POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Blog: मरासिम

Blogger: singhanita
रंजो गम का सूरज ढलता ही नही ये दर्द का मंजर बदलता ही नही यहाँ हर सू है दर्दो गम के अँधेरे कोई रोशन चराग जलता ही नही नए तूफान का आगाज़ है शायद ये कैसा मौसम है जो टलता ही नही ... Read more
clicks 107 View   Vote 0 Like   11:40am 2 Mar 2013 #शेर
Blogger: singhanita
  धुँआ धुँआ है जिंदगी,धुँआ धुँआ है समांआँखों में छाई ऐसी नमी खो गया जहां   तुम ही कहो कैसे जिए ये चाक गिरेबा कैसे सीएरहते है साथ साथ मगर , फासले है दरमियां  प्यारा ये चेहरा तेरा,तू धड़कन कि तमन्ना हैबस तुही रहे सामने चाहे छूट जाये ये कारवां  बेजान जिस्म, जख्मी रूह और दिल है प... Read more
clicks 77 View   Vote 0 Like   8:06am 31 Dec 2012 #gazal
Blogger: singhanita
आजफिर  इसतरह  तुम्हेयादकियाहमने  अपनेआप  खुदकोबर्बादकियातबमिलामुझकोमेरीवफाओंकासिलाप्यारकेरिश्तेसेजबतुझकोआजादकियाचारदिनकीजिंदगीक्यादुश्मनीक्यारंजिशेंहमनेदुश्मनोंसेअपनीदोस्तीकोआबादकियाउसनेभीमुजरिमसमझाऔरफेरलीआँखेहमनेतोकईबारउसके दरपरफरियादकिय... Read more
clicks 74 View   Vote 0 Like   7:10am 11 Dec 2012 #gazal
Blogger: singhanita
दूर कही गाँव मेंपीपल की छांव मेंबच्चे खेल रहे है गोलीयाद आती है मासूम ठिठोलीखेतों खलिहानो मेंगलियों मैदानों मेंदौड रही है फगुओ की टोलीयाद आती है गांव की होलीतीजो त्योहारों मेंगलियों चौबारो मेंभाभी बनाती है रंगोलीयाद आये दुल्हनियां की डोलीअमवा की डाली मेंबेरी की ... Read more
clicks 83 View   Vote 0 Like   8:53am 5 Dec 2012 #gazal
Blogger: singhanita
      मिले जब मुझको ऐसे गम अहिस्ता आहिस्ताहुई तब आँख मेरी पुरनम अहिस्ता आहिस्ताछोड दिया जब साथ मेरा साये नेनाजाने होगई कहा मै गुम अहिस्ता आहिस्ताजुबा से तो कुछ भी निकलता नहींफिर भी तन्हाई गाती है हरदम अहिस्ता आहिस्तालहू दिल का उतर है मेरी आँख मे युही बेवजह मुस्कुराये ... Read more
clicks 89 View   Vote 0 Like   9:11am 30 Nov 2012 #नज़्म
Blogger: singhanita
तुम इल्जाम मुझ पर न लगाओ ऐसेदिल को मेरे पत्थर का न बनाओ ऐसे  मेरा जिगर तार तार हुआ है कई बारकी   दिल पर   न चोट   लगाओ ऐसे    कुछ रंज मुझको पहले ही घेरे हुए हैतुम मुझको हर बार न सताओ ऐसे  शबो रोज याद कर के उस बेवफा कोअब चैन दिल का न तुम गवाओ ऐसे  कहा जाऊ मै अपना जख्मे जिगर लेकेक... Read more
clicks 87 View   Vote 0 Like   11:00am 25 Nov 2012 #नज़्म
Blogger: singhanita
This is a temporary post that was not deleted. Please delete this manually. (ef7c292b-b99f-4e5f-b078-b178498e99a6 - 3bfe001a-32de-4114-a6b4-4005b770f6d7)... Read more
