POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Blog: ढिबरी

Blogger: padmsingh
कहाँ जाने खो गयी हैं आँधियाँ क्यों नपुंसक हो गयी हैं आंधियाँ हवाएँ पश्चिम से कुछ ऐसे चलीं युवा मन मे सो गयी हैं आंधियाँ मुट्ठियाँ सब बुद्धिजीवी हो गयीं और तनहा हो गयी हैं आँधियाँ आज घर मे शान्ति है धोका न खा अभी कल ही तो गयी हैं आंधियाँ शक्ति, साहस, और लड़ने की ललक जाने क्य... Read more
clicks 175 View   Vote 0 Like   1:30pm 2 May 2012 #
Blogger: padmsingh
कहाँ जाने खो गयी हैं आँधियाँ क्यों नपुंसक हो गयी हैं आंधियाँ हवाएँ पश्चिम से कुछ ऐसे चलीं युवा मन मे सो गयी हैं आंधियाँ मुट्ठियाँ सब बुद्धिजीवी हो गयीं और तनहा हो गयी हैं आँधियाँ आज घर मे शान्ति है धोका न खा अभी कल ही तो गयी हैं आंधियाँ शक्ति, साहस, और लड़ने की ललक जाने क्य... Read more
clicks 149 View   Vote 0 Like   12:25pm 2 May 2012 #
Blogger: padmsingh
लव गुरु से किसी चेले ने पूछा एक दिन गुरु नारियों के भेद आज बतलाइए कैसे किस नज़र से देखे कोई कामिनी को सार सूत्र सुगम सकल समझाइए गुरु बोला पहला प्रकार तो है कैक्टस का दूसरे प्रकार की गुलाब जैसी होती हैं तीसरा प्रकार नारियों का है गुलाब जामुन तीन ही तरह से मुझे नज़र आती है... Read more
clicks 125 View   Vote 0 Like   2:09pm 24 Mar 2012 #
Blogger: padmsingh
This is a temporary post that was not deleted. Please delete this manually. (44b69c05-9e95-4702-a126-e7ebc4d10ba4 - 3bfe001a-32de-4114-a6b4-4005b770f6d7)... Read more
clicks 126 View   Vote 0 Like   3:46am 23 Mar 2012 #
Blogger: padmsingh
This is a temporary post that was not deleted. Please delete this manually. (918670a2-a5c6-4ef8-982f-e2adbd0410a8 - 3bfe001a-32de-4114-a6b4-4005b770f6d7)... Read more
clicks 135 View   Vote 0 Like   2:30pm 24 Feb 2012 #
clicks 133 View   Vote 0 Like   3:48am 20 Feb 2012 #
Blogger: padmsingh
Bhojan MantraListen on Posterous-- हिंदी यूनिकोड मे टाइप करने का सर्वोत्तम टूल- http://emadad.hindyugm.com/2009/12/google-ime-easy-hindi-typing.htmlPosted via email from पद्म सिंह का चिट्ठा - Padm Singh's Blog... Read more
clicks 148 View   Vote 0 Like   2:12pm 17 Feb 2012 #
Blogger: padmsingh
अब जाग उठो अब कमर कसो आहुति की राह बुलाती है ललकार रही दुनिया हमको भेरी आवाज़ लगाती है भारत माता के वीर सपूतो धारा की पहचान करोनावों के बंधन को खोलो पतवार उठा प्रस्थान करोफिर नए लक्ष्य की चाह विजय की राह तुम्हें दिखलाती है ललकार रही दुनिया हमको भेरी आवाज़ लगाती हैतंद्... Read more
clicks 167 View   Vote 0 Like   3:03am 13 Feb 2012 #गीत
Blogger: padmsingh
