POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Blog: आवाज़-The Voice

Blogger: prakash govind
घने जंगल से गुजरती हुई सड़क के किनारे एक ज्ञानी गुरु अपने चेले के साथ एक बोर्ड लगाकर बैठे हुए थे, जिस पर लिखा था :-  . "ठहरिये... आपका अंत निकट है। इससे पहले कि बहुत देर हो जाये, रुकिए ! हम आपका जीवन बचा सकते हैं।" --  --  एक कार फर्राटा भरते हुए वहाँ से गुजरी। चेले ने ड्राईवर को बोर्... Read more
clicks 92 View   Vote 0 Like   6:58pm 18 Jun 2016 #
Blogger: prakash govind
वाह ... गज़ब का कलाकार  =========================== ----------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------- ================================================  ... Read more
clicks 76 View   Vote 0 Like   6:25pm 18 Jun 2016 #
Blogger: prakash govind
जिस पल आपकी मृत्यु हो जाती है,  उसी पल से आपकी पहचान एक "बॉडी"बन जाती है।  -  अरे~~ "बॉडी"लेकर आइये,,, "बॉडी"को उठाइये,  -  ऐसे शब्दो से आपको पूकारा जाता है, वे लोग भी आपको आपके नाम से नही पुकारते,  जिन्हे प्रभावित करने के लिये आपने अपनी पूरी जिंदगी खर्च कर दी।  -  जीवन में आने वाल... Read more
clicks 89 View   Vote 0 Like   8:44pm 16 Jun 2016 #
Blogger: prakash govind
बेंगलुरु के विनीत विजियन ने एमबीबीएस स्टूडेंट की स्टोरी शेयर की है। विनीत विजयन नाम के शख्स ने फेसबुक पर लिखा है : - 'मैं बेंगलुरु मेडिकल कॉलेज के लिए ऑटो का इंतजार कर रहा था। दरअसल, वहां मेरे दोस्त की मां भर्ती थीं, जिन्हें मैं देखने जा रहा था। तभी एक ऑटो रुका।  . मैंने आ... Read more
clicks 91 View   Vote 0 Like   8:22pm 16 Jun 2016 #
Blogger: prakash govind
3 मई की तारीख को रोज की तरह वंदना अपने घर में अपने पिताजी के ऑफिस में गई और आदतन सबसे पहले यूपीएससी की वेबसाइट खोली। वंदना को दूर-दूर तक अंदेशा नहीं था कि आज आईएएस का रिजल्ट आने वाला है, लेकिन इस सरप्राइज से कहीं ज्यादा बड़ा सरप्राइज अभी उसका इंतजार कर रहा था। टॉपर्स की ... Read more
clicks 81 View   Vote 0 Like   9:41pm 15 Jun 2016 #
Blogger: prakash govind
"रामायण"एक काल्पनिक कथा है जो कि वास्तविक स्थानों श्रीलंका, अयोध्या, पर आधारित है, जैसे अरब मे विख्यात 'अलिफ़ लैला', 'हातिम ताई'नामक कथायें काल्पनिक हैं, परंतु उसमे दर्शाये गये स्थान 'आबे फारस जबले मक्नातीस', 'दरिया-ए-नील तूर सीना'नामक स्थान वास्तविक हैं। -  नासा--पुरातत्व ... Read more
clicks 98 View   Vote 0 Like   9:16pm 15 Jun 2016 #
Blogger: prakash govind
एक बार सत्यनारायण कथा की आरती का थाल मेरे सामने आने पर मैंने छाँट कर जेब में से कटा-फटा पाँच रुपये का नोट निकाला और कोई देखे नहीं, इस तरह आरती-थाल में डाला दिया।  .  वहाँ अत्यधिक ठसाठस भीड़ थी।  .  मेरे कंधे पर ठीक पीछे वाले सज्जन ने थपकी मार कर मेरी ओर 500 रुपये का नोट बढ़ाया... Read more
clicks 83 View   Vote 0 Like   9:26pm 12 Jun 2016 #
Blogger: prakash govind
एक आम आदमी सुबह जागने के बाद दाँत ब्रश करता है, नहाता है, कपड़े पहनकर तैयार होता है, अखबार पढता है, नाश्ता करता है, घर से काम के लिए निकल जाता है.....बाहर निकलकर रिक्शा करता है, फिर लोकल बस या ट्रेन पकड़कर ऑफिस पहुँचता है, वहाँ पूरा दिन काम करता है, साथियों के साथ चाय पीता है, शा... Read more
clicks 83 View   Vote 0 Like   9:12pm 12 Jun 2016 #
Blogger: prakash govind
1939 अक्टूबर माह की एक दोपहर 12 बजे एक छोटे से स्टेशन पर रेल गाड़ियों की क्रासिंग हो रही थी। एक बंगाली युवक गांधी से भेंट करने सेवाग्राम जा रहा था। तभी उसे गाड़ी में पता चला कि गांधी तो क्रासिंग के लिए बाजु खड़ी ट्रेन से दिल्ली जा रहे हैं।  ......  वह फटाफट उतरा और पास खड़ी में गां... Read more
