POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Blog: यायावरी yayavaree

Blogger: SAURABH
कुछ समय पहले आई फिल्‍म बाहुबलीके वो झरनों के दिल को चुरा लेने वाले दृश्‍य तो हम सभी को याद होंगे. ऐसे ऊंचे और भव्‍य जल प्रपात देखकर एक बारगी लगा था कि या तो ये दृश्‍य किसी विदेशी लोकेशन पर फिल्‍माया गया है या फिर कंप्‍यूटर की कलाकारी है. लेकिन आपको जानकर आश्‍चर्य होगा कि ... Read more
clicks 18 View   Vote 0 Like   12:18pm 31 May 2019
Blogger: SAURABH
आज़ादी से पहले के राजाओं, रजवाड़ों और रियासतों वाले हिंदुस्‍तान में शाही परिवारों की शान-ओ-शौक़त के कि़स्‍सों को हम बरसों से सुनते-सुनाते आए हैं। उत्‍तर में अगर अवध के नवाबों की रईसी रश्‍क़ करने लायक थी तो दक्‍कन में हैदराबाद के निज़ाम भी पीछे नहीं थे। इस इलाके में 200... Read more
clicks 19 View   Vote 0 Like   8:31am 2 May 2019
Blogger: SAURABH
कुछ घटनाएं देश की सामूहिक चेतना पर अमिट प्रभाव छोड़ जाती हैं. जलियांवाला बाग का नरसंहार भी एक ऐसी ही घटना थी जिसने न केवल पूरे भारत को झकझोर कर रख दिया था बल्कि पूरी दुनिया के सामने ब्रिटिश हुकूमत के निकृष्‍टतम रूप को उजागर कर दिया था. समय का पहिया घूम कर 13 अप्रैल, 2019 को ठी... Read more
clicks 19 View   Vote 0 Like   2:48am 13 Apr 2019
Blogger: SAURABH
अमृतसर के नज़दीक अटारी-वाघा बॉर्डर की रिट्रीट सेरेमनी को देखना हिंदुस्‍तान के कुछ चुनिंदा और अनूठे अनुभवों में से एक है. दुनिया में शायद ही किन्‍हीं और दो देशों की सरहद पर इस तरह के जोश और जुनून से लबरेज़ रिट्रीट कार्यक्रम होता होगा जहां न केवल सीमा पर तैनात फौजी अपने-... Read more
clicks 16 View   Vote 0 Like   11:23am 11 Apr 2019
Blogger: SAURABH
शहर की गलियों और उन गलियों में घरों की दीवारों को भी कला के लिए कैनवास की तरह इस्‍तेमाल किया जा सकता है, इस एक खूबसूरत ख्‍याल ने पिछले कुछ सालों में देश के तमाम शहरों की शक्‍लो-सूरत को बदल कर रख दिया है. फिर दिल्‍ली कैसे पीछे रह सकती थी. दिल्‍ली की जिस लोधी कॉलोनी की पहचान ... Read more
clicks 25 View   Vote 0 Like   8:42am 30 Mar 2019
Blogger: SAURABH
कुछ कर दिखाने का जज्‍़बा हो तो सरकारी एजेंसियां भी कमाल कर दिखाती हैं. ऐसा ही एक कमाल कर दिखाया है दक्षिणी दिल्‍ली नगर निगम (एसडीएमसी) ने. एसडीएमसी ने 150 टन स्‍क्रैप मेटल से दुनिया के सात आश्‍चर्यों के शानदार नमूनों के साथ बेहद खूबसूरत ‘वेस्‍ट टू वंडर पार्क’तैयार कर दिय... Read more
clicks 25 View   Vote 0 Like   9:03am 28 Mar 2019
Blogger: SAURABH
देश पर अपने प्राण न्‍यौछावर करने वाले वीर सपूतों के बलिदान के प्रति कृतज्ञ राष्‍ट्र को अंतत: एक राष्‍ट्रीय युद्ध स्‍मारक प्राप्‍त हुआ. 25 फरवरी, 2019 की शाम देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने इस ‘राष्‍ट्रीय समर स्‍मारक’(National War Memorial)को राष्‍ट्र को समर्पित किया. ये समय क... Read more
clicks 29 View   Vote 0 Like   2:06pm 28 Feb 2019
Blogger: SAURABH
उतरती जनवरी के साथ ही उत्‍तर भारत की फिज़ा में नरमाई घुलने लगी है। सुबह अब चुभती नहीं बल्कि गुलाबी ठंड चेहरे को नर्म और मखमली हाथों से छूकर दिन की शुरूआत कराती है। इससे पहले कि मौसम का मिजाज सूरज की तपिश से लाल हो, मैंने रंगीले राजस्‍थान के एक रंगीले हिस्‍से से मुलाक़ात... Read more
clicks 29 View   Vote 0 Like   1:13pm 22 Jan 2019
Blogger: SAURABH
