Hamarivani.com

स्वास्थ्य -सेतु

ग्रीन टी एक प्रकार की चाय  ही होती है, जो कैमेलिया साइनेन्सिस   नामक पौधे की पत्तियों से बनायी जाती है। यह  मात्र प्रोसेस्सड   की हुई नहीं होती हैl अध्ययनों के अनुसार दांतों के लिए भी ग्रीन-टी काफी लाभदायक है। जीवाणु, विषाणु और गले के संक्रमण से भी यह बचाव करती है। ग्र...
स्वास्थ्य -सेतु...
Tag :Life-Management
  May 1, 2018, 11:20 am
नकारात्मकता हमारी सोच व व्यव्हार को अशांत बनाती हैl हमें थका देती है व तरह तरह से परेशान करती हैl अत: इसे कम करने हेतु निम्न उपाय करने चाहिए l नमक नकरात्मक ऊर्जा को पी जाता हैl अपनी नकारत्मक विचारों से बचने के लिए नमक का सहारा ले l नकारत्मकता को कम करने नमक से नहाएl इस हेतु स...
स्वास्थ्य -सेतु...
Tag :
  April 26, 2018, 1:31 pm
योग में मुद्राओं का महत्त्व आसन व प्राणायाम से अधिक हैl इसे करने से ना केवल शारारिक बल्कि मानसिक लाभ भी मिलते है| इन मुद्राओ का नियमित अभ्यास करने से शरीर, मन और  आत्मा   संतुलित व शुद्ध होते  है|योग में मुद्राओं को आसन और प्राणायाम से भी बढ़कर माना जाता है। आसन से शरीर की ...
स्वास्थ्य -सेतु...
Tag :Life-Management
  April 24, 2018, 11:19 am
षट्कर्म अथार्थ छ: कर्म जिनसे शरीर व मन की सफ़ाई की जाती हैlशारीरिक एवं मानसिक शुद्धीकरण के बिना योगाभ्यास से पूरा लाभ नहीं मिलता हैl शुद्धिकरण योग शरीर, मस्तिष्क एवं चेतना पर पूर्ण नियंत्रण का भास देता हैl वात,पित्त एवं कफ का संतुलन  होता हैlयोग के अनुसार निम्न छ: कर्म है:- 1...
स्वास्थ्य -सेतु...
Tag :Art of Living
  April 15, 2018, 11:29 am
स्वस्थ शरीर साधना हेतु जरूरी हैlइसके अभाव में अंतर्यात्रा नहीं की जा सकती हैl  शरीर को स्वस्थ रखने हेतु सही विचारों का होना जरूरी हैl इस हेतु व्यक्तिमें नो दोषों का समाधान करना चाहिए l 1 वात दोष 2 पित्त दोष 3 कफ दोष 4 जोडों में दर्द ५ सरदर्द 6 दस्त 7 कब्ज 8 मूत्र  आने की आवृति मे...
स्वास्थ्य -सेतु...
Tag :Life-Management
  April 13, 2018, 4:59 pm
तपोवन में आदरणीय शशांक जी ने 7 से १३ मार्च 18 तक गहन योगिक साधना करवाई l शिविरार्थियो के अनुभव ज्यों के त्यों उद्धरत कर रहा हू:       शशांक भैया ने जो भी विधियाँ ध्यान की कराई जैसे निशा ध्यान, रात्रि ध्यान,ज्योति ध्यान, संकल्प साधना, मौन साधना,क्रिया योग  आदि लयबद्ध तरीक...
स्वास्थ्य -सेतु...
Tag :
  April 5, 2018, 4:05 pm
शहद और लहसुन दोनों ही ऐसी चीजें हैं जिनका इस्तेमाल करने से हमारे शरीर को कई तरह के फायदे होते हैं। एक तरफ जहां लहसुन में एलिसिन और फाइबर शामिल होता है जोकि हमारे शरीर के लिए फायदेमंद होता है। शहदऔरलहसुनकोमिलाकरइसकासेवनकरनेसेहमारेशरीरमेंमौजूदअतिरिक्तचर्बीकमहोज...
स्वास्थ्य -सेतु...
Tag :Articles
  April 4, 2018, 11:42 am
ध्यान एकाग्रता नहीं है बल्कि ध्यान का परिणाम एकाग्रता हैl त्राटक मन को एकाग्र करता है इससे हम अपने पास आने लगते हैl इसलिए त्राटक करने से ध्यान गहरा होता हैl हम सामान्यत: जाग्रत अवस्था में इन्द्रियजन्य आंकड़ो के प्रवाह में खोये रहते हैl इसके साथ ही अवचेतन से आते विचार और भ...
स्वास्थ्य -सेतु...
