Hamarivani.com

गर्द-ए-रहगुज़र

न थमा कभी हाँथ तेरा न कभी गले लगायापर जब भी साथ चले एक ही था हमारा सायामैं हैरान खड़ी निहारती रही उस साए कोतब न समझ सकी की ऐसा आखिर हुआ क्योंआज जब गुजरती हूँ उन्ही गलियों से तन्हाअपने ही अधूरे साए का साथ है होतातेरे न होने का हर पल आहसास है होताये भी एक इम्तिहान समझ जिंदग...
गर्द-ए-रहगुज़र...
Tag :
  March 8, 2011, 6:41 pm
दूर जो हो तुम इतना फिर ये पास होने का अहसास क्यों हैपास हो जो हर पल फिर ए नज़रों से उझल होने का आभास क्यों हैहर एक बात से वाकिफ है ए दिल मेरा फिर इतने सवालात क्यों हैंएक बार ही सही जवाब तो दे दो मेरी अनकही बातों कादे सको तो दे दो हिस्साब उन अधूरी मुलाकातों काअकेली सिसकती सहम...
गर्द-ए-रहगुज़र...
Tag :
  February 24, 2011, 10:04 am
पतझर में झड पेड़ों पे पत्ते नए आते हैंफिर क्यों इस जिंदगी से जो दूर चले जाते हैंवो कभी लौट कर वापस नहीं आते हैंइस दिल से उनकी यादें मिटाए नहीं मिटती हैंदिन तो बीत जाता है पर रातें काटे नहीं कटती हैंरात की तन्हाई और ख़ामोशी चुभती हैजहन में बस हर पल एक ही ख्याल होता हैहर आहट ...
गर्द-ए-रहगुज़र...
Tag :
  February 18, 2011, 3:58 pm
दर्द -ए-तन्हाई का एहसास तब होता हैजब कोई दिल के हर पल पास होता हैदर्द -ए- जुदाई लफ़्ज़ों में बयां नहीं होतीआँखों में झलकता हर पल ये अहसास होता हैप्यार की दुनिया का तो दस्तूर है यहीप्यार करने वाला सिर्फ अश्कों का हकदार होता है ...
गर्द-ए-रहगुज़र...
Tag :
  February 18, 2011, 3:33 pm
दूरहोकरभीवोहमसेक्याखूबमोहब्बतकरतेहैंचोटलगेयहाँकीअश्कउनआँखोंसेबहतेहैंखुशजोहोंहमतोखुशियोंकीमहफ़िलवोसजालेतेहैंसाथजोमांगेहमउनकावोमुस्कुराकरमुकरजातेहैंकहूँइसेवफ़ाउनकीयायेउनकीबेवफाईहै,कीहरपलसाथवोमेरेफिरभीनसीबमेंसिर्फतन्हाईहै...
गर्द-ए-रहगुज़र...
Tag :
  December 10, 2010, 4:29 pm
जो भी हूँ आज मैं वो तुमसे हूँ मैंने तो न की थी कदर अपने साए की भीन जाना था कभी है रूप लाजवाब मेरा जब तक न देखा था तेरी निगाहों में अक्स अपनासमझा था खुद को पत्थर का एक टुकड़ा जब तक तेरी तेज किरणों न मुझे छुआ न थाजिंदगी भर न भरने वाले जख्म भी तेरे होने से देते हर पल का सुकून हैं...
गर्द-ए-रहगुज़र...
Tag :
  October 21, 2010, 8:59 am
कहाँकहाँनखोजाअपनावजूदआब-ओ-गिलमेंभीअपनापननमिलातदबीरेसारीनाकामरहींएकपलकोनकहींसुकूनमिलाचैन-ओ-आरामसबछीनगयाहललम्हाबसतन्हाईनेथासाथदियाभटकतेरहेदरबदरतेरेआनेतकजानावजूदकासबबतेरीनिगाहोंमेंबिनमन्जिलजिंदगीकासफ़रतयकरआजआपहुंचेंहैंतेरेआसियानेमेंक्यारखा...
गर्द-ए-रहगुज़र...
Tag :
  October 1, 2010, 3:07 pm
[ Prev Page ] [ Next Page ]


Members Login

Email ID:
Password:
        New User? SIGN UP
  Forget Password? Click here!
Share:
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3889) कुल पोस्ट (190122)