POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Blog: मयंक की डायरी

Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
"उपन्यास सम्राट मुंशी प्रेमचन्द की 133वीं जयन्ती पर विशेष"नाम - धनपत रायउपनाम - प्रेमचन्दजन्म - 31 जुलाई, 1880ग्राम-लमही, वाराणसी (उत्तर प्रदेश) भारतमृत्यु - 8 अक्तूबर, 1936वाराणसी (उत्तर प्रदेश)कार्यक्षेत्र - अध्यापक, लेखक, पत्रकारभाषा - हिन्दी-उर्दूकाल - आधुनिक कालविधा - कहानी और ... Read more
clicks 476 View   Vote 0 Like   1:25pm 31 Jul 2013
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
न्यूज की परिभाषामित्रों!     कल मेरी अपने एक मित्र से बातें हो रही थी। बातों-बातों में समाचार पत्रों का प्रकरण भी आ गया। मैंने अपने मित्र से कहा कि पहले समाचार पत्रों के सम्वाददाता बहुत विद्वान हुआ करते थे परन्तु आजकल तो समाचारपत्रों के सम्वाददाता नगर के छँटे हुए ही... Read more
clicks 393 View   Vote 0 Like   12:18pm 21 May 2013
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
न्यूज की परिभाषामित्रों!     कल मेरी अपने एक मित्र से बातें हो रही थी। बातों-बातों में समाचार पत्रों का प्रकरण भी आ गया। मैंने अपने मित्र से कहा कि पहले समाचार पत्रों के सम्वाददाता बहुत विद्वान हुआ करते थे परन्तु आजकल तो समाचारपत्रों के सम्वाददाता नगर के छँटे ... Read more
clicks 310 View   Vote 0 Like   12:18pm 21 May 2013
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
राजेश कुमारी का रचना संसार!"हृदय के उद्गार"         क्छ माह पूर्व बड़े पुत्र के यहाँ देहरादून गया था। जानी-मानी ब्लॉगर श्रीमती राजेश जी को जैसे ही यह पता लगा कि मैं देहरादून आया हुआ हूँ। वो उसी दिन दोपहर बाद अपनी ब्लॉगर सहेली डॉ.नूतन गैरौला को साथ में लेकर मुझसे मिलने के लि... Read more
clicks 351 View   Vote 0 Like   3:00pm 8 Mar 2013
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
राजेश कुमारी का रचना संसार!"हृदय के उद्गार"         कुछ माह पूर्व बड़े पुत्र के यहाँ देहरादून गया था। जानी-मानी ब्लॉगर श्रीमती राजेश जी को जैसे ही यह पता लगा कि मैं देहरादून आया हुआ हूँ। वो उसी दिन दोपहर बाद अपनी ब्लॉगर सहेली डॉ.नूतन गैरौला को साथ में लेकर मुझसे मिल... Read more
clicks 230 View   Vote 0 Like   3:00pm 8 Mar 2013
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
लक्ष्य को न भुलाने की परिणति है “लक्ष्य”   काफी समय पूर्व श्रीमती कविता विकास ने मुझे के काव्य संग्रह “लक्ष्य”की पाण्डुलिपि मेल से प्रेषित की थी।  उस समय मैंने इसको आद्योपान्त पढ़ा और लक्ष्य के लिए कुछ लिखा था! जिसको कवयित्री ने अपने काव्य संग्रह “लक्ष्य” में ज्यों ... Read more
clicks 459 View   Vote 0 Like   11:45am 26 Dec 2012
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
लक्ष्य को न भुलाने की परिणति है “लक्ष्य”   काफी समय पूर्व श्रीमती कविता विकास ने मुझे के काव्य संग्रह “लक्ष्य”की पाण्डुलिपि मेल से प्रेषित की थी।  उस समय मैंने इसको आद्योपान्त पढ़ा और लक्ष्य के लिए कुछ लिखा था! जिसको कवयित्री ने अपने काव्य संग्रह “लक्ष्य” ... Read more
clicks 241 View   Vote 0 Like   11:45am 26 Dec 2012
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
एक युवा कवि का काव्य संग्रह "मेरे बाद"   काफी समय पूर्व मुझे इंजीनियर सत्यं शिवम् का काव्य संग्रह "मेरे बाद" प्राप्त हुआ था! इसकी समीक्षा मैं लिखना चाहता था और इसके लिए पस्तक के कवर आदि की फोटो भी ले ली थी। लेकिन मेरा कम्प्यूटर खराब हो गया। यूँ तो लैपटॉप से काम चलाता रहा म... Read more
clicks 346 View   Vote 0 Like   12:15pm 20 Oct 2012
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
