POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Blog: श्याम स्मृति..The world of my thoughts...डा श्याम गुप्त का चिट्ठा..

Blogger: drshyamgupta
                               ....कर्म की बाती,ज्ञान का घृत हो,प्रीति के दीप जलाओ...पहुन्चौ एक दिना मैं ,एक कवि सम्मलेन में |घोषणा हती-' कछु पल माहिं-कविजी कौ आगमन होत रहै|'                 गरीब जी हते वे , अरु -कहलावें थे जा युग के 'निराला'-कांख में लटकौ  झोला खाली,गले में अटकी हाला |बातनि ... Read more
clicks 89 View   Vote 0 Like   7:52am 18 Jan 2012 #निराला
Blogger: drshyamgupta
                              ....कर्म की बाती,ज्ञान का घृत हो,प्रीति के दीप जलाओ..                 ब्लोगिन्ग या चिट्ठाकशी..चिट्ठाकारी …चिट्ठालेखन अर्थात इन्टर्नेट पर लेखन -- एतिहासिक पृष्ठभूमि के द्रष्टिकोण से १९९७ के आस-पास प्रारम्भ हुआ । भारत में हिन्दी-ब्लोगिन्ग का २००८ से त्... Read more
clicks 97 View   Vote 0 Like   9:51am 14 Jan 2012 #टिप्पणियां
Blogger: drshyamgupta
                                                        ....कर्म की बाती,ज्ञान का घृत हो,प्रीति के दीप जलाओ..           .मेरेगीतोंमेंआकरकेतुमक्याबसे,गीतकास्वरमधुरमाधुरीहोगया। अक्षरअक्षरसरसआम्रमंजरिहुआ,शब्दमधुकीभरीगागरीहोगया। तुमजोख्यालोंमेंआकरसमानेलगे,गीतमेरेकमलदलसेखिलने... Read more
clicks 93 View   Vote 0 Like   8:11am 11 Jan 2012 #बांसुरी
Blogger: drshyamgupta
--- इसे कहते हैं ..अकर्म ...१.-------वाह ! वाह!  क्या बात है...क्या न्याय   है ..लोगों को तो ओढने को मुहैया नहीं है....दो गज कपड़ा ..जानवरों की मूर्तियों को पोलीथीन की ओढनी..?----जिस तथ्य के , अनावश्यक खर्च, के कारण आलोचना  हुई उसी के कारण ,आज्ञा-पालन में वही तथ्य, अनावश्यक खर्च... .....क्या हम ..हमार... Read more
clicks 103 View   Vote 0 Like   6:06am 9 Jan 2012 #klik
Blogger: drshyamgupta
                                         ....कर्म की बाती,ज्ञान का घृत हो,प्रीति के दीप जलाओ...      'नहीं कोई सीट खाली नहीं है |'                'प्लीज़ सर,  बहुत आवश्यक काम है,  कंपनी में इंटरव्यू है, जाना तो है ही |'       'अच्छा  सोफ्टवेयर कंपनी में इंटरव्यू है,  बड़ी  सेलेरी मिलेगी |  ठीक ... Read more
clicks 91 View   Vote 0 Like   2:10pm 8 Jan 2012 #वेवकूफ
Blogger: drshyamgupta
                                 ....कर्म की बाती,ज्ञान का घृत हो,प्रीति के दीप जलाओ...           ब्लोगिन्ग या चिट्ठाकशी..चिट्ठाकारी …चिट्ठालेखन अर्थात इन्टर्नेट पर लेखन -- एतिहासिक पृष्ठभूमि के द्रष्टिकोण से १९९७ के आस-पास प्रारम्भ हुआ । भारत में हिन्दी-ब्लोगिन्ग का २००८ से त्वरित ... Read more
clicks 72 View   Vote 0 Like   5:11pm 5 Jan 2012 #बाज़ार
Blogger: drshyamgupta
                               ....कर्म की बाती,ज्ञान का घृत हो,प्रीति के दीप जलाओ...            माँ तेरे ही चित्र पर नित-नित पुष्प चढ़ायं  |मिश्री सी वाणी मिले, मंत्री पद मिलि जाय ||     श्याम  खडा बाज़ार में, देखे सबका हाल,चोर लुटेरे सब सुखी, सच्चा  है  बेहाल |चाहे जो कुल जनमियाँ, करनी जो भी ... Read more
clicks 101 View   Vote 0 Like   7:46am 5 Jan 2012 #पानी की बाल्टी
Blogger: drshyamgupta