clicks 77 View   Vote 0 Like   6:08am 4 Sep 2012 #
Blogger: singhanita
  येजख्मेजिगरहमउठाएकैसेतुमहीकहोअबमुस्कुराएकैसेआतेहैबारबारमेरीआंखमेआंसूहमअश्कअपनेउनसेछुपाएकैसेतेरीयादोसेहीरौशनहैमेरीदुनियायेदियाअपनेहाथोसेबुझाएकैसेजुबांखुलतीनहीमेरीतेरीमहफिलमेइसभरेबज्महम कोई गीतसुनाएकैसे  ... Read more
clicks 89 View   Vote 0 Like   6:06am 1 Sep 2012 #gazal
Blogger: singhanita
कोई भी लम्हा कभी लौट कर ना आया वो शख्स गया ऐसा फिर नजर ना आया वफा की दश्त में कोई रस्ता ना मिला सिवाय गर्दे सफर हम सफर ना आया  पलट के आने लगे शाम के परिंदे भी मगर वो सुबह का भुला घर ना आया किसी चराग ने पूछी नही खबर मेरी कोई भी फुल मेरे नाम पर ना आया ये कैसी बात कही शाम के सितार... Read more
clicks 128 View   Vote 0 Like   9:59am 21 Jun 2012 #gazal
Blogger: singhanita
जिंदगी मेरी  अब सजा  हो गईमौत भी  मुझसे बेवफा  हो गईमोहब्बत का पैगाम न आया कोईजाने हमसे  क्या खता  हो गई रंजो गम फैला है इन हवाओं मेंक्यूँ हमसे खफा ये सबा हो गई खामोश बैठे है महफ़िल में इस तरह शामे मेरी भी अब बेसदा हो गई  भटकते कदमों की आरही है सदाउनकी आवारगी की इन्तिहाँ ह... Read more
clicks 113 View   Vote 0 Like   7:13am 10 Jun 2012 #शेर
Blogger: singhanita
रोज जीते है यूँ रोज मरते है हाले दिल उनसे कहते डरते है हम तो सूखे हुए पत्ते की तरह रोज ही  टूट कर  बिखरते है उनको कब है ख्याल अपना एक हम ही उनका दम भरते है रोज आते है ठहरते है चले जाते है काफिले यादों के पलको में उतरते है ... Read more
clicks 111 View   Vote 0 Like   7:24am 28 Mar 2012 #नज़्म
Blogger: singhanita
कयामत की रात ये ढलती नहीं क्योंखिजा की रुत भी बदलती नहीं क्यों  क्याबतलाऊ मैं तुझको ऐ दिलबरतन्हा रुत अब गुजरती नही क्यों   टुटा है जब से ख्वाब मेरी आँखों काआंख शब भर मेरी लगती नहीं क्यों  अब्र आते है बरसते हैं चले जाते हैकली दिल की मगर खिलती नहीं क्यों       बैठी हूँ बीच द... Read more
clicks 135 View   Vote 0 Like   9:24am 2 Jan 2012 #शेर
Blogger: singhanita
This is a temporary post that was not deleted. Please delete this manually. (084df2f9-cfb5-4a50-8b15-4df4d685aada - 3bfe001a-32de-4114-a6b4-4005b770f6d7)... Read more
clicks 100 View   Vote 0 Like   8:23am 2 Jan 2012 #
Blogger: singhanita
कलदियाथादिलहमेकिसीदीवानेनेबेहोशबेदिलफिरतेरहेहमअनजानेमेंहालेदिलसुनानेसेरहगयामेरादिलदारबादमुद्दतकेवोआयाइसगरीबखानेमेंनींदकीकश्तीहमेसकूंनेसहरतकलेगईडूबगएहोतेरातहमगमकेमयखानेमेंनजरमिलाकरजोनजरसेदेदियासाकीकुर्बानलाखोजामतेरे इसएकपैमानेपेशमाहररा... Read more
clicks 79 View   Vote 0 Like   11:51am 15 Sep 2011 #gazal
Blogger: singhanita
