POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Blog: Gyansagar ( ज्ञानसागर ) - भक्ति व ज्ञान का अद्धभुत संगम

Blogger: Saransh Sagar
पढ़ ले भाई, अब वक़्त हो गयारोयेगा फिर नही तो कहेगा ये क्यों,क्या और कब हो गया ?बन्द कर दे ये आलसपना,नही तो हो जायेगा मजबूरनिकल जायेगी सारी तेरी हेकड़ी और रोयेगा भरपूरकितने सपने संजो के तुझ को तेरे अभिभावक पढ़ातेउन सपनो को तुम अपने अय्याशियों से यूँ ही कुचलते जातेयाद आएगी वो ... Read more
clicks 0 View   Vote 0 Like   11:50am 30 Sep 2019 #saranshsagar999
Blogger: Saransh Sagar
नाम - कुशमा गोसाईं.., 10 साल का बेटा - रामू गोसाईं..,चारों थैलों का वजन 105 किलो.. आज दोपहर करीब 3:00 बजे जब मैं "गुलधर"रेलवे स्टेशन पर उतरा तो सहसा कानों में एक आवाज सुनाई दी--"भैया ई थैला उठवा दीजिए तो "।  पीछे मुड़कर देखा तो लगभग 30 साल की एक महिला खड़ी थी , मैंने चुपचाप अपना बैग पीठ पर ... Read more
clicks 1 View   Vote 0 Like   11:47am 30 Sep 2019 #सच्ची घटना
Blogger: Saransh Sagar
"मीनू ! इधर तो आओ जरा ."राकेश ने पुकारा !"सर! आप मुझे मीनल ही कहा करें ! मीनू थोड़ा सा अजीब लगता है ""ओ .के ."ऑफिस के लोग घरों की तरफ निकल रहे थे छुट्टी के बाद ,मगर निगाहें मीनल के केबिन पर टिकी हुईं थीं । कुछ दिन से अक्सर शाम को ही मीनू को बॉस बुलाते थे ।"जी, सर ! कोई जरुरी काम है ?"म... Read more
clicks 0 View   Vote 0 Like   11:25am 30 Sep 2019 #प्रेरणादायक कहानी
Blogger: Saransh Sagar
एक शिक्षाप्रद कहानी - रोटी और बेटी से ही समाज में इज्जत व् पहचान बनती है !! फ़ोन की घंटी तो सुनी मगर रचना आलस की वजह से रजाई में ही लेटी रही। उसके पति राहुल को आखिर उठना ही पड़ा। दूसरे कमरे में पड़े फ़ोन की घंटी बजती ही जा रही थी।  इतनी सुबह कौन हो सकता है जो सोने भी नह... Read more
clicks 0 View   Vote 0 Like   11:22am 30 Sep 2019 #शिक्षाप्रद कहानियां
Blogger: Saransh Sagar
आओ स्वच्छ करें निर्मल भारतनदी-नालों में अविरल जल की फिर से धार बहे सुरमय,गली-बगीचे मुग्ध दिखें और पुष्प खिलें सुंदर तनमय,हर नारी विदुषी हो और कर्मठ हो हर घर बालक,आओ स्वच्छ करें निर्मल भारत... आओ स्वच्छ करें निर्मल भारत... हो आचरण हमारे ऐसे विश्व को कुछ सिखला जाऊं,निज मा... Read more
clicks 0 View   Vote 0 Like   11:21am 30 Sep 2019 #प्रशांत सिंह चौहान
Blogger: Saransh Sagar
॥ दोहा ॥ श्री गणपति गुरुपद कमल , प्रेम सहित सिरनाय । नवग्रह चालीसा कहत , शारद होत सहाय । । जय जय रवि शशि सोम बुध , जय गुरु भृगु शनि राज । जयति राहु अरु केतु ग्रह , करहु अनुग्रह आज ।  ॥ चौपाई ॥ ।। श्री सूर्य स्तुति ।। प्रथमहि रवि कहँ नावों माथा , करहु कृपा जनि जानि ... Read more
clicks 0 View   Vote 0 Like   7:33pm 29 Sep 2019 #saransh sagar
