POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Blog: मेरी दुनिया

Blogger: VIMAL KUMAR SHUKLA
देख लेंगे हम भी जालिम का सितम।किन्तु पक्का झूठ तो बोला न जायेगा।मानता हूँ फूस दामन में लिए हूँ मैं,किन्तु क्या बाजार में तोला न जायेगा।।कृपया पोस्ट पर कमेन्ट करके अवश्य प्रोत्साहित करें| कृपया पोस्ट पर कमेन्ट करके प्रोत्साहित अवश्य करें|... Read more
clicks 1 View   Vote 0 Like   3:55pm 20 Sep 2019
Blogger: VIMAL KUMAR SHUKLA
अब भी कोई बहाना कर ले।घर में आना-जाना कर ले।खिड़की पर वो आ जायेगी,खुद को कुछ दीवाना कर ले।।कृपया पोस्ट पर कमेन्ट करके अवश्य प्रोत्साहित करें| कृपया पोस्ट पर कमेन्ट करके प्रोत्साहित अवश्य करें|... Read more
clicks 1 View   Vote 0 Like   12:13pm 8 Sep 2019
Blogger: VIMAL KUMAR SHUKLA
कुछ दिन चाँद रहेगा प्यारे, कवियों की कविताओं में।एक राष्ट्रनायक का चमचम, कुंजों और लताओं में।हार-जीत के चर्चे होंगे, टीवी या अखबारों में।चाहें खुशियाँ चाहें गम हों, रौनक होगी बारों में।अपने-अपने ढंग से सारे, लगे हुए हैं वाचन में,लेकिन तय है अपना जलवा, कायम रहा सितारों म... Read more
clicks 1 View   Vote 0 Like   11:25am 8 Sep 2019
Blogger: VIMAL KUMAR SHUKLA
प्रीति का व्याकरण बाँचने के लिए।हमसे तुम मिल लिये, तुमसे हम मिल लिये।।दीप तुमने छुए, वे सभी जल गए।रोप तुमने दिए, पुष्प सब खिल गए।तुमने देखा जिन्हें, वे भँवर मिट गए।बन्ध तन-मन के सब, एक क्षण खुल गए।दस दिशायें जपें, प्रेम की रागिनी,राग-अन्तःकरण, जाँचने के लिए।हमसे तुम मिल ल... Read more
clicks 1 View   Vote 0 Like   3:24pm 7 Sep 2019
Blogger: VIMAL KUMAR SHUKLA
हमने मेघों से जल माँगा,सूरज ने बरसाई आग।दादुर भूल गए टर्राना,वन उपवन में धाई आग।।कृपया पोस्ट पर कमेन्ट करके अवश्य प्रोत्साहित करें| कृपया पोस्ट पर कमेन्ट करके प्रोत्साहित अवश्य करें|... Read more
clicks 1 View   Vote 0 Like   4:44am 29 Jun 2019
Blogger: VIMAL KUMAR SHUKLA
मोदी! तीन तलाक विधेयक कुछ भी काम न आया।पखवाड़े में बुआ-भतीजे का तलाक करवाया।।पापा तो पहले ही बहना की गहराई नाप चुके थे।फिर भी थर्मामीटर लेकर तुम भी पीछे दौड़ पड़े थे।।दुहराता इतिहास स्वयं को मुझे पता था प्यारे।लेकिन इतनी जल्दी-जल्दी मति में घुसा हमारे।।कृपया पोस्ट पर क... Read more
clicks 30 View   Vote 0 Like   4:45am 4 Jun 2019
Blogger: VIMAL KUMAR SHUKLA
तुम भी एफबी पर आये हो वे भी एफबी पर आयीं।तुम तो असली ले आये पर फेक आईडी वो लायीं।तुम क्या समझे शाम को मैडम क्योंकर उखड़ीं उखड़ीं थीं,उसी आईडी के परदे से तुमको ठीक परख पायीं।।एफबी-फेसबुककृपया पोस्ट पर कमेन्ट करके अवश्य प्रोत्साहित करें| कृपया पोस्ट पर कमेन्ट करके प्रोत्... Read more
