POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Blog: ! नूतन !

Blogger: shikha kaushik
महाशिवरात्रि की हार्दिक शुभकामनायें मेरे मन बनकर तू डमरू करता जा डम-डम-डम तेरी डम -डम में गूंजेंगी मेरे भोले की बम-बम मेरे मन बनकर तू ......मेरा भोला सब भक्तों  के है सारे  कष्ट  मिटाता  वो भक्तों की रक्षा  हित  है कालकूट  पी  जाता मेरी  जिह्वा  करती चल  तू शिव महिमा   का ह... Read more
clicks 406 View   Vote 0 Like   5:18pm 9 Mar 2013 #
Blogger: shikha kaushik
 छोड़ प्राण का मोह हमें अब लड़ना होगा !बाहुबल से आर-पार अब लड़ना होगा !!कब तक बेटे -पिता -भाई हम ऐसे खोयें ?हर अपराधी को फाँसी अब चढ़ना होगा !!'राजा ' है हत्यारा जनता क़त्ल हो रही !सिंहासन के टुकड़े करने को बढ़ना होगा !!जनता के सेवक ही सिर पर चढ़ कर बैठे !इन्हें उतरकर जन-चरणों में पड़ना होगा... Read more
clicks 436 View   Vote 0 Like   5:40pm 5 Mar 2013 #
Blogger: shikha kaushik
 पुरस्कृत होंगे आतंकवादी जिन्होंने है बम विस्फोट किया ,दिए जायेंगें लोथड़े मांस  के  जो  उन्होंने  बनाये   हैं इंसानी  जिस्मों के और  साथ  में उन जिस्मों में के दिलों में पलते सपनों के टूटे टुकड़े भी !पुरस्कृत होंगे आतंकवादी जिन्होंने है बम विस्फोट किया ,दिये  जायेंगे ई... Read more
clicks 409 View   Vote 0 Like   8:33am 24 Feb 2013 #
Blogger: shikha kaushik
      मैं भारत हूँ सुन ले घाटी दिल की सारी गांठे खोल  दहशतगर्दी मिटे मुल्क से संग-संग मेरे तू भी बोल . दहशतगर्दी जो फैलाये करना उसका काम तमाम ,नरम नहीं अब सख्त दिलों से लेना होगा हमको काम ,मेरा बेटा-तेरा भाई सबको एक तराजू तोल !दहशतगर्दी मिटे ..........................................मासूमों के हत्यार... Read more
clicks 401 View   Vote 0 Like   8:57am 17 Feb 2013 #
Blogger: shikha kaushik
 देर न हो जाये घाटी आज जाग जा ,मेरी वफ़ा का दे सिला अलगाव भूल जा !हिंदुस्तान जैसा आशिक न मिलेगा ,गुमराह न हो सैय्याद की चाल जान जा !जो हाथ थाम मेरा साथ चलेगी ,मंजिल तरक्की की तुझे रोज़ मिलेगी ,खामोश न रह मेरे संग चीख कर दिखा !मेरी वफ़ा का दे सिला अलगाव भूल जा ! नोंचने की है पडोसी की... Read more
clicks 393 View   Vote 1 Like   8:30am 16 Feb 2013 #
Blogger: shikha kaushik
भरी दुपहरी जेठ की या सावन की बौछार ,रोज हाथ में 'रोज़' लिए करते इंतजार !सोते-जागते सुबह-शाम इसकी रहती है खोज ,प्रॉमिस करते बड़े बड़े ,करते इसको प्रपोज़ !  गले लगाने को इसे हम सब हैं तैयार ,पहने फूलों के हार भी जूतों की खाते मार !   अमर प्रेम इससे हमें करते हैं स्वीकार ,चंचल चित्त की... Read more
clicks 406 View   Vote 0 Like   10:33am 13 Feb 2013 #
Blogger: shikha kaushik
