POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Blog: अविनाश वाचस्पति

Blogger: अविनाश वाचस्पति
##जानलेवाबीमारीहेपिटसइटिससी से इश्‍कलेखक - अविनाश वाचस्‍पति की आत्‍मकथा भगवतगीता के अध्‍यायअप्रिय सत्‍य मतलब सच्‍चे एवं कड़वे अनुभवों पर आधारित। जिससे 90 प्रतिशत आम लोग जो पुस्‍तक पढ़ते और सुनते हैं तथा इंटरनेट सेे जुड़े 10 प्रतिशत लोगों में से नहीं हैं हेपिटाइटिस स... Read more
clicks 382 View   Vote 0 Like   5:18pm 11 Jan 2016 #Hepititis C
Blogger: अविनाश वाचस्पति
##Dilwaleन बाजी जीती न है वो राव वह तो है देखो शाहरूख खान कह रहा है चिल्‍ला रहा है अखबारों की सुर्खियां बना हुआ है शाहरूख पागल हो गया है तो पहले क्‍या अक्‍लमंद था बुद्धि का द्वार उसका बंद था तब भी तो लोग कहेंगे या लोग कहें कि शाहरूख पागल हो गया है मस्‍त मस्‍त मस्‍तानी पागल हुई ज... Read more
clicks 345 View   Vote 0 Like   1:58am 19 Dec 2015 #कविता
Blogger: अविनाश वाचस्पति
#‪#‎HardCold‬कड़ाके की ठंडपढ़ रही हो जहांनाम काट दोउस क्‍लास सेसर्दी भरे दिन रात का।गला काट रही हैजान से मार रही हैठिठुरा ठिठुरा करगरीबों को औरउनको भी जोसोते हैं फुटपाथ पर।बदल दो सारेफुटपाथों कोढके हुए नालों मेंया बिछा दोसीमेंट के गोलबड़े पाइपसड़को के किनारे। जो बेघरों ... Read more
clicks 372 View   Vote 0 Like   2:42am 17 Dec 2015 #कड़ाके की ठंड
Blogger: अविनाश वाचस्पति
#‪#‎छिलके‬सब्जियों और फलों के छिलके पाचनक्रिया के लिए बहुत उपयोगी हैं, इनका उपयोग करें, इन्‍हें न फेकें। जहां तक कि आलू, चुकंदर, मूली, गाजर, केले, सेब, अनार, अमरूद के छिलके भी बेकार नहीं हैं।मोबाइल 09560981946... Read more
clicks 265 View   Vote 0 Like   1:04am 8 Dec 2015 #चिकित्‍सा
Blogger: अविनाश वाचस्पति
#‪#‎Health‬सब्जियां हरी तबीयत के लिए भलीलगती हैं गुड़ की मिठास भरी डली।शरीर की खिल जाती है हरेक कलीजिस्‍मानी ताकत बनाती है बली।- अविनाश वाचस्‍पतिमोबाइल 9560981946... Read more
clicks 359 View   Vote 0 Like   12:09am 5 Dec 2015 #गुड़ की मिठास भरी डली
Blogger: अविनाश वाचस्पति
मेरा जिगर नहीं सुलगता है अब चाहे सुलगाऊं बीड़ी या सिगरेट जिगर मेंं नहीं होता है दर्प ऐसा मर्द हो गया हूं मैं। दर्पीला मर्द एक दिन मर जाएगा मगर मालूम नहीं चलेगा किसी को इस मर्द के जिगर में दर्प लबालब भरा था। जिगर को हेपिटाइटिस था ए, बी, सी, डी अथवा ई दर्प भी था यह कहा जांच मे... Read more
clicks 270 View   Vote 0 Like   9:57pm 27 Nov 2015 #मुखिया से दुखिया
Blogger: अविनाश वाचस्पति
##FutureGenerallyआप सबने अविनाश वाचस्‍पति का देखा है बुरा हाल बीमारी ने क्‍या जकड़ा, सबने उन्‍हें काबू कर लिया पकड़ा गर होते उनके पास कुछ लाख रुपये या एश्‍योरेंस यानी इंश्‍योरेंस से प्राप्ति की होती आस दसियों बीसियों पचासों लाख उनके खाते में होते या इंश्‍योरेंस से मिलने वाले ह... Read more
clicks 335 View   Vote 0 Like   9:48pm 7 Nov 2015 #Avinash Vachaspati
Blogger: अविनाश वाचस्पति
#‪#‎अंतिमसमय‬ऐसा प्रतीत हो रहा है कि स्‍वजनों का शाप फलीभूत हो रहा है। अभी पन्‍द्रह मिनिट पहले मैं डाईंग रूम में टीवी पर एक कॉमेडी कार्यक्रम देख रहा था और साथ ही सोते समय पिए जाने वाले दूध के ठण्‍डा होने का इंतजार कर रहा था। तभी एकाएक मेरी दायीं ओर के पैर की मांसपेशी में ... Read more