Tag :Meditation
  March 31, 2018, 12:43 pm
  हमारा जीवन तनावग्रस्त होने  से हमारे शरीर व मन खीचें हुए रहते हैl  शवासन में इन दोनों को शिथिल कर विश्राम करते हैl  मन व तन को शिथिल करना बड़ा कठिन है इसलिए शवासन कठिन आसन हैl यह महत्वपूर्ण भी इसीलिए है चुकि इस आसन से जीवन के तनाव कम होते हैl  श्वसन को मंद करने से शांति प्र...
स्वास्थ्य -सेतु...
Tag :Life-Management
  March 27, 2018, 10:44 am
अष्टांग विन्यास योग श्वसन व लय के साथ करें व साथमे आसन  के निर्गमन के पूर्व  एक बार भ्रामरी करें l 1 सचल कटी चक्रासन 2 अर्द्ध शलभासन 3 शलभासन 4 भूजंगासन ५ धनुरासन 6 मार्जरी आसन 7 नौकासन 8 अर्द्ध पवन मुक्तासन 9 पवन मुक्तासन 10 सर्वांगासन 11 सेतु बंध 12 नटराज आसन १३ पश्चिम उत्तानासन...
स्वास्थ्य -सेतु...
Tag :
  March 20, 2018, 10:34 am
इमोशनल फ्रीडम टेकनीक (Emotional Freedom Technique) सामान्य मनो-चिकित्सा से अलग एक नई जादुई उपचार पद्धति है जो हमारे शरीर की सूक्ष्म ऊर्जा प्रणाली में आई रुकावट को संतुलित करती है और हमारे शरीर तथा मन से नकारात्मक भावनाओं को निकाल देती है। जिससे हमें भावनात्मक और दैहिक विकारों से तुरं...
स्वास्थ्य -सेतु...
Tag :Life-Management
  November 8, 2017, 10:57 am
मनोहर श्याम जोषी की प्रसिद्ध कृति: पटकथा लेखन एक परिचय यह हिन्दी में पटकथा लेखन पर सर्वश्रेष्ठ कृति है। इसमें पटकथा के सभी अंगोे का विस्तृत उदारहण सहित वर्णन है। पटकथा लिखने से पूर्व इसको पढ़ना बहुत जरुरी है। इसमें फिल्म की पटकथा एवं टीवी धारावाहिको की पटकथा पर विस्...
स्वास्थ्य -सेतु...
Tag :Book Review
  November 7, 2017, 9:57 am
योगेश्वर कृष्ण आपकी स्थिति कृष्ण से बेहतर है! इसमें हॅसने की जरुरत नहीं है। इसके लिए श्री कृष्ण के जीवन से अपने जीवन की परिस्थिति की तुलना करने की जरुरत है। हमारे में से किसे का जन्म जेल में नहीे हुआ। जबकि योगेश्वर कृष्ण का जन्म जेल में हुआ था। उनके मां बाप दोनों राजा ह...
स्वास्थ्य -सेतु...
Tag :Life-Management
  November 3, 2017, 9:32 am
चोकर के लाभ गेहूं के छिलके को चोकर कहते हैं। आटे को छान कर चोकर को बाहर नहीं निकालना चाहिए l इसको नियमित  खाने के कई लाभ है: इसमें रेशे होने से पाचन में सहायक है,इससे कब्ज दूर होता हैl चोकर में जिसमें लौह, विटामिन बी आदि तत्व पाये जाते है जो की आपके शरीर में रक्त की मात्रा को...
स्वास्थ्य -सेतु...
Tag :Life-Management
  October 31, 2017, 10:39 am
जैसेजैसे सामान्य भोज्यपदार्थों के विशिष्ट गुण पता लगने लगे हैं, वैसेवैसे कुछ विशेषज्ञ उन्हें सुपर की श्रेणी में रखने लगे हैं. इन पदार्थों को सुपरफूड इसलिए कहा जाने लगा है, क्योंकि जरूरी पोषक तत्त्वों के अलावा उन में ऐंटीऔक्सीडैंट होते हैं, जो हमें जवां बनाए रखते हैं ...
स्वास्थ्य -सेतु...
Tag :Articles
  October 30, 2017, 10:06 am
हम  चाहे लाख दिये और मोमबत्तीया जलाऐ इनसे हमारे  जीवन में रोशनी होने वाली नही। असली दिवाली तो उस दिन ही समझना जिस दिन हमारे भीतर का दिया जले। उससे पहले तो सब अंधकार ही है । और राम के घर लौटने से हमारा  क्या लेना देना, बात तो उस दिन बनेगी जब हम अपने भीतर लौटोगे तभी  होगी असल...
स्वास्थ्य -सेतु...
Tag :Life-Management
  October 19, 2017, 7:57 pm
सम्मेद शिखर की यात्रा पर जो पेय  हमें ऊंचाई पर थकान उतारने  कोठी की तरफ से मिलता है,यह रेसिपी उसी से ली हुई हैl वास्तव में यह एक आयुर्वेदिक पेय है जो निम्न मसालों से तैयार करते है । इसके सेवन से सभी प्रकार की थकान तत्काल मिट जाती है । एक पाव हर्बल पेय बनाने हेतु निम्न मात्र...
