Hamarivani.com

समवेत स्वर - Samvet Swar

....... तो फिर ये महिला कौन थी..... क्या महज़ इत्तेफाक़ था..........दिनांक 20-05-2013, समय - रात के लगभग 9.15, स्थान राजभवन क्रॉसिंग। आकाशवाणी से प्रोग्राम के बाद घर वापसी के लिए मेट्रो स्टेशन तक जाने के लिए राजभवन के पास सड़क पार करने के लिए सिग्नल का इंतज़ार कर रही थी। अचानक पीछे से, दाहिनी त...
समवेत स्वर - Samvet Swar...
Tag :
  May 21, 2013, 10:09 pm
 आखिर ऊपर बैठा वो कुम्हार इतनी विविधता कहाँ से लाए...... शुक्रवार, 17 मई 2013 - शाम को ऑफिस से घर के लिए निकली तो गेट पर एक मित्र मिल गई। उनसे वहीं खड़े-खड़े बातें हो रही थीं कि एक कलीग भी पास से गुज़रे, साथ में उनकी बिटिया थी। चूँकि बचपन से वह मुझे जानती है तो रुक कर उसने भी बात की। म...
समवेत स्वर - Samvet Swar...
Tag :
  May 21, 2013, 9:57 pm
आप सभी को बैसाखी की ढेरों शुभकामनाएं......... प्रस्तुत है विगत वर्ष साहित्य शिल्पी डॉटकॉम पर प्रकाशित कविता आई बैसाखी।(1)आई बैसाखी...आज फिर आई है बैसाखीदिन भर चलेगा दौरएस एम एस, ईमेल और फेस बुक परबधाई संदेशों का....याद हो आती हैइतिहास के पन्नों में दर्ज़एक वह बैसाखी जबदशमेश ने...
समवेत स्वर - Samvet Swar...
Tag :
  April 13, 2013, 12:02 pm
बेहद शुक्रिया  प्रिंट मीडिया - कोलकाता।ऐसा भी होता है।25 दिसंबर, 2012 की शाम शहर की एक संस्था द्वारा साहित्यकारों, कवियों और पत्रकारों के सम्मानार्थ एक कार्यक्रम रखा गया है। कार्यक्रम संबंधी आमंत्रण पत्र भी वितरित हो रहे हैं। मज़े की बात तो यह है कि एक आमंत्रण पत्र मैंने ...
समवेत स्वर - Samvet Swar...
Tag :
  December 25, 2012, 1:56 pm
28 सितंबर, 2012को प्रभात वार्ता (कोलकाता) में प्रकाशित मेरा आलेख...
समवेत स्वर - Samvet Swar...
Tag :
  September 29, 2012, 11:12 am
आकाशवाणी कोलकाता के 85वें स्थापना दिवस पर विशेषयादेंरेडियो की                  * नीलम शर्मा‘अंशु’पुराने ज़माने में हमारे पास मनोरंजन के साधन न के बराबर हुआ करते थे।  नानी, दादी के क़िस्सों से हम बच्चे खुश हो जाया करते।  उनसे राजा-रानी, परियों की कहानियां सुनते-सुनते कब रात...
समवेत स्वर - Samvet Swar...
Tag :
  August 26, 2012, 2:48 am
आकाशवाणी कोलकाता के 85वें स्थापना दिवस पर विशेषयादेंरेडियो की                  * नीलम शर्मा‘अंशु’पुराने ज़माने में हमारे पास मनोरंजन के साधन न के बराबर हुआ करते थे।  नानी, दादी के क़िस्सों से हम बच्चे खुश हो जाया करते।  उनसे राजा-रानी, परियों की कहानियां सुनते-सुनते कब रात...
समवेत स्वर - Samvet Swar...
Tag :
  August 26, 2012, 2:47 am
आकाशवाणी कोलकाता के 85वें स्थापना दिवस पर विशेषयादेंरेडियो की                  * नीलम शर्मा‘अंशु’पुराने ज़माने में हमारे पास मनोरंजन के साधन न के बराबर हुआ करते थे।  नानी, दादी के क़िस्सों से हम बच्चे खुश हो जाया करते।  उनसे राजा-रानी, परियों की कहानियां सुनते-सुनते कब रात...
समवेत स्वर - Samvet Swar...
