Hamarivani.com

Amit Mishra

ना जगाओ नींद से उस आशिक़ कोआज कई दिनों बाद सोया लगता हैकुछ आँखों में  उसकी  नशा  भी हैमय में  खुद  को  डुबोया  लगता हैदेखो&nbs...
Amit Mishra...
Tag :
  March 17, 2018, 11:17 am
हाँ मचला था कुछ  पल को  दिल फिर सो  गयाआज उससे फिर मिल भी लिये तो क्या हो गयामोहब्बत की राहों में  हर किसी को भटकना  हैसामन...
Amit Mishra...
Tag :
  March 11, 2018, 5:14 pm
हर रोज टूटे अरमानों को हम रफ़ू करते हैंरात ख्वाबों में फिर उन्ही से गुफ़्तगू करते हैंचाहत तो थी आफताब से नजरें मिलाने कीअê...
Amit Mishra...
Tag :
  March 11, 2018, 5:13 pm
दूर जाऊं तो मन ही मन जाने क्या बड़बड़ाती थीअगर पास भी आऊं तो हड़बड़ा के भाग जाती थीवो खुद तो मेरे आंगन में रोज गुटरगूँ कर जाती थ...
Amit Mishra...
Tag :
  February 28, 2018, 10:45 pm
कभी ख़त्म ना हो ये सफर बस चलते रहना हैगिर के फिर उठना है मगर यूँ ही बढ़ते रहना हैमिलते जायेंगे तजुर्बे नये गुजरते वक़्त के सा&#...
Amit Mishra...
Tag :
  February 23, 2018, 9:58 pm
कब तलक यूँ राज-ए-उल्फ़त ना बतायेंगे हमदीदार-ए-यार से ही कदम लड़खड़ाते है यहाँकब तलक यूँ राज-ए-गुलशन छुपायेंगे हमदीदार-ए-यार स&#...
Amit Mishra...
Tag :
  February 19, 2018, 7:06 am
दर्द से अपना रिश्ता बड़ा पुराना हैजाके लौट आयेगा ये मेरा दीवाना हैसहर होते ही परिंदे उड़ गये थे जो शब में उन्हें शज़र पे लौट &#...
Amit Mishra...
Tag :
  February 19, 2018, 7:04 am
मोहब्बत का शुरू सफर ना हुआवो कभी मेरा हमसफ़र ना हुआक्यों करें शिक़वे उसकी बेवफाई केजब दिल में उसके मेरा बसर ना हुआकुछ यूँ रहा अपना अंजाम-ए-मोहब्बत जो पहले कभी किसी का हसर ना हुआहर दफ़ा हाज़िर रहे उनके इशारे पेपर वो कभी हमे मयस्सर ना हुआबस ग़ुम रहा इन अंधेरों में इश्क मेराएक ...
Amit Mishra...
Tag :
  February 11, 2018, 9:22 pm
नग़मे इश्क़ के कोई गाये तो तेरी याद आयेजिक्र मोहब्बत का जो आये तो तेरी याद आयेयूँ तो हर पेड़ पे डालें हज़ारों है निकलीटूट के क&#...
Amit Mishra...
Tag :
  February 4, 2018, 7:50 am
रात होते ही फलक पे सितारे जगमगाते हैंवो चुपके से दबे पांव मुझसे मिलने आते हैंयाद रहे बस नाम उनका भूल के जमाने कोवो चुनरी ...
Amit Mishra...
Tag :
  February 1, 2018, 9:54 pm
हर सुबह एक अलग नये सपने सजाता हूँशाम तलक उन्हें मैं खुद ही भूल जाता हूँख्वाहिशें हज़ार ले कर रोज़ कमाने जाता हूँबेच के ईमा...
Amit Mishra...
Tag :
  January 26, 2018, 2:49 pm
माना की दिल है मोम सा पर यूँ ही नही पिघलेगातपिश बोसा-ए-यार की मिले तो पल में पिघलेगाइल्म है की पत्थर सा नज़र आता है जिस्म मेर...
Amit Mishra...