clicks 15 View   Vote 0 Like   3:53am 31 May 2019
Blogger: VIMAL KUMAR SHUKLA
दिल से दिल की बात करी, और  चल दिये।मन में न कोई प्रश्न था, पर उसने हल दिये।।1।।चढ़कर चिराग हुस्न का रक्खा मुंडेर पर,जालिम को खबर ना हुई, कैसे कतल किये।।2।।तुम भी तो एक रोज गए थे उसी डगर,पत्थर तुम्हें कहा क्या, तुम तो पिघल लिये।।3।।सब कुछ बजार में मुझे मन का मिला नहीं,जिन्दा र... Read more
clicks 18 View   Vote 0 Like   3:07pm 29 May 2019
Blogger: VIMAL KUMAR SHUKLA
तुमको चाहते हैं अहसास रहे।तू दूर रह सके या फिर पास रहे।मर गया होगा तू दुनिया के वास्ते,दिल में हमारे जी रहा विश्वास रहे।।कृपया पोस्ट पर कमेन्ट करके अवश्य प्रोत्साहित करें| कृपया पोस्ट पर कमेन्ट करके प्रोत्साहित अवश्य करें|... Read more
clicks 19 View   Vote 0 Like   3:07pm 29 May 2019
Blogger: VIMAL KUMAR SHUKLA
आज पांडे जी के बेटे से मुलाकात हो गई, बेचारा बहुत परेशान है इन दिनों। गर्लफ्रेंड तो गर्लफ्रेंड बहन भौजाइयाँ सभी कन्नी काट के निकल जाते हैं और बीबी शक की नजर से देखती है सो अलग। ऐसा हो भी क्यों न जब खुले आम उसके मुँह से कहलवाया जा रहा है, "पांडे जी का बेटा हूँ, चिपक के चुम्मा ... Read more
clicks 15 View   Vote 0 Like   11:20am 26 May 2019
Blogger: VIMAL KUMAR SHUKLA
बिना शायरी के ही जीता हुआ हूँ।अभी शेर था, अब से चीता हुआ हूँ।किसी से नहीं जीत की चाह बाकी,फलों के जगत में पपीता हुआ हूँ।।कृपया पोस्ट पर कमेन्ट करके अवश्य प्रोत्साहित करें| कृपया पोस्ट पर कमेन्ट करके प्रोत्साहित अवश्य करें|... Read more
clicks 19 View   Vote 0 Like   6:32am 22 May 2019
Blogger: VIMAL KUMAR SHUKLA
ज्यों हुई दृष्ट मति हुई भ्रष्ट, सब भूले अपना काम अरे!देखा एक षोडशी बाला को लाखों का काम तमाम करे|कल्पनालोक में खड़े खड़े, पथिकों पर ऐसे वार करे|तन छार छार हो जाता था, नयनों में ऐसी धार धरे|जिसने भी देखा बाँकपना, जो जहाँ खड़ा था ढेर हुआ|जिस पर भी उसकी दृष्टि उठी, यह मेरी है मति फे... Read more
clicks 77 View   Vote 0 Like   12:53pm 19 May 2019
Blogger: VIMAL KUMAR SHUKLA
चुनाव और प्रेम में भी अजीब घालमेल है,सिर्फ शब्दों, इशारों व भावनाओं का तालमेल है।वहाँ भी चुनाव था,यहाँ भी चुनाव है,वहाँ न कुछ प्रभाव था,यहाँ न कुछ प्रभाव है,दिल खोलकर सब कह दिया,तब भी न कुछ दुराव था,अब भी न कुछ दुराव है।।कृपया पोस्ट पर कमेन्ट करके अवश्य प्रोत्साहित करें|क... Read more
