POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Blog: उच्चारण

Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
--गजल में काफिया-मतला मुहब्बत से सजाना हैहसीं लफ्रजों की माला को करीने से बनाना है--जहाँ में प्यार का इजहार करना है कठिन अब तोअलग सूरत, अलग सीरत, बड़ा जालिम जमाना है--बनावट में मिलावट के निराले ढंग मिलते हैंसियासत ने सियासत से भरा अपना खजाना है--गुजारा भूख में जीवन जिन्हों... Read more
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
--पतझड़ के मौसम में,सुन्दर सुमन कहाँ से लाऊँ मैं?वीराने मरुथल में,कैसे उपवन को चहकाऊँ मैं?बीज वही हैं, वही धरा है,ताल-मेल अनुबन्ध नही,हर बिरुअे पर धान लदे हैं,लेकिन उनमें गन्ध नही,खाद रसायन वाले देकर,महक कहाँ से पाऊँ मैं?वीराने मरुथल में,कैसे उपवन को चहकाऊँ मैं?उड़ा ले ... Read more
clicks 26 View   Vote 0 Like   12:28am 16 Apr 2020 #गीत
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
शून्य में दुनिया समायी, शून्य से संसार है। शून्य ही विज्ञान का अभिप्राण है आधार है।।शून्य से ही नाद है और शून्य से ही शब्द हैं।शून्य के बिन, प्राण-मन, सम्वेदना निःशब्द हैं।।शून्य में हैं कल्पनाएँ, शून्य में है जिन्दगी।शून्य में है भावनाएँ, शून्य में है बन्दगी... Read more
clicks 27 View   Vote 0 Like   12:30am 15 Apr 2020 #शून्य में है जिन्दगी
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
--समता और समानता, था जिनका अभियान।जननायक थे देश के, बाबा भीम महान।।--धन्य-धन्य अम्बेडकर, धन्य आपके काज।दलितों वर्ग से आपने, जोड़ा सर्वसमाज।।--दिया हमें कानून का, खिला हुआ बागान।भीमराव अम्बेदकर, थे भारत की शान।।--समावेश करके सभी, देशों का मजमून।हितकारी सबके लिए, लिख... Read more
clicks 20 View   Vote 0 Like   12:27pm 13 Apr 2020 #दोहे
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
--सभी को बैठकर घर में, कोरोना को हराना हैहमें हर हाल मे,  अब जिन्दगी अपनी बचाना है--अलग रहकर समूहों से, दिखाना अपनी ताकत कोसफल अभियान को करके, महामारी भगाना है--हमारी एक कोशिश से, भला होगा जमाने कागुजर जायेंगे दुख के दिन, तो अच्छा वक्त आना है--जरूरी वस्तुएँ भरपूर हैं, अपने व... Read more
clicks 18 View   Vote 0 Like   7:30pm 12 Apr 2020 #ग़ज़ल
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
--दामोदर नरेन्द्र मोदी ने,सादा जीवन अपनाया।भारत भाग्य विधाता बनकर,पथ समाज को दिखलाया।।--छोड़ सभी आराम-ऐश को,संघं शरणम् में आया।मोह छोड़कर घर-गृहस्थ का,पथरीला पथ अपनाया।भारत भाग्य विधाता बनकर,पथ समाज को दिखलाया।।--केशर की क्यारी को जिसने है,संविधान में बाँध दिया।आजाद... Read more
clicks 20 View   Vote 0 Like   12:47pm 11 Apr 2020 #बालगीत
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
--रणकौशल में निपुण हैं, सैनिक-सेनाधीश।झुकने देंगे वो नहीं, भारत माँ का शीश।।--रक्षा अपने देश की, करते वीर जवान।वीर सैनिकों पर हमें, होता है अभिमान।।--सीमाओँ पर दे रहे, जो अपना बलिदान।रक्षा में संलग्न हैं, हरदम वीर जवान।।--गूँज रहे हैं व्योम में, वीरों के सन्देश।जाति-धर्म स... Read more
clicks 17 View   Vote 0 Like   7:30pm 10 Apr 2020 #सैनिक-सेनाधीश
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
चंचल-चंचल, मन के सच्चे।सबको अच्छे लगते बच्चे।।कितने प्यारे रंग रंगीले।उपवन के हैं सुमन सजीले।।भोलेपन से भरमाते हैं।ये खुलकर हँसते-गाते हैं।।भेद-भाव को नहीं मानते।बैर-भाव को नहीं ठानते।।काँटों को भी मीत बनाते।नहीं मैल मन में हैं लाते।।जीने का ये मर्म बताते।प्रे... Read more
clicks 19 View   Vote 0 Like   7:30pm 9 Apr 2020 #सबको अच्छे लगते बच्चे
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