Tag :
  January 26, 2018, 7:53 am
गंभीर हालात में विशेष टिप्पणी देने आते हैंकोई भी हो मुद्दा महाशय सबकी जानकारी बढ़ाते हैंआपकी सुनते नही और खुद को सलाहका...
Amit Mishra...
Tag :
  January 24, 2018, 10:19 pm
उस मासूम के होंठ काँप रहे थेपर गुब्बारे फुलाने को वो बेकरार थाशायद वो खुद भी ये भूल गया थाआज सुबह से उसको तेज़ बुखार थामैं &#...
Amit Mishra...
Tag :
  January 21, 2018, 2:37 pm
देखे हैं हमने भी कई रंग दुनिया केबदलते तौर तरीके और ढंग दुनिया केइस इंद्रधनुष में शामिल खुद को किया हैकुछ इस तरह हमने जि...
Amit Mishra...
Tag :
  January 15, 2018, 9:43 pm
दीदार-ऐ-नजर ना सही सपनों में आते रहियेमुलाकातों का सिलसिला यूँ ही चलते रहने दोलब खामोश अगर तो क्या आँखों से बताते रहियेç...
Amit Mishra...
Tag :
  January 11, 2018, 9:18 am
इतना वक़्त गुजार दिया तूने हिन्दू और मुसलमान बनकरअब जरा कुछ वक़्त गुजार के देख सिर्फ इंसान बनकरकभी प्रार्थना मंदिर में क...
Amit Mishra...
Tag :
  January 10, 2018, 9:03 am
ये सर्द हवायें भी आज जाने क्यों लग रही हैं तुम्हारी तरहये छूती हैं मुझे तो एक सिहरन सी होती है तुम्हारी तरहये कानों में म...
Amit Mishra...
Tag :
  January 8, 2018, 10:02 pm
चंद पैसे कमाने को गाँव से शहर आयामिलती है शहर में खुशियां लोगों ने बतायादेखा उनकी नज़र से तो उम्मीद का सूरज नजर आयापहली ब...
Amit Mishra...
Tag :
  January 5, 2018, 9:53 pm
लाख आवाज लगाते रहें बुलाने वालेलौटकर फिर नहीं आते कभी जाने वालेएक अरसा गुजर गया इंतज़ार में उनकेखुद को बिसराया था प्यार में जिनकेअब वही रुलाते हैं जो थे कभी हँसाने वालेलौटकर फिर नहीं आते कभी जाने वालेसुबह शाम गुजरती थी बाँहों में जिनकीअब तो बस यादें रहती हैं पास उनकी...
Amit Mishra...
Tag :
  January 2, 2018, 10:14 pm
कुछ अपनी दास्तान कुछ अनकहे जज्बात लिखते हैंहम अपनी शायरी में हर वो बात लिखते हैंकुछ हसीन लम्हे कुछ अधूरी मुलाकात लिखते...
Amit Mishra...
Tag :
  January 2, 2018, 9:40 am
जटाओं में गंगा विराजे, साथ में चन्दा है साजेगले में है सर्पों का झुण्ड, नेत्र जैसे अग्निकुंडहाथ में डमरू है साजे, हिले धर...
Amit Mishra...
Tag :
  December 30, 2017, 11:25 pm
कान्हा सुन लो मेरी पुकारफिर से आ जाओ एक बारत्रेता द्वापर में आये थे जैसेकलियुग में भी आओ एक बारगीता उपदेश दिया था जैसेफì...
Amit Mishra...
Tag :
  December 28, 2017, 10:13 am
सुबह की पीली रोशनी सी तेरी चमक दिल में सवेरा कर जाती हैचाय की पहली घूंट सी तेरी आँखें सीधे दिल में उतर जाती हैहोठों से माथ&#...
Amit Mishra...
Tag :
  December 28, 2017, 10:12 am
पहले कराना यूँ इंतज़ार फिर आते ही शुरू तकरारकभी समझ न आया मुझको बस ऐसा ही है मेरा यारगुस्सा रहता नाक पे सवार रूठने को हरदम &#...
Amit Mishra...
Tag :
  December 26, 2017, 9:58 pm
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3766) कुल पोस्ट (178099)