Hamarivani.com

बाल सजग

"दोस्ती रंग लाती है " दोस्ती  भी क्या रंग लाती हैं,दोस्तों की भी याद आती है | दोस्ती ऐसा ज़ख्म दे जाती है, दूसरों को प्यार , हमें रुलाती है | दोस्ती नींद और चैन ले जाती है, लेकिन दोस्ती का फ़र्ज़ निभाती है | जीवन के सुख और दुःख में, दोस्ती है जीवन के हर पल में | दोस्...
बाल सजग...
Tag :
  April 10, 2018, 3:39 pm
"लोगों की भरमारी "ये दुनिया है कितनी प्यारीजहाँ है लोगों की भरमारी | कुछ से लोग होते हैं अमीर,तो कुछ से लोग होते हैं गरीब | जिनमें है ऊँच नीच , न जाने कब होंगे एक समीप | खाने की हो रही है बर्बादी, भूखे सो रहे बहुत सी आबादी | न जाने कब होगा ये ठीक, ये दुनियाँ बहुत ह...
बाल सजग...
Tag :
  April 10, 2018, 3:26 pm
"आँखों के ख्वाब " नन्हें आँखों के ख्वाब चूर हो गया , क्योंकि मैं उस लम्हें से दूर हो गया | प्यारी सी आँखों में ,जिसमें ख्वाब थे,जिसमें सपने सजे थे, नींद न आने की |  आज वो खुद से नाराज हैं, बात करता है सो जाने की | खुद को सम्भालनें में थोड़ा समय लगा,और फिर से एक...
बाल सजग...
Tag :
  April 9, 2018, 4:08 pm
"ख्वाबों को सजाना चाहता हूँ "छोटे छोटे ख्वाबों को सजाना चाहता हूँ,हर लम्हा को याद करना  चाहता हूँ | खुलकर मैं जीना चाहता हूँ, हर एक यादगार पल को | और यादगार बनाना चाहता हूँ, सबके दिलों में रहना चाहता हूँ | हर किसी की मदद करना चाहता हूँ,  हर किसी को खुश रखना चाहता ...
बाल सजग...
Tag :
  April 8, 2018, 6:24 am
" Value of your one word "The value of your one word, might be create difference .word will not be worthless, it bring a shiny appearance . persistence of your goal,endeavour it till last movement .get your resulted reward,with full of enjoyment  .word could be creation celebration, lack of sorrow only admiration .Name : Pranjul kumar , Class : 9th , Apna Ghar ...
बाल सजग...
Tag :
  April 4, 2018, 4:06 pm
"क्या कहेंगे आप "मेरे कुछ न कह सकने की, विवस्ता को क्या कहेंगे आप | मैं  कायर भी नहीं हूँ, मैं गूँगा भी नहीं हूँ | लेकिन फिर भी मैं,कुछ नहीं कह पाता | मैं बहुत कुछ कहना चाहता हूँ, फिर भी असफल हो जाता हूँ | मेरे इस विवस्ता को क्या कहेंगे आप | | नाम : संजय कुमार , कक...
बाल सजग...
Tag :
  April 4, 2018, 3:46 pm
"जीवन के मोड़ "जीवन के मोड़ अनजान होते हैं, हर नए मोड़ में हम मेहमान होते हैं | समझकर चलते रहना है हमको,हर मुसीबत को सुलझाना है तुझको | किस मोड़ पर क्या हो पता नहीं होता,मोड़ पर ख्वाईस और उल्लास होता | इस कठिन राह पर मेहनत करनी पड़ती हैं,कठिन परिश्रम से ही प्रतिभा निखरती है |&nbs...
बाल सजग...
Tag :
  April 4, 2018, 5:12 am
"चिड़िया " चिड़िया बैठी थी दो - चार, पेड़ पर अपने पंख पसार | बिना कष्ट बिना मेहनत के,नहीं मिलता यहाँ आराम | उनके जीवन में होता है, बस काम ही काम | चाहे दिन हो, चाहे शाम, फिर भी नहीं करती आराम || न कोई है उसके पास वाहन, न कोई है जाने का साधन | फिर भी अपनी मेहनत से, ...
बाल सजग...
Tag :
  March 26, 2018, 7:09 am
"एक बात "सपनों में पली एक बात, नहीं बता पायेंगें हम | नहीं रहेगी ये खुदगर्ज दुनियाँ,, नहीं रहेंगें हम | बढ़ गई है ये दुनिया, नहीं बदले हम | दुनियाँ की खोज में, निकल पड़े हम |   नहीं मिली दुनिया, यहीं रह गए हम | नाम :  नितीश कुमार, कक्षा : 7th , अपना घरकवि परिचय : यह है...
