POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Blog: आपका-अख्तर खान "अकेला"

Blogger: akhtar khan akela
एक हस्ती है ,के मिटती नहीं हमारी ,वरना बरसों से दुश्मन रहा है ,दौर ऐ ज़माना ,, में तो ख़ाक हूँ फिर भी ,कुछ बात ही ऐसी है के लोग , मुझे कभी सीने से ,कभी माथे पर लगा लेते है ,, जी हाँ दोस्तों ,में बात कर रहा हूँ प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सचिव ,बारां ज़िले के प्रभारी ,ज़मीनी हक़ीक़त से जुड़े ... Read more
clicks 1 View   Vote 0 Like   2:14am 15 Sep 2019
Blogger: akhtar khan akela
गोवंश अधिनियम का उलंग्घन कर , अवैध रूप से गोवंश की तस्करी ,,और पशुक्रूरता के बाद ,दो गोवंश की मृत्यु हो जाने के मामले में अपर जिला जज कोटा क्रम 5 दीपक पाराशर ने ,अभियुक्त मोहम्मद इरफ़ान को दो दो वर्ष की अलग अलग सज़ा ,दो हज़ार रूपये जुर्माने से दण्डित ,किया है ,,जबकि चार अन्य आर... Read more
clicks 0 View   Vote 0 Like   2:12am 15 Sep 2019
Blogger: akhtar khan akela
﴾ 180﴿ और जब तुममें से किसी के निधन का समय हो और वह धन छोड़ रहा हो, तो उसपर माता-पिता और समीपवर्तियों के लिए साधारण नियमानुसार वसिय्यत (उत्तरदान)करना अनिवार्य कर दिया गया है। ये आज्ञाकारियों के लिए सुनिश्चित[1]है। 1. यह वसिय्यत (मीरास) की आयत उतरने से पहले अनिवार्य थी, जिसे (म... Read more
clicks 0 View   Vote 0 Like   2:07am 15 Sep 2019
Blogger: akhtar khan akela
﴾ 171﴿ उनकी दशा जो काफ़िर हो गये, उसके समान है, जो उसे (अर्थात पशु को)पुकारता है, जो हाँक-पुकार के सिवा कुछ[1]नहीं सुनता, ये (काफ़िर)बहरे, गोंगे तथा अंधे हैं। इसलिए कुछ नहीं समझते। 1. अर्थात ध्वनि सुनता है परन्तु बात का अर्ध नहीं समझता।﴾ 172﴿ हे ईमान वालो! उन स्वच्छ चीज़ों में से खा... Read more
clicks 0 View   Vote 0 Like   1:18am 14 Sep 2019
Blogger: akhtar khan akela
एक मामू , इस्हाक़ मामू ,, नेकी कर दरिया में डाल ,, कहावत को चरितार्थ करने वाले ,अकेले मामू ,, जी हाँ दोस्तों में बात कर रहा हूँ ,कोटा के प्रसिद्ध व्यवसायी ,समाजसेवक , भाई अल्हाज इस्हाक़ मंसूरी की ,जिन्हे लोग सेवाकार्यों और मोहब्बत का पैगाम देने वाला मददगार मानकर प्यार से मा... Read more
clicks 0 View   Vote 0 Like   1:04am 13 Sep 2019
Blogger: akhtar khan akela
﴾ 160﴿ जिन लोगों ने तौबा (क्षमा याचना)कर ली और सुधार कर लिया और उजागर कर दिया, तो मैं उनकी तौबा स्वीकार कर लूँगा तथा मैं अत्यंत क्षमाशील, दयावान् हूँ। ﴾ 161﴿ वास्तव में, जो काफ़िर (अविश्वासी)हो गये और इसी दशा में मरे, तो वही हैं, जिनपर अल्लाह तथा फ़रिश्तों और सब लोगों की धिक्कार ... Read more
clicks 0 View   Vote 0 Like   12:57am 13 Sep 2019
Blogger: akhtar khan akela
