POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Blog: Nazariya Now

Blogger: Shahab Khan
इंसान ने अपने जीवन की संघर्षपूर्ण यात्रा की शुरुआत आज से लगभग 2,50,000 साल पहले की थी। उसने इस दौरान धरती पर हो रही अद्भुत गतिमान परिघटनाओं को समझा, उनमें से कुछ को अपने काबू में करना सीखा है। समुद्री यात्राओं से लेकर अन्तरिक्ष तक में कदम रखे। विश्व के अपने संवेदनों द्वार... Read more
clicks 116 View   Vote 0 Like   8:02pm 8 Jun 2018 #
Blogger: Shahab Khan
कॉमिक्स थ्योरी Ghosts of India - Horror Comics Anthology का पहला इशू दिल्ली में Indie Comix  Fest में रिलीज़ किया गया है। कॉमिक्स थ्योरी  में भारतीय भूत-प्रेत की कहानियां को कॉमिक्स के रूप में प्रस्तुत किया जा रहा है।  कॉमिक्स थ्योरी Ghosts of India - Horror Comics Anthology के फाउंडर शम्भू नाथ महतो जी हैं।  कॉमिक्स थ्यो... Read more
clicks 112 View   Vote 0 Like   9:28am 4 Jun 2018 #comics
Blogger: Shahab Khan
भारतीय कॉमिक्स जगत  में  स्व. श्री प्राण कुमार शर्मा जी का नाम पूरे सम्मान के साथ लिया जाता है। प्राण जी के बनाये कॉमिक्स कैरेक्टर्स आज भी लोगों के दिलों में बसे हुए हैं। प्राण जी के बनाये कॉमिक्स कैरेक्टर्स कोई सुपरहीरो नहीं थे वो पूरी तरह से आम लोगों की तरह दिखने ... Read more
clicks 127 View   Vote 0 Like   6:18pm 1 Jun 2018 #comics
Blogger: Shahab Khan
31 मई का दिन पूरी दुनिया में विश्व तंबाकू निषेध दिवस के रूप में मनाया जाता है।  तम्बाकू एक धीमा जहर है जो व्यक्ति को धीरे धीरे करके मौत के मुँह मे धकेलता रहता है। लोग जाने अनजाने मे या सिर्फ शौक में तम्बाकू उत्पादों का सेवन करते रहते है, धीरे धीरे तम्बाकू का शौक लत मेँ ब... Read more
clicks 187 View   Vote 0 Like   7:12pm 29 May 2018 #
Blogger: Shahab Khan
मैंने जाना अकरम ‘इलाहाबादी’ एम.एल. पाण्डेय तथा तीरथराम ‘फीरोजपुरी’उस दौर के लेखकों में अकरम ‘इलाहाबादी’ , एमएल, पाडेय, तीरथराम ‘फीरोजपुरी’ पूर्व में मैं लिख न सका; भूलने जैसी बात नहीं, अनभिज्ञता थी।अकरम ‘इलाहाबादी’ का नाम हल्का-फुल्का तब जेहन में मेरे भी तैरा। नाॅव... Read more
clicks 110 View   Vote 0 Like   6:32pm 28 May 2018 #
Blogger: Shahab Khan
मीडिया को लोकतंत्र का चौथा स्तम्भ माना जाता है।  देश और समाज के निर्माण में मीडिया की भूमिका बहुत महत्वपूर्ण होती है। मीडिया (इलेक्ट्रॉनिक एवं प्रिंट)  का काम सिर्फ जनता तक सही और निष्पक्ष तक ख़बरें/सूचनायें पहुंचना ही नहीं हैं बल्कि इसके साथ समाज को एक सही दिशा दे... Read more
clicks 102 View   Vote 0 Like   7:09pm 27 May 2018 #
Blogger: Shahab Khan
विलक्षणता की अगली झलकपहली सिटिंग 9 से 12 के बीच सोलह पेज तैयार हुए यानि एक फार्म। सात फार्म के छपने वाले नाॅवल का 1/7 भाग पहली सिटिंग में। भोजनावकश। खाना घर से आया था। मेरे लिए भी मंगवाया गया था। खाया-पिया, कुछ टहला-घूमा एक घण्टे का लंच सबका था। मुझे पान-तम्बाकू, बीड़ी-सिगर... Read more
