POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Blog: Gyan Gur

Blogger: Prveen kumar
सभी धर्म मुझे आशीर्वाद दे, सभी को उच्च विचार दे, माता पिता सब को प्यारे, बेटे बेटियां सब को प्यारी, सब चाहते है परिवार को, अपने परिवार के लिए कोई ईमानदार होके कमाई करता ह कोई बेईमान होके, कुछ धर्मो को बदनाम कर कुछ साइंस के नाम पे सब काम कर रहे है, अच्छी बात है, कोई नास्तिक है क... Read more
clicks 42 View   Vote 0 Like   10:37am 28 Aug 2018 #
Blogger: Prveen kumar
बदल जाना फितरत नहीं, बदला अक्सर वो करते है, जिनका रूतबा नहीं, हम तो आज भी यही कल भी ऐसे ही जियंगे, जिसको चलना है, चले में मिलादुंगा उस खुदा से, ये वादा है, वर्ना बीच राह छोड़ने के कई बहाने है, जो गिर जाय उसे बार बार उठा लेंगे कितना जब हम ही गिरने लगे तो छोड़ दो ऐसी महोबत ऐसे अपनो... Read more
clicks 42 View   Vote 0 Like   12:06am 27 Aug 2018 #
Blogger: Prveen kumar
कभी किसी का सहारा लेते है कभी किसी का, भगवान को बदनाम कर जेब भरना है, सभी अच्छी बुरी पार्टियों का, पर आम लोगों को चोट लग जाती है किसी का घर बिखर जता है, नास्तिकता का इतना पाठ मत दो लोगो को अपनी जेब तो भर ली दूसरे के जीने का सहारा तो छोड़ दो, दुख में भगवान ही सहारा है, बुराई मुझे ... Read more
clicks 40 View   Vote 0 Like   7:25am 26 Aug 2018 #
Blogger: Prveen kumar
जो समझ गया, वह अपने आप ही चलता रहता है, मार्ग दर्शन सवेम प्रभु करते है। दुनिया बनाई प्रभु ने सैनिक भी बनाया इस राह पे कोई ज्यादा ज्ञान प्रपात कर लेता है, प्रभु का रस्ता छोङ गुरु बन जाता है, कुछ इस से आगे जाते है, वह गुरु नहीं देवता बन जाते है, लोग उन्हें पूजते है, कहानियां बना... Read more
clicks 44 View   Vote 0 Like   7:05am 26 Aug 2018 #
Blogger: Prveen kumar
You have the power of God that I believe and people in your house believe that and other people do not believe because there is no such miracle with them and those who have been with them want to worship the miracle again. You may have realized the power of God and you will be a true person, then your things are being true and the good of the people is happening, but people living in ... Read more
clicks 46 View   Vote 0 Like   5:46am 10 Jul 2018 #
Blogger: Prveen kumar
दुःख दुश्मन नहीं। मित्र हैं। आप को अपने आप से मीलाता है। दुःख वह गुरु है जो आप को बताता है। आप कितने अज्ञानी है। आप हर वस्तु के लिए रोते है। आप उतना ही ज्ञान रखते हैं। जीतना आप समझते हे। सम्पूर्ण ज्ञान आप भी नहीं रखते। इस लिए दुःख आप को दुश्मन लगता है। आप ... Read more
clicks 40 View   Vote 0 Like   5:36am 10 Jul 2018 #
Blogger: Prveen kumar
दुःख आज के जमाने से समझै तो। एक गेम का लैवल पार करने से दुसरा लेवल मिलता हे। साथ ही पावर भी बड जाती है। इस तरह जो बुद्धिजीवी हौतै है। उन्हें वैसा ही जीवन मिलता है। एक  क्स्ट कै बाद और क्स्ट आते हैं। वह अपने क्स्ट समाप्त कर सकता है। वह अपनी अच्छाईयां इज्जत गूण को अपने जीवन ... Read more
clicks 48 View   Vote 0 Like   5:24am 10 Jul 2018 #
Blogger: Prveen kumar
ज्ञान गुर काल्पनिक बातो से परे है। ना ही साधु संत ग्रन्थ धर्म कहानी से प्रभावित है। जीवन मै एक राह पे चलते रहने से जो ज्ञान प्राप्त हुआ है।उसे बांटना है। ना की डॉक्टर मास्टर या ग्रन्थ का अध्ययन उपाधि से सम्मानित होना है। स्वार्थ से प्राप्त की गई शिक्षा स्वार्थ के लिए ... Read more
clicks 40 View   Vote 0 Like   5:21am 10 Jul 2018 #
Blogger: Prveen kumar
अपने ईश्वर की भक्ति जौ लोग करते हैं। वह भी पिछले कर्म के कार्ण प्राप्त होता है। कुछ इस भक्ति मै अन्धै हौ जाते हैं। अपनी भक्ति से होने वाला लाभ दुनिया मै बांटने लगते हैं। वह ये इच्छा रख लेते हैं। अछाई करते दुनिया का भला करते इस दुनिया से जाना चाहते हैं। ये इच्छा उनकी मरती ... Read more
clicks 40 View   Vote 0 Like   5:17am 10 Jul 2018 #
Blogger: Prveen kumar
*सुनि लछिमन सब निकट बोलाए। दया लागि हँसि तुरत छोडाए* दासनाद रावण  जब मरने लगता है तब लछमन को बुला ते है कहते है रावन कर दीजहु यह पाती। लछिमन बचन बाचु,।। लछमन मेरे पाप यहीं है तुम समझो और मेरा उदार करो सभय सिंधु गहि पद प्रभु केरे। छमहु नाथ सब अवगुन मेरे।। लछमन राम के पास यह... Read more
clicks 47 View   Vote 0 Like   8:03am 7 Jul 2018 #
Blogger: Prveen kumar
स्वार्थ है तभी इच्छा है इच्छा से ही प्राप्ती होती हैं।यै संसार मैं जब तक जीवन हैं स्वार्थ भी अपना मित्र रहैगा।इस मित्र को आप सत कर्म के लिए अपना रहे हे । या दुष्कर्म के लिए ।... Read more
clicks 45 View   Vote 0 Like   1:40am 4 Jul 2018 #
Blogger: Prveen kumar
जय श्री राम हनुमान जी के भगत जो अनुभव हुआ वह ज्ञान मेरे ही जेसे भगत के काम आ सके। इसी भावना सै यह ज्ञान आप के साथ बांटना चाहते हैं। मुझे हनुमान जी की भक्ति मेरे स्वार्थ से प्राप्त हुई है। बात है 12 साल पहले मेरा दर्द देख के मेरे जीजा जी ने। हनुमान चालीसा का पाठ करने को कहा... Read more
clicks 44 View   Vote 0 Like   12:40pm 3 Jul 2018 #गुरु हमे मिल चुका हे
Blogger: Prveen kumar
ना समझ अज्ञानी मेरे भाई। आज दिल दुखी हुआ एक हिन्दू ने मुसलमान को बुरा कहा ये लेख भी उस भाई जैसे ओर नौजवान के लिए । मुसलमान ने इतना बुरा कहा के हिन्दू ने हद कर दी लोग आए जय श्री राम कहते गए ओर मुसलमान को बुरा कहा मजा आगया हिन्दू धर्म ऊंचा है जय श्री राधे । मुसलमान भी हिन्दू क... Read more
clicks 43 View   Vote 0 Like   12:33pm 3 Jul 2018 #
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Publish Post