POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Blog: आरंभन

Blogger: S.Vikram
                उसके यूँ तो छमिया, छम्मकछल्लो, हरामजादी, रानी वगैरह कई नाम थे, मगर मुझे उसके नाम में कभी दिलचस्पी नहीं रही ...वो हर बार कुछ और बन जाती थी मेरे लिए.....और मैं इसीलिए उसके पास जाता थावो मेरे लिए समंदर किनारे की रेत थी जब तक दिल किया उसके साथ खेला....... कुछ भी अपन... Read more
clicks 266 View   Vote 0 Like   8:10am 18 Dec 2013 #कहानी
Blogger: S.Vikram
दरवाजा खुला रखो, इंतज़ार करो कभी किसी मुसाफिर से प्यार करोकलियों ! आज ज़रा देर से खिलोप्यासे भँवरे को और बेक़रार करो तनहाई में कमरे से भी बात करोकभी दीवारों को अपना राज़दार करो तुम्हारी नफरत से मैं नहीं डरने वाला रास्ता अब कोई और इख्तियार करो बुत-ए-पत्थर का अब भरम छोड... Read more
clicks 193 View   Vote 0 Like   8:40am 1 Mar 2013 #ग़म
Blogger: S.Vikram
इजहार-ए-इश्क़ तो दोनों ने किया थावो भी बदल गयी मैं भी मुकर गयाइक अज़ीज़ दोस्त था दिल के करीब थामुसीबत के वक़्त में जाने किधर गयाढूंढती रही नज़रे तुझको ही चारो ओरनज़र को नहीं मिला, नज़र से उतर गयाकोई दर्द ही दे दे मुझे महसूस करने कोये तो पता चले कि हूँ ज़िंदा कि मर गयामज़म... Read more
clicks 167 View   Vote 0 Like   5:47pm 24 Feb 2013 #ग़म
Blogger: S.Vikram
प्यार के गीत वो जब भी कभी गाता होगा चेहरा मेरा भी उसके जेहन में आता होगामुझको सोने नहीं देता है तसव्वुर जिसका मुझको ख्वाबों में क्या वो भी कभी लाता होगाबातें दिल की थीं जो दिल मे ही छुपा ली मैंनेवो भी दिल मे है तो वो जान तो जाता होगा धरती प्यासी है बरस जाओ ऐ काले बादल हाल... Read more
clicks 172 View   Vote 0 Like   1:48pm 19 Feb 2013 #ग़म
Blogger: S.Vikram
मैं सुनता रहूँतुम कहती रहो रग रग में तुम यूँ ही मेरे तुम बहती रहो रात ढल जाने दो चाँद गल जाने दोहो जाने दो सहर सूर्य जल जाने जोबस कहती रहोतुम कहती रहोमैं सुनता रहूँतुम कहती रहो शब्द खोये हैं मेरे कुछ भी करूँ कैसे बयाँ तुम जानती हो सब कहने को बाकी क्या रहा बस तेरे ख्वा... Read more
clicks 153 View   Vote 0 Like   5:12pm 11 Feb 2013 #प्यार
Blogger: S.Vikram
अब मैं यहाँ नहीं रहतायाद और ग़म की ये गली अब छोड़ दी है मैंनेमैंने नया घर बनाया हैउधर खुशियों की तरफमुस्कान के बगीचे के बगल मे मिलना हो अगर मुझसे आ जाना उधर कभी भी भूलने लगो अगर रास्तापूछ लेना किसी जुगनू सेघर तक छोड़ देगा......... Read more
clicks 126 View   Vote 0 Like   9:01am 7 Feb 2013 #प्यार
Blogger: S.Vikram
दिन भी बदला रातें बदलीं बदले मौसम चार पर विक्रम वही का वही कपड़े बदले लत्ते बदले बदले साज श्रंगार पर विक्रम वही का वही शक्लें बदलीं अक्लें बदली कोई बदले रूप हजार पर विक्रम वही का वही रिश्ते बदले नाते बदलेबदले नेक विचार पर विक्रम वही का वही कुछ बुरे जो बदले अच्छे बद... Read more
clicks 179 View   Vote 0 Like   12:52pm 21 Jan 2013 #गीत
Blogger: S.Vikram
1मेरी गुस्ताख़ नज़रों से जो बच पाओ तो बच लो तुमनज़र का तीर है इसको कोई पर्दा क्या रोकेगा??…………………………………………2 बड़े अनमोल मोती हैं इन्हे यूं ज़ाया न करोहर किसी की बात पर यूं मुस्कुराया न करोइन खंजरों से होना क़त्ल बस मेरा ही हक़ हैमुस्कान के खंजर सब पे यूं चलाया न करो……………... Read more