clicks 28 View   Vote 0 Like   3:57pm 15 May 2019
Blogger: VIMAL KUMAR SHUKLA
बादलों का ये फायदा भी?कि प्रेमिका से मिलने पाकिस्तान चले जाओ,कोई देखेगा नहीं,वैसे कभी कभी फेंकू होना भी बुरा नहीं।कृपया पोस्ट पर कमेन्ट करके अवश्य प्रोत्साहित करें| कृपया पोस्ट पर कमेन्ट करके प्रोत्साहित अवश्य करें|... Read more
clicks 26 View   Vote 0 Like   8:16am 13 May 2019
Blogger: VIMAL KUMAR SHUKLA
प्रथम संस्करण अन्तिम हो गया।ढेरों साहित्य यूँ ही खो गया।मुफ्त में बंटा और रद्दी हो गया,इसलिये मैं प्रकाशन में फिसड्डी हो गया।।.ऐसा मैं इसलिये कह रहा हूँ कि कुछ देर पहले मुझे 2004 में छपी हुई श्री बाबू राम शुक्ल 'मंजु' निवासी सीतापुर रचित दो पुस्तकें महाकाव्य 'रघुवंशम' व 'क... Read more
clicks 22 View   Vote 0 Like   12:42pm 12 May 2019
Blogger: VIMAL KUMAR SHUKLA
चाहता हूँ किप्रेम न करूँ उसे।समस्या अनेक,उम्र, जाति, धर्म,व्यवसाय, रँग-रूप,धन-दौलतऔर भी बहुत कुछ।असामान्य असाधारण,किन्तु चाहने से क्या?कोई जोर नहीं,जो होना था हो गया।अनचाहे मैं कहीं खो गया।कृपया पोस्ट पर कमेन्ट करके अवश्य प्रोत्साहित करें| कृपया पोस्ट पर कमेन्ट करके ... Read more
clicks 26 View   Vote 0 Like   1:00pm 28 Apr 2019
Blogger: VIMAL KUMAR SHUKLA
राजनीति के फंद में, बोला माँ से पूत।मेरे बप्पा वही हैं, दीजै मुझे सबूत।।1||कोई चौकीदार है और कोई है चोर।घुला चुनावी रंग है रहे परस्पर बोर।।2||चौकीदारी करो या या फिर बेचो चाय।जब तक वोटर नासमझ, कमी मौज में नाय।।3||गहरी नदी चुनाव की, बड़ी तेज है धार।हाथी सायकिल पर चढ़ा, कैसे होगा ... Read more
clicks 35 View   Vote 0 Like   3:13pm 22 Mar 2019
Blogger: VIMAL KUMAR SHUKLA
हाथी साइकिल पर चढ़ा, होना चाहे पार।गहरी नदी चुनाव की, बहुत तेज है धार।।कृपया पोस्ट पर कमेन्ट करके अवश्य प्रोत्साहित करें| कृपया पोस्ट पर कमेन्ट करके प्रोत्साहित अवश्य करें|... Read more
clicks 41 View   Vote 0 Like   3:13pm 22 Mar 2019
Blogger: VIMAL KUMAR SHUKLA
22/03/2019प्रातः 3:30 का समय, मोबाइल की घण्टी बजे जा रही है। अब क्या कहें मई के महीने में इसी समय तो नींद आती है, सो नींद में विघ्न पड़ गया। जब तक होशोहवास में आकर मोबाइल उठाता घण्टी बन्द। अपनी आदत किसी के मिसकाल का जवाब देने की नहीं है अतः फोन किनारे रखा और फिर शुरू हुई सोने की कोशिश... Read more
clicks 42 View   Vote 0 Like   9:49am 22 Mar 2019
Blogger: VIMAL KUMAR SHUKLA