﴾ 151﴿ जिस प्रकार हमने तुम्हारे लिए तुम्हीं में से एक रसूल भेजा, जो तुम्हें हमारी आयतें सुनाता तथा तुम्हें शुध्द आज्ञाकारी बनाता है और तुम्हें पुस्तक (कुर्आन)तथा ह़िक्मत (सुन्नत)सिखाता है तथा तुम्हें वो बातें सिखाता है, जो तुम नहीं जानते थे। ﴾ 152﴿ अतः, मुझे याद करो[1], मैं त... Read more
clicks 23 View   Vote 0 Like   1:04am 11 Sep 2019
Blogger: akhtar khan akela
कोटा में पर्यावरण संरक्षण ,,ऑक्सीजन ज़ोन ,जलसंरक्षण सहित कई योजनाओं के लिए प्रथम चरण में 1200 करोड़ की योजनाओं के लिए आज कोटा के प्रबुद्ध लोगों ने स्वायत्तशासन ,विधि न्याय ,संसदीय कार्यमंत्री हाड़ोती के विकास पुरुष का स्वागत कर उनका आभार जताया ,,, प्रबुद्ध वर्ग का कहना है के... Read more
clicks 11 View   Vote 0 Like   1:18am 9 Sep 2019
Blogger: akhtar khan akela
﴾ 131﴿ तथा (याद करो)जब उसके पालनहार ने उससे कहाः मेरा आज्ञाकारी हो जा। तो उसने तुरन्त कहाः मैं विश्व के पालनहार का आज्ञाकारी हो गया। ﴾ 132﴿ तथा इब्राहीम ने अपने पुत्रों को तथा याक़ूब ने, इसी बात पर बल दिया कि हे मेरे पुत्रो! अल्लाह ने तुम्हारे लिए ये धर्म (इस्लाम)निर्वाचित कर ... Read more
clicks 2 View   Vote 0 Like   1:16am 9 Sep 2019
Blogger: akhtar khan akela
जो नेहरू जी के बाल को भी छू नहीं सकते ,,,मीडिया उस मरे हुए शख्स के मुक़ाबिल ,,किसी ओर को फ़र्ज़ी सर्वेक्षण के आधार पर खड़ा करना चाहता है ,,क्या आज की पीढ़ी को नेहरू द्वारा किये गए देश हित के कामकाजों की जानकारी है ,यह देश की तस्वीर जो आज है ,वोह किसकी देंन है सभी जानते है ,,क्या सर्... Read more
clicks 15 View   Vote 0 Like   1:05am 7 Sep 2019
Blogger: akhtar khan akela
﴾ 105﴿ अह्ले किताब में से जो काफ़िर हो गये तथा जो मिश्रणवादी हो गये, वे नहीं चाहते कि तुम्हारे पालनहार की ओर से तुमपर कोई भलाई उतारी जाये और अल्लाह जिसपर चाहे, अपनी विशेष दया करता है और अल्लाह बड़ा दानशील है। ﴾ 106﴿ हम अपनी कोई आयत निरस्त कर देते अथवा भुला देते हैं, तो उससे उत... Read more
clicks 3 View   Vote 0 Like   12:51am 7 Sep 2019
Blogger: akhtar khan akela
कहने को आज शिक्षक दिवस है ,यानी ऊँगली पकड़ कर चलाना ,कुछ सिखाना ,इसी की प्रेरणा ,,,शिक्षक दिवस के रूप में मनाई जाती है ,कोटा की तो छोड़िये ,यहां शिक्षा एक व्यापार है ,कोचिंग गुरु के नाम से व्यापारी बैठे है ,उन्हें शिक्षक कहने की जगह शैक्षणिक उद्योगपति कहे तो ठीक है ,खेर ,सबका अ... Read more
clicks 1 View   Vote 0 Like   1:08am 6 Sep 2019
Blogger: akhtar khan akela
﴾ 91﴿ और जब उनसे कहा जाता है कि अल्लाह ने जो उतारा[1]है, उसपर ईमन लाओ,तो कहते हैं:हम तो उसीपर ईमान रखते हैं, जो हमपर उतरा है और इसके सिवा जो कुछ है, उसका इन्कार करते हैं। जबकि वह सत्य है और उसका प्रमाण्कारी है, जो उनके पास है। कहो कि फिर इससे पूर्व अल्लाह के नबियों की हत्या क्यो... Read more