एक युवा कवि का काव्य संग्रह "मेरे बाद"   काफी समय पूर्व मुझे इंजीनियर सत्यं शिवम् का काव्य संग्रह "मेरे बाद" प्राप्त हुआ था! इसकी समीक्षा मैं लिखना चाहता था और इसके लिए पस्तक के कवर आदि की फोटो भी ले ली थी। लेकिन मेरा कम्प्यूटर खराब हो गया। यूँ तो लैपटॉप से काम चलात... Read more
clicks 173 View   Vote 0 Like   12:15pm 20 Oct 2012
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
स्वास्थ्यवर्धक के नाम पर लूट!आदरणीय स्वामी जी!    आपकी बात मानकर मैं स्थानीय पतंजलि क्रयकेन्द्र पर गया तो वहाँ 5 अनाजों से निर्मित स्वास्थ्यवर्धक आटो का दाम पचास रुपये किलो था। इससे मेरा माथा ठनका कि चना के छोड़कर ज्वार, बाजरा. मक्की तो गेहूँ से कम दाम वाले अनाज हैं, ... Read more
clicks 318 View   Vote 0 Like   3:48am 28 Sep 2012
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
स्वास्थ्यवर्धक के नाम पर लूट!आदरणीय स्वामी जी!    आपकी बात मानकर मैं स्थानीय पतंजलि क्रयकेन्द्र पर गया तो वहाँ 5 अनाजों से निर्मित स्वास्थ्यवर्धक आटो का दाम पचास रुपये किलो था। इससे मेरा माथा ठनका कि चना के छोड़कर ज्वार, बाजरा. मक्की तो गेहूँ से कम दाम वाले अनाज ह... Read more
clicks 184 View   Vote 0 Like   3:48am 28 Sep 2012
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
मा.पं. नारायणदत्त तिवारीजी को मैं अपना राजनीतिक गुरू मानता हूँ। सभी लोग जानते हैं कि उन्होने देश की आजादी में अपना महत्वपूर्ण योगदान किया।      इसके बाद उन्होंने आजाद भारत की सियासत में पदार्पण किया। वे उत्तर-प्रदेश जैसे बड़े राज्य के तीन बार मुख्यमन्त्री रहे, केन्... Read more
clicks 261 View   Vote 0 Like   1:55pm 28 Jul 2012
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
मा.पं. नारायणदत्त तिवारीजी को मैं अपना राजनीतिक गुरू मानता हूँ। सभी लोग जानते हैं कि उन्होने देश की आजादी में अपना महत्वपूर्ण योगदान किया।      इसके बाद उन्होंने आजाद भारत की सियासत में पदार्पण किया। वे उत्तर-प्रदेश जैसे बड़े राज्य के तीन बार मुख्यमन्त्री रहे, ... Read more
clicks 161 View   Vote 0 Like   1:55pm 28 Jul 2012
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
     इन दिनों मेरे पास कई पुस्तकें विद्वान रचनाधर्मियों ने भेजी हुई हैं। लेकिन मेरा कम्प्यूटर खराब हो गया जो अभी 8-10 दिन में ही ठीक हो पायेगा। तब तक बेटे ने मुझे काम चलाने के लिए एक डेस्कटॉप दे दिया और समय का सदुपयोग करते हुए मन हुआ कि “क्षितिजा”के बारे में कुछ लिखूँ।  ... Read more
clicks 264 View   Vote 0 Like   11:44am 20 May 2012
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
     इन दिनों मेरे पास कई पुस्तकें विद्वान रचनाधर्मियों ने भेजी हुई हैं। लेकिन मेरा कम्प्यूटर खराब हो गया जो अभी 8-10 दिन में ही ठीक हो पायेगा। तब तक बेटे ने मुझे काम चलाने के लिए एक डेस्कटॉप दे दिया और समय का सदुपयोग करते हुए मन हुआ कि “क्षितिजा”के बारे में कुछ लि... Read more
clicks 163 View   Vote 0 Like   11:44am 20 May 2012
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
राजेन्द्र प्रसाद पी.जी.कॉलेज,मीरगंज (बरेली)के बी.एड. के छात्रों का एक टूरसरस्वती यात्रा के लिएखटीमा एवं समीपवर्ती क्षेत्रों कोदेखने के लिए आया।जिसमें महाविद्यालय के बी.एड. विभागाध्यक्षडॉ.नागेश पाण्डेय 'संजय' के साथडॉ.रमाजैन (प्रभारी-ग्रुप ए), डॉ.अनीस अहमद  (प्र... Read more
clicks 148 View   Vote 0 Like   7:43am 8 Apr 2012
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
राजेन्द्र प्रसाद पी.जी.कॉलेज,मीरगंज (बरेली)के बी.एड. के छात्रों का एक टूरसरस्वती यात्रा के लिएखटीमा एवं समीपवर्ती क्षेत्रों कोदेखने के लिए आया।जिसमें महाविद्यालय के प्राचार्यडॉ.नागेश पाण्डेय 'संजय' के साथडॉ.रमाजैन (प्रभारी-ग्रुप ए), डॉ.अनीस अहमद  (प्रभारी-ग्रुप बी),ड... Read more