clicks 172 View   Vote 0 Like   2:41pm 20 Jan 2013 #ग़म
Blogger: S.Vikram
जो कोई पूछता है, कैसा तू इंसान है विक्रमकभी शैतान है विक्रम कभी भगवान है विक्रमवो कहते है समझ पाना तुझे मुश्किल बड़ा है यारतू दिल से दिल मिलाकर देख बड़ा आसान है विक्रमहै मौसम सा मिजाज इसका पल भर मे बदलता हैकभी है जान-ए-महफिल तो कभी बेजान है विक्रमबुरा न मानिए साहिब इसकी ... Read more
clicks 168 View   Vote 0 Like   11:18am 18 Dec 2012 #ग़ज़ल
Blogger: S.Vikram
तुम तो यहीं थी मेरे भीतरएक खुशबू की तरह मुझे महकाती हुयी और मैं पागल ढूँढता रहा तुम्हें बाहर कस्तूरी मृग की तरह पर तुम चुप क्यूँ रही?कुछ तो कहतीडांट ही देती मुझेमेरी मूर्खता परया आनंद आता हैमुझे सताने मे यही बता दो अबक्या मेरे कष्टमेरे दुख देख तुम्हें पीड़ा न हुयीन... Read more
clicks 141 View   Vote 0 Like   6:38pm 10 Dec 2012 #
clicks 148 View   Vote 0 Like   11:07am 2 Sep 2012 #
clicks 123 View   Vote 0 Like   10:28am 2 Sep 2012 #
Blogger: S.Vikram
Jane kyu Feat Vikrant... Read more
clicks 153 View   Vote 0 Like   10:26am 2 Sep 2012 #
Blogger: S.Vikram
ज़माने  बाद आज खुशियाँ दर पे आई,चंद लम्हों की  मुलाकात संग लाई  ।पहनकर सफ़ेद  परियों सा चोला,आईने के सामने अपनी लटो को खोला।मिलन की बात पर हम निखर आए थे, अचानक आईने में वो नज़र आए थे ।कहे की ओढ़ लो कोई काली सी ओढ़नी ,बन जाओ आज तुम मेरी रागिनी।धड़कने तेज़ मध्यम सी होने लगी,... Read more
clicks 147 View   Vote 0 Like   5:53pm 25 Jun 2012 #
Blogger: S.Vikram
उसकी इस ख़ता की भी कोई सज़ा नहीं  मिलने का किया वादा पर वो  मिला नहीं वो हसीं बात आज उसने ही बोल दी यारो  जो मेरे दिल मे थी मैंने मगर  कहा नहीं हाल-ए-दिल खत में तुझे तो मैंने रोज़ लिखाक़ासिद को खत दिया पर तेरा पता लिखा नहीं  मेरी खता है जो छूना तुझे चाहूँ मैं मगरइतना हसीं है तू, क्... Read more
clicks 149 View   Vote 0 Like   3:33pm 25 Mar 2012 #
Blogger: S.Vikram
उसकी इस ख़ता की भी कोई सज़ा नहीं  मिलने का किया वादा पर वो  मिला नहीं वो हसीं बात आज उसने ही बोल दी यारो  जो मेरे दिल मे थी मैंने मगर  कहा नहींहाल-ए-दिल खत में तुझे तो मैंने रोज़ लिखाक़ासिद को खत दिया पर तेरा पता लिखा नहीं  मेरी खता है जो छूना तुझे चाहूँ मैं मगरइतना हसीं है त... Read more
clicks 132 View   Vote 0 Like   3:33pm 25 Mar 2012 #प्यार
Blogger: S.Vikram
हयात-ए-ग़म का ये सफर नहीं आसान मेरे यार, यहाँ आएंगे अभी और भी तूफान मेरे यार | ज़रा सी तीरगी से हो गए हो हिरासान मेरे यार, ज़िंदगी है ये तारीकियों का उनवान मेरे यार |लड़ना मुश्किलों से है हर इंसान की किस्मत, इनसे मोड़ ले जो मुंह वो क्या इंसान मेरे यार??आधे रास्ते से हारकर तु... Read more
clicks 198 View   Vote 0 Like   5:57pm 18 Mar 2012 #ग़ज़ल
Blogger: S.Vikram
बेशक गुज़रो मेरी गली से, मगर नकाब ओढ़ के | न गिराओ किसी पर बर्क-ए-हुस्न मुझे छोड़ के |ये बिजलियाँ मुझ पे गिराओ मैं जलना चाहता हूँ हद है तेरा हुस्न, मैं हद से गुजरना चाहता हूँ हदें तोड़ जमाने की, मुझ पर एतबार तो कर |मैंने सौ बार किया, तू भी इक बार तो कर |तू भी इक बार किसी से प्यार ... Read more
