Hamarivani.com

माणिकनामा

(''अदाएं'' शीर्षक की क्षणिकाएं) (1)तुम अच्छी लगती होबातों के बीचइशारे करतीअपनी दोनों आँखों सहितपसंद आती हो मुझेअनौखी आँख मारने की अदासहिततब और भी फबती होजबआधी जीभ को होंठो से थोड़ी सी बाहरनिकालते हुएअचानक कसमसाती देह सहितबतियाती हो मुझसेदेर तलक अच्छी लगती ह...
माणिकनामा...
Tag :क्षणिकाएं
  July 13, 2012, 6:11 pm
उमेश सेठ बनारस में सालों से यानिकि जन्म से ही रह रहे उमेश सेठ ने दुनिया को देखने की नज़र बनारस में ही पैदा की है।यहीं की आबोहवा में रहते रेलवे की नौकरी और स्पिक मैके जैसे मंच के ज़रिये संस्कृति की सेवा करते हुए कई लाज़वाब अनुभव पाए हैं।उनसे सुरत्कल में हुए स्पिक मैके  ...
माणिकनामा...
Tag :My Audio Work
  June 29, 2012, 9:21 pm
...
माणिकनामा...
Tag :My Audio Work
  June 29, 2012, 9:10 pm
प्यार(1)भरपूर मेहनत के बाद भीवो खफा ही रहीआखिर तकमनाने में लगे रहे जिसेसुबह से शामआखिर बीत गयी खालीआज की दुपहरी भीइसी ख़याल मेंकि मान जायेगीबच्ची ही तो (2)देर तक दिलासा देकरभला बैठूं कब तकआसरे किसी केमूंह किये डगर पर टिकाये नज़र मेरीतुम्ही बताओकब तक ठहरूं(3)गुज़रता है ...
माणिकनामा...
Tag :क्षणिकाएं
  June 24, 2012, 1:14 pm
08-04-2012...
माणिकनामा...
Tag :AIR
  April 8, 2012, 7:51 pm
(1)ये वही चाँद है ना जो देर तक रुका हुआ सालगता रहा आकाश मेंएकटक ठहरा हुआएक ठौर चिपका हुआमेरी ढ़ाई साला बेटीके चन्दा मामा-सा(2)पूर्णिमा तुम्हेंपूरी गोलाई के साथआकाश में तकने कोगुज़ारे हैं पूरे तीस दिन मैंनेतब कहीं मिलीअब जाकर तुमअल्हड़ और धुलीहुई चांदनी सहित (3)और कहो कि...
माणिकनामा...
Tag :Poems
  April 6, 2012, 10:52 pm
...
माणिकनामा...
Tag :फोटो पोस्टर
  March 8, 2012, 8:37 pm
ये दुपहरी धूप ये दुपहरी धूपअब तेज़ और तीखी हैहाथ-पाँव और बदन सहितजलाने को सबकुछ आमादा खड़ी है मानोजलाना ही सीखी हैये दुपहरी धूपदरख़्त क्या,कोंपलें क्याचलती राहें तक मौन हुईआखिर उड़ गया भाप बन तमाम पानी,पोखर क्याछत आँगन सब और बही ये दुपहरी धूपघोंसलों में जा घुसे है...
माणिकनामा...
Tag :Poems
  February 27, 2012, 8:05 pm
अधूरी कवितायेँ अलिखी,अधलिखीघुम चुकी,उड़ चुकीकवितायेँ बहुत सारीलौटा दी गयीफिर से मुझ तक आईऐसी तमाम रचनाएंकहलाई अधूरी कवितायेँअटकी रही मन में औरगले तक आ लौट गयीढ़लते-ढ़लते फूट गयीकुछ आखिर में रूठ गयीआ न सकी कागज़ परऐसी तमाम रचनाएंकहलाई अधूरी कवितायेँकभी झुकी नहीं ...
माणिकनामा...
Tag :Poems
  February 27, 2012, 7:45 pm
माणिक और आकाशवाणी ...
माणिकनामा...
Tag :
  January 29, 2012, 9:05 pm
मेरी हाल की एक कविता जिसका आकाशवाणी चित्तौड़ से प्रसारण हुआ यहाँ फोटो पर  क्लिक कर सुनिएगा....
माणिकनामा...
Tag :My Audio Work
  January 19, 2012, 9:43 am
उम्र गुज़ारी यहीं बरसोंजहां लिखा भी,पढ़ा भीलगातार बिना रुके-थकेइसी शहर के आँगन मेंफितूर पालकर कई सारेगड़ा भी और खपा भीनतीजतन हुआ क्याझुका भी और उड़ा भीइसी शहर के आँगन मेंबना भी,बिगड़ा भीफला भी फूला भीऔर फिर लड़ा भीइसी शहर के आँगन मेंमैं गाँवड़ेल था शुरू मेंवक्त तो ल...
माणिकनामा...
Tag :कविता
  January 14, 2012, 10:01 am
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3652) कुल पोस्ट (163608)