बाल सजग...
Tag :
  March 25, 2018, 7:00 am
"विलाप करके क्या फायदा "सोच - सोचकर सपने देखकर,विलाप करके क्या फायदा | मन की अचरज बात को सोचकर,सहमे जिंदगी जीने का क्या फायदा | चिंता के साथ क्या जीना,जो जिन्दा व्यक्ति को मुर्दा घोषित करदे | ये जीवन का चक्कर भी,क्या - क्या बना देता हैं | इस साठ साल की जिंदगी में , हर लम...
बाल सजग...
Tag :
  March 24, 2018, 9:44 pm
"मुस्कुराना सीखा "बच्चों से मैंने मुस्कुराना सीखा, जो बनाते हैंनया अफ़साना | मुझे अभी बहुत कुछ है सीखना, अभी बहुत कम जो मैंने है सीखा |  फिर मुझे भी है किसी को सिखाना, अपनी सारी बातें किसी को बताना | मुझे भी हैं अपने फ़साने को बताना,अपने सोए हुए अरमानों को जगान...
बाल सजग...
Tag :
  March 23, 2018, 6:58 am
"बच्चों की माँ "  मैंने देखा घोसले को बार बार जिसमें बैठे थे बच्चे चार | लगी थी जिसको भूख और प्यास, कर रहे थे अपनी माँ का इंतज़ार | जब चिड़िया चोंच में दाना लाई, अपने बच्चे के मुँह में खिलाई  | बड़ी मुश्किल से दाना ला पाती, तब वह उनके पेट भर पाती | हर कठिनाइयो...
बाल सजग...
Tag :
  March 22, 2018, 3:34 pm
"मैं वो बहता हवा नहीं जो "मैं वो बहता हवा नहीं जो,हिमालय से टकराकर मुड़ जाता हूँ | मैं पल भर का मौसम नहीं जो,पल भर में बदल जाता हूँ | मैं तो वो ऐसा सक्श हूँ, जो जिंदगी की राह में | लाखों सपने सजाता हूँ, क्या करूँ मैं उन सपनों को | जिस सपनों को  मैंने सजाया, उन सपन...
बाल सजग...
Tag :
  March 22, 2018, 3:06 pm
"काले बादल " पहले काले बादलों ने डराया ,फिर समंदर जैसे पानी बरसाया | बारिश का भी दिन आया,बूंदों का भंडार लाया | गर्मी का तापमान गिराया, मेंढक भी खूब टर्र टर्राया | किसानों का भी मन बहलाय,बंजर जमीं को खूब भिगाया |  बारिश का यही है माया,कहीं धूप तो कहीं है छाया |&nbs...
बाल सजग...
Tag :
  March 21, 2018, 6:33 am
"सर्दी "सर्दी की हुई विदाई,आ गई है गर्मी भाई | सूरज दादा आग उगलता, इसमें संसार है उबलता | मासूम से चेहरे पर पसीना भरा, लू जिसको लगा वो मरा | सर्दी में की है खूब मस्ती, गर्मी में न करो जबरदस्ती | जो इसके चक्कर में पड़ा, उसकी सामत फिर आयी |  सर्दी की हुई विदाई,आ गई ...
बाल सजग...
Tag :
  March 20, 2018, 7:26 am
"गर्मी "गर्मी के सीज़न ने ,कर दिया सबको बेहाल | अमीर लोगों ने कुर्सी लेकर,बैठेंगे पंखे के पास | न जाने इस गर्मी ने कर दी, बिजली का बिल ज्यादा |  बिजली का बिल देखकर, बहा दिए पसीना | अब समझ में आएगा, गर्मी का हर एक दिन | गर्मी के सीज़न ने, बहा दिया सबका पसीना  |  ...
बाल सजग...
Tag :
  March 20, 2018, 7:15 am
"मौसम "क्या मौसम  आया है,सूरज भी कहर बरसाया है |गर्मी से लोग हो गए बेहाल, पसीने ने कर दिया बुराहाल | बच्चे भी हो गए परेशान, छुट्टियाँ करेंगी काम आसान |अभी बचे है चार महीने लगातार,न जाने क्या होगा अपना हाल | क्या मौसम  आया है,सूरज भी कहर बरसाया है | नाम : कुलदीप कुमार ,...