clicks 296 View   Vote 0 Like   8:27pm 18 Oct 2015 #
Blogger: अविनाश वाचस्पति
लिवर की सत्यकथा : हेपिटाइटिस सी जैसे रोग से पीडि़त अविनाश वाचस्‍पति की स्‍वानुभूतिPosted on  by  नुक्‍कड़ in -    अविनाश वाचस्‍पतिएक हूं पर मैं कई रूपों में आता जाता हूं, मैं हूं रूप नेक, पर अनेक। जो आत्‍माएं इस तथ्‍य से परिचित हैं कि टीम वर्क की क्‍या महत्‍ता है और पर... Read more
clicks 361 View   Vote 0 Like   6:35am 25 May 2015 #असाध्‍य रोग
clicks 230 View   Vote 0 Like   12:05am 20 Mar 2015 #
Blogger: अविनाश वाचस्पति
तुमने किसी को मीठा खाकर मरते हुएदेखा है देखो वह डरकर मीठे सेकर रहा है परहेज खा रहा है मीठा रात को फ्रिज खोलकर फिर भी हैजिंदा इै इसी धरतीका बाशिन्‍दा नहीं खा रहा है मीठा इसलिए मीठी चीजों की देख लो जान जा रही है हलवाई डर रहा है सोच रहा है खोलूं नमकीन की दुकान पर नमकीन पकवान ... Read more
clicks 325 View   Vote 1 Like   9:11pm 12 Nov 2014 #
Blogger: अविनाश वाचस्पति
कवितापहल- अविनाश वाचस्‍पति पहल खुद पहलकारक होतो अच्‍छा लगता हैपर पहेली का न बनेन पैदा हो पहले सेपहल ही रहता हैपहल का हलसदा विचारों की फसलउपजाता हैशून्‍य से खुद कोभीतर तक जलाया हैझुलसाया हैसच बतलाऊंभीतर तक तपाया हैपहल पर्याय का होकविता, कहानी, उपन्‍यासनाटिका, नौंटं... Read more
clicks 312 View   Vote 0 Like   11:19pm 5 Nov 2014 #कविता
Blogger: अविनाश वाचस्पति
नाउम्‍मीदी में खुशियों की ईद हैजो कल गई है वापिस वो दीवाली हैमन में मिलने की हरियाली हैसबसे प्‍यारे हैं इंतजार के क्षणजल्‍दी भंग नहीं होते, भंगर नहीं होतेइंतजार में होता है सुकूनजब होता है सुकूनतब और कुछ नहीं होतान होती है चिंतानहीं होता है तनावमिलने की आब मन मेंबसी ... Read more
clicks 326 View   Vote 0 Like   2:46am 24 Oct 2014 #
Blogger: अविनाश वाचस्पति
चलने वाले दो पैर परअचरज नहीं होतान मुझे, न तुझे औरन किसी अन्‍य को।धरती पर मौजूदइंसान से गिनें तोउपकरणों पर रुकेंपक्षी भी मिलेंसंतुलन का पर्यायसाइकिल से शुरू करेंटू व्‍हीलर तक सबसंतुलन धर्म निबाह रहे हैं।जानवर चलते-दौड़तेचार पैरों पर तेज गति सेगति से होकर मुक्‍तदु... Read more
clicks 298 View   Vote 0 Like   9:50am 11 Oct 2014 #इंसान
Blogger: अविनाश वाचस्पति
फाइंडिंग फेनी हिंदी फिल्‍म का असली आनंद लेने के लिए गोवा निवासी अथवा गोवा का पर्यटक होना बहुत जरूरी है। पर्यटन कम से कम एक सप्‍ताह भर का रहे तो समंदर के नमकीन पानी से शर्बत की मिठास का आनंद मिल सकता है। ऐसे मुक्‍तभोगी ही फिल्‍म का सही लुत्‍फ ले सकते हैं। गोवा की गांव सं... Read more
clicks 309 View   Vote 0 Like   1:57am 4 Oct 2014 #
Blogger: अविनाश वाचस्पति
मुखोटे, नकाब, जोकर का चेहरा और पुतले एक ही जाति, धर्म इत्‍यादि के अंर्तसंबंधों को जाहिर करते हैं। इनका लुत्फ नए-नए फिल्मी प्रयोग और टीवी चैनल के धारावाहिकों में रोजाना प्रसारित हो रहा है। इन सबको अलग नाम देने के क्‍या कारण रहे होंगे। मुखोटे मुख को ओट कर भी खोटे साबित हो ... Read more
clicks 332 View   Vote 0 Like   11:40pm 6 Jul 2014 #फेसबुक