मेरी पुस्तक "ग़ज़लियात-ए-रूप"सेएक ग़ज़ल--सुखद बिछौना सबको प्यारा लगता हैयह तो दुनिया भर से न्यारा लगता हैजब पूनम का चाँद झाँकता है नभ सेउपवन का कोना उजियारा लगता हैसुमनों की मुस्कान भुला देती दुखड़ेखिलता गुलशन बहुत दुलारा लगता हैजब मन पर विपदाओं की बदली छातीतब सारा ज... Read more
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
सभी भक्तों को हनुमान जयन्ती की हार्दिक शुभकामनाएँ ! धीर-वीर, रक्षक प्रबल, बलशाली-हनुमान।जिनके हृदय-अलिन्द में, रचे-बसे श्रीराम।।--महासिन्धु को लाँघकर, नष्ट किये वन-बाग।असुरों को आहत किया, लंका मे दी आग।।--कभी न टाला राम का, जिसने था आदेश।सीता माता को दिया, रघुवर का स... Read more
clicks 17 View   Vote 0 Like   6:45am 8 Apr 2020 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
--चमन में मुस्कराहट अब खिजां के बाद आयेगीउजड़ जायेगा जब गुलशन तभी इमदाद आयेगी--भयानक जलजलों के सामने होंगे खड़े तब ही मकानों में अगर पुख्ता कभी बुनियाद आयेगी--अभी मासूम पौधों में समझदारी नदारत हैगुजर जायेंगे जब लम्हे हमारी याद आयेगी--जमीं को कर दिया बंजर नये साइंसदानो... Read more
clicks 16 View   Vote 0 Like   7:30pm 7 Apr 2020 #ग़ज़ल
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
--एक दीपक तुम जलाओ, एक दीपक हम जलायें।आओ मिलकर हम धरा को, रौशनी से जगमगायें।।--आज दूषित सभ्यता की, चल रहीं हैं आँधियाँ,आग में अलगाव की तो, जल रही हैं वादियाँ,नफरतों को दूर करके, एकता की धुन बजायें।आओ मिलकर हम धरा को, रौशनी से जगमगायें।।--वतन में गन्दी सियासत, सें... Read more
clicks 16 View   Vote 0 Like   7:30pm 6 Apr 2020 #मातृभू को सिर नवायें
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
--महक लुटाते कानन पावन नहीं रहेगोबर लिपे हुए घर-आँगन नहीं रहे--आज आदमी में मानवता सुप्त हुईगौशालाएँ भी नगरों से लुप्त हुईदाग लगे हैं आज चमन के दामन मेंवैद्यराज सा नीम नहीं है आँगन मेंताल और लय मनभावन नहीं रहेगोबर लिपे हुए घर-आँगन नहीं रहे--यौवन आने से पहले सूखी डालीलुटी-... Read more
clicks 18 View   Vote 0 Like   1:00am 6 Apr 2020 #जय विजय-अप्रैलः2020
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
--खोटी जब तकदीर हो, खोटी हों तकरीर।कठमुल्लाओं की पड़ी, खतरे में जागीर।।--नहीं चलेगी मौलवी, मुल्लाओं की घात।शैतानों की देश में, बिगड़ रही औकात।।--देशद्रोह जो कर रहे, कुछ मुल्लाह-इमाम।उनकी सारी सम्पदा, कर दो अब नीलाम।।--नहीं मिलेगी हाट में, इन्सानियत-तमीज।बाँध लीजिए गले मे... Read more
clicks 17 View   Vote 0 Like   7:30pm 4 Apr 2020 #मुल्लाओं की घात
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
--देशभक्ति का हो रहा, पग-पग पर अवसान।सब अपने ही नाम का, करते हैं गुणगान।।--देशभक्ति के हो रहे, रंग आज बदरंग।जनहित के कानून को, लोग कर रहे भंग।।--देशभक्ति का मत करो, कभी कहीं उपहास।देख आपदा काल को, घर में करो निवास।।--तबलीगी मरकज बना, भारत में शैतान।देश विरोधी कर रहा, वो जार... Read more
clicks 17 View   Vote 0 Like   7:30pm 3 Apr 2020 #दोहे
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
मित्रों!         मैंने अक्सर यह देखा है कि सही जानकारी के अभाव में बहुत से लोग अपनी रचना में अपने मन से छन्द का नामकरण कर देते हैं। इसलिए आज प्रस्तुत  आपके सम्मुख प्रस्तुत है छन्दों के विषय में दुर्लभ जानकारी। जो व्यक्ति छन्दबद्ध रचना करते हैं। शायद उनके लिए य... Read more
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
--माता का सम्मान करो,जय माता की कहने वालों।भूतकाल को याद करो,नवयुग में रहने वालों।।--झाड़ और झंखाड़ हटाकर, राह बनाना सीखो,ऊबड़-खाबड़ धरती में भी, फसल उगाना सीखो,गंगा में स्नान करो,कीचड़ में रहने वालों।भूतकाल को याद करो,नवयुग में रहने वालों।।--बेटों के जैसा ही, बेटी से भी प... Read more
clicks 13 View   Vote 0 Like   7:00pm 1 Apr 2020 #माता का भी मान करो