कल उत्तर प्रदेश मे चुनावी घमासान की शुरुआत है... फेसबुक पर अनगढ़ चिन्तन  करते करते कुछ अनगढ़ विचार पंक्तियों मे उतर आए....  पोस्ट के कमेन्ट के रूप मे भाई सलिल वर्मा जी ने कविता को आगे बढ़ाया और एक रचना ने रूप पाया... जिसे ब्लॉग पर डालने का लोभ संवरण नहीं कर सका...यह कविता मेरी और सल... Read more
clicks 139 View   Vote 0 Like   3:00am 8 Feb 2012 #कविता
Blogger: padmsingh
नवभारत टाइम्स पेज 10 - दिनांक  04/02/2012 Posted via email from पद्म सिंह का चिट्ठा - Padm Singh's Blog... Read more
clicks 171 View   Vote 0 Like   11:28am 4 Feb 2012 #सरोकार
Blogger: padmsingh
सदाश्वेत वस्त्रम, खुंसे अंगशस्त्रम, च वाहन विशालादि सत्ता सुखम ... चमचा कृपालम, विरोधस्यकालम, सुवांगी श्रुतमचैव लारम भजे... नमो भ्रष्ट पोषी, च स्विस बैंक कोशी, न जांचम, न दोषी, समेटाsधनम अनर्गल प्रलापम,च वादा खिलाफम,बकम रात्रि दिवसमअनापम शनापमनिपोराणि खीसम, च निर्लज्जमी... Read more
clicks 227 View   Vote 0 Like   6:28pm 28 Jan 2012 #हास्य
Blogger: padmsingh
हे वीणा शोभायनी, हे विद्या की खान मेरी भव बाधा करो, बाँह धरो अब आन माँ तुमसे क्या छुपा है तू कब थी अनजान तुम्हीं सँवारो काज सब, तुम्हीं बचाओ मान आन बान सब छाँणि के आया मै नादान पत राखो वागेश्वरी, शत शत तुम्हें प्रणाम .............. वसन्त पंचमी के पावन पर्व पर माँ वीणापाणि के चरणों म... Read more
clicks 124 View   Vote 0 Like   4:48am 28 Jan 2012 #कविता
Blogger: padmsingh
कई बार मज़ाक मे लिखी गयी दो चार पंक्तियाँ  अपना कुनबा गढ़ लेती है... ऐसा ही हुआ इस जूता पचीसी के पीछे... फेसबुक पर मज़ाक मे लिखी गयी कुछ पंक्तियों पर रजनीकान्त जी ने टिप्पणी की कि इसे जूता बत्तीसी तक तो पहुँचाते... बस बैठे बैठे बत्तीसी तो नहीं पचीसी अपने आप उतर आई... अब आ गयी है तो आ... Read more
clicks 153 View   Vote 0 Like   1:45pm 24 Jan 2012 #हास्य
Blogger: padmsingh
सविनय अर्ज़ है - रहिमन जूता राखिए, बिन जूता सब सून बिन जूता होने लगे, भ्रष्टाचारी दून जूता मारा तान के, लेगई पवन उड़ाय जूते की इज्ज़त बची, प्रभु जी सदा सहाय साईं इतना दीजिये, दो जूते ले आँय मारूँ भ्रष्टाचारियन, जी की जलन मिटाँय जूता लेके फिर रही, जनता चारिहुं ओर जित देखा तित पी... Read more
clicks 141 View   Vote 0 Like   3:26am 24 Jan 2012 #
Blogger: padmsingh
******जनता सड़कों पर खड़ी मांग रही कानून मनमानी सरकार की बना नहीं मजमून भय है भ्रष्टाचार पर लग ना जाय नकेल भ्रष्टाचारी       खेलते     उल्टे    सीधे   खेल उल्टे   सीधे    खेल   काम जैसे भी बनता नहीं बने कानून    भाड़ मे जाये जनता ********************संसद की सर्वोच्चता सत्ता का यह खेल कैसी   अं... Read more
clicks 153 View   Vote 0 Like   5:20am 2 Jan 2012 #
[ Prev Page ] [ Next Page ]


Members Login

Email ID:
Password:
        New User? SIGN UP
  Forget Password? Click here!
Share:
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3941) कुल पोस्ट (195161)