Hamarivani.com

Kaviji

जनता दो प्रकार की होती है एक वो जो वोट डालती है और दूसरी वो जो वोट नहीं देती है जो जनता वोट देती है वो आमतौर पर गरीब, पिछड़ी हुई, नारकीय/ बदहाली में रहने वाली या गाँव या झोपड़ पट्टी में में रहने वाली, अनपढ़ या थोडा बहुत पढ़ी लिखी हुई जो कभी कभी थोडा बहुत लालच या वादों के लच्छों...
Kaviji...
Tag :
  May 5, 2012, 12:23 pm
कुछ रब का अहसान रहा मुझ पर कुछ तेरी रहबरी का सहारा मिला वर्ना जख्म के समंदर में डूबकर भी भला कोई जिन्दा रहा है कभी? लोगो ने तो बहुत कुछ किया पल पल रंग बदल बदल छाया को भी न बख्शा कभी जहाँ भी जैसी भी मिला मौका करतूत कोई रहने न दी पर उसकी मेहर और तेरा सिहराना जिन्दगी की ढाल बना ...
Kaviji...
Tag :
  May 4, 2012, 4:36 pm
बस सितम दर सितम सहे जा रहा हूँ अपनों से दूरी बेगानों से शिकवा मिली घाव घेहरे होते रहे और दर्द से चीख उठती रही मगर फिर भी हाथ में हल लिए अपने खेतों पे जा रहा हूँ मैं किसान हूँ,अपनी माटी की खुसबू और अपनी फसलों से मोहब्बत में जिन्दगी से जुगलबंदी कर रहा हूँ टाट पैबंद के कपडे ...
Kaviji...
Tag :
  May 3, 2012, 10:29 am
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3685) कुल पोस्ट (167857)