POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Blog: Tourist Places in Chhattisgarh

Blogger: devendra chandrakar
Mama Bhanja Temple Historyदंतेवाडा जिले में वैसे तो अनेक प्राचीन पुरातात्विक दार्शनिक स्थलो  से भरा पड़ा है| मगर हम आज बारसूर ग्राम के मामा भांजा मंदिर कि बात करते है| यह मदिर काफी सुन्दर व अधभुद है| मगर ठीक से रखरखाव ना होने के कारण जर्जर अवस्था में है फिर भी आस पास के मदिर कि तुलना ... Read more
clicks 150 View   Vote 0 Like   1:16am 6 May 2018
Blogger: devendra chandrakar
CHANDRADITYA TEMPLE,BARSURGeo-coordinates-Lat.19008’16”N;Long.82022’57”ELocation-Village-Barsur,Tehsil- DantewadaDistrict-Dantewada(Chhattisgarh)Chandradity Temple Barsur   The temple located near Chandradityesvara  tank in Bhumij Style  dedicated chief (Mahamandalesvara) under  a ChhindakaNagavamshi  King  Jagdev  Bhushan,as  evident  from a Telugu inscription  of samvat 983 (1061 AD) found at Barsoor. Barsur Chandradity Temple Barsur ChhattisgarGarbhagriha is pancharatha on plan and atteched with a square pillared  mandapa in front.The exterior walls of jungha portion contain image of Brahma,incarnations,of&... Read more
clicks 86 View   Vote 0 Like   5:01pm 5 May 2018
Blogger: devendra chandrakar
Bamleshwari Temple Dongargarh -Rajnandgaon cgमाँ बम्लेश्वरी देवी का विश्व विख्यात मंदिर राजनादगांव जिले के डोंगरगढ़ की प्रसिद्ध पहाड़ी पर लगभग 1600  फिट की उचाई पर स्थित है| दर्शन के लिए लगभग 1000 सीडी चढ़नी पड़ती है| लोक मान्यता है| कि  डोंगरगढ़ 2200  वर्ष से भी अधिक प्राचीन नगर है|माँ बम्लेश्वरीपहाड़ी के ... Read more
clicks 65 View   Vote 0 Like   4:13am 14 Apr 2018
Blogger: devendra chandrakar
अस्टभुजी देवी मंदिर अड़भार, जिला - जांजगीर -चांपाप्राचीन नगर अड़भार में माँ अष्टभुजी देवी की दक्षिण मुखी प्रतिमा विराजमान है | पुरातत्व विभाग द्वाराAshtabhuji Devi - Adbharसरक्षित है | पांचवी - छटवी शताब्दी के पूरा अवशेष मिलते है | इतिहास में अड़भार का उल्लेख अष्द्वार के रूप में मिलता ह... Read more
clicks 66 View   Vote 0 Like   4:10am 13 Apr 2018
Blogger: devendra chandrakar
Barsur-Battisa Mandir,Tehsil-Dantewada ,District-Dantewada(Chhattisgarh)बत्तीसा मंदिर बारसूर - दन्तेवाड़ा यह प्राचीन स्मारक बारसूर नामक ऐतिहासिक स्थल में जो जगदलपुर से भोपालपटनम रोड पर स्थित गीदम से 18 कि.मी।.दूर एवं जगदलपुर से 100 की. मी. की दुरी पर स्थित है| यहाँ पर बत्तीसा मंदिर नामक महत्वपूर्ण मंदिर विद्यमा... Read more
clicks 67 View   Vote 0 Like   3:30am 12 Apr 2018
Blogger: devendra chandrakar