Blogger: अविनाश वाचस्पति
फिल्‍मों के संवाद और गानों की भाषा के प्रयोग में भी बाजारवाद हावी हो गया है जिसके कारण सिनेमा में भी राजनीति का वर्चस्‍व बढ़ रहा है। वैसे इसे राजनीति नहीं धन बटोरने का जुनून कहा जाएगा। परदे के पीछे को अगर पिछवाड़ा कहा जाए तो ठीक भी है पर पिछवाड़े का आशय पाठकगण बखूबी समझ... Read more
clicks 398 View   Vote 0 Like   5:10pm 1 Jul 2014 #बिगड़ना
Blogger: अविनाश वाचस्पति
एक कटहल अपनी कटहलनी के साथ अपने-अपने ‘क’ को छोड़कर वीआईपी इलाके में रात के रोमांस की मस्तियां देखने के लिए पेड़ से उतरकर बंगले के बाहर टहलने चले गए। सिने माध्यम से एकदम अपरिचित कटहल लटक कर लंबे नहीं हो पाए थे तो उनके मन में विचार आया कि टहल कर अपनी लंबाई बढ़ा लें। उन्हें ... Read more
clicks 335 View   Vote 0 Like   12:51am 28 Jun 2014 #bcr
Blogger: अविनाश वाचस्पति
मेरी इच्‍छा थी कि  खूब  मुकाबला चला है मेरा, मेरी अपनी बीमारी हेपिटाइटिस सी के साथ, सो वह अब घुटने टेक दे पर उसकी यू्. के. की सरकार का साथ वाला हाथ  मिलाने वाली मिलीभगत सक्रिय है। माना कि दुनिया  गोल  है पर यह गोल फुटबाल वाला नहीं है। हरेक गोल के अलग मायने और अल... Read more
clicks 323 View   Vote 0 Like   8:28pm 16 Jun 2014 #जनवाणी
Blogger: अविनाश वाचस्पति
जीवन चलने का नाम, चलते रहो सुबह-ओ-शाम और दोपहर को क्या करें,आराम करें लेकिन यह फिलॉसफी फिल्मकारों पर ठीक नहीं बैठती। उनके लिए तो ‘आराम हराम है’ और प्रख्यात हास्य.व्यंग्य कवि गोपाल प्रसादव्यास जी ने अपनी एक फेमस कविता में कहा है कि ‘आराम जिंदगी की कुंजी है, इससे न तपेदिक ... Read more
clicks 310 View   Vote 0 Like   10:56am 9 Jun 2014 #नेता
Blogger: अविनाश वाचस्पति
आप कोई स्‍वार्थी हैं जो अपने हित की बात करेंगे। आप सदा तंबाकू उगाने, बेचने वाले सौदागरों का भला चाहते हैं। इंसान वही जो सदा इंसान के काम आए। यह क्‍या कि अपनी जान के लालच में सामने वाले के पेट पर लात मारता चले।अगर तंबाकू नहीं उपजेगा, नहीं बेचा जाएगा तो इससे जुड़े कितने ही ... Read more
clicks 257 View   Vote 0 Like   7:27pm 1 Jun 2014 #
Blogger: अविनाश वाचस्पति
जीत को जनता का आदेश मानकर स्‍वीकारना जीत को महाजीत बना देता है। गंगा की सेवा को अपने भाग्‍य से जोड़ लेना सुकर्म, उस पर गंगा मैया से आशीर्वाद लेना और आरती करना आस्‍था का गंगाकुभ है। पर इस बार इससे चुनावों में देश मुखिया पद की प्राप्ति हुई है। यह दौर निश्चित ही अचंभित करत... Read more
clicks 293 View   Vote 0 Like   10:26pm 31 May 2014 #कटी पतंग
Blogger: अविनाश वाचस्पति
हिंदुस्‍तान के नए-नवेले प्रधानमंत्री जी की इच्‍छा है कि जनता दरबार लगाए जाएं पर पब्लिक चाहती है कि उनका हश्र केजरीवाल जैसे दरबारों जैसा न हो, जिसमें उन्‍हें  अपने घरों के दरवाजे लॉक करने पड़े थे।  दरवाजे लॉक करना यूं तो एक विशेष कला है जिसमें आयोजक लॉक दरवाजों के ... Read more
clicks 283 View   Vote 0 Like   8:08pm 30 May 2014 #जनता दरबार
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:

Members Login

    Forget Password? Click here!
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3991) कुल पोस्ट (194986)