POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Blog: मेरी कहानियां

Blogger: shikha kaushik
जब से युवा मोनिका की दोस्ती इसी वर्ष ऑफिस में आये उसकी की ही आयु के लक्ष्य के साथ ज्यादा बढी़ थी, तब से उसके बारह वर्ष बड़े बॉस का व्यवहार उसके साथ उतना मधुर नहीं रह गया था. पहले मोनिका को अपने ऑफिस में बुलाकर काम की आड़ में घंटों हॅसी - मजाक करने वाले बॉस को आजकल मोनिका के इ... Read more
clicks 205 View   Vote 0 Like   4:35pm 31 Mar 2017 #
Blogger: shikha kaushik
कौन सोच सकता था कि जो चौदह वर्षीय किशोर बाला भाभी की दो वर्षीय बिटिया को गोद में उठाये  लाड़ करता घूमता है वही उसके साथ दुष्कर्म कर डालेगा .ठीक-ठाक घर का शालीन सा प्रतीत होता किशोर .उसके माता-पिता ने भी इस घटना का पता चलते ही अपना सिर पीट डाला था . आज तो उसका घिनौना  चेहर... Read more
clicks 378 View   Vote 0 Like   4:12pm 29 Oct 2015 #
Blogger: shikha kaushik
पंचायत अपना फैसला सुना चुकी थी .नीला के बापू -अम्मा , छोटे भाई-बहन बिरादरी के आगे घुटने टेककर पंचायत का निर्णय मानने को विवश हो चुके थे .निर्णय की जानकारी होते ही नीला ने उस बंद -दमघोंटू कोठरी की दीवार पर अपना सिर दे मारा था और फिर तड़प उठी थी उसके असहनीय दर्द से .चार दिन पहल... Read more
clicks 435 View   Vote 0 Like   4:37pm 10 Jun 2015 #
Blogger: shikha kaushik
बगल में बस की सीट पर बैठी खूबसूरत युवती द्वारा मोबाइल पर की जा रही बातचीत से मैं इस नतीजे पर पहुँच चूका था कि ये ज़िस्म फ़रोशी का धंधा करती है .एक रात के पैसे वो ऐसे तय कर रही थी जैसे हम सेकेंड हैण्ड स्कूटर के लिए भाव लगा रहे हो .टाइट जींस व् डीप नेक की झीनी कुर्ती में उसके ज... Read more
clicks 329 View   Vote 0 Like   12:22pm 2 Jun 2015 #
Blogger: shikha kaushik
मशहूर उद्योगपति की पत्नी और दो किशोर पुत्रों की माँ हेम जब भी एकांत में बैठती तब उसकी आँखों के सामने विवाह के पूर्व की  घटना का एक-एक दृश्य घूमने लगता .कॉलेज में उस दिन वो सरस से आखिरी बार मिली थी .उसने सरस से कहा था कि -''चलो भाग चलते हैं वरना मेरे पिता जी मेरा विवाह कहीं औ... Read more
clicks 346 View   Vote 0 Like   4:24pm 2 May 2015 #
Blogger: shikha kaushik
  गौतम उदारतावादी स्वर में बोला -''लिव-इन कोई गलत व्यवस्था नहीं...आखिर कब तक वही पुराने..घिसे-पिटे सिस्टम पर समाज चलता रहेगा ..विवाह ....इससे भी क्या होता है ? गले में पट्टा डाल दिया बीवी के नाम का और मियां जी घूम रहे है इधर-उधर मुंह मारते हुए .''सुरेश असहमति में सिर हिलाता हुआ ... Read more
clicks 274 View   Vote 0 Like   5:29pm 24 Apr 2015 #
Blogger: shikha kaushik
 रविता सीमा से मिलने उसके घर पहुंची तो सीमा की ख़ुशी का ठिकाना न रहा . एक दुसरे का हाल-चाल पूछते पूछते रविता बोली - ''पता है सीमा मैं जिस रिक्शा से आई हूँ उसका चालक बहुत ही रोमांटिक है .एक से एक रोमांटिक सॉन्ग गाता है . आई एम इम्प्रेस्ड !''इस पर दोनों ठहाका लगाकर हंस पड़ी . सीमा... Read more
clicks 282 View   Vote 0 Like   4:52pm 20 Apr 2015 #
Blogger: shikha kaushik
 भावना को सब्ज़ी मंडी से लौटते  हुए अचानक अपनी सहेली अनु मिल गयी .इधर-उधर की बातों के बाद दोनों की बातों के केंद्र में दोनों के बच्चे आ गए .भावना मुंह बनाते हुए बोली - क्या बताऊँ ! मेरा बेटा आठ साल का है और फेसबुक पर दिन-रात पता नहीं अपनी गर्ल-फ्रेंड  से क्या चैट करता रहत... Read more
clicks 294 View   Vote 0 Like   4:08pm 18 Apr 2015 #
Blogger: shikha kaushik
