिफ़ फिरके़ के बन गए जो (दीन) जिस फिरके़ के पास है उसी में निहाल है (32)और जब लोगों को कोई मुसीबत छू भी गयी ...
आपका-अख्तर खान "अकेला"...
Tag :
  December 6, 2018, 7:03 am

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3846) कुल पोस्ट (185855)