Tag :
  August 26, 2012, 2:46 am
  अभी-अभी हमने दशहरा और ईद-उल-अजहा मनाया और अब दीवाली का है इंतज़ार.......पहलकदमी की उधेड़बुन मेंतुम रहे न तुम, हम रहे न हमदरमियां गर कुछ रहा तो बस फासला ही फासला...ऐसे में कैसी ईद, कैसी दीवाली ?जब दिल ही हो खालीभावनाओं और अहसासों से परेतो शेष रह जाता हैसिर्फ़ शून्य और शून्य.......(...
समवेत स्वर - Samvet Swar...
Tag :
  August 21, 2012, 10:38 pm
जय हिन्द ! जय भारत !! सबसे प्यारा, सबसे न्यारा भारतवर्ष हमारा ! (-सुमन)...
समवेत स्वर - Samvet Swar...
Tag :
  August 15, 2012, 11:44 am
 पंजाबी कहानीसमंदर की तरफ खुलती खिड़की - जसबीर भुल्लर                                                                                                         वे घरों को नहीं लौट सकेंगे। इंतज़ार करते-करते माएं बूढ़ी हो जाएंगी और मर जाएंगी। पता नहीं वे संख्या में कितने थे।मैं भी उन्हीं में से था। मेरी आँखों में भ...
समवेत स्वर - Samvet Swar...
Tag :
  August 5, 2012, 10:13 pm
 पंजाबी कहानीसमंदर की तरफ खुलती खिड़की - जसबीर भुल्लर                                                                                                         वे घरों को नहीं लौट सकेंगे। इंतज़ार करते-करते माएं बूढ़ी हो जाएंगी और मर जाएंगी। पता नहीं वे संख्या में कितने थे।मैं भी उन्हीं में से था। मेरी आँखों में भ...
समवेत स्वर - Samvet Swar...
Tag :
  August 5, 2012, 10:06 pm
 पंजाबी कहानीसमंदर की तरफ खुलती खिड़की - जसबीर भुल्लर                                                                                                         वे घरों को नहीं लौट सकेंगे। इंतज़ार करते-करते माएं बूढ़ी हो जाएंगी और मर जाएंगी। पता नहीं वे संख्या में कितने थे।मैं भी उन्हीं में से था। मेरी आँखों में भ...
समवेत स्वर - Samvet Swar...
Tag :
  August 5, 2012, 10:05 pm
मध्य प्रदेश का खंडवा शहर। 4 अगस्त 1929 को शहर के मशहूर वकील कुंजलाल गांगुली के घर तीसरे पुत्र का जन्म। कहते हैं वकील साहब के इस पुत्र की आवाज़ बड़ी कर्कश थी। बड़ा शरारती बच्चा हुआ करता था। दिन भर माँ को परेशान किए रखता। एक दिन उछलते-कूदते रसोई घर में आ घुसा। माँ सब्ज़ी काटन...
समवेत स्वर - Samvet Swar...
Tag :
  August 4, 2012, 9:30 am
बैंसवारा परिषद व आयुश काशीपुर (कोलकाता) द्वारा आयोजित कवि सम्मेलन।बैंसवारा परिषद और आयुश काशीपुर के संयुक्त तत्वावधान में कोलकाता के काशीपुर अंचल में रविवार 15 जुलाई, 2012 की शाम कवि सम्मेलन का आयोजन किया गया।  आरंभ में जगेश तिवारी ने मां सरस्वति कि वंदना प्रस्तुत की। ...
समवेत स्वर - Samvet Swar...
Tag :
  July 17, 2012, 10:51 pm
‘नावक के तीर’ का  लोकार्पण व कवि सम्मेलन।शहर से देवनागरी में प्रकाशित त्रिभाषी साहित्यिक पत्रिका, ‘साहित्य त्रिवेणी’(हिन्दी,उर्दू,बांग्ला) के संपादककुंवर वीर सिंह ‘मार्तंड’के प्रथम काव्य संकलन‘नावक के तीर’का 11 जुलाई को स्थानीय जीवनानंद सभागार में दैनिक प्रभात व...
समवेत स्वर - Samvet Swar...