Blogger: Saransh Sagar
। । दोहा । । कनक बदन कुण्डल मकर , मुक्ता माला अङ्ग । पद्मासन स्थित ध्याइये , शंख चक्र के सङ्ग  । ।॥ चौपाई ॥ जय सविता जय जयति दिवाकर , सहस्रांशु ! सप्ताश्व तिमिरहर । । भानु ! पतंग ! मरीची ! भास्कर ! सविता ! हंस सुनूर विभाकर । विवस्वान ! आदित्य ! विकर्तन , मार्तण्ड हरिरूप व... Read more
clicks 0 View   Vote 0 Like   7:33pm 29 Sep 2019 #saransh sagar
Blogger: Saransh Sagar
 ॥ दोहा ॥ विश्वनाथ को सुमिर मन , धर गणेश का ध्यान । भैरव चालीसा रचूं , कृपा करहु भगवान । । बटुकनाथ भैरव भजू , श्री काली के लाल । । छीतरमल पर कर कृपा , काशी के कुतवाल । ॥ चौपाई ॥ जय जय श्रीकाली के लाला , रहो दास पर सदा दयाला । भैरव भीषण भीम कपाली , क्रोधवन्त लोचन में ... Read more
clicks 1 View   Vote 0 Like   7:33pm 29 Sep 2019 #saransh sagar
Blogger: Saransh Sagar
ज्योतिष, ब्रह्माण्ड के गूढ़ रहस्यों का वैज्ञानिक विवेचन है, जो हर प्राणी, पदार्थ, तत्व तथा वस्तु को निश्चित रूप से प्रभावित करता है। चूँकि हम जानते है कि संपूर्ण ब्रह्माण्ड गोल है, जिसे अंशात्मक रूप में देखा जाए तो यह 360 डिग्री का एक वृत्त है। इसे ही 12 भागों में विभक्त कर ... Read more
clicks 22 View   Vote 0 Like   11:13pm 11 Jul 2019 #gyansagar999
Blogger: Saransh Sagar
बड़े अफ़सोस के साथ कहना पड़ रहा है कि भारत में तमाम ऐसे दृश्य देखने को मिल जायेंगे लेकिन धर्म की आड़ लेकर के ऐसे फर्जी सूफी ,बाबा वाले लोग हमेशा जनता को उल्लू बनाते रहेंगे !! मीडिया वाले शुरू से ही हमारे हिन्दू धर्म के बाबा व् संतो के स्कैंडल को ही दिखाते रहते है जैसे कि सारे फ... Read more
clicks 16 View   Vote 0 Like   4:06pm 5 Jul 2019 #सामाजिक चिंतन
Blogger: Saransh Sagar
रोजमर्रा के जीवन में हम तमाम लोगो से मिलते है और शायद उनको कभी याद रखते है तो कभी भूल जाते है लेकिन कुछ ऐसे भी लोग होते है जिन्हें पहली नजर में देखते ही प्यार हो जाता है ! जी हाँ , ऐसे श्रेणी वाले व्यक्ति में मै अपना नाम शामिल करूँगा !! और मेरे साथ लोगो का भी यही नजरिया देखने क... Read more
clicks 18 View   Vote 0 Like   9:02pm 4 Jul 2019 #Sandeep Marwah
Blogger: Saransh Sagar
 अयि गिरिनन्दिनि नन्दितमेदिनि विश्वविनोदिनि नन्दिनुतेगिरिवरविन्ध्यशिरोऽधिनिवासिनि विष्णुविलासिनि जिष्णुनुते ।भगवति हे शितिकण्ठकुटुम्बिनि भूरिकुटुम्बिनि भूरिकृतेजय जय हे महिषासुरमर्दिनि रम्यकपर्दिनि शैलसुते ॥ १ ॥सुरवरवर्षिणि दुर्धरधर्षिणि दुर्मुखम... Read more
clicks 17 View   Vote 0 Like   6:17pm 29 Jun 2019 #saransh sagar
Blogger: Saransh Sagar
एक साधु वर्षा के जल में प्रेम और मस्ती से भरा चला जा रहा था कि इस साधु ने एक मिठाई की दुकान को देखा जहां एक कढ़ाई में गरम दूध उबला जा रहा था, तो मौसम के हिसाब से दूसरी कढ़ाई में गरमा गरम जलेबियां तैयार हो रही थी।साधु कुछ क्षणों के लिए वहाँ रुक गया। शायद भूख का एहसास हो रहा था... Read more