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
     एक अप्रैल अन्तर्राष्ट्रीय मूर्ख दिवस यूँ तो हर साल ही आता है। परन्तु मुझे इस दिन गुलबिया दादी की बहुत याद आती है।     बात आज से 45 वर्ष पुरानी है। मैंने उन दिनों इण्टर की परीक्षा दी थी। नजीबाबाद के मूर्ति देवी सरस्वती इण्टर कालेज के प्रधानाचार्य श्री आर.ए... Read more
clicks 14 View   Vote 0 Like   7:00pm 31 Mar 2020 #संस्मरण
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
--कोरोना से खुद बचो, और बचाओ देश।लिखकर सबको भेजिए, दुनिया में सन्देश।।--जाकर कभी समूह में, करना मत घुसपैठ।लिखना-पढ़ना कीजिए, अपने घर में बैठ।।--अनजाने इस रोग से, घबड़ा रहा समाज।कोरोना से त्रस्त है, पूरी दुनिया आज।।--घोर आपदा काल में, धीरज रखना आप।एकल होकर कीजिए, सारे क्रिया... Read more
clicks 12 View   Vote 0 Like   6:16am 31 Mar 2020 #धीरज रखना आप
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
--कोरोना के रोग से, जूझ रहा है देश।अगर सुरक्षित आप हैं, बचा रहेगा देश।।--आवश्यकता से अधिक. करना नहीं निवेश।हम सबके सहयोग से, सुधरेगा परिवेश।।--कमी नहीं कुछ देश में, सुलभ सभी हैं चीज।मगर नहीं लाँघो अभी, निज घर की दहलीज।।--विपदा के इस काल में, शासन है तैयार।हर घर पर सामान... Read more
clicks 30 View   Vote 0 Like   8:30pm 26 Mar 2020 #जूझ रहा है देश
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
--अपना धर्म निभाओगे कबजग को राह दिखाओगे कब--करना है उपकार वतन परसंयम रखना अपने मन परकभी मैल मत रखना तन परसंकट दूर भगाओगे कबनियमों को अपनाओगे कब--अभिनव कोई गीत बनाओ,सारी दुनिया को समझाओस्नेह-सुधा की धार बहाओवसुधा को सरसाओगे कबजग को राह दिखाओगे कब--सुस्ती-आलस दूर भगा दोदे... Read more
clicks 12 View   Vote 0 Like   1:36am 26 Mar 2020 #नियमों को अपनाओगे कब
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
--जीवन संकट में पड़ा, समय बड़ा विकराल।घूम रहा है जगत में, कोरोना बन काल।।--आवाजाही बन्द है, सड़कें हैं सुनसान।कोरोना का हो गया, लोगों को अनुमान।।--हालत की गम्भीरता, समझ गये हैं लोग।जनता अब करने लगी, शासन का सहयोग।।--घर में बैठे कीजिए, पाठन-पठन विचार।मोदी के आह्वान पर, ... Read more
clicks 11 View   Vote 0 Like   7:30pm 24 Mar 2020 #समय बड़ा विकराल
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
--मर्यादा के साथ में, खूब मनाओ हर्ष।स्वच्छ रहे परिवेश तो, होगा मंगल वर्ष।।--नवसम्वतसर में हुए, चौपट कारोबार।कोरोना के रोग से, जूझ रहा संसार।।--माता के नवरात्र में, करो नियम से काम।घर को मन्दिर समझकर, जपो ओम का नाम।।--बाधाएँ सब दूर हों, करो न मेल मिलाप।अपने घर में बैठकर, कर... Read more
clicks 10 View   Vote 0 Like   2:06am 24 Mar 2020 #नवसम्वतसर 2077
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
--कोरोना को देख कर, बना रहे जो बात।वो ही देश-समाज को, पहुँचाते आघात।।--अच्छे कामों का जहाँ, होने लगे विरोध।आता देश समाज को, ऐसे दल पर क्रोध।।--मुखिया जिस घर में नहीं, होता है दमदार।समझो उस परिवार का, निश्चित बण्टाधार।। --मुखिया ने मझधार में, छोड़ी जब पतवार।तब से ही वो स... Read more
clicks 10 View   Vote 0 Like   1:41am 23 Mar 2020 #जनहित के कानून को
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
--कोरोना से मच रहा, जग में हाहाकार।एतिहात सबसे बड़ा, ऐसे में उपचार।।--सेनीटाइज से करो, स्वच्छ सभी घर-बार।बन्द कीजिए कुछ दिवस, अपने कारोबार।।--नहीं आ सका है अभी, कोरोना का तोड़।अपने घर में ही रहो, भीड़-भाड़ को छोड़।।--खाना अब तो छोड़ दो, मछली गोश्त-कबाब।घर से निकलो जब कभी,... Read more

Share:

Members Login

    Forget Password? Click here!
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3954) कुल पोस्ट (193573)