clicks 89 View   Vote 0 Like   8:30pm 12 Jun 2016 #
Blogger: prakash govind
एक बार कबूतरों का झुण्ड, बहेलिया के बनाये जाल में फंस गया। सारे कबूतरों ने मिलकर फैसला किया और जाल सहित उड़ गये "एकता की शक्ति"की ये कहानी आपने यहाँ तक पढ़ी है .... इसके आगे क्या हुआ वो आज प्रस्तुत है : -  बहेलिया उड़ रहे जाल के पीछे पीछे भाग रहा था। एक सज्जन मिले और पूछा क्यों... Read more
clicks 91 View   Vote 0 Like   10:11pm 11 Jun 2016 #
Blogger: prakash govind
ये फोटोशॉप का कमाल नहीं है जी !  उत्तरी अफ्रीका का मोरक्को एक ऐसा देश है, जहां बकरियां पेड़ों पर चढ़ जाती हैं। ऐसे दृश्य मोरक्को में अक्सर दिखाई पड़ते हैं, वहां दर्जनों की संख्या में बकरियां पेड़ों पर मौजूद मिलती है। ये कौवों की तरह पेड़ की चोटी पर भी बैठी दिखती है।  क... Read more
clicks 85 View   Vote 0 Like   10:01pm 11 Jun 2016 #
Blogger: prakash govind
मीटिंग के बाद एक युवती होटल से बाहर आई। उसने अपनी कार की चाभियाँ तलाशीं लेकिन उसे नहीं मिली। वापस मीटिंग रूम में जाकर देखा, वहाँ भी नहीं थीं।  --  अचानक उसे लगा कि, चाभियाँ शायद वो कार के इग्नीशन में ही लगी छोड़ आई थी। उसके पति बहुत बार उसकी इस आदत के लिए डाँट चुके थे।  --  खैर,... Read more
clicks 97 View   Vote 0 Like   9:47pm 11 Jun 2016 #
Blogger: prakash govind
रात के समय एक दुकानदार अपनी दुकान बन्द ही कर रहा था कि एक कुत्ता दुकान में आया । उसके मुॅंह में एक थैली थी। जिसमें सामान की लिस्ट और पैसे थे। दुकानदार ने पैसे लेकर सामान उस थैली में भर दिया। कुत्ते ने थैली मुॅंह मे उठा ली और चला गया।  --  दुकानदार आश्चर्यचकित होके कुत्ते क... Read more
clicks 76 View   Vote 0 Like   9:39pm 9 Jun 2016 #
Blogger: prakash govind
250 वर्ष का इतिहास खंगालने पर पता चलता है कि वर्ष 1800 के बाद जो दुनिया मे तरक़्क़ी हुई, उस मे पश्चिम मुल्को यानी सिर्फ यहूदी और ईसाई लोगो का ही हाथ है। हिन्दू और मुस्लिम का इस विकास मे 1% का भी योगदान नही है।  ---  1800 से लेकर 1940 तक हिंदू और मुसलमान सिर्फ बादशाहत या गद्दी के लिये ल... Read more
clicks 79 View   Vote 0 Like   9:20pm 9 Jun 2016 #
Blogger: prakash govind
वेटिकन सिटी में दो भिखारी बैठे थे ...  एक के हाथ में ॐ था और दुसरे के हाथ में जीसस का क्रॉस !  ---  लोग वहां से निकलते और सब ॐ वाले भिखारी को गुस्से से देख के क्रॉस पकड़े हुए भिखारी को पैसे दे कर जा रहे थे !  ---  थोड़ी देर के बाद वहां से क्रिस्चियन के धर्मगुरु पॉप निकले ,,, उन्होंने ये द... Read more
clicks 82 View   Vote 0 Like   2:59am 9 Jun 2016 #
Blogger: prakash govind
माँ के निधन के पश्चात इकलौते बेटे ने पत्नी के कहने में आ कर अपने पिता को वृद्धाश्रम में भेजने का निर्णय ले लिया। पिता की समस्त भौतिक वस्तुएँ समेट वो एक ईसाई पादरी द्वारा संचालित वृद्धाश्रम में पिता को ले आया।  -- काउंटर पर बैठी क्लर्क ने बहुत से विकल्प दिए टेलीविज़न, एसी, ... Read more
clicks 73 View   Vote 0 Like   12:09am 9 Jun 2016 #
Blogger: prakash govind
[कश्यप किशोर मिश्रा द्वारा रचित उत्कृष्ट लघु कथा] --------------------------------------------------------  एक बूढ़ी औरत सड़क के किनारे डलिया में संतरे बेचती थी  एक युवा अक्सर उसके पास से संतरे खरीदता.  ---  हर बार खरीदे हुए संतरों से एक संतरा निकाल उसकी एक फाँक चखता और कहता - “ये कम मीठा लग रहा है, देखो !”  ---  ब... Read more
clicks 91 View   Vote 0 Like   12:29pm 27 Sep 2015 #
Blogger: prakash govind