clicks 291 View   Vote 0 Like   7:43am 8 Apr 2012
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
चुनाव लड़ना क्या आम आदमी के बस की बात है?मेरे विचार से तो बिल्कुल नहीं!    क्योंकि वार्ड मेम्बर से लेकर विधानसभा और लोकसभा तक के चुनाव में धन का जिस प्रकार से खुला खेल होता है उसे दुनिया के इस सबसे बड़े लोकतन्त्र का ईमानदार व्यक्ति झेल ही नहीं सकता। कारण यह है कि आम आदम... Read more
clicks 267 View   Vote 0 Like   11:50am 29 Jan 2012
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
चुनाव लड़ना क्या आम आदमी के बस की बात है?मेरे विचार से तो बिल्कुल नहीं!    क्योंकि वार्ड मेम्बर से लेकर विधानसभा और लोकसभा तक के चुनाव में धन का जिस प्रकार से खुला खेल होता है उसे दुनिया के इस सबसे बड़े लोकतन्त्र का ईमानदार व्यक्ति झेल ही नहीं सकता। कारण यह है कि आ... Read more
clicks 147 View   Vote 0 Like   11:50am 29 Jan 2012
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
कुछ बातें हिन्दी व्याकरण की(भाग-एक)अक्षर“अक्षर”के नाम से ही जान पड़ता है कि जिसका क्षर (विभाजन) न हो सके उन्हे “अक्षर”कहा जाता है!वर्णअक्षर किसी न किसी स्थान से बोले जाते हैं। जिन स्थानों से उनका उच्चारण होता है उनको वरण कहते हैं। इसीलिए इन्हें वर्ण भी कहा जाता है।स्व... Read more
clicks 284 View   Vote 0 Like   7:12am 6 Dec 2011
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
कुछ बातें हिन्दी व्याकरण की(भाग-एक)अक्षर“अक्षर”के नाम से ही जान पड़ता है कि जिसका क्षर (विभाजन) न हो सके उन्हे “अक्षर”कहा जाता है!वर्णअक्षर किसी न किसी स्थान से बोले जाते हैं। जिन स्थानों से उनका उच्चारण होता है उनको वरण कहते हैं। इसीलिए इन्हें वर्ण भी कहा जाता है।स्व... Read more
clicks 179 View   Vote 0 Like   7:12am 6 Dec 2011
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
कुछ बातें हिन्दी व्याकरण कीअक्षर “अक्षर”के नाम से ही जान पड़ता है कि जिसका क्षर (विभाजन) न हो सके उन्हे “अक्षर”कहा जाता है!वर्णअक्षर किसी न किसी स्थान से बोले जाते हैं। जिन स्थानों से उनका उच्चारण होता है उनको वरण कहते हैं। इसीलिए इन्हें वर्ण भी कहा जाता है।स्वरजो स्... Read more
clicks 215 View   Vote 0 Like   1:59pm 5 Dec 2011
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
कुछ बातें हिन्दी व्याकरण कीअक्षर “अक्षर”के नाम से ही जान पड़ता है कि जिसका क्षर (विभाजन) न हो सके उन्हे “अक्षर”कहा जाता है!वर्णअक्षर किसी न किसी स्थान से बोले जाते हैं। जिन स्थानों से उनका उच्चारण होता है उनको वरण कहते हैं। इसीलिए इन्हें वर्ण भी कहा जाता है।स्वरजो स... Read more
clicks 133 View   Vote 0 Like   1:59pm 5 Dec 2011
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
मुझे आभास हो गया है कि ज़ालजगत पर भी सहृदय लोग हैं। सच पूछा जाए तो यह आभासी दुनिया वास्तविक जगत से बहुत अच्छी है। फेस बुक पर भी बहुत से मित्र हैं मेरे और ब्लॉगिंग करने के नाते जी-मेल और ब्लॉगिस्तान में भी मेरे शुभचिन्तकों की कमी नहीं है!             लगभग एक सप्ताह पुरानी बात ... Read more
clicks 240 View   Vote 0 Like   9:07am 1 Dec 2011
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
मुझे आभास हो गया है कि ज़ालजगत पर भी सहृदय लोग हैं। सच पूछा जाए तो यह आभासी दुनिया वास्तविक जगत से बहुत अच्छी है। फेस बुक पर भी बहुत से मित्र हैं मेरे और ब्लॉगिंग करने के नाते जी-मेल और ब्लॉगिस्तान में भी मेरे शुभचिन्तकों की कमी नहीं है!             लगभग एक सप्ताह... Read more
clicks 150 View   Vote 0 Like   9:07am 1 Dec 2011


Members Login

Email ID:
Password:
        New User? SIGN UP
  Forget Password? Click here!
Share:
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3910) कुल पोस्ट (191448)