                                           ....कर्म की बाती,ज्ञान का घृत हो,प्रीति के दीप जलाओ.                               युवा रचनाकारों के संस्था ..'सृजन' साहित्यिक व सांस्कृतिक संस्था लखनऊ के तृतीय  वार्षिकोत्सव पर, समारोह  एवं अखिल भारतीय अगीत परिषद् के संयोजक श्री पार्थो सेन द्वार... Read more
clicks 104 View   Vote 0 Like   6:18pm 3 Jan 2012 #डा श्याम गुप्त
Blogger: drshyamgupta
                                     ....कर्म की बाती,ज्ञान का घृत हो,प्रीति के दीप जलाओ...                     आखिर कब तक सब  जानबूझकर  आँखें बंद रखेंगे  .............और क्यों ? कब तक बंद रखेंगे,अखियों के झरोखों को ||इन नैन झरोखों से , जो छन कर आती है ;वो हवा सभी के मन को -तन को भरमाती है ।।कब तक मन से तन से ,ख... Read more
clicks 76 View   Vote 0 Like   6:11am 3 Jan 2012 #Women's attire
Blogger: drshyamgupta
                                         ....कर्म की बाती,ज्ञान का घृत हो,प्रीति के दीप जलाओ...                                                                                     ॐ  शुभ -कामनाएंनूतनवर्षमें...                                                             प्रविशिनगरकीजैसबकाजा,                                ह्रदय... Read more
clicks 97 View   Vote 0 Like   5:10pm 1 Jan 2012 #ग़ज़ल के स्वर
Blogger: drshyamgupta
        आज वर्ष २०११ का अंतिम दिवस है.... कल से नववर्ष का प्रारम्भ है....यदि हम एक गुणात्मक सोच के साथ, एक सुनिश्चित लक्ष्य लेकर  ज़िंदगी की राहों को  ज़िंदादिली, प्रेम , भाईचारा , सौहार्द , अनुशासन व सहज़ता के साथ  तय करें तो ...आने वाला समय अवश्य ही शुभ होगा | देखिये इसी भाव पर वर्ष की ... Read more
clicks 81 View   Vote 0 Like   8:34am 31 Dec 2011 #ख़ूबसूरत से पड़ाव
Blogger: drshyamgupta
                                        ....कर्म की बाती,ज्ञान का घृत हो,प्रीति के दीप जलाओ...दिल की किताब को पढ़े फुरसत किसे अब यार |आदमी तो चाँद पर जाने को  अब  तैयार |                 वो चाँद तारे तोड़कर लाने की रस्में कब रहीं ,अब फलक को ही जमीं पर लाने को हम तैयार |अब धड़कनों की बात क्या, क्य... Read more
clicks 112 View   Vote 0 Like   5:47pm 28 Dec 2011 #फुरसत
Blogger: drshyamgupta
                                                ....कर्म की बाती,ज्ञान का घृत हो,प्रीति के दीप जलाओ...        हर  आदमी के सर पै बैठा आज आदमी ।छत ढूँढता अपने ही सर की आज आदमी |आलमारियों में बंद हों बहुरंगी खिलौने ,आकाशी मंजिलों में बंद आज आदमी |वो चींटियों की पंक्तियों की भांति सड़क पर,दाने  ... Read more
clicks 92 View   Vote 0 Like   12:42pm 23 Dec 2011 #मकड़-जाल
Blogger: drshyamgupta
                                      ....कर्म की बाती,ज्ञान का घृत हो,प्रीति के दीप जलाओ...                                         ....कर्म की बाती,ज्ञान का घृत हो,प्रीति के दीप जलाओ...                  सत्कर्म के प्रसार -प्रचार में यदि एक व्यक्ति भी कहीं प्रयासरत है तो निश्चय ही इसे  घटाटोप अंधकार मे... Read more
clicks 74 View   Vote 0 Like   7:19am 22 Dec 2011 #सदाचरण
Blogger: drshyamgupta