कल मुझे एक नौजवान स्टेशन पर मिला।  . कहने लगा - . "मेरी जेब से पर्स कही गिर गया है, बस मुझे जयपुर पहुंचने तक के पैसे दे दीजिये।  टिकट 150 रूपये का है। और आगे रेलवे स्टेशन से मैं पैदल अपने घर चला जाऊंगा। बस 150 रूपये  चाहिये। वैसे मै बहुत संपन्न परिवार से हूँ। मुझे मांगते हुए झिझक ... Read more
clicks 88 View   Vote 0 Like   2:52pm 26 Sep 2015 #
Blogger: prakash govind
कल मुझे एक नौजवान स्टेशन पर मिला।  . कहने लगा - . "मेरी जेब से पर्स कही गिर गया है, बस मुझे जयपुर पहुंचने तक के पैसे दे दीजिये।  टिकट 150 रूपये का है। और आगे रेलवे स्टेशन से मैं पैदल अपने घर चला जाऊंगा। बस 150 रूपये  चाहिये। वैसे मै बहुत संपन्न परिवार से हूँ। मुझे मांगते हुए झिझक ... Read more
clicks 82 View   Vote 0 Like   2:52pm 26 Sep 2015 #
Blogger: prakash govind
क्या कहा ~~~ नाम में क्या रखा है ??  .  अरे नहीं जनाब  नाम में ही तो बहुत कुछ रखा है  . न यकीन हो तो देखिये -  अरे ~~~ फेसबुक तो फ़ास्ट फ़ूड भी बेचता है ===================================================  इन्फोसिस का नया धांसू बिजनेस ==================================================  डंके की चोट पे धंधा ====================================================  क्या सीखा … ... Read more
clicks 95 View   Vote 0 Like   3:43pm 25 Sep 2015 #
Blogger: prakash govind
एक लड़की अपने होने वाले मंगेतर को अपने मम्मी-पापा से मिलाने के लिए घर लेकर आयी, डिनर के बाद लड़की की माँ ने अपने पति से कहा कि कुछ लड़के के बारे में पता करो!!  ---  लड़की के बाप ने लड़के को अकेले में बुलाया और उससे बातचीत करने लगे बाप ने पूछा -  "तुम्हारा प्लान क्या है ?"  -  लड़के ने कहा - "... Read more
clicks 98 View   Vote 0 Like   3:12pm 25 Sep 2015 #
Blogger: prakash govind
तीन-चार इंजीनियर एक टेढ़े मेढ़े पाइप में से तार डालने कि कोशिश कर रहे थे,  लेकिन कामयाब नहीं हो पा रहे थे ! एक जाट कई दिन से ये सब देख रहा था  --  --  पांचवें दिन जाट बोला :-  मै करू साब ??  --  इंजीनियर ने घूरा और बोला :-  हम पांच दिन से कोशिश कर रहे हैं, हमसे तो हुआ नहीं,  तू कैसे निकालेग... Read more
clicks 82 View   Vote 0 Like   2:59pm 25 Sep 2015 #
Blogger: prakash govind
जब कुछ करने का जज्बा हो, तो परेशानियां भी रास्ता छोड़ देती है। इस बात को फिर से साबित कर दिया है सुषमा वर्मा ने. मात्र 15 साल की उम्र में उन्होंने माइक्रोबायोलॉजी में एमएससी कर लिया है। --13 साल की उम्र में उन्होंने लखनऊ यूनिवर्सिटी से बीएससी किया था। सुषमा के पिताजी तेज ब... Read more
clicks 73 View   Vote 0 Like   7:46pm 8 Sep 2015 #
Blogger: prakash govind
करीब तीस साल का एक युवक मुंबई के प्रसिद्ध टाटा कैंसर अस्पताल के सामने फुटपाथ पर खड़ा था। युवक वहां अस्पताल की सीढिय़ों पर मौत की दहलीज पर खड़े मरीजों को बड़े ध्यान दे देख रहा था, जिनके चेहरों पर दर्द और विवषता का भाव स्पष्ट नजर आ रहा था। इन रोगियों के साथ उनके रिश्तेदार भ... Read more
clicks 77 View   Vote 0 Like   7:32pm 8 Sep 2015 #
Blogger: prakash govind
किसी ने उसे बता दिया था, कि "कलेट्टर साब के हियाँ चलजा, सब काम हो जाई"। -- इसीलिए साहब के दरवाज़े पे बैठी थी। सुबह आठ बजे से बैठे-बैठे दुपहर के दो बज गए थे। सुतली के सहारे टिके चश्मे के भीतर धँसी, तरसती आँखों से उसने जाने कितने ही लोगों को भीतर जाते और बाहर आते देखा था। कम से ... Read more
clicks 78 View   Vote 0 Like   7:35pm 7 Sep 2015 #
[ Prev Page ] [ Next Page ]


Members Login

Email ID:
Password:
        New User? SIGN UP
  Forget Password? Click here!
Share:
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3938) कुल पोस्ट (195081)