POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Blog: सुबीर संवाद सेवा

Blogger: पंकज सुबीर
नुसरत मेहदी नये  मौसम, नये लम्हों की शायरा -डॉ. बशीर बद्र ( शिवना प्रकाशन की नई पुस्‍तक 'मैं भी तो हूं' ग़ज़ल संग्रह नुसरत मेहदी ) शायरी ख़ुदा की देन है । इसका भार हर कोई नहीं सह सकता । यह न शीशा तोड़ने का फ़न है, न फायलातुन रटने का । यह काम बहुत नाज़ुक  है । इसमें जिगर का ख़ून नि... Read more
clicks 192 View   Vote 0 Like   4:10am 15 Apr 2013 #
Blogger: पंकज सुबीर
हम आप सब के प्रेम पियारे भभ्‍भड़ कवि भौंचक्‍के बोलिस रहिन । कल का दिन जो कुछ हुआ सो हुआ लेकिन वैसा कुछ भी आज नहीं होना चाहिये । कल बहुत लोग भंगिया पी पी के बहुत ऊधम मचायरहे । सो कल सारे दिन हमारा माथा    का नाम कपाल टनटनाया रहा ।जवान छोकरे छोकरियां दिन भर इत्‍ती मस्‍ती किय... Read more
clicks 176 View   Vote 0 Like   5:30am 26 Mar 2013 #
Blogger: पंकज सुबीर
अखिल ब्रह्मांडीय कबूतरी सम्‍मेलनमितरों और मितरानियों । सबको जथाजोग परनाम पोंचे । तो जैसा कि आप सब जानते ही हैंगे कि इस बार अखिल ब्रह्मांडीय कबूतरी सम्‍मेलन का आयोजन होली के सूअ(वस)र पर किया जा रया है । इस कबूतरी सम्‍मेलन में भाग लेने के लिये दूर दूर से कई सारी कबूतरिय... Read more
clicks 160 View   Vote 0 Like   7:58am 25 Mar 2013 #
Blogger: पंकज सुबीर
पहले इस शो स्‍टॉपर में केवल एक ही रचनाकार श्री नवीन चतुर्वेदी जी होने थे, लेकिन कल ही श्री द्विजेन्‍द्र द्विज जी द्वारा उनके गुरू श्री मधुभूषण शर्मा 'मधुर' जी की एक ग़ज़ल तरही के लिये भेजी गई । चूंकि द्विज जी के गुरू हैं सो हम सबके भी वे गुरू हुए, सो बस ये तय किया गया कि नवी... Read more
clicks 132 View   Vote 0 Like   5:36am 22 Mar 2013 #
Blogger: पंकज सुबीर
होली आ ही गई है । और ब्‍लाग का माहौल भी होलीमय हो गया है । ऐसा कुछ दिनों पूर्व से इसलिये किया गया है क्‍योंकि दो दिन तक कवि सम्‍मेलनों के चक्‍कर के बाहर रहना है । सो दो दिन पूर्व से ही माहौल बना दिया गया । आज एक साथ तीन तीन शायर आ रहे हैं होली के माहौल को बनाने के लिये डॉ संजय ... Read more
clicks 160 View   Vote 0 Like   3:10am 20 Mar 2013 #
Blogger: पंकज सुबीर
इस बार के तरही मुशायरे में बहुत विविध रंगी ग़ज़लें मिलीं । और अब सामने है सचमुच का विविध रंगी त्‍यौहार । अभी तक होली के मुशायरे के लिये कुछ  रचनाएं मिल चुकी हैं । लेकिन इंतजार है कि और सब लोग भी रचनाएं भेजेंगे । मिसरा तो याद है न केसरिया, लाल, पीला, नीला,हरा, गुलाबी कुछ मेल ... Read more
clicks 172 View   Vote 0 Like   3:15am 18 Mar 2013 #
Blogger: पंकज सुबीर