उनके होठो पे तबसुम कोई प्यारा नही देखा फिर निगाहों ने कोई ख्वाब दोबारा नही देखाबारहा  महके है गुज़रे हुए मौसम का खयाल  कफस में फिर कभी गुलज़ार नज़ारा नहीं देखा शब को रोशन करें ये चाँद  सितारे सारे करे जो रूह को रोशन वो सितारा नही देखा तिश्नगी रूह  की मेरी जो बुझाये कोई अ... Read more
clicks 87 View   Vote 0 Like   12:11pm 28 Jun 2011 #अनु
Blogger: singhanita
हिज्रकीरातयेढलतीनहीं  क्यूँ खिजांकीरुतभीबदलतीनहीं  क्यूँ सहर, कहते हैं अगले मोड़ पर है मगर ये रात फिर चलती नहीं क्यूँ ख्वाब टूटे पलक में किरकते हैं आंखशबभरमेरीलगतीनहींक्यूँ  अभी देखो तो मिटटी में नमी है कलीदिलकीमगरखिलतीनहीं क्यूँ    मीन हूँ और दरिया है लबालब प्या... Read more
clicks 69 View   Vote 0 Like   11:12am 12 Jun 2011 #गजल
Blogger: singhanita
वक्तरहताकभीएकसानहींहैयहाँमोहोबतकरनाआसांनहींहैउनकीयादोकासायाहैसाथमेरेक्याहुआजोसरपरआसमांनहींहैपीकरअक्सरबेअसुलहोजातेहोतुमपरजानतीहूँमै,दिलतेराशैतांनहींहैखुदाकीबख्सहैचलरहीहैसांसेवरनाजीनेकामुझकोअरमांनहींहैमेरीबर्बादियोकातुमगमनाकरोइसदिलमेंअब... Read more
clicks 77 View   Vote 0 Like   7:46am 9 May 2011 #अनु
Blogger: singhanita
तनहाइयों का सिलसिला ये कैसा हैगर वो मेरा है तो फासला ये कैसा हैतुम  न आओगे कभी ये मै जानती हूँफिर तेरी यादो का काफिला ये कैसा हैकभी नाचती थी खुशियाँ मेरे आंगन मेंअब उदासियों का मरहला ये कैसा है देख लूँ उसको तो दिल को सुकूं आयेमुझे जान से प्यारा दिलजला ये कैसा हैएहसास ह... Read more
clicks 98 View   Vote 0 Like   6:42am 3 May 2011 #अनु
Blogger: singhanita
तुम ही थे मेरे इश्क से अनजान बहुतवरना इस दिल में थे अरमान बहुतज़ब्त ए गम आँख को पत्थर कर देअश्क मुझे  करते हैं  परेशान बहुतफिर से बह निकली मुहब्बत की हवा  पर वहाँ  जज़्ब हैं  तूफ़ान बहुतजी तो लेती ‘अनु’तेरे बगैर मगरजिंदगी होती नहीं है आसान बहुत                            (10/2/... Read more
clicks 81 View   Vote 0 Like   9:50am 25 Apr 2011 #अनु
Blogger: singhanita
दोस्त बन बन के सताने वाले मेरी मैयत पे बिलखते है ज़माने वालेआज फिर चैन में खलल सा है सपने में आने लगे चैन चुराने वालेआज वो पूछ बैठे हाल मेराआज फिर ज़ख्म उभर आये पुराने वालेतेरी दस्तक का मुझे इंतज़ार आज भी हैबेकली में मुझे ए छोड़ के जाने वालेवो जो डूबा तो मिले मोती उसेकौ... Read more
clicks 90 View   Vote 0 Like   10:59am 23 Apr 2011 #अनु
[ Prev Page ] [ Next Page ]


Members Login

Email ID:
Password:
        New User? SIGN UP
  Forget Password? Click here!
Share:
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3938) कुल पोस्ट (195028)