Tag :
  July 13, 2012, 11:56 pm
काव्य संकलन नावक के तीर का लोकार्पण समारोह व कवि सम्मेलन।शहर से देवनागरी में प्रकाशित त्रिभाषी साहित्यिक पत्रिका,‘साहित्य त्रिवेणी’(हिन्दी, उर्दू, बाग्ला) के संपादक कुंवर वीर सिंह ‘मार्तंड’के प्रथम काव्य संकलन‘नावक के तीर’का 11 जुलाई को स्थानीय जीवनानंद सभागार मे...
समवेत स्वर - Samvet Swar...
Tag :
  July 13, 2012, 11:21 pm
‘गंगा काव्य समारोह’ Written By नीलम अंशु on Sunday, July 08, 2012 | 15:21‘गंगा काव्य समारोह’श्री प्रह्लाद गोयेनका7 जुलाई, 2012 को कोलकाता शहर की सामाज़िक-सांस्कृतिक संस्था, गंगा मिशन द्वारा ‘गंगा काव्य समारोह’ का आयोजन कोलकाता के पुरातन साहित्य केन्द्र भारतीय भाषा परिषद सभागार में किया गया...
समवेत स्वर - Samvet Swar...
Tag :
  July 8, 2012, 4:08 pm
`sCxr pv Yt p¤!                                 E~.    a®g¨]                   O]ª mv ]yuOAt `y} Os`X ]v I°k AsCxr]v p¤ Yt k¨Ev uBp ]sms Ej]~ p` uE Anw osuB] Hx] `y} CxY`v M|Iv Yjt `pw OsX]~ aj ]yuOAt `y}  dpxY M|Iv Yjt OsX]~ pt* ]sms pv `pw, nIª pj E¨Bv uBn dsdY o~Gv mKsj]s mv `Pj AsCxr]s p¤* g¦ mv uBn]s Aams] `pw nt* aj unjc Cx]¨ Y°E pv O]ª ExQ ngt aupkt uBE YOxjd~ jspw g~j~ uBn hEv` ]vAt _°uOAt Cx°U]vAt umGsBv u]°YvAt* pt Ov, hEv` Ej¨ uE ]jAnk g¦`y} aupkv msjv AuOps gupnyn p¨uBAs uE pEvEY umM g¦ g¦ Gx] `y} mv `pw OsX]s, ]yuOAt `y} OsX` ]v I°k Yt ]yj jpv*  uB²\ª YsBw uE g¦ AsaXs `sCxr, O¨ uE g~jv aupMs` pv `pw nI...
समवेत स्वर - Samvet Swar...
Tag :
  January 24, 2012, 9:29 pm
`sCxr pv Yt p¤!                                          l  E~.    a®g¨]                   O]ª mv ]yuOAt `y} Os`X ]v I°k AsCxr]v p¤ Yt k¨Ev uBp ]sms Ej]~ p` uE Anw osuB] Hx] `y} CxY`v M|Iv Yjt `pw OsX]~ aj ]yuOAt `y}  dpxY M|Iv Yjt OsX]~ pt* ]sms pv `pw, nIª pj E¨Bv uBn dsdY o~Gv mKsj]s mv `Pj AsCxr]s p¤* g¦ mv uBn]s Aams] `pw nt* aj unjc Cx]¨ Y°E pv O]ª ExQ ngt aupkt uBE YOxjd~ jspw g~j~ uBn hEv` ]vAt _°uOAt Cx°U]vAt umGsBv u]°YvAt* pt Ov, hEv` Ej¨ uE ]jAnk g¦`y} aupkv msjv AuOps gupnyn p¨uBAs uE pEvEY umM g¦ g¦ Gx] `y} mv `pw OsX]s, ]yuOAt `y} OsX` ]v I°k Yt ]yj jpv*  uB²\ª YsBw uE g¦ AsaXs `sCxr, O¨ u...
समवेत स्वर - Samvet Swar...
Tag :
  January 24, 2012, 9:21 pm
     आज हर दिल महबूब शायरा और लेखिका अमृता प्रीतम जी            की पुण्यतिथि के मौके पर उन्हें याद करते हुए.....(1) मैं तुम्हें फिर मिलूंगी !मैं तुम्हें फिर मिलूंगी !कहाँ, किस तरह, पता नहींशायद तुम्हारी कल्पना की चिंगारी बनतुम्हारे कैनवस पर उतरूंगीया शायद तुम्हारे कैनवस परएक र...
समवेत स्वर - Samvet Swar...
Tag :
  October 31, 2011, 8:23 am
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3685) कुल पोस्ट (167942)