मोदी सरकार 55 वर्ष तक चिल्लाती रही बेटी बचाओ पढ़ाओ| राहुल जी को बहुत देर से समझ में आया वो भी इतना कि बेटी पढ़ाओ बेटी बढ़ाओ| अब राहुल जी तो ठहरे कुंवारे सो बेटी तो थी नहीं| हाँ बहन थी सो ऐन इलेक्शन के वक्त प्रियंका जी को बढ़ा दिया आगे| बोल जय गंगा मइया की विशेषकर इलाहाबाद से बनारस... Read more
clicks 96 View   Vote 0 Like   3:25pm 18 Mar 2019
Blogger: VIMAL KUMAR SHUKLA
11/03/2019वोट है तलवार इस पर धार धर लो।और अपने आप पर उपकार कर लो।।देश उन्नायक चयन का समय है ये।जोकरों खलनायकों का मान हर लो।।तुम मदारी हो जमूरे सामने हैं।एक निर्णय पंचसाला खेल कर लो।।लोकतंत्री नाव की पतवार कर में।ले चलो तट या कि फिर मझधार मर लो।।जब बटन पर उँगलियाँ हों तो ठहर... Read more
clicks 106 View   Vote 0 Like   9:15am 11 Mar 2019
Blogger: VIMAL KUMAR SHUKLA
कंटकों से भरे हुए, पथ में जो जाना पड़े,पैर में पड़े जूतों से, प्यार हो ही जाता है।जहाँ संसदीयता की किसी से अपेक्षा बने,हाथ में लगे तो हथियार हो ही जाता है।पत्थरों में नाम जब खोदा नहीं जाता बन्धु,नेताजी का खून खौल, क्षार हो ही जाता है।दोष नहीं जूते का है, सत्ता का प्रभाव यह,अह... Read more
clicks 40 View   Vote 0 Like   12:37pm 8 Mar 2019
Blogger: VIMAL KUMAR SHUKLA
मैं भी बहुत बड़ा कारण हूँ इस जग के जंजाल का,लाठी लेकर घूम रहा हूँ काम नहीं है बाल का।बहुत जटिल नक्शे देखे हैं, बहुत बड़ी तामिरें कीं, सबके पीछे झांक के देखा मसला रोटी दाल का। अपने अपने हाल की खातिर, हाल तुम्हारा पूछ रहे।कोई पुरसाहाल नहीं है वरना तेरे हाल का।किसी विषय का पक्... Read more
clicks 40 View   Vote 0 Like   1:34pm 15 Jan 2019
Blogger: VIMAL KUMAR SHUKLA
 इस चुनावी समर का हथियार नया है।खत्म करना था मगर विस्तार किया है।जिन्न आरक्षण का एक दिन जाएगा निगल,फिलहाल इसने सबपे जादू झार दिया है।अब लगा सवर्ण को भी तुष्ट होना चाहिए।न्याय की सद्भावना को पुष्ट होना चाहिए।घूम फिर कर हम वहीं आते हैं बार बार,सँख्यानुसार पदों को संत... Read more
clicks 42 View   Vote 0 Like   2:00pm 11 Jan 2019
Blogger: VIMAL KUMAR SHUKLA
1. अब सुबह क्या बात होगी?ये सुबह होगी न होगी?आ अभी अनुराग कर लें।आ परस्पर अंक भर लें।2. कल से तुम गुलाबी हो,किस पर जाल फैलाया।किसके तृषित अधरों का,जागा भाग्य ऐ! बाले।3. माना झूठ है मेरी,कविता भी कहानी भी।ये ही तो बहाना था,मेरे पास तुम आये।4. बाहर ठंड है बेशक,रिश्ते गर्म है... Read more
clicks 48 View   Vote 0 Like   10:51am 30 Dec 2018
[ Prev Page ] [ Next Page ]


Members Login

Email ID:
Password:
        New User? SIGN UP
  Forget Password? Click here!
Share:
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3916) कुल पोस्ट (192384)