clicks 121 View   Vote 0 Like   6:32pm 26 May 2018 #
Blogger: Shahab Khan
कुछ समय पहले एक मोबाइल कंपनी मात्र 251 रू. में स्मार्टफोन देने का दावा करके रातों रात चर्चा का विषय बन जाती है। प्रिंट मीडिया, इलेक्ट्रानिक मीडिया, सोशल मीडिया से लेकर आम जनता तक हर कहीं उस मोबाइल की ही चर्चा होती है। कंपनी इसे दुनिया का सबसे सस्ता स्मार्टफोन होने के दा... Read more
clicks 123 View   Vote 0 Like   8:03pm 24 May 2018 #
Blogger: Shahab Khan
सैयद मुजाविर हुसैन रिज़वी उर्फ मुज्जन साहब, पेन नेम ‘इब्ने सईद’, पश्ताकद, साधारण डील-डौल के, पर होंठों पर हर क्षण मुस्कान समेटे रहने वाले ऐसे इंसान, जिनके पास काबलियत का अथाह खाजाना हिलोरे मारता मुझे नज़र आया। उर्दू-हिन्दी में महारतदां तिलिस्मी दुनिया। हिन्दी-उर्दू उन्... Read more
clicks 126 View   Vote 0 Like   6:31pm 22 May 2018 #
Blogger: Shahab Khan
प्यारे लाल ‘आवारा’ की शरण में इण्टर की परीक्षा देने के बाद, गर्मियों की छुट्टी तक किसी नामवर लेखक से ज्ञान हासिल करने की पिपासा में मैं एक सुबह, मई माह सन् 60 में जा पहुंचा मुट्ठी गंज, बिरहाना रोड स्थित रूपसी प्रकाशन। उस समय, कुशवाहाकांत साहित्य के बाद सबसे अधिक बिकने व... Read more
clicks 129 View   Vote 0 Like   7:10pm 20 May 2018 #
Blogger: Shahab Khan
कर्नाटक में चुनाव परिणाम आने के बाद से चल रहे राजनैतिक घटनाक्रम का आखिरकार पटाक्षेप हो ही गया। बहुमत के लिए ज़रूरी आंकड़े तक न पहुँचने के कारण येदियुरप्पा ने बहुमत परीक्षण से पहले ही इस्तीफा दे दिया। इससे पहले सत्ता हासिल करने के लिए राजनैतिक पार्टियों में जमकर नैतिकत... Read more
clicks 116 View   Vote 0 Like   7:12pm 19 May 2018 #
Blogger: Shahab Khan
लुगदी साहित्य का नामकरण-जब जासूसी-सामाजिक, जन साहित्य के रूप में चलन में आ रहे थे तो उनकी कम कीमत और जन-सामान्य तक पहुंच बनाने की लोकप्रियता ने उन्हें ‘सस्ता साहित्य’ नाम दिया गया। सस्ता साहित्य प्रकाशन संस्थान और सस्ता साहित्य बुक स्टाॅल/भण्डार इसके प्रमाणिक उदाहरण... Read more
clicks 117 View   Vote 0 Like   6:35pm 18 May 2018 #INFORMATION
Blogger: Shahab Khan
क्यों आम जन में पढ़ी जाने वाली पुस्तकें लुगदी साहित्य कहलाती है?इलाहाबाद के प्रकाशन संस्थान और लेखक बंधुओं का साथ।आइए आपको ले चलते हैं अब से 60 साल पहले की दुनिया में। सन् 1958 का दौर! मैं उम्र के 16वें पड़ाव को पार कर 17वें में दाखिल हो चुका था। हाईस्कूल पास कर इण्टर में दाखिला ... Read more
clicks 133 View   Vote 0 Like   8:08pm 17 May 2018 #INTERVIEW
Blogger: Shahab Khan
मुम्बई सेंट्रल. यात्रीगण अपनी-अपनी ट्रेन के आने के इन्तज़ार में बैठे हैं. कुछ को ट्रेन पकड़ के कहीं जाना है. और कुछ, किसी के आने का इन्तज़ार कर रहे हैं. सुबह-सुबह शोर थोड़ा कम है. लोग भी कम हैं. कुली लोग सामान ढोने वाली हाथ-गाड़ी लेके तैयार हो रहे हैं. मुम्बई राजधानी कुछ ही देर में... Read more