clicks 14 View   Vote 0 Like   3:22pm 26 Jun 2019 #प्रेरणादायक कहानी
Blogger: Saransh Sagar
जैसा की लेख का विषय है - प्यास और भूख सबको लगती है ! उससे हम और आप समझ सकते है कि कैसा लगता होगा जब आपको भूख लगे और आप अपनी बात सामने वालो को समझा भी न सके ! मेरे रिश्तेदार में ही एक मेरी बहन है जो दिव्यांग है और उसके कष्ट मुझे सहन नही होते लेकिन उसकी पीड़ा को मैंने भी महसूस किया ... Read more
clicks 14 View   Vote 0 Like   4:04am 9 Jun 2019 #saransh sagar
Blogger: Saransh Sagar
हिंदू विवाहित महिलाएं जिनके पति जीवित हैं, अपने सास-ससुर एवं पति की लम्बी उम्र के लिए वट सावित्री व्रत को मानतीं हैं। महाराष्ट्र, गुजरात और दक्षिणी भारतीय राज्यों में विवाहित महिलाएं उत्तर भारतीयों की तुलना में 15 दिन बाद समान रीति से वट सावित्री व्रत मानतीं हैं। सावि... Read more
clicks 13 View   Vote 0 Like   8:52am 6 Jun 2019 #saransh sagar
Blogger: Saransh Sagar
बहुत गर्मी हो रही है , आज हर कोई यही वाक्य बोले जा रहा है और ऊपर वाले पर व्यंग्य और मजाक बनाकर तसल्ली दे रहा है पर कभी आस पास उनको गर्मी बढाने वाले तत्व पर बोलते हुए नही सुना गया !! शुरू से मनुष्य अपने लाभ के लिये प्रकृति का दोहन अंधाधुंध करता रहा और आज भी चंद सुकून के लिये प्... Read more
clicks 15 View   Vote 0 Like   9:41am 2 Jun 2019 #saranshsagar999
Blogger: Saransh Sagar
परिचय :-  हनुमानजी बल बुद्धि और विद्या से संपन्न है पर उनकी एक और विशेषता थी भोजन। हनुमानजी को भूख बहुत लगती थी। और भूख उनसे सहन नहीं होता था। रामायण काल में कई जगहों इसका प्रमाण मिलता है यथा:- बाल्यावस्था में सूर्य को फल समझ कर खा जाना, भूख के कारण अशोक वाटिका को उजाड़ देन... Read more
clicks 19 View   Vote 0 Like   10:41am 21 May 2019 #saransh sagar
Blogger: Saransh Sagar
(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); बचपन में प्रायः आपने बच्चो को बंदूक और गोली वाले खेल खेलते देखा होगा और शायद गुलेल का नाम भी आपने सुना ही होगा !! पहले कंचे व् तमाम गीली डंडा जैसे खेल से भी आप अच्छे से रूबरू और वाकिफ हो चुके होंगे लेकिन उनमे सबसे खतरनाक जो है वो है गुलेल का शरारत भरा उ... Read more
clicks 14 View   Vote 0 Like   8:35am 10 May 2019 #saransh sagar
Blogger: Saransh Sagar
सत्य है ! सत्य है ! सत्य है !बोलो सत्य है ! सत्य है ! सत्य है !1) हाँ ये भीड़ में जो है नेता ! और बाते है इनके गंदेहाँ बन जा क्रांतिकारी और बंद कर दे तू इनके धंधे !!बंदे इनके है आगे पीछे जो खुद कभी कुछ बन न पायेबाते है इनकी झूठी और चाटुकारिता ये करते जाये !!बस झूठे वादे ये कर जाये , मुद्द... Read more