बाल सजग...
Tag :
  March 19, 2018, 6:09 am
"एक दिन "सोच रहा था मैं एक दिन,कुछ अलग हो रहा हर दिन | सारे दिन बैठकर सोचें  हम,मजे से झूमें और गाए हर दिन | कभी ख़ुशी हो कभी हो गम, लेकिन मत बैठाओ अपना मन | ऐसे ही जिए जीवन हम, हंसकर जिए जीवन हम | नाम : कामता कुमार , कक्षा : 6th , अपनाघर ...
बाल सजग...
Tag :
  March 18, 2018, 5:56 am
"मेरी पुस्तक "मेरी पुस्तक कुछ बोलती है,अपने विचारों को खोलती है | ज्ञान का निर्माण कराती है,रोते को हँसना सीखती है | भटके को मार्ग दिखाती है,अन्याय से लड़ना सिखाती है | न मरती है न जाती है ,बाँटने पर भी बढ़ती जाती है | मेरी पुस्तक कुछ बोलती है,अपने विचारों को खोलती है |&nb...
बाल सजग...
Tag :
  March 13, 2018, 6:12 am
"काश मैं एक किसान होता "काश मैं एक किसान होता, फसलों को सही ढंग से उगाता | पौधों को भी पानी पिलाता, अलग अलग फसल उगाता | हरी - हरी खेतों को ,फसलों को संसार को | फसलों को सही उगाता,काश मैं एक किसान होता |  नाम : अकीबुल अली , कक्षा : 3rd , अपनाघर कवि परिचय : अकीबुल अली असम के र...
बाल सजग...
Tag :
  March 12, 2018, 3:23 pm
 "शिक्षा ग्रहण " शिक्षा ग्रहण करना है तो, पहले विद्यार्थी बनना पड़ेगा | ज्ञान ग्रहण करना है तो,पहले ज्ञानी बनना पड़ेगा | ज्ञान का समंदर बहना है तो, पहले समंदर बनना पड़ेगा | कुछ नया सीखना है तो, पहले गुरु बनना पड़ेगा | गुरु की जिज्ञासा लेकर, तुमको आगे बढ़ना पड़ेगा |&...
बाल सजग...
Tag :
  March 12, 2018, 3:12 pm
"ये बदलता मौसम "ये बदलता मौसम,कुछ कहते क्यों नहीं |चिड़िया की बसेरा,उजड़ रहे हैं क्यों यूहीं |क्या जो कुछ हो रहा है,क्या ये सभी है सही |ये बदलता मौसम,कुछ कहते क्यों नहीं |मनुष्य बड़े ही नादान है,ज्ञान से सभी अनजान है | इनको कोई बताता क्यों नहीं ,ये बदलता मौसम, कुछ कहते क्यों ...
बाल सजग...
Tag :
  March 11, 2018, 3:17 pm
 "कोयल "कोयल एक अच्छा  प्राणी हैं,जिसके पास मधुर वाणी है | इसमें संगीतों का भंडार है,,क्या सुंदर और ताल है | मनुष्य को भाता है यह, काला है फिर भी गाता है यह | बहुत ही चंचल, अच्छा प्राणी  , रोज सुनाएगा आपको कहानी | नाम : कुलदीप कुमार , कक्षा : 6th , अपनाघर   कवि परिच...
बाल सजग...
Tag :
  March 8, 2018, 6:01 am
चिड़िया की छाह एक छोटी सी चिड़िया उड़ना चाहती है, इस संसार के आसमान को छूना चाहती है | छोटी है दिल की पर हौशले से उड़ना चाहती है,उन रहस्य तक पहुँचाना चाहती हैं |  जिसकी उसने कभी कल्पना नहीं की, हर वह आश्चर्य चीज को जानना चाहती है, हर वह डरावनी से निडर होना चाहती है | ...
बाल सजग...
Tag :
  March 6, 2018, 6:41 am
"चिड़िया की चाह"एक छोटी सी चिड़िया उड़ना चाहती है, इस संसार के आसमान को छूना चाहती है | छोटी है पर दिल के हौसले से उड़ना चाहती है,जिन्दगी के हर रहस्य तक पहुँचना चाहती हैं |  जिसकी उसने कभी कल्पना नहीं की,  उस हर आश्चर्य चीज को जानना चाहती है |नाउम्मीद अंधेरों से निकलना ...
बाल सजग...
Tag :
  March 6, 2018, 6:41 am
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3757) कुल पोस्ट (176043)