clicks 122 View   Vote 0 Like   8:06pm 11 May 2018 #STORY WRITING COMPETITION
Blogger: Shahab Khan
11 मई  1998 को भारत ने अपना दूसरा सफल परमाणु परीक्षण पोखरण (राजस्थान) में किया था।  यह सफल परीक्षण टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में भारत की एक महत्वपूर्ण उपलब्धि थी।  इस उपलब्धि के कारण 11 मई को राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी दिवस (National Technology Day) के रूप में घोषित किया गया।  11 मई  से दे... Read more
clicks 114 View   Vote 0 Like   6:40pm 10 May 2018 #TECHNOLOGY
Blogger: Shahab Khan
कारे और जीपे तो हजार देखी होगी आपने पर ये जीप नही देखी होगी। कभी नही देखी होगी। लेकिन ठीक है, नही देखी तो नही देखी, ऐसा क्या खास है इस जीप मे ! खास है साहब, बहुत खास है। आज हमारे जिले मे तो इस जीप को देखने के लिए लोगो का ताता लगा हुआ है। मुझे खुशी इस बात की है आज मेरी इस पोस्ट क... Read more
clicks 108 View   Vote 0 Like   8:37pm 6 May 2018 #
Blogger: Shahab Khan
''शोरूम में जननायक''लेखक अनूप मणि त्रिपाठी जी का एक लाजवाब व्यंग्य संग्रह हैं।  उनकी इस किताब में एक से बढ़कर एक व्यंग्य हैं।  हर व्यंग्य अपने आप में अनूठा और लाजवाब।  लेखक अनूप जी के लिखने का अंदाज़ बहुत ही बेहतरीन हैं। एक तरफ जहाँ उनके व्यंग्य में हास्य है वहीँ दूसर... Read more
clicks 103 View   Vote 0 Like   4:30am 4 May 2018 #
Blogger: Shahab Khan
अगर आपको बताया जाये की कटप्पा के पिता का नाम ''मलयप्पा''था और कटप्पा का एक छोटा भाई भी था जिसका नाम ''शिवप्पा''था तो शायद आपको यक़ीन नहीं होगा क्योंकि बाहुबली फिल्म के दोनों पार्ट में ऐसा कुछ बताया ही नहीं गया है।  ‘‘बाहुबली द कन्क्लूज़न’’  में कटप्पा ने बाहुबली को क्यों... Read more
clicks 111 View   Vote 0 Like   4:30am 3 May 2018 #
Blogger: Shahab Khan
शाम को बाहर  घूमने निकला तो देखा कि सामने से दुबला पतला कमज़ोर सा कोई शख्स लड़खड़ाता हुआ चला आ रहा है।  क़रीब पहुंचा तो देखा उसकी हालत बहुत ज़्यादा ख़राब थी।  थके और लड़खड़ाते क़दमों के साथ वो बड़ी ही मुश्किल से चल पा  रहा था।  मैंने उससे पूछा भाई कौन हो तुम ? तुम्हारी इतनी ... Read more
clicks 113 View   Vote 0 Like   5:30am 2 May 2018 #
Blogger: Shahab Khan
भारत सहित दुनिया के अधिकतर देशों में 1  मई को अंतराष्ट्रीय मज़दूर दिवस के रूप में मनाया जाता है। अमेरिका और कनाडा में सितम्बर महीने के पहले सोमवार को ,मज़दूर दिवस घोषित किया जाता है।  मज़दूर को आमतौर पर लोग गरीब समझकर उसके महत्व को अनदेखा करते हैं जबकि मज़दूर समाज और द... Read more
clicks 112 View   Vote 0 Like   6:39pm 30 Apr 2018 #social issue
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Publish Post