Hamarivani.com

पुरवाई

शिंगणापुर में शनि देव के मंदिर में महिलाओं को भी अब शनि देव के दर्शन की अनुमति दिए जाने का लाभ उठा कर शनि देव के दर्शन करने के बाद शिरडी में साईँ बाबा के दर्शन और कोपरगांव में साई की तपोभूमि देखने के बाद हम पहुंचे पंढरपुर।गोदावरी नदी के किनारे स्थित है विट्ठल रूक्मिणी ...
पुरवाई...
Tag :पंढरपुर
  June 30, 2013, 3:55 pm
ताज से लगभग 36 कि.मी. की दूरी पर फतेहपुर सीकरी। वास्तव में यहाँ सलीम चिश्ती की दरगाह है। ऐतिहासिक कहानी कुछ यूं हैं – अकबर को अपनी तीन बेगमो से भी कोई औलाद न हुई। एक दिन उन्हें सपना आया कि सलीम चिश्ती की दरगाह पर मन्नत माँगने से औलाद होगी। इसके बाद जोधा बाई से विवाह हुआ और स...
पुरवाई...
Tag :आगरा
  May 26, 2013, 9:56 am
ताज के पास ही है आगरा किला -भीतर परिसर में हरियाली और उद्यान सजा है -इसके विभिन्न भागो के विभिन्न नाम है। पहले सामने नज़र आता है बंगाली महल। इसके पीछे है जहांगीर का महल जो सफ़ेद संगमरमर से बना है जबकि शेष किला गुलाबी है। जहांगीर के महल में ऊपर खुले स्थान में जहांगीर का त...
पुरवाई...
Tag :आगरा
  May 19, 2013, 10:51 am
आगरा में अकबर, अकबर की पहली पत्नी मरियम का मकबरा भी है और अनार कली की मज़ार भी है।अकबर के मकबरे के स्थान को सिकन्दरा कहते है। विशाल हरियाला परिसर है और मुख्य इमारत लाल रंग की है -भीतर बीचो-बीच अकबर की समाधि है। परिसर के दूसरे किनारे पर बनी इमारत को कांच का महल कहते है। यहा...
पुरवाई...
Tag :आगरा
  May 12, 2013, 11:09 am
खुला अहाता पार कर भीतरी परिसर में जाने के लिए लगभग 20 सीढियां है। संगमरमर की सीढियों पर चढने का अवसर अब नही है, इन पर लकड़ी की सीढियां लगा दी गई है। चढ कर जाने के बाद फिर से चारो ओर खुला भाग है उसके भीतर बीचो-बीच मुख्य स्थल है। यहाँ प्रवेश करते ही ज़मीन पर जाली से ढका भाग दि...
पुरवाई...
Tag :आगरा
  May 5, 2013, 11:01 am
ताज में भीतर पहुँचने के बाद सामने सरोवर नज़र आता है -         हम दो बार गए – दिन में और शाम में। दिन में फव्वारे खुले थे और शाम में बंद। दोनों ओर सुन्दर रंग-बिरंगे फूलो और हरियाली से भरा उद्यान हैं जिसमे शाम के समय हिरणों का झुण्ड नज़र आता है -       फव्वारों का आनंद लेते हुए आ...
पुरवाई...
Tag :आगरा
  April 28, 2013, 9:24 am
आगरा में उत्तरी छोर पर यमुना नदी के किनारे है ताजमहल जिसे देखने के लिए तीनो ओर से तीन प्रवेश द्वार हैं – पश्चिमी, पूर्वी और दक्षिणी। इस तस्वीर में लाल रंग का द्वार नज़र आ रहा है, पीछे यमुना लहरा रही है और ताज के चारो कोनो की मीनारों में से एक मीनार -दक्षिणी द्वार मीना बाज...
पुरवाई...
Tag :आगरा
  April 21, 2013, 8:13 am
कृष्ण की बाल लीलाओं के बाद हम पहुंचे उनके जन्म स्थान मथुरा में और यहाँ देखा श्री कृष्ण जन्म भूमि मंदिर जो कृष्ण जन्म की कथा दर्शाता है।मंदिर के सामने कुण्ड है जिसमे पानी नहीं था। मंदिर के भीतर परिसर में सुन्दर उद्यान है और कुंआ भी है। सबसे पहले दर्शन किये उनके केशव रूप...
पुरवाई...
Tag :मथुरा
  April 14, 2013, 8:11 am
वृन्दावन देखने के बाद हम गोकुल धाम पहुंचे। यह छोटा सा गाँव है। यहाँ भी संकरी गलियाँ है और यहाँ भी दही लस्सी की छोटी दुकाने सजी है। यहाँ देखा नन्द गाँव। यहाँ नन्द जी के महल को मंदिर में परिवर्तित किया गया है -बाई ओर वासुदेव आगमन की मूर्ती है जिसमे वासुदेव सिर पर टोकरी उठा...
