Hamarivani.com

बेपरवाह लहरें

...
बेपरवाह लहरें...
Tag :
  October 27, 2013, 4:47 pm
मन में आह उपजाती,वेदना का कहरअविरल उच्छवासों मेंसमेट कर छुपाती हूं।अटकती सांसेंआत्मा को चीरकर,आंसुओं के दामन में लुढ़क जाती हैं।पीड़ा की कठोरता मुझमें  टूटकर तब,भावनाओं को लिये आंखों में पिघल जाती है।उलझनों की लहरों कोजीवन के आह्लादों पर,ठोकरें मारने से क...
बेपरवाह लहरें...
Tag :
  September 26, 2013, 5:52 pm
क्यों चाहकर भी तेरी याद न भुला पाऊं।दिल के जख्मों को ठहाकों में न छुपा पाऊं।आंसू बन के तेरी यादें बरसती जाती हैं,तेरी जैसी संगदिल क्यों न बन पाऊं ।अपना जी भर के बिजलियां तूं गिरा ले मुझ पे,इससे पहले कि मैं लंबे सफर निकल जाऊं।मेरी सांसों ने भी तो मुझसे बेवफाई की,तेरी चाह...
बेपरवाह लहरें...
Tag :
  September 25, 2013, 4:33 pm
[ Prev Page ] [ Next Page ]


Members Login

Email ID:
Password:
        New User? SIGN UP
  Forget Password? Click here!
Share:
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3905) कुल पोस्ट (190839)