Hamarivani.com

आपका-अख्तर खान "अकेला"

(और हमने इसीलिए ढारस दी) ताकि वह (हमारे वायदे का) यक़ीन रखे (10)और मूसा की माँ ने (दरिया में डालते वक़्त) उनकी बहन (कुलसूम) से कहा कि तुम इसके पीछे पीछे (अलग) चली जाओ तो वह मूसा को दूर से देखती रही और उन लोगो को उसकी ख़बर भी न हुयी (11)और हमने मूसा पर पहले ही से और दाईयों (के दूध) को हरा...
आपका-अख्तर खान "अकेला"...
Tag :
  November 16, 2018, 7:03 am
काश अभी टी ऍन शेषन होते ,या फिर उनकी तरह कोई ईमानदार ,निष्पक्ष ,दबंग ,चुनाव आयुक्त होते ,तो राजस्थान ,छत्तीसगढ़ ,,मध्यप्रदेश सहित दूसरे राज्यों के चुनावों में प्रचार के नाम पर ,भाजपा के लोग ,पत्रकारो को अपना एजेंट बनाकर नफरत और धर्मान्धता का जो ज़हर घोल रहे है ,उसमे कई पत्रक...
आपका-अख्तर खान "अकेला"...
Tag :
  November 15, 2018, 6:51 am
ता सीन मीम (1) (ऐ रसूल) ये वाज़ेए व रौशन किताब की आयतें हैं (2) (जिसमें) हम तुम्हारें सामने मूसा और फ़िरऔन का वाकि़या इमानदार लोगों के नफ़े के वास्ते ठीक ठीक बयान करते हैं (3)बेशक फ़िरऔन ने (मिस्र की) सरज़मीन में बहुत सर उठाया था और उसने वहाँ के रहने वालों को कई गिरोह कर दिया था उनम...
आपका-अख्तर खान "अकेला"...
Tag :
  November 15, 2018, 6:48 am
और न तुम अँधें को उनकी गुमराही से राह पर ला सकते हो तुम तो बस उन्हीं लोगों को (अपनी बात) सुना सकते हो जो हमारी आयतों पर इमान रखते हैं (81)फिर वही लोग तो मानने वाले भी हैं जब उन लोगों पर (क़यामत का) वायदा पूरा होगा तो हम उनके वास्ते ज़मीन से एक चलने वाला निकाल खड़ा करेंगे जो उनस...
आपका-अख्तर खान "अकेला"...
Tag :
  November 14, 2018, 7:09 am
और न तुम अँधें को उनकी गुमराही से राह पर ला सकते हो तुम तो बस उन्हीं लोगों को (अपनी बात) सुना सकते हो जो हमारी आयतों पर इमान रखते हैं (81)फिर वही लोग तो मानने वाले भी हैं जब उन लोगों पर (क़यामत का) वायदा पूरा होगा तो हम उनके वास्ते ज़मीन से एक चलने वाला निकाल खड़ा करेंगे जो उनस...
आपका-अख्तर खान "अकेला"...
Tag :
  November 13, 2018, 8:09 am
भला वह कौन है जिसने ज़मीन को (लोगों के) ठहरने की जगह बनाया और उसके दरम्यिान जा बजा नहरें दौड़ायी और उसकी मज़बूती के वास्ते पहाड़ बनाए और (मीठे खारी) दरियाओं के दरम्यिान हदे फ़ासिल बनाया तो क्या ख़ुदा के साथ कोई और माबूद भी है (हरगिज़ नहीं) बल्कि उनमें के अकसर कुछ जानते ही न...
आपका-अख्तर खान "अकेला"...
Tag :
  November 11, 2018, 7:53 am
तो (ऐ रसूल) तुम देखो उनकी तदबीर का क्या (बुरा) अन्जाम हुआ कि हमने उनको और सारी क़ौम को हलाक कर डाला (51)ये बस उनके घर हैं कि उनकी नाफ़रमानियों की वज़ह से ख़ाली वीरान पड़े हैं इसमे शक नही कि उस वाकि़ये में वाकि़फ कार लोगों के लिए बड़ी इबरत है (52)और हमने उन लोगों को जो इमान लाए थे औ...
आपका-अख्तर खान "अकेला"...
Tag :
  November 9, 2018, 9:27 am
दीपावली में अली ,,रमज़ान में राम ,,फिर बेवजह क्यों झगड़ते हो तुम ,,क्यों करते हो नफरत का महासंग्राम ,,आओ एक दूसरे को गले लगाए ,,,गिले शिकवे मिटाये ,,नफरत भुला दे मोहब्बत का दे पैगाम ,मिल कर गाये तराना हम सब ,सारे जहां में कुछ नहीं अच्छा ,सारे जहाँ से ,अच्छा है सिर्फ हमारा हिन्दुस...
आपका-अख्तर खान "अकेला"...