clicks 2 View   Vote 0 Like   1:06am 6 Sep 2019
Blogger: akhtar khan akela
आम जनता के लिए कल्याणकारी योजनाए चलाने वाली अशोक गहलोत सरकार ने राजस्थान में मोटर वाहन संशोधन अधिनियिम के नाम पर ,भारी जुर्माना वसूली का खौफ बताकर आम जनता को लूटने के मंसूबों पर पानी फेर दिया है ,,राजस्थान सरकार ने फ़िल्मी नौसिखिया स्टाइल में केंद्र सरकार द्वारा अव्य... Read more
clicks 2 View   Vote 0 Like   1:39am 5 Sep 2019
Blogger: akhtar khan akela
﴾ 76﴿ तथा जब वे ईमान वालों से मिलते हैं, तो कहते हैं कि हम भी ईमान लाये और जब एकान्त में आपस में एक-दूसरे से मिलते हैं, तो कहते हैं कि तुम उन्हें वो बातें क्यों बताते हो, जो अल्लाह ने तुमपर खोली[1]हैं? इसलिए कि प्रलय के दिन तुम्हारे पालनहार के पास इसे तुम्हारे विरुध्द प्रमाण ब... Read more
clicks 1 View   Vote 0 Like   1:22am 5 Sep 2019
Blogger: akhtar khan akela
﴾ 61﴿ तथा (याद करो)जब तुमने कहाः हे मूसा! हम एक प्रकार का खाना सहन नहीं करेंगे। तुम अपने पालनहार से प्रार्थना करो कि हमारे लिए धरती की उपज; साग, ककड़ी, लहसुन, प्याज़, दाल आदि निकाले। (मूसा ने)कहाः क्या तुम उत्तम के बदले तुच्छ मांगते हो? तो किसी नगर में उतर पड़ो, जो तुमने मांगा ... Read more
clicks 1 View   Vote 0 Like   12:55am 4 Sep 2019
Blogger: akhtar khan akela
﴾ 46﴿ जो समझते हैं कि उन्हें अपने पालनहार से मिलना है और उन्हें फिर उसी की ओर (अपने कर्मों का फल भोगने के लिए)जाना है। ﴾ 47﴿ हे बनी इस्राईल! मेरे उस पुरस्कार को याद करो, जो मैंने तुमपर किया और ये कि तुम्हें संसार वासियों पर प्रधानता दी थी। ﴾ 48﴿ तथा उस दिन से डरो, जिस दिन कोई किसी ... Read more
clicks 24 View   Vote 0 Like   1:05am 3 Sep 2019
Blogger: akhtar khan akela
राजस्थान सहित पुरे देश भर के गरीब ,मज़दूर ,,मध्यवर्गीय लोगों के अरबों रूपये जमा निवेश के नाम पर ,,सहारा इण्डिया द्वारा हड़प कर धोखाधड़ी करने के मामले में ,प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सदस्य एडवोकेट अख्तर खान अकेला ने मुख्यमंत्री राजस्थान सरकार को इस प्रकरण की आदर्श सोसायटी ... Read more
clicks 3 View   Vote 0 Like   1:24am 30 Aug 2019
Blogger: akhtar khan akela
﴾ 16﴿ ये वे लोग हैं, जिन्होंने सीधी डगर (सुपथ)के बदले गुमराही (कुपथ)खरीद ली। परन्तु उनके व्यापार में लाभ नहीं हुआ और न उन्होंने सीधी डगर पायी। ﴾ 17﴿ उनकी[1]दशा उनके जैसी है, जिन्होंने अग्नि सुलगायी और जब उनके आस-पास उजाला हो गया, तो अल्लाह ने उनका उजाला छीन लिया तथा उन्हें ऐसे ... Read more
clicks 2 View   Vote 0 Like   1:22am 30 Aug 2019
Blogger: akhtar khan akela