हिन्दू प्राण बसे  भगवा में भगवा से है जुडी आस्था ; श्रद्धा और विश्वास ,हिन्दू प्राण बसे  भगवा में ; ये आती जाती श्वास  !भगवाधारी   संतों ने ज्ञान प्रकाश फैलाया ,सत्य,अहिंसा ,मानवता का  पावन  पाठ पढाया ,भगवा रंग में रंग  हुआ है भारत का इतिहास ! हिन्दू प्राण बसे  भगवा में ; ये आत... Read more
clicks 469 View   Vote 0 Like   7:47am 27 Jan 2013 #
Blogger: shikha kaushik
हर हिन्दू देश भक्त है , हिन्दू से हिंदुस्तान नहीं सहा है नहीं सहेंगें हिन्दू अपना अपमान !सब धर्मों को आदर दो ये शिक्षा हमको मिलती ,हर हिन्दू के दिल  में सद्भाव की ज्योति जगती ,क्रिश्चन हो या मुस्लिम सबको देते सम्मान !नहीं सहा है नहीं सहेंगें हिन्दू अपना अपमान ! अन्याय के ... Read more
clicks 388 View   Vote 0 Like   8:44am 23 Jan 2013 #
Blogger: shikha kaushik
हम हिंदी चिट्ठाकार हैं      हम हिन्दी चिट्ठाकार हैं  हम हिन्दी चिट्ठाकार हैंहम खुद अपनी सरकार  हैं  हम हिन्दी चिट्ठाकार हैं !सच लिखने से घबराते नहीं ,राज़  किसी का छिपाते नहीं ,लिखते हैं वो जो है सही ,जैसी हो घटना बताते वही , हम सच के पहरेदार हैं , हम हिन्दी चिट्ठाकार हैं लि... Read more
clicks 393 View   Vote 0 Like   10:01am 20 Jan 2013 #
Blogger: shikha kaushik
भारत माता की जय !छिप कर क्यों आता है कायर ?आगे से आकर दिखा !हम हैं वतन के प्रहरी आँखें मिलकर दिखा !तेरी हर साजिश को हम नाकाम कर देंगे ओ दुश्मन तेरा काम हम तमाम कर देंगे !पीछे से करता क्यों वार है ?आगे से आकर दिखा !है बहादुर तू अगर मुंह न ऐसे छिपा ;तेरी हर साजिश को हम नाकाम कर दे... Read more
clicks 454 View   Vote 0 Like   10:20am 15 Jan 2013 #
Blogger: shikha kaushik
भारत माता की जय !छिप कर क्यों आता है कायर ?आगे से आकर दिखा !हम हैं वतन के प्रहरी आँखें मिलकर दिखा !तेरी हर साजिश को हम नाकाम कर देंगे ओ दुश्मन तेरा काम हम तमाम कर देंगे !पीछे से करता क्यों वार है ?आगे से आकर दिखा !है बहादुर तू अगर मुंह न ऐसे छिपा ;तेरी हर साजिश को हम नाकाम कर दे... Read more
clicks 328 View   Vote 0 Like   10:20am 15 Jan 2013 #
Blogger: shikha kaushik
भारत माँ को नमन अपनी जमीन सबसे प्यारी है ;अपना गगन सबसे प्यारा है ;बहती सुगन्धित मोहक पवन ;इसके नज़ारे चुराते हैं मन ;सबसे है प्यारा  अपना वतन ;करते हैं भारत माँ को नमन वन्देमातरम !वन्देमातरम !करते हैं भारत माँ ! को नमन .उत्तर में इसके हिमालय खड़ा ;दक्षिण में सागर सा पहरी अड... Read more
clicks 379 View   Vote 0 Like   6:29pm 13 Jan 2013 #
Blogger: shikha kaushik
  भारतीय शहीदों  को शत शत प्रणाम .भारत माता की जय !! पाकिस्तान द्वारा हमारे दो भारतीय सैनिकों के साथ किया गया अमानवीय व्यवहार  यह साबित करता है कि पाकिस्तान न तो हमारा मित्र बनने लायक है और न ही एक अच्छा दुश्मन .पाकिस्तान शर्म करो .दुनिया से कह दो ना आँखें दिखाए ,ताकत हमार... Read more