 ''माँ मैं कौन सी पोशाक पहनूं ?''चिया ने चहकते हुए माँ से पूछा तो माँ ने उदासीन भाव से कहा -''कुछ भी जो शालीन हो वो पहन लो . चिया ने आर्टिफिशल ज्वेलरी दिखाते हुए माँ से पूछा -''माँ ये माला का सैट कैसा लगेगा मुझ पर ? माँ ने उड़ती-उड़ती नज़र चिया की ज्वेलरी पर डाली और सुस्त से स्वर म... Read more
clicks 296 View   Vote 0 Like   4:55pm 16 Apr 2015 #
Blogger: shikha kaushik
सिया ने माँ से पूछा -''मैं कालेज की फ्रेंड्स के साथ बाहर कैम्प में चली जाऊं माँ दो दिन के लिए ?''माँ बोली -''पिता जी से पूछो ? '' सिया रसोईघर से कमरे में आई और पिता जी से पूछा कैम्प में जाने के लिए तो वे भड़क कर बोले -''अरे  सिया की माँ ! तुम्हारी अक्ल पर पत्थर पड़ गए हैं जो बकवास बा... Read more
clicks 274 View   Vote 0 Like   5:48pm 15 Apr 2015 #
Blogger: shikha kaushik
''और फूल बिखर गया ''उस कँटीले जंगल में वो अल्हड़ सी कली निर्भीक होकर मंद-मंद आती समीर के साथ झूल लेती और जब हंसती तो उसके चटकने की मधुर ध्वनि से हर काँटा ललचाई नज़रों से उसे देखने लगता .वो खुद को पत्तों में छिपा लेना चाहती पर कहाँ छिप पाती !! फिर वो कली खिलकर फूल बन गयी .काँटों ने ... Read more
clicks 310 View   Vote 0 Like   4:39pm 10 Apr 2015 #
Blogger: shikha kaushik
 रमन आज अपने जीवन के साठ वें दशक में प्रवेश कर रहा था . उसकी जीवन संगिनी विभा को स्वर्गवासी हुए पांच वर्ष हो चुके थे .रमन आज तक नहीं समझ पाया कि एक नारी की प्राथमिकताएं जीवन के हर नए मोड़ पर कैसे बदलती जाती हैं . जब उसका और विभा का प्रेम-प्रसंग शुरू हुआ था तब विभा से मिलने जब ... Read more
clicks 282 View   Vote 0 Like   3:06pm 8 Apr 2015 #
Blogger: shikha kaushik
हम इंसान हो गए -लघु कथाखुशबू कालेज जा रही थी . बीच रास्ते में उसकी सेंडिल की हील निकल गयी . पीछे से आती एक बाइक रुकी .खुशबू ने मुड़कर देखा तो ये साहिल था .साहिल बाइक से उतरा और उसकी सेंडिल हाथ में लेता हुआ बोला -चलो इसे ठीक करा देता हूँ पास में ही एक मोची बैठता है .खुशबू थोड़ा... Read more
clicks 301 View   Vote 0 Like   6:39pm 7 Apr 2015 #
Blogger: shikha kaushik
अहंकार और प्यार -लघु-कथाबैंक अधिकारी रजत ने ज्वेलरी की दुकान से डायमंड रिंग खरीदी और इस भाव से भरकर उस पर एक नज़र डाली कि-''कोई भी पति अपनी पत्नी के लिए वेडिंग ऐनिवर्सरी का इससे ज्यादा महगा गिफ्ट नहीं ले सकता !''रजत घर पहुँचा तो उसने पाया उसकी वाइफ पायल ने आज सब कुछ अपने हाथ... Read more
clicks 336 View   Vote 0 Like   3:41pm 5 Apr 2015 #
Blogger: shikha kaushik
''भाव ही सबसे सुन्दर ''-लघु कथालड़के ने कहा 'तुम्हारी आँखें बहुत सुन्दर हैं !''लड़की मुस्कुराई और बोली -''आँखें नहीं ...इनमें तुम्हारे प्रति झलकता प्यार का भाव सुन्दर है !''लड़का बोला -''तुम्हारे होंठ गुलाब की पंखुड़ियों के समान सुन्दर हैं !''लड़की हँसी ,उसके गालो पर लाली छा गयी ... Read more
clicks 292 View   Vote 0 Like   3:56pm 3 Apr 2015 #
Blogger: shikha kaushik
सबसे सुन्दर लड़का -लघु कथा वो खूबसूरत लड़की जब सड़क पर चलती थी तब अपने में ही खोई रहती . उसको खबर न होती कि कोई लड़का उसका पीछा कर रहा है . एक दिन एक संकरी गली में उस पीछा करने वाले लड़के ने आगे आकर उसका रास्ता रोक लिया .वो घबराई .उसकी नीली झील सी आँखों में आंसू भर आये .उसने हाथ जोड़... Read more
clicks 289 View   Vote 0 Like   6:19am 30 Mar 2015 #
Blogger: shikha kaushik
 ख़राब लड़की -storyइक्कीस वर्षीय सांवली -सलोनी रेखा को उसी लड़के ने कानपुर बुलाकर क़त्ल कर दिया जिसने उससे शादी का वादा किया था . लड़के के प्रेम-जाल में फँसी रेखा न केवल क़त्ल की गयी बल्कि अपने शहर में बदनाम भी हो गयी कि वो एक ख़राब लड़की थी .कातिल लड़के के प्रति लोगों की बड... Read more