राजस्थान सहित पुरे देश भर के गरीब ,मज़दूर ,,मध्यवर्गीय लोगों के अरबों रूपये जमा निवेश के नाम पर ,,सहारा इण्डिया द्वारा हड़प कर धोखाधड़ी करने के मामले में ,प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सदस्य एडवोकेट अख्तर खान अकेला ने मुख्यमंत्री राजस्थान सरकार को इस प्रकरण की आदर्श सोसायटी ... Read more
clicks 1 View   Vote 0 Like   1:07am 28 Aug 2019
Blogger: akhtar khan akela
1﴿ अलिफ़, लाम, मीम। ﴾ 2﴿ ये पुस्तक है, जिसमें कोई संशय (संदेह)नहीं, उन्हें सीधी डगर दिखाने के लिए है, जो (अल्लाह से)डरते हैं। ﴾ 3﴿ जो ग़ैब (परोक्ष)[1]पर ईमान (विश्वास)रखते हैं तथा नमाज़ की स्थापना करते हैं और जो कुछ हमने उन्हें दिया है, उसमें से दान करते हैं। 1. इस्लाम की परिभाषा मे... Read more
clicks 2 View   Vote 0 Like   1:05am 28 Aug 2019
Blogger: akhtar khan akela
सूरह बकराह: संक्षिप्त परिचययह सूरह मदनी है, इस में 286 आयते है।यह सूरह कुरान की सब से बडी सूरह है। इस के एक स्थान पर “बकरह “(अर्थात: गाय ) कि चर्चा आई है जिस के कारण इसे यह नाम दिया गाया है।इस कि आयत 1से 21तक में इस पुस्तक का परिचय देते हुये यह बताया गया है कि किस प्रकार के लोग इस ... Read more
clicks 2 View   Vote 0 Like   1:11am 27 Aug 2019
Blogger: akhtar khan akela
सूरह फातिहा के संक्षिप्त विषययह सूरह मक्की है, इसमें सात आयते है।यह सूरह आरंभिक युग मे मक्का मे उतरी है, जो कुरान की भूमिका के समान है। इसी कारण इस का नाम ((सुरहा फातिहा)) अर्थात: “आरंभिक सूरह “है। इस का चमत्कार यह है की इस की सात आयतों में पूरे कुरान का सारांश रख दिया गया ... Read more
clicks 36 View   Vote 0 Like   12:55am 26 Aug 2019
Blogger: akhtar khan akela
ऐ औलाद आदम हर नमाज़ के वक़्त बन सवर के निखर जाया करो और खाओ और पियो और फिज़ूल ख़र्ची मत करो (क्योंकि) ख़ुदा फिज़ूल ख़र्च करने वालों को दोस्त नहीं रखता (31) (ऐ रसूल से) पूछो तो कि जो ज़ीनत (के साज़ों सामान) और खाने की साफ सुथरी चीज़ें ख़ुदा ने अपने बन्दो के वास्ते पैदा की हैं कि... Read more
clicks 7 View   Vote 0 Like   1:13am 10 Aug 2019
Blogger: akhtar khan akela
हालाकि इसमें तो शक ही नहीं कि हमने तुम्हारे बाप आदम को पैदा किया फिर तुम्हारी सूरते बनायीं फिर हमनें फ़रिष्तों से कहा कि तुम सब के सब आदम को सजदा करो तो सब के सब झुक पड़े मगर शैतान कि वह सजदा करने वालों में शामिल न हुआ। (11) ख़ुदा ने (शैतान से) फरमाया जब मैनें तुझे हुक्म दिय... Read more
clicks 31 View   Vote 0 Like   1:05am 9 Aug 2019
[ Prev Page ] [ Next Page ]


Members Login

Email ID:
Password:
        New User? SIGN UP
  Forget Password? Click here!
Share:
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3910) कुल पोस्ट (191391)