Tag :
  November 8, 2018, 8:13 am
(उसके बाद) सुलेमान ने कहा कि उसके तख़्त में (उसकी अक़्ल के इम्तिहान के लिए) तग़य्युर तबददुल कर दो ताकि हम देखें कि फिर भी वह समझ रखती है या उन लोगों में है जो कुछ समझ नहीं रखते (41) (चुनान्चे ऐसा ही किया गया) फिर जब बिलक़ीस (सुलेमान के पास) आयी तो पूछा गया कि तुम्हारा तख़्त भी ऐ...
आपका-अख्तर खान "अकेला"...
Tag :
  November 8, 2018, 8:06 am
सियासत जिसकी विरासत हो,सियासत जिसके खून में हो,संगठन के राष्ट्रिय अध्यक्ष के नाते,राहुल गांधी के लिए,●देश ●देश की जनता ,●संगठन के सिद्धांत और●संगठन उसके लिए महत्वपूर्ण हो जाता है ,वर्तमान हालातों में ●पैराशूटी लोगो से दूरी बनाकर ,●संगठन,●संगठन के ज़िम्मेदार पदाधिकार...
आपका-अख्तर खान "अकेला"...
Tag :
  November 7, 2018, 10:03 am
(अगर ऐसा है तो) मै उसे सख़्त से सख़्त सज़ा दूँगा या (नहीं तो ) उसे ज़बाह ही कर डालूँगा या वह (अपनी बेगुनाही की) कोई साफ़ दलील मेरे पास पेश करे (21)ग़रज़ सुलेमान ने थोड़ी ही देर (तवक्कुफ़ किया था कि (हुदहुद) आ गया) तो उसने अर्ज़ की मुझे यह बात मालूम हुयी है जो अब तक हुज़ूर को भी मालूम ...
आपका-अख्तर खान "अकेला"...
Tag :
  November 7, 2018, 9:56 am
कोटा लाडपुरा से आप प्रत्याक्षी एम पी चतर द्वारा चुनाव आचार संहिता के उलंग्घन के पोस्टर छपवाकर प्रचारित ,प्रसारित करने ,,जगह जगह प्रचार सामग्री चस्पा करने के मामले में ,प्रदेश कांग्रेस कमेटी सदस्य अख्तर खान अकेला ने चुनाव आयोग को लिखित ज़रिये ई मेल शिकायत की है जो ऍन ज...
आपका-अख्तर खान "अकेला"...
Tag :
  November 6, 2018, 6:23 am
(मुतमइन हो जाते है) मगर जो शख़्स गुनाह करे फिर गुनाह के बाद उसे नेकी (तौबा) से बदल दे तो अलबत्ता बड़ा बख्शने वाला मेहरबान हूँ (11) (वहाँ) और अपना हाथ अपने गरेबा में तो डालो कि वह सफेद बुर्राक़ होकर बेऐब निकल आएगा (ये वह मौजिज़े) मिन जुमला नौ मोजिज़ात के हैं जो तुमको मिलेगें तु...
आपका-अख्तर खान "अकेला"...
Tag :
  November 6, 2018, 6:20 am
(मुतमइन हो जाते है) मगर जो शख़्स गुनाह करे फिर गुनाह के बाद उसे नेकी (तौबा) से बदल दे तो अलबत्ता बड़ा बख्शने वाला मेहरबान हूँ (11) (वहाँ) और अपना हाथ अपने गरेबा में तो डालो कि वह सफेद बुर्राक़ होकर बेऐब निकल आएगा (ये वह मौजिज़े) मिन जुमला नौ मोजिज़ात के हैं जो तुमको मिलेगें तु...
आपका-अख्तर खान "अकेला"...
Tag :
  November 3, 2018, 8:14 am
ता सीन ये क़ुरआन वाजे़ए व रौशन किताब की आयतें है (1) (ये) उन इमानदारों के लिए (अज़सरतापा) हिदायत और (जन्नत की) ख़ुशखबरी है (2)जो नमाज़ को पाबन्दी से अदा करते हैं और ज़कात दिया करते हैं और यही लोग आखि़रत (क़यामत) का भी यक़ीन रखते हैं (3)इसमें शक नहीं कि जो लोग आखिरत पर इमान नहीं रखत...
आपका-अख्तर खान "अकेला"...
Tag :
  November 2, 2018, 6:32 am
तू अपनी खूबियां ढूंढ ....कमियां निकालने के लिए लोग हैंअगर रखना ही है कदम....तो आगे रख ,पीछे खींचने के लिए लोग हैं सपने देखने ही है .....तो ऊंचे देख ,निचा दिखाने के लिए लोग हैं अपने अंदर जुनून की चिंगारी भड़का ,जलने के लिए लोग हैं अगर बनानी है.....तो यादें बना ,बातें बनाने के लिए लोग ह...
आपका-अख्तर खान "अकेला"...
Tag :
  November 1, 2018, 7:11 am
और ये काम न तो उनके लिए मुनासिब था और न वह कर सकते थे (211)बल्कि वह तो (वही के) सुनने से महरुम हैं (212) (ऐ रसूल) तुम ख़़ुदा के साथ किसी दूसरे माबूद की इबादत न करो वरना तुम भी मुबतिलाए अज़ाब किए जाओगे (213)और (ऐ रसूल) तुम अपने क़रीबी रिश्तेदारों को (अज़ाबे ख़ुदा से) डराओ (214)और जो मोमिनीन ...