आज मन बहुत भारी है । कुछ ही देर पूर्व एक वाहन शहर में आया है जिसमें काश्‍मीर के आतंकी हमले में मारे गये सैनिक ओमप्रकाश का पार्थिव शरीर था । मन में एक प्रकार का  सूनापन आ गया उस ताबूत को देखकर जिसमें ओमप्रकाश सोया हुआ है । ओमप्रकाश जो कुछ ही दिन पहले गांव आया था ।  अपनी छोटी... Read more
clicks 139 View   Vote 0 Like   5:05am 15 Mar 2013 #
Blogger: पंकज सुबीर
कुछ लोग कहते हैं कि सम्‍मान पुरस्‍कार, इन सबसे कुछ नहीं होता । मेरा ऐसा मानना है कि इनसे  लेख्‍ान पर कोई प्रभाव पड़ता हो या न हो किन्‍तु इनसे लेखक पर बहुत प्रभाव पड़ता है । क्‍योंकि ये एक प्रकार की स्‍वीकृति होते हैं कि हां आप जो कुछ कर रहे हैं उसे देखा जा रहा है । हां ये ज़... Read more
clicks 153 View   Vote 0 Like   3:46am 13 Mar 2013 #
Blogger: पंकज सुबीर
हम हमेशा उसी भाषा में सहज होते हैं जिस भाषा को हमने सबसे पहले बोला और सबसे पहले सुना । हमारी मातृभाषा । दूसरी किसी भी भाषा में हम उतने सहज नहीं होते हैं । कई बार हम उस भाषा का उपयोग करते समय बनावटी लगने लगते हैं । हमारी सहजता खो जाती है । और तिस पर कविता....... कविता तो अंदर से उ... Read more
clicks 144 View   Vote 0 Like   3:53am 11 Mar 2013 #
Blogger: पंकज सुबीर
सबसे पहले बात होली के तरही मुशायरे की । ये मुशायरा होली के मुशायरे तक जारी रहेगा । जारी रहेगा मतलब ये कि  होली का मुशायरा 24, 25 और 26 मार्च को होगा । 27 को होली है सो हम होली के तीन दिन पहले ये आयोजन करेंगे । तो 24 तक ये ही मुशायरा चलेगा और उसके बाद तीन दिवसीय होली का मुशायरा । होली ... Read more
clicks 313 View   Vote 0 Like   4:33am 9 Mar 2013 #
Blogger: पंकज सुबीर
इन दिनों कुछ व्‍यस्‍तता वाले हाल में हूं । लेकिन इस व्‍यस्‍तता वाले हाल में से ही एक किरण उजाले की फूटने की प्रतीक्षा कर रही है । उन अंधेरों को चीर कर जो पिछले कई सालों से भयाक्रांत किये हुए हैं । चूंकि कहावत भी है कि जब सुब्‍ह होने को हो तो अंधेरा और घना हो जाता है । तो बस ... Read more
clicks 155 View   Vote 0 Like   3:45am 6 Mar 2013 #
Blogger: पंकज सुबीर
यदि हम तंत्र की बात करते हैं तो उसमें सब शामिल होते हैं । और उन सबमें हम भी होते ही हैं । मगर हम अक्‍सर व्‍यवस्‍था, राजनीति, अफसरशाही इन सबको तो खूब अपनी रचनाओं में कटघरे में खड़ा करते हैं,किन्‍तु, अपने आप को नहीं । हम जिनको आम आदमी या मैंगो पीपल कहा जाता है । हम क्‍या कम दोष... Read more
clicks 155 View   Vote 0 Like   3:59am 4 Mar 2013 #
Blogger: पंकज सुबीर
तरही का क्रम और आगे बढ़ाते हैं आज । आज दो रचनाकारों के जन्‍म दिन हैं । नुसरत मेहदी जी  और वीनस केसरी दोनों ही इस ब्‍लाग के सक्रिय सदस्‍यों में से हैं तथा यहां के तरही मुशायरों में सक्रिय भागीदारी दर्ज करते रहे हैं । दोनों ही गुणी रचनाकार हैं । अलग सोच और अलग ढंग से कहने वा... Read more