स्वास्थ्य -सेतु...
Tag :Articles
  October 14, 2017, 1:04 pm
शक्कर एक तरह का जहर है जो कि मूख्यतः मोटापे, हृदयरोग,सभी तरह के दर्द व कैंसर का कारण है । भारतीय मनीषा ने भी इसे सफेद जहर बताया है । डाॅ0 मेराकोला ने इसके विरूद्ध बहुत कुछ लिखा है । डाॅ0 बिल मिसनर ने इसे प्राणघातक शक्कर-चम्मच से आत्महत्या बताया है । डाॅ0 लस्टींग ने अपनी वेब ...
स्वास्थ्य -सेतु...
Tag :Articles
  October 11, 2017, 3:46 pm
त्रिफला के सेवन से अपने शरीर का कायाकल्प कर जीवन भर स्वस्थ रहा जा सकता है | इस त्रिफला चूर्ण जिसे आयुर्वेद रसायन भी मानता है के सेवेन से  शरीर का कायाकल्प किया जा सकता है | बस जरुरत है तो इसके नियमित सेवन करने की | क्योंकि त्रिफला का 12 वर्षों तक नियमित सेवन हमारे  शरीर का का...
स्वास्थ्य -सेतु...
Tag :Articles
  October 10, 2017, 9:09 am
प्राण मुद्रा को प्राणशक्ति का केंद्र माना जाता है और इसको करने से प्राणशक्ति बढ़ती है । इस मुद्रा में छोटी अँगुली (कनिष्ठा) और अनामिका (सूर्य अँगुली) दोनों को अँगूठे से स्पर्श कराना होता है । और बाकी छूट गई अँगुलियों को सीधा रखने से अंग्रेजी का ‘वी’बन जाता हैl प्राण मुद...
स्वास्थ्य -सेतु...
Tag :Life-Management
  October 8, 2017, 7:46 pm
  सभी दवाओं के साईड इफेक्ट होते हैlउच्च रक्तचाप की गोली निरंतर लेते रहने से घातक  दुष्प्रभाव होते हैl प्रत्येक रोगी में साईंड इफेक्ट अलग अलग होते हैl एक ही दवा के प्रभाव भिन्न भिन्न रोगी में  अलग अलग  हो सकते हैl उच्च रक्तचाप की गोली के लेते रहने से जी घबराना ,उलटी होना , ...
स्वास्थ्य -सेतु...
Tag :Articles
  October 6, 2017, 10:30 am
हार्ट अटैक आ जाने पर डॉक्टर की मदद मिलने तक अपान वायु मुद्रा लगा कर रखेंl यह ह्रदय को स्वस्थ रखता हैl विधि: अंगूठे के पास वाली पहली उंगली अर्थात तर्जनी को अंगूठे के मूल में लगाकर मध्यमा और अनामिका को मिलाकर उनके शीर्ष भाग को अंगूठे के शीर्ष भाग से स्पर्श कराएं। सबसे छोटी...
स्वास्थ्य -सेतु...
Tag :Life-Management
  October 5, 2017, 8:49 am
एलोपैथि में थाइरोइड ग्रंथी ठीक  नहीं की जाती है बल्कि इस रोग को  मैनेज किया जाता हैl रोग के साथ जीना सिखाया  जाता हैl स्वयं थायराइड ग्रंथी नियमित तैयार हार्मोन मिलते रहने से निष्क्रिय हो जाती हैl थायराइड ग्रंथी एक महत्पूर्ण यदि उचित मात्रा में गोली न ले तो थकान,सरदर्द ,च...
स्वास्थ्य -सेतु...
Tag :Bloging
  October 4, 2017, 9:23 am
जो लोग मोटापा और मधुमेह जैसी समस्याओ से ग्रसित है उनके लिए यह योग मुद्रा बेहद ही फायदेमंद है| विधि:- सूर्य मुद्रा करने के लिए सबसे पहले तो सिद्धासन,पदमासन या सुखासन में बैठ जाएँ । अब दोनों हाँथ घुटनों पर रख लें और हथेलियाँ उपर की तरफ रहें| अब सबसे पहले अनामिका उंगली को मो...
स्वास्थ्य -सेतु...
Tag :Articles
  October 3, 2017, 9:46 am
संस्कृत में उज्जायी का अर्थ है विजयी-‘उज्जी’ अर्थात जीतना। विधि: इसके लिए कमर को सीधा रखते हुए आराम से बैठ जाएंए अब अपने ध्यान को सांसों पर ले आएं और सांस की गति पर ध्यान लाते हुएए अधिक से अधिक सांस बाहर निकाल दें। अब गले की मांशपेशियों को टाइट कर लें और धीरे.धीरे नाक से ...
स्वास्थ्य -सेतु...
Tag :Articles
  October 2, 2017, 11:13 pm
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3774) कुल पोस्ट (177020)