अग्रसेन की बावलीसमय के साथ-साथ जब शहर विस्‍तार के लिए अपनी बाहें फैला रहे होते हैं तो उसी वक्‍़त उनकी पुरानी सीमाओं के भीतर भी उनका स्‍वरूप लगातार परिवर्तित होता रहता है. शहर बार-बार करवटें लेते हैं और यही वजह है कि कुछ बरसों बाद कुछ इलाकों को पहचान पाना बहुत मुश्किल हो... Read more
clicks 40 View   Vote 0 Like   1:20pm 30 Nov 2018
Blogger: SAURABH
योगा रिट्रीट @ शिक़वा हवेली जैसा कि मैंने पिछली पोस्‍ट Shikwa Haveli: A Story of Restoration, Reconstruction and Rebirthमें जि़क्र किया था कि शिक़वा हवेली में हमारे ठहरने के कार्यक्रम में योग सबसे प्रमुख हिस्‍सा था. सो पहली रात बर्मा लॉन्‍ज में हम मित्रों की मंडली ग्रीन टी के साथ आ जमी. यहां योगा एक्‍सपर्... Read more
clicks 54 View   Vote 0 Like   11:25am 2 Nov 2018
Blogger: SAURABH
शिक़वा हवेलीअभी ज्‍यादा वक्‍़त नहीं गुज़रा जब हवेलियां हमारे गांवों और शहरों में जीती-जागती और सांसें लेती हुई पाई जाती थीं. मग़र वक्‍़त के साथ कदमताल बैठाने में पिछड़ रही हवेलियों के कि़स्‍से धीरे-धीरे हमारी रोज़मर्रा की जि़ंदगी से गायब होने लगे हैं और हवेलियों का ... Read more
clicks 52 View   Vote 0 Like   4:19pm 31 Oct 2018
Blogger: SAURABH
हम और आप देश के आठ राज्यों से होकर गुज़रने वाली कर्क रेखा (Tropic of Cancer)के ऊपर से कई बार गुज़रे होंगे मग़र हमें शायद की कभी इसका अहसास हुआ हो. क्योंकि यह एक काल्पनिक रेखा है इसलिए हम कब इस रेखा के ऊपर से गुज़र गए, इसका पता चलना मुश्किल है. मग़र मध्यप्रदेश के रायसेन में दीवानगंज गांव के ... Read more
clicks 44 View   Vote 0 Like   11:19am 18 Oct 2018
Blogger: SAURABH
चेरापूंजी: एक सफ़र बादलों के घर तकदूर तक अकेले चले गए खूबसूरत मनमौजी से रास्‍तों के दूसरे सिरों पर मौजूद मंजिलें भी कम दिलकश नहीं होती हैं. मगर मुझ पर इन हसीन रास्‍तों का जादू हमेशा से मंजिलों के तिलिस्‍म से ज्‍यादा सर चढ़ कर बोला है. ऐसे हसीन रास्‍तों पर एक लंबी रोड़ ट्... Read more
clicks 96 View   Vote 0 Like   12:14pm 16 Jul 2018
Blogger: SAURABH
एशिया का क्‍लीनेस्‍ट विलेज: मायलेन्‍नोंगये जुलाई का बरसातों का मौसम था और बरसात की शुरूआती झडि़यों के बाद उत्‍तर से पूरब तक धरती का तन और मन दोनों पूरी तरह भीग चुके थे। यही वह समय था जब पहले से हरी-भरी पूर्वोत्‍तर की दुनिया और भी ज्‍यादा मनमोहक लगने लगी थी।  मैं कु... Read more
clicks 63 View   Vote 0 Like   3:07pm 4 Jul 2018
Blogger: SAURABH
सुबह-ए-चार मीनारदूसरी किस्‍तदोस्‍तो पिछली किस्‍त में आपने सुबह चार मीनार की यात्रा पर निकलने, ऑपरेशन पोलोकी बदौलत हैदराबाद के भारत का अभिन्‍न अंग बनने की कहानी,  हैदराबाद के भाग्‍यनगर से हैदराबाद बनने का किस्‍सा, चार मीनार के बनने की वजह, आसफ़़ जाही सल्‍तनत की सात... Read more
clicks 87 View   Vote 0 Like   10:50am 8 Jun 2018
Blogger: SAURABH
सुबह-ए-चार मीनारपहली किस्‍तकहते हैं किसी शहर को ठीक से समझना हो तो उसके साथ नींद से जागो, उसे महसूस करने के लिए उसके साथ ही सुबह की ताज़ा हवा में सांस लो. वरना दिन चढ़ने के साथ ही शहर बहरूपिया हो जाता है. ये देखना बेहद दिलचस्‍प होता है कि एक अलसाया हुआ, देर तक करवटें बदलता ह... Read more
clicks 123 View   Vote 0 Like   12:06pm 7 Jun 2018
Blogger: SAURABH
बलबन का मक़बराकुछ दिनों पहले जब दिल्‍ली के महरौली आर्कियोलोजिकल पार्कमें गयासुद्दीन बलबन की बदहाल कब्र को देखा तो किसी का कहा गया एक शेर याद हो आया‘मौत ने ज़माने को ये समा दिखा डाला कैसे कैसे रुस्तम को खाक में मिलाडाला,याद रख सिकन्दर के हौसले तो आली थे जब गया था दुनिया ... Read more
clicks 73 View   Vote 0 Like   1:44pm 31 May 2018
Blogger: SAURABH