पुरवाई...
Tag :गोकुल
  April 7, 2013, 8:02 am
वृन्दावन के कुञ्ज की चर्चा कई कवियों ने की। इसकी चर्चा कृष्ण के साथ, रासलीला के साथ की जाती है। वास्तव में जब भी कृष्ण की चर्चा होती है राधा की, गोपियों की और कुञ्ज की चर्चा होती है। कुञ्ज देखने में बहुत सुन्दर है। यहाँ के बारे में कई बाते बाताई जाती है जिनका आधार पौराणिक...
पुरवाई...
Tag :वृन्दावन
  March 31, 2013, 5:42 pm
बरसाना देखने के बाद हम वृन्दावन देखने गए। वृन्दावन में छोटी संकरी गलियाँ है जिन्हें कुञ्ज गलियाँ कहते हैं -यहाँ बन्दर भी बहुत है और मंदिरों के पास उत्पात भी बहुत करते है। हाथ से सामान झटक ले जाते है पर वहां तैनात कर्मचारी डण्डे से पकड कर श्रृद्धालुओं का सामान लौटाते र...
पुरवाई...
Tag :वृन्दावन
  March 24, 2013, 8:25 am
बरसाना को छाता भी कहते है। वाकई यह स्थान छाता है। पौराणिक कथा के अनुसार जब इंद्र ने भारी बारिश की तब इंद्र का गर्व तोडने कृष्ण ने अपनी छोटी उंगली पर गोवर्धन पर्वत को उठा लिया और इसके नीचे सभी ग्रामवासियों को संरक्षण मिला था। इसी कथा पर आधारित है यह मंदिर जो राधा रानी के ...
पुरवाई...
Tag :बरसाना
  March 17, 2013, 10:00 am
आगरा और आस-पास के क्षेत्र घूमने के लिए हम हैदराबाद से निकले और आगरा पहुंचे। हम सबसे पहले राधा रानी के गाँव बरसाना गए।  16 कि मी कच्ची सडक का रास्ता है। दोनों ओर खेत है लेकिन यहाँ गाय और भैस बहुत संख्या में है। पुराणी शैली के घर, जगह-जगह गोबर से पाठे गए उपले, कुल मिलाकर विकास ...
पुरवाई...
Tag :बरसाना
  March 10, 2013, 7:50 am
पारा जैसे जैसे लुढ़कता जाता है लोग उत्सव की प्रतीक्षा करते हैं यानि क्रिसमस की और इस समय विश्व भर में इंतज़ार रहता हैं नए साल का, लेकिन हम  हैदराबादी इस समय एक तीसरी चीज़ का भी इंतज़ार करते हैं, वह हैं – नुमाइशआजकल यहाँ लोग नुमाइश को अधिकतर एक्जीबिशन कहने लगे है, कुछ बाह...
पुरवाई...
Tag :हैदराबाद की पहचान
  January 6, 2013, 9:07 am
दुर्गा पूजा पंडाल में सजी है पांच मूर्तियाँ – बीच में शेरां वाली दुर्गा जिनके दाहिनी ओर हंस पर सरस्वती, बाई ओर अपने वाहन उलूक के साथ लक्ष्मी जिनके पार्श्व में मूषक के साथ गणेश और सरस्वती के पार्श्व में अपने वाहन मोर के साथ कार्तिकेय -माँ दुर्गा – पांचो मूर्तियों के नीच...
पुरवाई...
Tag :उपासना
  October 22, 2012, 3:43 pm
बारिश की रिमझिम हो या तेज फुहार, मन करता हैं एक कप चाय हो और साथ में हो कुछ गरमागरम।बारिश में गरमागरम पकौड़े आम हैं पर हैदराबाद में बारिश में गरमागरम मिर्चियों का मजा लिया जाता हैं।तो चलिए आज हम आपको मिर्चियाँ बनाना बता रहे हैं। सामग्री हैं -बेसन, हरी लम्बी मोटी मिर्चि...
पुरवाई...
Tag :हैदराबाद की पहचान
  September 9, 2012, 10:11 am
जम्मू से हम दिल्ली लौट आए. दिल्ली में हमने देखा अक्षरधाम मंदिर.बहुत बड़ा परिसर हैं -बड़ा मैदानी भाग पार करने के बाद भीतरी परिसर में जा सकते हैं -जिसके पहले अपना सामान रखवाना पड़ता हैं, केवल छोटे मनी पर्स और पारदर्शी पानी की बोतले ही भीतर ले जाई जा सकती हैं. इसके बाद सुरक्षा ...
पुरवाई...