Barsur - Ganesh Temple In Chhattisgarh गणेश मंदिर - बारसुर Ganesh Temple Barsurराजा बाणासुर का बनाया अनोखा  मंदिर जिसमे जुड़वा विराजमान है| श्री  गणेश जी एक ही पत्थर से तरासा गया है यह प्रतिमाशिवलिंग -बारसुर शिला लेख -बारसूर ... Read more
clicks 73 View   Vote 0 Like   3:19pm 10 Apr 2018
Blogger: devendra chandrakar
Tirathgarh Jalprapat,Kanger Ghati in Bastar तीरथगढ़ जलप्रपात  बस्तर छत्तीसगढ़तीरथगढ़ जलप्रपात छत्तीसगढ़ के सबसे उचे झरनों कि बात किया जाये तो तीरथगढ़ जलप्रपात सबसे उचाई वाली झरनों में गिनती कि जाती हैTirathgarh waterfallयह झरना 300 फुट ऊपर से पानी नीचे कि तरफ गिरता है | इसे कांकेर घटी के जादूगर के नाम से भी जान... Read more
clicks 66 View   Vote 0 Like   1:00pm 9 Apr 2018
Blogger: devendra chandrakar
Barnwapara Wildlife Mahasamund - बारनवापारा वन्यजीव अभयारण्यबारनवापारा अभ्यारण छत्तीसगढ़ राज्य के महासमुंद जिले में स्थित है| इसकी स्थापना १९७६ मे की गयी थी| यह २४५ वर्ग कि. मी में फैला हुवा है| प्राकृतिक प्रेमियों के लिए बहुत सुन्दर स्थान है| जिला मुख्यालय से इसकी दुरी ५५ कि.मी पर है| ... Read more
clicks 118 View   Vote 0 Like   6:51am 8 Apr 2018
Blogger: devendra chandrakar
 Sirpur ( सिरपुर ) Laxman Temple Sirpur (लक्ष्मण मंदिर सिरपुर )छत्तीसगढ़ के जीवन दायनी नदी के तट स्थित है|  यह छत्तीसगढ़ की एक प्राचीनतम नगरी एवम राजधानी थी ५ वी सदी से ८ वी सदी  के बीच मे दक्षिण कोसल की राजधानी थी इस स्थान पर ७ वी सदी चीनी यात्री हेडसम भारत आया था | तब यहाँ पर  बौद्ध धर... Read more
clicks 66 View   Vote 0 Like   5:20pm 21 Mar 2018
Blogger: devendra chandrakar
माँ बगुला मुखी ( जिसे बंजारी माता के नाम से जाना जाता है| यह प्रसिद्ध मंदिर रायपुर जिले में स्थित है| रायपुर से बिलासपुर नेशनल हाइवे क्र. 30 पर स्थित है| बंजारी माता स्थानीय निवासी के अनुसार माता रानी की प्रतिमा भुगर्भित है| माता स्वयं अपनी इच्छा स्वरुप इस स्थान पर प्र... Read more
clicks 57 View   Vote 0 Like   10:02am 18 Mar 2018
Blogger: devendra chandrakar
लाक्षागृह के दर्शन:-ऐसा कहा जाता है की पाण्डव  पुत्र व  माता कुंती वारणाव्रत के समय यहाँ पर आये थे तभी मामा  सकुनी ने इस स्थान पर पांडवो को मारने  के लिए लाख से निर्मित एक महल का निर्माण यही खल्वाटिका में करवाया था  उसके अवशेष अभी भी यहाँ देखा सकते है तथा भीम पाँव , ... Read more
clicks 98 View   Vote 0 Like   2:51pm 23 Dec 2017
Blogger: devendra chandrakar
     तुरतुरिया -महर्षि वाल्मीकि आश्रम व लव - कुश की जन्म भूमीप्रारम्भ से पढ़े तुरतुरिया मे वाल्मीकी आश्रम के बाई ओर छोटी छोटी दूकानो  के पास से गुजरते हुवे एक नाला को पार करके मातागढ नामक स्थान पहुचा जाता है। मातागढ उचि पहाडि पर स्थीत है। चारो तरफ विषाल वृक्ष बड... Read more