clicks 496 View   Vote 0 Like   6:10pm 9 Jan 2013 #
Blogger: shikha kaushik
बलात्कार तब तक नहीं रुक सकते जब तक नहीं रुकेगा स्त्री को जिम्मेदार ठहराना  और पुरुष का अपने ही कुकृत्य पर ठहाका लगा !बलात्कार तब तक नहीं रुक सकते जब तक नहीं रुकेगा धर्म गुरु  द्वारा जनता को भटकना और नेताओं का राजनीति चमकाना .बलात्कार तब तक नहीं रुक सकते जब तक नहीं रुकेग... Read more
clicks 384 View   Vote 0 Like   7:15pm 7 Jan 2013 #
Blogger: shikha kaushik
अब मैं कभी नहीं रोउंगी ;अब मैं कभी निराश न होउंगी  ;गम जितने देने हो दे दे;अब मैं कभी उदास न होउंगी  *****कभी थमेंगे नहीं ये हाथ; पग बढ़ते जायेंगे आगे ;बाधाओं की आग में जलकर ;भले मैं बन जाऊं एक राख;अब कभी दिल न टूटेगादिल में न कोई टीस ही होगी.******हर आशा को मन में रखकर;प्रतिपल उसका ध... Read more
clicks 362 View   Vote 1 Like   8:51am 7 Jan 2013 #
Blogger: shikha kaushik
अमर प्रेम का आधार ''भाव'' तुम्हारे नयनों में समस्त सृष्टि के लिए स्नेह ,तुम्हारे अधरों पर मंगलमयी पवित्र मुस्कान ,तुम्हारे कर-पल्लवों  केस्पर्श में है ममत्व ,हे कल्याणी !तुम्हारी देह से नहीं  आकर्षित , तुम्हारे भावों से हूँ  प्रभावित ,स्नेह ,ममता और आह्लादित करने वाले तु... Read more
clicks 398 View   Vote 0 Like   4:50pm 3 Jan 2013 #
Blogger: shikha kaushik
 स्त्री देह को उघाड़कर पुरुष की हवस को हवा देने वाली चुप क्यों हो ?छिपी हो कहाँ ?''दामिनी '' पर हुई दरिंदगी में अपना गुनाह क़ुबूल करो !पूनम पांडे  एंड  कम्पनी  हाज़िर हो !!मुन्नी बदनाम हुई , हू ला ला ,शीला की जवानी ,चिकनी-चमेली बनकर थिरकती और नोट बटोरती मलैका ,विद्या ,कैटरीना और करी... Read more
clicks 338 View   Vote 0 Like   8:59am 1 Jan 2013 #
Blogger: shikha kaushik
 आज जनकपुर स्तब्ध  भया ;  डोल गया विश्वास है  ,जब से जन जन को ज्ञात हुआ मिला सीता को वनवास है .मिथिला के जन जन के मन में ये प्रश्न उठे बारी बारी ,ये घटित हुई कैसे घटना सिया राम को प्राणों से प्यारी ,ये कुटिल चाल सब दैव की ऐसा होता आभास है .हैं आज जनक कितने व्याकुल  पुत्री पर संक... Read more
clicks 370 View   Vote 0 Like   10:09am 31 Dec 2012 #
Blogger: shikha kaushik
''ये दुनिया मर्दों की है ''कुंठिंत पुरुष-दंभ की ललकार पर स्त्री घुटने टेककर कैसे कर ले स्वीकार ?जिस कोख में पला;जन्मा पाए जिससे  संस्कार उसी स्त्री की महत्ता ;गरिमा को कैसे रहा नकार ?कभी नहीं माँगा;देती आई ममता,स्नेह ;प्रेम-दुलार उस नारी  को नीच माननाबुद्धि  का अंधकार  ... Read more
clicks 407 View   Vote 0 Like   9:11am 30 Dec 2012 #
Blogger: shikha kaushik