clicks 198 View   Vote 0 Like   3:37am 1 Mar 2013 #
Blogger: पंकज सुबीर
जन्‍मदिवस एक ऐसा अवसर होता है जब हम पीछे मुड़ के देखते हैं । देखते हैं कि जिन उद्देश्‍यों को लेकर पिछले साल आगे चले थे उनमें कहां तक पहुंचे हैं । वे सारे कार्य जिनको हम इसी जीवन में पूरा करना चाहते हैं, वे कार्य अभी किस अवस्‍था में हैं । जन्‍मदिन के दिन पीछे मुड़ के देखना ... Read more
clicks 136 View   Vote 0 Like   3:36am 26 Feb 2013 #
Blogger: पंकज सुबीर
शनिवार को एक फोन आया । फोन आया बहुत स्‍नेह और प्रेम से बोलने वाली बहन जी का । फोन था सरहद पार से । उस पार से जिसे हम अपना शत्रु समझते हैं । बहन जी ने मेरी  कहानियों का उर्दू में अनुवाद किया है, वे खुद भी साहित्‍यकार हैं । वे एक बुज़र्ग हैं । पिछले साल दिल का दौरा झेल चुकी हैं ... Read more
clicks 130 View   Vote 0 Like   4:25am 25 Feb 2013 #
Blogger: पंकज सुबीर
तरही का अपना क्रम है । और कोई क्रम भी  नहीं है । जब जो ग़ज़ल या गीत लगना है सो लग गई । और इस बीच कभी मौज आ गई तो कुछ भूमिका लिख दी, जैसी पिछले अंक में लिख दी गई थी । कभी कुछ नहीं लिखा । आप लोगों को वो भूमिका पसंद आई उसके लिये आभार  । एक प्रश्‍न जो हमेशा मुझे मथता रहता है वो ये है क... Read more
clicks 179 View   Vote 0 Like   4:48am 23 Feb 2013 #
Blogger: पंकज सुबीर
कुछ लोग पूछते हैं कि ये दुष्‍यंत की परम्‍परा क्‍या है । इस प्रश्‍न का उत्‍तर बहुत ही कठिन है । दरअसल दुष्‍यंत की परम्‍परा कहीं भी कबीर और ग़ालिब से अलग कोई नई परम्‍परा नहीं है । हमारी राजनैतिक व्‍यवस्‍था में सत्‍ता पक्ष और प्रतिपक्ष जैसा कुछ नहीं होता । वहां एक ही पक्ष ... Read more
clicks 130 View   Vote 0 Like   4:37am 21 Feb 2013 #
Blogger: पंकज सुबीर
तरही को लेकर लोगों में उत्‍साह धीरे धीरे बढ़ना शुरू होता है । हम भारतीय लोग बिजली का बिल भरने तक के लिये अंतिम तिथि का इंतज़ार करते हैं । तो ये तो तरही मुशायरा है । इस बार ग़जल़ें धीरे धीरे आना शुरू हुईं और अभी भी आ रही हैं । इस बार का तरही मुशायरा हमने समाजिक सरोकारों पर क... Read more
clicks 149 View   Vote 0 Like   4:41am 18 Feb 2013 #
Blogger: पंकज सुबीर
इस बार का तरही मुशायरा कुछ अलग सोच के साथ होना है । अलग तेवर की ग़जल़ें और अलग प्रकार के शेर इस बार सुनने को मिलने हैं ये तय है । आज वसंत पंचमी है तो पहले वसंत पंचमी पर की जाने वाली सरस्‍वती पूजन की जाए । या कुन्देन्दु तुषारहार धवला या शुभ्रवस्त्रावृता या वीणावरदण्डमण्... Read more
clicks 134 View   Vote 0 Like   4:43am 14 Feb 2013 #
Blogger: पंकज सुबीर