clicks 291 View   Vote 0 Like   5:26pm 28 Mar 2015 #
Blogger: shikha kaushik
''नीहारिका का कन्यादान मैं और सीमा नहीं बल्कि तुम और सविता  करोगे क्योंकि तुम दोनों को ही नैतिक रूप से ये अधिकार है .''सागर के ये कहते ही समर ने उसकी ओर आश्चर्य से देखा और हड़बड़ाते हुए बोला -''ये आप क्या कह रहे हैं भाईसाहब !...नीहारिका आपकी बिटिया है .उसके कन्यादान का पुण्य आ... Read more
clicks 259 View   Vote 0 Like   6:22pm 22 Mar 2015 #
Blogger: shikha kaushik
बेटी का हक़ -कहानी सेवानिवृत बैंक-अधिकारी आस्तिक ने तौलिये से गीला चेहरा पोंछते हुए अपनी धर्मपत्नी मंजू से कहा - 'हर दहेज़ -हत्या के जिम्मेदार ससुरालवालों से ज्यादा लड़की के मायके वाले होते हैं . तुम मेरी बात मानों या ना मानों पर सच यही है . कितनी ही विवाहित बेटियां मौत ... Read more
clicks 259 View   Vote 0 Like   3:48pm 28 Feb 2015 #
Blogger: shikha kaushik
''दर्शन-प्रवचन -सेवा''-लघु कथा चलने फिरने से लाचार सुशीला ने अपने  कमरे में पलंग पर पड़े-पड़े ही आवाज़ लगाईं -''बिट्टू .....बिट्टू ''इस पर छह साल का प्यारा सा बच्चा दौड़कर आया और चहकते हुए बोला -''..हाँ दादी माँ !'' सुशीला कराहते हुए बोली -''बेटा तेरी माँ कहाँ है ?उससे बोल बेटा कि द... Read more
clicks 264 View   Vote 0 Like   4:22pm 26 Feb 2015 #
Blogger: shikha kaushik
बेटी पराई -लघु कथावैदेही  के घर की चौखट पर कदम रखते ही सासू माँ चहक कर बोली -''लो आ गयी बहू ....अब बना देगी चाय झटाझट  आपकी .'' वैदेही ने मुस्कुराकर सासू माँ की ओर देखा और पल्लू सिर पर ठीक करते हुए तेज कदमों से अपने बैडरूम की ओर बढ़ ली .पर्स एक ओर रखकर सैंडिल उतारी और किचन की ओ... Read more
clicks 265 View   Vote 0 Like   3:23pm 21 Feb 2015 #
Blogger: shikha kaushik
[published in ravivani [janwani sunday magazine] on 1 feb 2015]शानदार कोठी के लॉन में कुर्सियों पर आमने-सामने बैठी हुई नैना और पुनीता की जैसे ही आँखें मिली पुनीता गंभीरता की साथ बोली -''हमेशा अपने ही बारे में सोचती रहोगी या कभी किसी और के बारे में भी सोचोगी ?''आज पुनीता ने अपने स्वभाव के विपरीत नैना के निर्णय क... Read more
clicks 271 View   Vote 0 Like   5:22am 1 Feb 2015 #
Blogger: shikha kaushik
लघु कथा -कैसा विरोध प्रदर्शन शहर में हुए छोटी बच्ची के साथ बलात्कार के विरोध-प्रदर्शन हेतु विपक्षी  पार्टी ने पाँच-पाँच सौ रूपये में झोपड़-पट्टी में रहने वाले परिवारों की महिलाओं को छह घंटे के लिए किराये पर लिया था . विपक्ष के पार्टी कार्यालय से पार्टी द्वारा वि... Read more
clicks 240 View   Vote 0 Like   7:22pm 19 Jan 2015 #
Blogger: shikha kaushik
नेशनल दुनिया में प्रकाशित ''कल को इस रिवाल्वर की    छह की छह गोलियां उस धोखेबाज़ लड़की  के  सीने  में    उतार   दूंगा ....मुझसे धोखा  ..मेरे  दिल  से  धोखा  ...मेरे  प्यार  से  धोखा  ...जिसने  उसे  दुनिया  की हर  चीज़  ..हर रिश्ते  से  ज्यादा  च... Read more
clicks 298 View   Vote 0 Like   5:28pm 13 Jan 2015 #
Blogger: shikha kaushik
do not copy रोहित ,प्रभात और चिराग कोचिंग से लौट रहे थे .प्रभात की नज़र तभी सुनसान पड़ें खाली प्लॉट में चार लड़कों से घिरी  मदद के लिए पुकारती लड़की पर गयी .प्रभात ने अपना बैग कंधें से उतार कर सड़क पर फेंका और ''मेरी बहन को छोड़ दो कमीनों ''कहता हुआ उसी दिशा में दौड़ पड़ा .रोहित ... Read more
clicks 235 View   Vote 0 Like   9:07am 3 Jan 2015 #

Share:

Members Login

    Forget Password? Click here!
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3993) कुल पोस्ट (195200)