POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Blog: ******दिशाएं******

Blogger: paramjitbali
ये कैसे लोग दिख रहे हैं वतन में मेरेनश्तर -से चुभोते हैं ये बदन पे मेरे।किससे करे शिकायते थानेदार हैं वो-कोहराम -सा मचा है अमन में मेरे।कोई सुनता नही किसी की बात यहाँदेश भक्त बन बैठे है घात लागाये यहाँअब कौन बचायेगा इन जयचंदों से..उम्मीद दम तोड़ चुकी लगता है यहाँ। जनता भे... Read more
clicks 209 View   Vote 0 Like   7:53pm 19 May 2012 #poem
Blogger: paramjitbali
तुम्हारा हाल क्या पूछे अपना हाल तुम-सा है....हरिक दोस्त भी अपना खुद में आज गुम-सा है।मोहब्बत मे वफा वादे कसमें कौन समझा है ।गुल के साथ खारों को यहाँ पर कौन समझा है।बहारों की तमन्नायें यहाँ हर दिल में खिलती है,मौसम एक-सा रहता नही ये कौन समझा है। उन्हें उम्मीद है , दिन आज नही क... Read more
clicks 201 View   Vote 0 Like   2:25am 1 May 2012 #गीत
Blogger: paramjitbali
उदास रात गई उदास दिन भी है-ये कैसी जिन्दगी जी रहे हैं हम।बहुत दूर  हैं ......मंजिलें अपनी-साँसों की सौगात लगती है कम।उदास रात गई उदास दिन भी है-ये कैसी जिन्दगी जी रहे हैं हम।मगर जीना होगा चलने के लिये-सुख-दुख का रस पीनें के लिये।किसी और की मर्जी लगती है-बदल सकेगें ना .. इसको हम... Read more
clicks 224 View   Vote 0 Like   5:39am 22 Apr 2012 #गीत
Blogger: paramjitbali
गई रात देखो सिमटा अंधेराउजाला हुआ है फिर जिन्दगी में।चलो! पक्षीयों से गगन में उड़े हम,देखे कहाँ परखुशीयां पडी हैं।है कौन-सी वो धरा यहाँ परगर्भ मे जिसके खुशीयां गड़ी हैं।चुनने को आजाद है अपना मन भी।जो चाहो चुनों तुम खुशी है तुम्हारी।दुखों की कमी कोई नजर नही आती।खुशीयां ... Read more
clicks 229 View   Vote 0 Like   11:36pm 10 Apr 2012 #nature
Blogger: paramjitbali
वीर तुम बढे चलो फकीर तुम बढे चलो।वोट तुम अपना सदा, भ्रष्टाचारीयो को दो।बढ रही महँगाई हो ,धर्म की लड़ाई हो राह चलते चलते तेरी रोज ही पिटाई होतुम कभी डरो नही, पीछे भी हटो नही,तुड़वा के हाथ पाँव तुम, बढे चलो बढे चलो।डाक्टरों की फीस भले जे़ब मे तेरी ना हो।वीर तुम बढे चलो फकीर तुम... Read more
clicks 241 View   Vote 0 Like   9:27pm 5 Apr 2012 #kavitaa
Blogger: paramjitbali
जब रोशनी होती हैमै तुम्हें भूला रहता हूँजब अंधेरा होता है तुम याद आते हो।क्या तुम हरेक को- ऐसे ही सताते हो? या तुम ऐसे ही आते हो और ऐसे ही जाते हो ?बस! यही बताते हो ?और हर बार की तरहबिना मिले हीलौट जाते हो ?तब तो तुम मत आया करो।मैं प्रतिक्षा करता रहूँगा। समय तो गुजर जायेगा।... Read more
clicks 233 View   Vote 0 Like   1:29am 19 Mar 2012 #adhyaatm
Blogger: paramjitbali
 १आँख देखती हैदिल को कोई अहसास नही होता।इसी लिए अबकोई प्यार का घर आबाद नही होता।२चाहतें तो बहुत हैंसब पूरी कर लेंगें एक दिन ।ये अलग बात है-उन चाहतों में कोई दूसरा ना होगा।३आने को कहा था पर नही आयेअब इस बात पर खुशी होती है।किस किस से बाँटते अपनी खुशीअपनी तो खुशी में भी आ... Read more
clicks 222 View   Vote 0 Like   3:18am 27 Feb 2012 #nature
Blogger: paramjitbali
वह इस लियेतड़प रहा था प्यास के कारणक्योकि उसके भीतरवादाखिलाफी देख करआग लगी हुई थीऔर आज वह पाँच साल बाद फिर लौट आया हैउससे अपना समर्थन माँगने।बेशर्मी की हदे .......पार करनाइसी को तो कहते हैं।... Read more
clicks 231 View   Vote 0 Like   7:37am 30 Jan 2012 #चित्र गुगुल से
Blogger: paramjitbali
ना जाने क्यों ....उदास हो गई रातें मेरी।दिलमें वही तस्वीर लिये घूमता हूँ तेरी। लोग कहते हैं -  जी भर गया होगा मेरादिखती नही अश्कों से भरी आँखे मेरी? मै दरबदर तलाशता हूँ जमानें मे तुझे।ना जाने क्य़ूँ   भूलकर  बैठा हैं तू मुझे।लोग कहते हैं -  हर  शै में समाया तू है फिर क्यूँ खा ... Read more
clicks 197 View   Vote 0 Like   1:58am 22 Jan 2012 #गीत
Blogger: paramjitbali
पत्थर और आदमी मेंअब फर्क नज़र आता नही।इस लिये दिल से यहाँ ,कोई गीत अब गाता नही।खामोश है यहाँ हर नजर, आकाश में उठती हुई -उडता हुआ कोई परिंदा ,नजर अब आता नही।सोचता हूँ गीत यहाँ किसके लिये अब गाँऊ मैं,गीत अपना अपने को,   अब जरा भाता नही।पत्थर और आदमी मेंअब फर्क नज़र आता नही।... Read more
clicks 199 View   Vote 0 Like   7:34am 18 Jan 2012 #गीत
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:

Members Login

    Forget Password? Click here!
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (4020) कुल पोस्ट (193792)