इस बार के मुशायरे को लेकर मिश्रित सी प्रतिक्रिया है । मिसरे को लेकर कुछ लोगों का कहना है कि कठिन है, तो कुछ लोगों का कहना है कि विषय में बांधने के कारण कुछ कठिनाई हुई है । मगर ऐसे भी लोग हैं जिनकी ग़ज़लें मिसरा घोषित होने के सप्‍ताह भर के अंदर ही प्राप्‍त हो गईं हैं । और बह... Read more
clicks 154 View   Vote 0 Like   4:00am 7 Feb 2013 #
Blogger: पंकज सुबीर
पिछली पोस्‍ट 20 दिसम्‍बर को लगाई थी, पिछले साल । उसके बाद से अब तक कुछ नहीं लगाया । एक नया साल आ गया और उसके साथ ही कयामत का वो दिन भी बीत गया जिसको लेकर पिछले कई सालों से शंका कुशंका चल रही थी । 20 दिसम्‍बर को पोस्‍ट लगाई और उसके बाद से अब तक कोई पोस्‍ट नहीं लगाई तो ऐसा लग रहा थ... Read more
clicks 170 View   Vote 0 Like   9:41am 21 Jan 2013 #
Blogger: पंकज सुबीर
नीरज जी के सम्‍मान समारोह के बाद कुछ व्‍यस्‍तता और बढ़ गई । जैसा कि आपको पता है कि मेरा शहर सीहोर अपने कवि सम्‍मेलनों तथा मुशायरों के लिये प्रसिद्ध है । तो हाल ये कि 17 नवंबर को एक अखिल भारतीय कवि सम्‍मेलन हुआ, 1 दिसंबर को अखिल भारतीय मुशायरा फिर 2 दिसंबर को शिवना प्रकाशन क... Read more
clicks 156 View   Vote 0 Like   5:03am 20 Dec 2012 #
Blogger: पंकज सुबीर
नीरज जी के सम्‍मान के लिये रचा गया कार्यक्रम वास्‍तव में एक आनंद का कार्यक्रम हो गया । आनंद जिसमें हर कोई सहभागी था । नीरज जी से सभी लोगों की पहली मुलाकात थी, किन्‍तु, गौतम के शब्‍दों में कहा जाये तो ऐसा लग ही नहीं रहा था । वैसे तो सीहोर इन दिनों भोपाल वालों के लिये संडे पि... Read more
clicks 246 View   Vote 0 Like   4:38am 8 Dec 2012 #
Blogger: पंकज सुबीर
हिंदी के सुप्रसिद्ध ग़ज़लकार नीरज गोस्वामी को एक गरिमामय साहित्यिक आयोजन में शिवना प्रकाशन द्वारा स्‍थापित वर्ष 2012 का ''सुकवि रमेश हठीला स्मृति शिवना सम्मान'' प्रदान किया गया । स्थानीय ब्ल्यू बर्ड स्कूल के सभागार में आयोजित कार्यक्रम के मुख्य अतिथि के रूप में विधायक ... Read more
clicks 143 View   Vote 0 Like   4:00am 4 Dec 2012 #
Blogger: पंकज सुबीर
सुकवि रमेश हठीला सम्‍मान सम्‍मानित कवि : श्री नीरज गोस्‍वामी दिनांक 2 दिसम्‍बर 2012समय शाम 7:30 बजे स्‍थान : ब्‍ल्‍यू बर्ड स्‍कूल सभागार, सिंधी कॉलोनी सीहोर म.प्र. वर्ष 2012 का सुकवि रमेश हठीला सम्‍मान हिंदी के सुप्रसिद्ध शायर तथा बहुत अच्‍छे इन्‍सान आदरणीय श्री नीरज गोस्‍वा... Read more
clicks 152 View   Vote 0 Like   3:31am 1 Dec 2012 #
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:

Members Login

    Forget Password? Click here!
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (4020) कुल पोस्ट (193830)