                                         ....कर्म की बाती,ज्ञान का घृत हो,प्रीति के दीप जलाओ...                  सत्कर्म के प्रसार -प्रचार में यदि एक व्यक्ति भी कहीं प्रयासरत है तो निश्चय ही इसे  घटाटोप अंधकार में  एक दीप जलाना  समझा जाना चाहिए और एक सराहनीय  प्रयास  | एसा ही एक अभिनव  प्रयास ... Read more
clicks 117 View   Vote 0 Like   6:54am 22 Dec 2011 #सदाचरण
Blogger: drshyamgupta
                               ....कर्म की बाती,ज्ञान का घृत हो,प्रीति के दीप जलाओ.                                १.             कैसे प्रभु सुनिपाऊँ तेरा पग संचार |जदपि बसे हो कण कण में बन निराकार साकार |   ....मैं मूरख अज्ञानी लिपटा माया के संसार |बिना प्रभु कृपा कैसे जानूं जग में सार असार |बने मोह... Read more
clicks 97 View   Vote 0 Like   6:16pm 21 Dec 2011 #वाणी स्वर का सार
Blogger: drshyamgupta
                              ....कर्म की बाती,ज्ञान का घृत हो,प्रीति के दीप जलाओ...                              यमुना किनारे मथुरायमुना जल           ( श्याम सवैया छंद --छः पंक्तियों का सवैया ) श्रृद्धा जगी उर भक्ति पगी, प्रभु रीति सुहाई जो निज मन मांहीं |कान्हा की बंसी मन में बजी,  सुख आनंद रीति स... Read more
clicks 90 View   Vote 0 Like   1:26pm 19 Dec 2011 #ब्रजधाम
Blogger: drshyamgupta
                            ....कर्म की बाती,ज्ञान का घृत हो,प्रीति के दीप जलाओ...            नीति सप्तक ( ब्रज भाषा )छंद जो अपनौ  हो लिखौ, माला निज गुँथ पाय,चन्दन जो निज कर घिसौ, सो अति सोभा पाँय |छिपौ न कछु कवि दृष्टि तें, कहा न नारि कराय,   कहा न बकि है मद्यपा , कौआ कहा न खाय ||धरम करम व्यौहा... Read more
clicks 94 View   Vote 0 Like   5:08pm 18 Dec 2011 #धरम रत
Blogger: drshyamgupta
                                  ....कर्म की बाती,ज्ञान का घृत हो,प्रीति के दीप जलाओ...            कविता केवल एक कला ही नहीं अपितु विज्ञान भी है, उच्चतम विज्ञान, सामाजिक मनोविज्ञान , जिसमें कवि-साहित्यकार को  सामयिक, एतिहासिक व  आनेवाले समय के सामाजिक, मनोवैज्ञानिक सत्यों व तथ्यों का त... Read more
clicks 103 View   Vote 0 Like   10:38am 13 Dec 2011 #अर्थ दोष
Blogger: drshyamgupta
                                 ....कर्म की बाती,ज्ञान का घृत हो,प्रीति के दीप जलाओ...          सृष्टि के विकासमें भाव-तत्व का अत्यधिक महत्त्व है |  यही भाव तत्व -चेतन का महत्वपूर्ण गुण है | यद्यपि पाश्चात्य विचार-दर्शन  व अधुना विज्ञान  में चेतन सिर्फ शरीर में ही खोजा जा सकता है, परन्त... Read more
clicks 105 View   Vote 0 Like   8:28am 9 Dec 2011 #प्रकृति
Blogger: drshyamgupta
                                         ....कर्म की बाती,ज्ञान का घृत हो,प्रीति के दीप जलाओ...लिलिथ व सर्प               ईस्ट इज़ ईस्ट  एंड वेस्ट इज़ वेस्ट, ......सही ही है  .....अब देखिये कितना अंतर है विचारों , अभिव्यक्ति , व्यवहार में | जहां पश्चिम में वस्तुओं को   ऋणात्मकता भावसे अधिक देखा जात... Read more
clicks 181 View   Vote 1 Like   2:52pm 8 Dec 2011 #lalita
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:

Members Login

Email ID:
Password:
        New User? SIGN UP
  Forget Password? Click here!
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3950) कुल पोस्ट (195984)