POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Blog: माणिकनामा

Blogger: Manik
(''अदाएं'' शीर्षक की क्षणिकाएं) (1)तुम अच्छी लगती होबातों के बीचइशारे करतीअपनी दोनों आँखों सहितपसंद आती हो मुझेअनौखी आँख मारने की अदासहिततब और भी फबती होजबआधी जीभ को होंठो से थोड़ी सी बाहरनिकालते हुएअचानक कसमसाती देह सहितबतियाती हो मुझसेदेर तलक अच्छी लगती ह... Read more
clicks 116 View   Vote 0 Like   12:41pm 13 Jul 2012 #क्षणिकाएं
Blogger: Manik
उमेश सेठ बनारस में सालों से यानिकि जन्म से ही रह रहे उमेश सेठ ने दुनिया को देखने की नज़र बनारस में ही पैदा की है।यहीं की आबोहवा में रहते रेलवे की नौकरी और स्पिक मैके जैसे मंच के ज़रिये संस्कृति की सेवा करते हुए कई लाज़वाब अनुभव पाए हैं।उनसे सुरत्कल में हुए स्पिक मैके  ... Read more
clicks 108 View   Vote 0 Like   3:51pm 29 Jun 2012 #My Audio Work
Blogger: Manik
प्यार(1)भरपूर मेहनत के बाद भीवो खफा ही रहीआखिर तकमनाने में लगे रहे जिसेसुबह से शामआखिर बीत गयी खालीआज की दुपहरी भीइसी ख़याल मेंकि मान जायेगीबच्ची ही तो (2)देर तक दिलासा देकरभला बैठूं कब तकआसरे किसी केमूंह किये डगर पर टिकाये नज़र मेरीतुम्ही बताओकब तक ठहरूं(3)गुज़रता है ... Read more
clicks 103 View   Vote 0 Like   7:44am 24 Jun 2012 #क्षणिकाएं
Blogger: Manik
(1)ये वही चाँद है ना जो देर तक रुका हुआ सालगता रहा आकाश मेंएकटक ठहरा हुआएक ठौर चिपका हुआमेरी ढ़ाई साला बेटीके चन्दा मामा-सा(2)पूर्णिमा तुम्हेंपूरी गोलाई के साथआकाश में तकने कोगुज़ारे हैं पूरे तीस दिन मैंनेतब कहीं मिलीअब जाकर तुमअल्हड़ और धुलीहुई चांदनी सहित (3)और कहो कि... Read more
clicks 90 View   Vote 0 Like   5:22pm 6 Apr 2012 #Poems
Blogger: Manik
ये दुपहरी धूप ये दुपहरी धूपअब तेज़ और तीखी हैहाथ-पाँव और बदन सहितजलाने को सबकुछ आमादा खड़ी है मानोजलाना ही सीखी हैये दुपहरी धूपदरख़्त क्या,कोंपलें क्याचलती राहें तक मौन हुईआखिर उड़ गया भाप बन तमाम पानी,पोखर क्याछत आँगन सब और बही ये दुपहरी धूपघोंसलों में जा घुसे है... Read more
clicks 91 View   Vote 0 Like   2:35pm 27 Feb 2012 #Poems
Blogger: Manik
अधूरी कवितायेँ अलिखी,अधलिखीघुम चुकी,उड़ चुकीकवितायेँ बहुत सारीलौटा दी गयीफिर से मुझ तक आईऐसी तमाम रचनाएंकहलाई अधूरी कवितायेँअटकी रही मन में औरगले तक आ लौट गयीढ़लते-ढ़लते फूट गयीकुछ आखिर में रूठ गयीआ न सकी कागज़ परऐसी तमाम रचनाएंकहलाई अधूरी कवितायेँकभी झुकी नहीं ... Read more
clicks 84 View   Vote 0 Like   2:15pm 27 Feb 2012 #Poems
Blogger: Manik
माणिक और आकाशवाणी ... Read more
clicks 95 View   Vote 0 Like   3:35pm 29 Jan 2012 #
Blogger: Manik
मेरी हाल की एक कविता जिसका आकाशवाणी चित्तौड़ से प्रसारण हुआ यहाँ फोटो पर  क्लिक कर सुनिएगा.... Read more
clicks 83 View   Vote 0 Like   4:13am 19 Jan 2012 #My Audio Work
Blogger: Manik
उम्र गुज़ारी यहीं बरसोंजहां लिखा भी,पढ़ा भीलगातार बिना रुके-थकेइसी शहर के आँगन मेंफितूर पालकर कई सारेगड़ा भी और खपा भीनतीजतन हुआ क्याझुका भी और उड़ा भीइसी शहर के आँगन मेंबना भी,बिगड़ा भीफला भी फूला भीऔर फिर लड़ा भीइसी शहर के आँगन मेंमैं गाँवड़ेल था शुरू मेंवक्त तो ल... Read more
clicks 84 View   Vote 0 Like   4:31am 14 Jan 2012 #कविता
[ Prev Page ] [ Next Page ]


Members Login

Email ID:
Password:
        New User? SIGN UP
  Forget Password? Click here!
Share:
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3938) कुल पोस्ट (195028)