एक बुत की दिलचस्‍प दास्‍तान तमाम शहरों में यात्राओं के दौरान चौराहों या पार्कों में लगे बुत मुझे हमेशा से आकर्षित करते रहे हैं। अलबत्‍ता ये बात और है कि आमतौर पर शहरवासियों को ये बुत निहायत ही साधारण नज़र आते हैं और शायद इसीलिए हर रोज़ इनके करीब से गुज़रने के बावजूद ... Read more
clicks 159 View   Vote 0 Like   3:21pm 3 Apr 2018
Blogger: SAURABH
कहानी सबसे स्‍वच्‍छ शहर इंदौर कीअपने देश में जहां शहरों में गंदगी, कूड़े के ढ़ेर, सड़कों पर बहता नालियों का पानी और सीवरों का जाम होना आम बात हो वहीं इसी देश में एक ऐसा शहर भी है जो वर्ष 2017 में क्‍लीनेस्‍ट सिटी चुना गया और 2018 में भी सबसे स्‍वच्‍छ शहर का खिताब अपने नाम क... Read more
clicks 104 View   Vote 0 Like   2:07pm 24 Jan 2018
Blogger: SAURABH
अंतरराष्‍ट्रीय व्‍यापार मेला: जादू के पिटारे का फिर से खुलना। दिल्‍ली के प्रगति मैदान में वो जादू का पिटारा ट्रेड फेयर एक बार फिर खुल गया है। वही पिटारा जिसमें दुनिया जहान का बाज़ार खुद-ब-खुद सिमट कर चला आता है। हममें से बहुतों के बचपन की यादें इस मेले से जुड़ी हैं ... Read more
clicks 105 View   Vote 0 Like   3:35pm 23 Nov 2017
Blogger: SAURABH
लौट कर आना एक खामोश मुहब्‍बत का Shiraz: A Romance of India लगभग 300 साल पुराने मुग़लिया सल्‍तनत के एक दिलचस्‍प किस्‍से पर भारतीय सिनेमा के शुरूआती दौर में 1928 में एक जर्मन-ब्रिटिश-भारतीय मूक फिल्‍़म बनती है और फिर इतिहास में गुम हो जाती है। ये किस्‍सा था सेलीमा (बाद में मुमताज़ महल) और ... Read more
clicks 105 View   Vote 0 Like   4:21pm 2 Nov 2017
Blogger: SAURABH
तीर्थन वैली: सफ़र एक सपनों की दुनिया का- भाग दोदोस्‍तो,पिछली पोस्‍ट में आपने दिल्‍ली से तीर्थन वैली और फिर जालोरी-पास तक के सफ़र की कहानी पढ़ी. जो पिछली पोस्‍ट नहीं पढ़ पाए वे पहले Tirthan Valley: A Hidden Paradise in Himachalपढ़ें क्‍योंकि कहानी तो शुरू से सुनी जाती है. है ना? तो आगे का किस्‍सा ये... Read more
clicks 98 View   Vote 0 Like   3:49pm 31 May 2017
Blogger: SAURABH
सफ़र एक सपनों की दुनिया कातीर्थन वैलीउतरते अप्रैल के साथ जैसे ही दिल्‍ली का मौसम बदमिज़ाज होना शुरू होता है,मन सुकून की तलाश मे पहाड़ों की ओर देखने लगता है. अब तो आलम ये है कि जिस साल गर्मियों में पहाड़ों से मुलाक़ात न हो,समझो वो पूरा बरस ही बेचैनियों में गुज़रेगा. इस बा... Read more
clicks 95 View   Vote 0 Like   11:43am 25 May 2017
Blogger: SAURABH
दिन था 26 जनवरी, 1950,जगह थी गवर्नमेंट हाउस का दरबार हॉल और वक्‍़त था सुबह के 10 बजकर 18 मिनट. ठीक इसी क्षण भारत ने एक गणराज्‍य के रूप में जन्‍म लिया था और ये क्षण भारत के इतिहास का सबसे गौरवमयी क्षण था. संविधान सभा 26 जनवरी, 1949 को देश के लिए नए संविधान को स्‍वीकार कर चुकी थी और 26 जनवरी... Read more
clicks 133 View   Vote 0 Like   11:17am 27 Jan 2017
Blogger: SAURABH
Why we Travel ?हम घूमते क्‍यों हैं? वो क्‍या चीज है जो हमें बार-बार घर के सुख-चैन से दूर यात्राओं की चुनौती भरी राहों की ओर खींचती है?आखिर हमें यात्राओं से क्‍या हासिल होता है?वो कौन सी शै है जो तमाम लोगों को अच्‍छी भली नौकरियों को छोड़कर दुनिया देखने निकल पड़ने के जुनून से भर देती... Read more
clicks 104 View   Vote 0 Like   3:07pm 27 Sep 2016
[ Prev Page ] [ Next Page ]


Members Login

Email ID:
Password:
        New User? SIGN UP
  Forget Password? Click here!
Share:
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3916) कुल पोस्ट (192384)