clicks 13 View   Vote 0 Like   8:37pm 11 Apr 2019 #rajivdixit
Blogger: Saransh Sagar
 मेरे सपनों का भारत -एक नजरभारत खुद में एक समृद्ध सांस्कृतिक विरासत है। विभिन्न जातियों और धर्मों के लोग इस देश में शांति से रहते हैं। हालांकि ऐसे लोगों के कुछ समूह हैं जो अपने निहित स्वार्थों को पूरा करने के लिए लोगों को भड़काने की कोशिश करते हैं जिससे देश के शांति म... Read more
clicks 12 View   Vote 0 Like   6:46pm 25 Feb 2019 #जीवन दर्शन
Blogger: Saransh Sagar
ईश्वर सद्गुणों के संग्रह है ! संग्रह को अपनाया ही नही तो ईश्वर खुश नही होने वाले !! न घंटा बजाने से न कीर्तन करने से और न ही शंख बजाने से ! ये सब निजी संतुष्टि के उदाहरण मात्र है जिनसे एक निश्चित समय के लिये मानसिक और शारीरिक लाभ जरूर मिलता है पर जीवन को सन्मार्ग और हंसी खुशी... Read more
clicks 15 View   Vote 0 Like   3:49pm 13 Feb 2019 #जीवन दर्शन
Blogger: Saransh Sagar
सरस्वती वंदना -  हे शारदे माँ , हे शारदे माँहे शारदे माँ, हे शारदे माँ,अज्ञानता से हमें तार दे माँतू स्वर की देवी ये संगीत तुझ से,हर शब्द तेरा है हर गीत तुझ से,हम है अकेले, हम है अधूरे,तेरी शरण हम हमें प्यार दे माँहे शारदे माँ, हे शारदे माँ...अज्ञानता से हमें तार दे माँमुनि... Read more
clicks 15 View   Vote 0 Like   8:42am 8 Feb 2019 #धर्म-अध्यात्म
Blogger: Saransh Sagar
युवा शक्ति बढ़ युवा तू नेंक रास्ते पर, अभी कुछ करना काम है !भर युवा शक्ति तू मन में क्योंकि करना अब नया संग्राम है !!विश्वास की नगरी में सच्चे कर्म की, ये युवा की पहचान है !रचना नया इतिहास है हम सबको फिर कर्मों का ही गुणगान है !!अविराम निश्चय बढ़ने पर हमको मिलनी रशीली शाम है !ब... Read more
clicks 19 View   Vote 0 Like   4:27pm 5 Feb 2019 #प्रशांत सिंह चौहान
Blogger: Saransh Sagar
व्यस्त दिनचर्या में हम और आप कहीं न कहीं मनोरंजन का साधन खोज ही लेते है तो भला बच्चे इस चीज में कैसे पीछे हो ?? आज हम आपको बताने जा रहे है कुछ ऐसे धारावाहिक के बारे में जो काफी लोकप्रिय है और काफी समय से प्रसारित हो रहे है पर इन धारावाहिक का बच्चो और किशोरों पर प्रभाव के परि... Read more
clicks 24 View   Vote 0 Like   6:37am 29 Jan 2019 #सामाजिक चिंतन
Blogger: Saransh Sagar
संघर्ष ही सफलता की गाड़ी में गति देने का काम करता है ! अनुभव यही कहता है कि जीवन मे प्रत्येक घटना का अंत मे आत्मचिंतन करके सकारात्मक मंथन निकाला जा सकता है ! निर्भर ये करता है कि आप मंथन में क्या ढूंढना चाहते है !!जीवन में ठहराव,संतुष्टि,आत्मशांति तब आपको मिलती है जब आपको वि... Read more
clicks 14 View   Vote 0 Like   5:24am 29 Jan 2019 #gyansagar999
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Publish Post