clicks 141 View   Vote 0 Like   2:28pm 5 Mar 2012 #प्यार
Blogger: S.Vikram
तू असलियत में क्या है, आज देख लेते हैं ।तू है पत्थर या खुदा है, आज देख लेते हैं ।इम्तिहाँ मेरा लिया तूने रोज़ रोज़ खूब ।  आज तेरा इम्तिहाँ है, आज देख लेते हैं ।मैं तुझे जानता, पहचानता, मानता नहीं ।तेरे सच से कौन आशना है, आज देख लेते हैं ।मैं भरोसा करूँ तेरा, या न करूँ, है मेरी म... Read more
clicks 154 View   Vote 0 Like   6:43pm 3 Mar 2012 #मैं
Blogger: S.Vikram
तुझे भूलना मुमकिन भी हो जाता लेकिन तेरी याद दिलाने का जहां में दस्तूर बहुत हैन की कद्र तेरी जब थी जानाँ पास तू मेरे आज जब कद्र करता हूँ तो तू दूर बहुत हैहमारा इश्क ग़र परवान चढ़ता तो क्यूँ करमैं मगरूर बहुत हूँ और तू मजबूर  बहुत है   सैकड़ो ज़ख्म सह कर भी जी लेता है इंसान मग... Read more
clicks 207 View   Vote 0 Like   3:09pm 21 Feb 2012 #ग़म
Blogger: S.Vikram
बेशक हार हुयी है मेरीपर हारा नहीं हूँ मैंमुझको लाचार न समझो तुमबेचारा नहीं हूँ मैंरुका हूँ, गिरा हूँ, ज़मीं पर पड़ा हूँपर ज़िंदा हूँ अभी,किस्मत का मारा नहीं हूँ मैंफिर उठूँगा, बढ़ूँगा,फ़लक तक चढ़ूँगामैं  सूरज हूँ, उगना ढलना आदत है मेरीटूट के पल में  खो जायेवो तारा नहीं ... Read more
clicks 236 View   Vote 0 Like   5:34am 30 Jan 2012 #मैं
Blogger: S.Vikram
खुशबू, भँवरे, बहार और गुलाब भी होगाउसका नूर है यहाँ, तो आफताब भी होगा उसकी कत्थई आँखों में हैं मस्तियाँ कितनी उसकी आँखों का दूसरा नाम शराब भी होगा मैं फकीर बनके रोज़ उसके दर पे जाता हूँ जाने कब अपने घर वो वहाब भी होगा ये पल मे बनते है पल ही मे टूट जाते हैं मेरे ख्वाबो सा क्य... Read more
clicks 134 View   Vote 0 Like   7:20pm 1 Dec 2011 #
Blogger: S.Vikram
जाने क्यों तुम इसे मौत का कुआं कहते होमेरे लिए तो इसका हर ज़र्राज़िंदगी से बना हैकभी ध्यान से देखो ये ज़िंदगी का कुआँ हैजैसे ज़िंदगी हमेंगोल गोल नचाती है वैसे मेरी मोटर भी चक्करों मे चलती हैरंग बदलता है जीवन नित नए जैसेवैसे ही ये अपनेगियर बदलती हैध्यान भटकने देना द... Read more
clicks 101 View   Vote 0 Like   9:58am 29 Nov 2011 #मैं
Blogger: S.Vikram
हुस्न की धूप, प्यार की बयार दे दो तुम,ऐ खुदा ! वो सुबह एक बार दे दो तुम ।उसको पाकर ही मेरे दिल को चैन आएगा मेरा सुकून वो मेरा करार दे दो तुम शहर फिजूल है, ये शहर अपने पास रखो इंतेजा है कि बस  कूचा-ए-यार दे दो तुमबड़े दिनों के हैं ताल्लुकात तेरे मेरे दोस्ती निभाओ, अमां यार दे द... Read more
clicks 111 View   Vote 0 Like   6:58am 19 Nov 2011 #प्यार
Blogger: S.Vikram
ये कैसा व्यापार हुआ,दुश्मन सारा बाज़ार हुआ |दिल लेकर दिल दे बैठे तो,क्यूँ जग में हाहाकार हुआ|इश्क़ अजब ही नदी है साहिबयहाँ जो डूबा सो पार हुआ|दीदों को न भाया तब से कुछ जब से उनका दीदार हुआ|   अब दवा इश्क़ की कौन करे है हर कोई बीमार हुआ |पहले था काम का "विक्रम" भी जो इश्क़ ... Read more
clicks 102 View   Vote 0 Like   8:42pm 11 Nov 2011 #प्यार
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:

Members Login

    Forget Password? Click here!
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (4019) कुल पोस्ट (193765)