clicks 120 View   Vote 0 Like   1:27am 9 Oct 2017
Blogger: devendra chandrakar
कमरौद ग्राम जो बागबाहरा तहसील जिला महासमुंद के अंतरगत आता यहाँ  का सिद्ध बाबा मंदिर आस -पास के लोगो का आस्था का केंद्र बना हुवा वैसे मंदिर तो छोटी है मगर मान्यता बहुत दूर दूर तक फ़ैली हुई है|सिद्ध बाबा मंदिर सिद्ध बाबा की प्रतिमा सुन्दर चट्टान मंदिर का बाहरी ... Read more
clicks 113 View   Vote 0 Like   9:26am 8 Oct 2017
Blogger: devendra chandrakar
महाकाल रात्रि सिद्धी दात्री आदि शक्ति महामाया प्राकट्य दिवस आषाढ़ शुक्ल पक्ष पूर्णिमा (गुरु पूर्णिमा ) 15 -07 -2011 सद गुरुओ  की प्रेरणा स्त्रोत से विश्व कल्याण हेतु अखंड ज्योति प्रज्वलित भाद्र शुक्ल पक्ष अनंत चतुर्दशी 11-09 -2011 माँ जगत जननी की दिव्य ज्योति गुफा के अं... Read more
clicks 249 View   Vote 0 Like   10:24am 7 Oct 2017
Blogger: devendra chandrakar
चम्पई माता गुफा - ग्राम -मोहन्दी ,अरंड ,बेलर ,तरपोंगी  Champai Mataआदिशक्ति माँ चम्पई | मोहन्दी ग्राम के पहाड़ के ऊपर एक विशाल गुफा के अंदर निवास करती है | माता रानी तीन पिंडियो के रूप में गुफा के अंदर निवास करती  है | माँ चम्पई प्राचीन चम्पापुर की कुल देवी है| चम्पई मा... Read more
clicks 115 View   Vote 0 Like   8:23pm 3 Oct 2017
Blogger: devendra chandrakar
धसकुड़ झरना सिरपुर से 8 किमी की दुरी पर बोरिद गांव के घने जंगल में स्थित धसकुड़ में जहां पर मनोहारी झरना है। यहां प्रकृति का सौंदर्य देखते ही बनता है। यहां का जलप्रपात बरसाती पानी से बनता है| तथा  गर्मी के दिनों में इसका जल बहुत धीमी हो जाती है|  Dhaskud Waterfall Borid -Sirpurप... Read more
clicks 115 View   Vote 0 Like   5:07am 28 Sep 2017
Blogger: devendra chandrakar
यह एक ऐतिहासिक स्थल है। यह स्थान पाहाडो के बिच मे है। जिसमे महर्षि वाल्मीकि तथा श्री राम-लक्ष्मण की मुर्तियां है। उसके सामने एक मंदिर मे लव-कुश की युगल मूर्ति है। वहि पर्वत के उपर एक मंदिर मे वाल्मीकि मुनि तथा सीता जी की मूर्तिया है।गोमुख -तुरतुरिया  किन्तू पर्वत ह... Read more
clicks 118 View   Vote 0 Like   3:21pm 27 Sep 2017
Blogger: devendra chandrakar
प्रारम्भ से पढ़ें…मार्ग :-पूर्वी रेल्वे कि हबड़ा- वाल्टेयर लाइन पर कटक से 29 मील दूर खुदरा-रोड स्टेशन है|वहा से एक लाइन पूरी तक जाती है| खुदरा - रोड पूरी २८ मील है| आसन सोल हबड़ा, मद्रास तथा तलचर से पूरी के लिए सीधी ट्रेने चलती है कटक ,भुवनेश्वर,खुदरा – रोड आदि से पूरी के लिए मो... Read more
clicks 104 View   Vote 0 Like   5:17am 17 Sep 2017
Blogger: devendra chandrakar
प्रारम्भ से पढ़ें…                                                       श्री जगन्नाथ पुरी स्नान के स्थान :-श्री जगन्नाथ पुरी में १ – महोदधि (समुद्र ),२- रोहणी कुण्ड-कुण्ड ,३- इन्द्र्धुमन सरोवर ,४ – मर्कंदय सरोवर ५ -  श्वेत गंगा ६ - चन्दन तालाब,७  - लोक... Read more
