Hamarivani.com

सुमित के तड़के

      चौधरी साब मोटरसाइकिल पर पीछे बैठे हुए अपने बेटे से बोले ,"बेटा थोड़ा और तेज मोटरसाइकिल दौड़ा. कहीं हमें देर न हो जाए. बाबा रामदेव और अन्ना जी के जंतर-मंतर पर आने से पहले हमें वहाँ पहुंचना है." बेटा बोला,"बापू सामने की बत्ती लाल हो चुकी है इसीलिए मोटरसाइकिल धीमी की है." "अ...
सुमित के तड़के...
Tag :
  June 2, 2012, 11:26 pm
    वृद्धाश्रम में आज खूब हलचल है. आज सुषमा जी का आई.ए.एस. बेटा आनंद अपने बीबी-बच्चों के साथ "मदर डे" मनाने को वृद्धाश्रम में हाज़िर है. सभी बुजुर्गों के लिए आज आनंद की ओर से खाने-पीने का प्रबंध किया गया है. सब लोग उसे ढेरों दुआएँ दे रहे हैं. आनंद के साथ आया उसका पी.ए. मुस्तै...
सुमित के तड़के...
Tag :
  May 13, 2012, 11:49 am
     अतिथि महाराज अभी तुमसे बिछुडे हुए अधिक दिन नहीं हुए हैं. फिर भी आज मन किया कि तुम्हारे हाल-चाल ले लूँ. हालाँकि तुम्हारा मेरे घर आना आफत का आना ही है, किन्तु आफत या तुम्हें झेलते-झेलते अब तो आदत सी हो गई है. तुम्हारी जाने कब कुदृष्टि मेरे घर की ओर पड़ेगी और फिर से तुमसे मि...
सुमित के तड़के...
Tag :
  April 30, 2012, 3:02 pm
प्यारे गूगल बाबा            सादर खोजस्ते!आपके खोजूपन को नमन करते हुए पत्र प्रारंभ करता हूँ. वैसे आपके मन में यह उधेड़बुनचल रही होगी कि मैं तो आपसे रोज ही तो मिलता हूँ फिर भला यह पत्र लिखने की जरूरतकैसे पड़ गई. तो आपको साफ-साफ बताना चाहता हूँ, कि जब भीआपसे मुलाकात होती है तो ब...
सुमित के तड़के...
Tag :
  April 16, 2012, 2:22 pm
          हुक्के का कश खींचते असलम चाचा से रामू ने पूछा,“चाचा इस बार मुख्यमंत्री किसे बनना चाहिए?” असलम चाचा ने मुंह से धुआँ निकालतेहुए कहा, “ बेटा अबकी बार वर्तमान मुख्यमंत्री की बजाय इससे पहले वाला मुख्यमंत्रीफिर से सत्ता में आना चाहिए.” “ चाचा ईमानदारी से बताओ कि अब वा...
सुमित के तड़के...
Tag :
  February 19, 2012, 11:44 am
     विवाह का कार्यक्रम चल रहाथा. वधु पक्ष की ओर से दो महिलाएँ आपस में बतिया रहीं थी. पहली महिला, “ बहन सुनाहै कि ठाकुर साब (लड़की के पिता) ने  दिलखोलकर दहेज दिया है.” “हाँ बहन सुना तो मैंने भी यही है.” दूसरी महिला बोली. “बहनएक बात समझ में नहीं आती कि लड़कीवाले एक तो लड़की के र...
सुमित के तड़के...
Tag :
  February 4, 2012, 10:59 am
जनसंदेश टाइम्स (दिनांक-25.01.12)     बाजार में घूमने निकले तो सामने से महावत कल्लू मियाँ दिखाई दिए. इटावा शहर (उ.प्र.) के बाज़ारों में हमेशा अपने हाथी पर अकड़ से बैठकर चलने वाले कल्लू मियाँ का इस प्रकार पैदल चलना अजीब ही लगा  उनके साथ कपड़े की एक इमारत  भी चल रही थी. गौर से देखा तो...
सुमित के तड़के...
Tag :
  January 25, 2012, 11:02 am
           सोशल नेटवर्किंग साइट्स आज़ादी के नाम पर अराजकता फैलाने का काम कर रही हैं. इसलिए इनपर प्रतिबन्ध लगाना बहुत आवश्यक है. यदि प्रतिबन्ध नहीं लगा तो धीमे-धीमे जनता जागरूक हो जाएगी. जनता के जागरूक होने पर राजनीतिक दल इसे मूर्ख नहीं बना पाएँगे. जनता हर उलटे-सीधे काम का ...
सुमित के तड़के...
Tag :
  January 21, 2012, 4:36 pm
प्यारी मदिरा रानीसादर टुल्लस्ते!     चुनावी बिगुल बजते ही तुम्हारी तो बल्ले-बल्ले हो गई. बल्ले-बल्ले हो भी क्यों न चुनाव और तुम एक दूसरे के पर्याय जो ठहरे. बहुत दिनों के बाद एक बार फिर तुम्हारा रूप निखर उठेगा. राजनीतिक दलों द्वारा तुम्हारे यौवन की मुँह माँगी कीमत तुम्हे...
सुमित के तड़के...
Tag :
  January 18, 2012, 1:41 pm
पढ़ते-२ गौरव अचानक ही दीप्ति से बोला, "दीदी आपका घर कितना बड़ा और सुन्दर है. हमारी झुग्गी तो बहुत छोटी है और वो तो इतनी सुन्दर भी नहीं है." दीप्ति ने गौरव को समझाते हुए कहा, "गौरव एक दिन तुम्हारा घर भी ऐसा ही होगा." "पर दीदी हमारा घर ऐसा कैसे होगा जबकि मेरे माँ-बाप तो बहुत गरीब ह...
सुमित के तड़के...
Tag :
  December 19, 2011, 3:23 pm
धीरज दूध की डेयरी पर खड़ा दोस्तों के साथ गप्प मार रहा था. किसी भी लड़की को बात ही बात में चरित्रहीन कर देना उसकी बुरी आदत थी. अभी किसी बात पर बहस हो ही रही थी कि सामने से एक लड़की आती हुई दिखी. धीरज अपनी आदतानुसार शुरू हो गया, " पता है कल्लू वो जो सामने से लड़की आ रही है न. उससे ...
सुमित के तड़के...
Tag :
  December 12, 2011, 8:20 am
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3693) कुल पोस्ट (169661)