 वो लड़की रौंद दी जाती है  अस्मत जिसकी  ,करती है नफरत अपने ही वजूद से जिंदगी हो जाती है बदतर उसकी मौत से . वो लड़की रौद दी जाती है अस्मत जिसकी ,घिन्न आती है उसे अपने ही जिस्म से ,नहीं चाहती करना अपनों का सामना ,वहशियत की शिकार बनकर लाचार घबरा जाती है हल्की सी आहट से . वो लड़की रौद ... Read more
clicks 359 View   Vote 0 Like   9:32am 19 Dec 2012 #
Blogger: shikha kaushik
 मुस्कुराने को कहूँ तो मुस्कुरा भी दीजिये ;हाल जो पूछूं तुम्हारा ;गम सुना भी दीजिये ,मैं नहीं उनमें से कोई ;आये और आकर चल दिए ,मैं जो आऊं घर तुम्हारे ठहराने  की जहमत कीजिये .मैं नहीं पीती हूँ साकी ;ये तुम्हे मालूम है ;तो मुझे चाय क़ा प्याला  ;शक्कर मिला कर दीजिये .सोचते तो ह... Read more
clicks 351 View   Vote 0 Like   7:28pm 9 Dec 2012 #KAVITA SHIKHA KAUSHIK
Blogger: shikha kaushik
India No 1 in road accident deaths  एक चूक जाती है जिंदगी निगल ध्यान से तू चल भैया  ध्यान से तू चल ! हो  सवारी पर या  हो  पैदल ध्यान से तू चल भैया ध्यान से तू चल !  पीकर शराब कभी वाहन न चलाना ,तय रफ़्तार से तेज न भगाना ,सीट बैल्ट बांधकर चलाना तू कार ,हैलमेट पहन कर हो बाइक पर सवार ,अब तक ना संभला तो अब त... Read more
clicks 392 View   Vote 0 Like   7:19am 30 Nov 2012 #LIFE IS PRECIOUS
Blogger: shikha kaushik
मर्द बोला हर एक फन मर्द में ही होता है ,औरत के पास तो सिर्फ  बदन   होता है . फ़िज़ूल   बातों  में वक़्त  ये  करती  ज्जाया   ,मर्द की बात   में कितना   वजन   होता है ! हम हैं मालिक हमारा दर्ज़ा है उससे  ऊँचा ,मगर द्गैल को ये कब सहन होता है ? रहो नकाब में तुम आबरू हमारी हो ,बेपर्दगी से बे... Read more
clicks 357 View   Vote 0 Like   10:23am 27 Nov 2012 #stri vimarsh kavita -shikha kaushik
Blogger: shikha kaushik
 शौहर की मैं गुलाम हूँ  बहुत खूब बहुत खूब ,दोयम दर्जे की इन्सान हूँ  बहुत खूब बहुत खूब .कर  सकूं उनसे बहस बीवी को इतना हक कहाँ !रखती बंद जुबान हूँ  बहुत खूब बहुत खूब !उनकी नज़र में है यही औकात इस नाचीज़ की ,तफरीह का मैं सामान हूँ  बहुत खूब बहुत खूब !रखा छिपाकर दुनिया से मेरी हिफा... Read more
clicks 354 View   Vote 0 Like   7:54am 23 Nov 2012 #
Blogger: shikha kaushik
एक बेटी को जन्म देने वाली माता के भावों को इस रचना के माध्यम से प्रकट करने का प्रयास किया है -from facebook मेरी बेटी ने लिया जन्म ; मैं समझ पायी ,सारी  जन्नत  ही मेरी गोद में सिमट आई .उसने जब टकटकी लगाकर मुझे देख लिया ,ख़ुशी इतनी मिली कि दिल में न समां पाई  . मखमली हाथों से छुआ चेहरा मे... Read more
clicks 323 View   Vote 0 Like   5:50pm 22 Nov 2012 #save girl child shikha kaushik
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:

Members Login

    Forget Password? Click here!
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (4019) कुल पोस्ट (193751)