Tag :दिल्ली
  July 29, 2012, 9:18 am
रघुनाथ मंदिर से कुछ ही दूरी पर व्यस्त सड़क पर हैं रणवीरेश्वर मंदिर -यह शिव मंदिर हैं. मंदिर का प्रांगण बहुत बड़ा हैं. आगे कुछ सीढियां चढ़ने पर ऊंचाई पर मुख्य मंदिर हैं. सामने सफ़ेद झक विशाल हिमलिंग हैं. दोनों ओर चार-चार बड़े शिवलिंग हैं. सामने गर्भ गृह में शिव पार्वती वर-वधू...
पुरवाई...
Tag :जम्मू
  July 22, 2012, 1:42 pm
जम्मू में व्यस्त चौराहे पर हैं रघुनाथ मंदिर.जम्मू काश्मीर के महाराजा द्वारा तैयार करवाया गया हैं यह मंदिर. बाहर से पांच कलश नज़र आते हैं जो लम्बाई में फैले हैं -गर्भ गृह में राम सीता लक्ष्मण की विशाल मूर्तियाँ हैं.इस मंदिर की विशेषता यह हैं कि इसमे रामायण महाभारत काल के ...
पुरवाई...
Tag :जम्मू
  July 15, 2012, 3:33 pm
जम्मू में बाग़-एक-बाहू से निकल कर हम चारो धाम मंदिर देखने गए.तवी नदी के किनारे स्थित इस मंदिर तक पहुँचने तक बारिश बहुत तेज़ हो चुकी थी. इस मंदिर में चार धाम के दर्शन किए जा सकते हैं -सबसे पहले नीचे नदी के किनारे रामेश्वरम के दर्शन हम कर सकते हैं. रामेश्वरम की तरह यहाँ बड़ा श...
पुरवाई...
Tag :जम्मू
  July 8, 2012, 11:34 am
जम्मू में बाग़-एक-बाहू वास्तव में एक किला हैं. इसमे चार भाग हैं. किला अब किले जैसा नही दीखता, केवल कुछ सीढियां, दीवारे नज़र आती हैं -दूसरा भाग बाग़ हैं जो आज भी अच्छा ही हैं जिसे देख कर उस दौर के बाग़ का अंदाजा लगाया जा सकता हैं. तीसरा भाग फिश एम्पोरियम हैं जिसमे संग्रह अच्छा ...
पुरवाई...
Tag :जम्मू
  July 1, 2012, 1:44 pm
जम्मू की ओर बढ़ते हुए हमने देखा जाम्बवंत गुफा मंदिर.मंदिर के पास व्यस्त शौपिंग सेंटर होने से प्रवेश द्वार पहचानना कठिन हैं. सामने दाहिने किनारे जो छोटा सा मार्ग नज़र आ रहा हैं वही प्रवेश द्वार हैं -सीधे सीढियां चढ़ कर ऊपर जाना हैं. ऊपर अहाते में शिव मंदिर हैं. यही से गुफ...
पुरवाई...
Tag :जम्मू
  June 24, 2012, 9:44 am
कटरा से जम्मू आते समय रास्ते में नगरोटा स्थान पर हमने देखा माता कौल कंडली का मंदिर.वैष्णव देवी की कहानी वास्तव में यही से शुरू होती हैं. प्रथम दर्शन यही किए जाने हैं जिसके लिए वैष्णव देवी की यात्रा जम्मू से शुरू की जानी हैं. लेकिन ज़्यादातर श्रद्धालुओं का ध्यान मुख्य मं...
पुरवाई...
Tag :जम्मू
  June 17, 2012, 10:18 am
कटरा के व्यस्त चौराहे में पूरे क्षेत्र में मार्किट हैं. जम्मू सरकार की दुकाने भी हैं जहां से कश्मीरी शॉल, साड़ियाँ आदि खरीदे जा सकते हैं. इस राज्य में खरीदने के लिए ख़ास हैं कश्मीरी शॉल, साड़ियाँ और सूखे मेवे. पूरे मार्किट में कतार में सूखे मेवों की दुकाने सजी हैं. सबसे ख...
पुरवाई...
Tag :जम्मू
  June 10, 2012, 9:02 am
समय की कमी के कारण जो श्रृद्धालु मंदिर में ही दर्शन कर लेते हैं, वही से आगे हैं भवन का रास्ता. जहाँ वैष्णव देवी के दर्शन किए जाते हैं उस स्थान को भवन कहते हैं.माना जाता हैं कि यहीं पर माँ ने भैरवनाथ का वध किया था और उसका सिर आठ किलोमीटर की दूरी पर जाकर गिरा था. यहाँ बीच में व...
पुरवाई...
Tag :जम्मू
  June 3, 2012, 10:05 am
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3652) कुल पोस्ट (163582)