clicks 116 View   Vote 0 Like   4:37am 17 Sep 2017
Blogger: devendra chandrakar
प्रारम्भ से पढ़ें…                                     कथा:- द्वापर में द्वारिका में श्री कृष्णचन्द्र कि पटरानियो ने एक ब़ार माता रोहणी जी के भवन में जाकर उनसे आग्रह किया कि वे उन्हें श्याम सुन्दर कि व्रज-लीला के गोपी- प्रेम प्रसंग को सुनाये| माता ने इस ... Read more
clicks 136 View   Vote 0 Like   4:10am 17 Sep 2017
Blogger: devendra chandrakar
प्राम्भ से पढ़ें…निज मंदिर :- प्रायः मंदिर कि परिक्रमा करके (थोडा परिक्रमांश शेष रहता है ) यात्री निज मंदिर के जगमोहन में प्रवेश करता है | जगमोहन गरुड़स्तंभ(भोग मण्डप में) है| श्री चैतन्यमहाप्रभु यही से श्री जगन्नाथ जी के दर्शन करते थे| वहा एक छोटा गड्डा भूमि में है| कहा जा... Read more
clicks 96 View   Vote 0 Like   3:32pm 16 Sep 2017
Blogger: devendra chandrakar
श्री जगन्नाथचार परम पावन धामों मे एक है| ऐसी भी मान्यत है कि शेष तीन धामों में बद्रीनाथ सतयुग का, रामेश्वर त्रेता का तथा द्वारिका द्वापर का धाम है; किन्तु इस कलयुग का पावनकारी धाम तो पूरी ही है| पहले यहाँ नीलाचल नामक पर्वत था और नीलमाधव- भगवान कि श्री मूर्ति थी उस पर्वत प... Read more
clicks 109 View   Vote 0 Like   3:06pm 16 Sep 2017
Blogger: devendra chandrakar
ओडिशा के पावन धरा पर पुरी क्षेत्र के समुद्र किनारे विशाल व विश्व विख्यात सुर्य मंदिर स्थीत है। ईस मंदिर मे सूर्य कि पहली किरण मंदिर के गर्भ गृह मे स्थीत सूर्य कि प्रतिमा पर पडती थी ईस मंदिर के अंदर चुम्बक लगी थी जिसकी मदद से यहा कभी सैकडो टन प्रतिमा हवा मे तैरा करती थी... Read more
clicks 115 View   Vote 0 Like   9:32am 16 Sep 2017
Blogger: devendra chandrakar
पराक्रमी वीर कचना धुरवा मन्दिर ग्राम-बारूका जिला गरियाबंद (छत्तीसगढ) मे स्थीत हैयहा पर महान प्रतापि राजा कि यादे छुपि हूई है उसके साहस विरता और पराक्रम कि गाथा उस क्षेत्र  के कन कन पर बसी हुई है|शत्रु उसका नाम सुनकर थर-थर कापने लगते थे छत्तीसगढ के वीरो का वह आर्दश था... Read more
clicks 128 View   Vote 0 Like   1:00pm 5 Sep 2017
Blogger: devendra chandrakar
बाबा कुटी आश्रम जिसे माण्डव्य ऋषि आश्रम भी कहा जाता है यह आश्रम  गरियाबंद जिले के फिगेश्वर ब्लाक मे आता है जो फिगेश्वर  से काफि नजदीक लगभग 1  कि. मी. की दूरी पर राजिम र्माग मे सगन वनो के बीच मे है यह माण्डव ऋषि और बाबा श्री श्री 108 श्री सीया भुनेश्वरी शरण ब्याश कि तप... Read more
clicks 126 View   Vote 0 Like   10:05am 4 Sep 2017


Members Login

Email ID:
Password:
        New User? SIGN UP
  Forget Password? Click here!
Share:
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3910) कुल पोस्ट (191451)