आपका-अख्तर खान "अकेला"...
Tag :
  November 1, 2018, 7:01 am
सोशल मीडिया पर विशिष्ठ लोगो की सरपरस्ती में चल रहे मिडिया ग्रुप एडमिन के पक्षपातों की पोल खुलने लगी है ,,खुद को निष्पक्ष जर्नलिस्ट की दुहाई देने वाले भी अब इस बिमारी से ग्रसित लग रहे है ,,कोटा सहित देश भर में सूचनाओं के आदान प्रदान ,,निष्पक्षता से तहज़ीब के दायरे में अपन...
आपका-अख्तर खान "अकेला"...
Tag :
  October 31, 2018, 7:44 am
वरिष्ठ पत्रकार दिनेश दुबे ने दैनिक नवज्योति के प्रबंधन को न्यायालय के फैसले के बाद धरातल पर लाकर खड़ा कर दिया है । हालांकि फैसला आने में 34 साल लग गए यह हमारी न्यायपालिका की कमजोरी ही दिखती है , वरना किसी आदमी को जब नौकरी से हटाया जाता है उस समय उसके सामने रोजगार का गंभी...
आपका-अख्तर खान "अकेला"...
Tag :
  October 31, 2018, 7:42 am
और बेशक तुम्हारा परवरदिगार यक़ीनन (सब पर) ग़ालिब (और) बड़ा मेहरबान है (191)और (ऐ रसूल) बेशक ये (क़़ुरआन) सारी ख़़ुदायी के पालने वाले (ख़़ुदा) का उतारा हुआ है (192)जिसे रुहुल अमीन (जिबरील) साफ़ अरबी ज़बान में लेकर तुम्हारे दिल पर नाजि़ल हुए है (193)ताकि तुम भी और पैग़म्बरों की तरह (194)लो...
आपका-अख्तर खान "अकेला"...
Tag :
  October 31, 2018, 7:40 am
100 दिन में 5000000 करोड़ रुपए काला धन लाने वाला ऐप पर 5/- मांगता है ,,चौकीदार ही चोर है नोटबन्दी रात में ... GST लागू रात में... CBI का तबादला भी रात मेंचोर भी अपना काम करते हैं रात में *पहली बार CBI का CBI से मुकाबला* *टॉप 2 की 'छुट्टी', 13 का तबादला* *साख पर सवाल, विपक्ष का बवाल* *CBI के बहाने सियासत में ...
आपका-अख्तर खान "अकेला"...
Tag :
  October 30, 2018, 7:14 am
ये लोग जब तक दर्दनाक अज़ाब को न देख लेगें उस पर इमान न लाएँगे (201)कि वह यकायक इस हालत में उन पर आ पडे़गा कि उन्हें ख़बर भी न होगी (202) (मगर जब अज़ाब नाजि़ल होगा) तो वह लोग कहेंगे कि क्या हमें (इस वक़्त कुछ) मोहलत मिल सकती है (203)तो क्या ये लोग हमारे अज़ाब की जल्दी कर रहे हैं (204)तो क्य...
आपका-अख्तर खान "अकेला"...
Tag :
  October 30, 2018, 7:11 am
तो हमने उनको और उनके सब लड़कों को नजात दी (170)मगर (लूत की) बूढ़ी औरत कि वह पीछे रह गयी (171) (और हलाक हो गयी) फिर हमने उन लोगों को हलाक कर डाला (172)और उन पर हमने (पत्थरों का) मेंह बरसाया तो जिन लोगों को (अज़ाबे ख़ुदा से) डराया गया था (173)उन पर क्या बड़ी बारिश हुयी इस वाकि़ये में भी एक बड़ी...
आपका-अख्तर खान "अकेला"...
Tag :
  October 29, 2018, 7:29 am
तुम (जब कोई चीज़ नाप कर दो तो) पूरा पैमाना दिया करो और नुक़सान (कम देने वाले) न बनो (181)और तुम (जब तौलो तो) ठीक तराज़ू से डन्डी सीधी रखकर तौलो (182)और लोगों को उनकी चीज़े (जो ख़रीदें) कम न ज़्यादा करो और ज़मीन से फसाद न फैलाते फिरो (183)और उस (ख़ुदा) से डरो जिसने तुम्हे और अगली खि़लकत को ...
आपका-अख्तर खान "अकेला"...
Tag :
  October 28, 2018, 7:10 am
इसी तरह लूत की क़ौम ने पैग़म्बरों को झुठलाया (160)जब उनके भाई लूत ने उनसे कहा कि तुम (ख़ुदा से) नहींक्यों डरते (161)मै तो यक़ीनन तुम्हारा अमानतदार पैग़म्बर हूँ तो ख़ुदा से डरो (162)और मेरी इताअत करो (163)और मै तो तुमसे इस (तबलीगे़ रिसालत) पर कुछ मज़दूरी भी नहीं माँगता मेरी मज़दूरी त...
आपका-अख्तर खान "अकेला"...
Tag :
  October 26, 2018, 6:52 am
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3814) कुल पोस्ट (182758)