Hamarivani.com

मेरी अभिव्यक्तियाँ

(चित्र इन्टरनेट से)ऑफिस की घड़ी मे शाम के 5 बजे की टिकटिक के साथ आज आवेग जी का मन अपनी प्रिये की याद से टिकटिका उठा। कुछ पल के लिए महत्वपूर्ण दस्तावेजों पर दस्तख़त  करते उनके हाथ रुक गए ,,,,,,,,,,,,,,,,,और गालों पर जा      टिके,,,,,ऑफिस की खिड़की के बाहर निगाहें शाम के सिंदूरी आसमान ...
मेरी अभिव्यक्तियाँ...
Tag :
  March 17, 2017, 8:44 pm
(चित्र इन्टरनेट की सौजन्य से)क्षणिक नारी मनोभाव******************उलझी बातों से जीवन सुलझाती,,,यासुलझी बातों मे जीवन उलझाती,,,मै सारी या आधीमै मझधार या किनारा,,मै धार की पतवारमै मोह या मायामै विरक्ति या आसक्तिमै वृष्टि या छायामै सत्य या भ्रममै दिगभ्रमित मदमस्त हवाया सुरभित मधुमा...
मेरी अभिव्यक्तियाँ...
Tag :
  March 16, 2017, 11:41 am
                    (चित्र इन्टरनेट से )~लघुकथा~होरी की खुमारी मे मै डूब रही सखी,,,,बोल ना कैसे मनाऊँ अबके होरी,,,,,,,?रंग ले आऊँ जाय के हाट से,,,,चल मोरे संग,,,,।लाल रंग लगवाऊँ के,,,, पीरा,,,, हरा रंग चटखीला,,, के गुलाबी नसीला,,,,ऐ सखी बोल ना,,,,, कुछ तो बोल,,,??प्रीत की ये पहरी होरी है रे! म...
मेरी अभिव्यक्तियाँ...
Tag :बंसती
  March 14, 2017, 4:21 pm
                       (चित्र इन्टरनेट से)             होली की मीटिंग चल रही है,,, 😃           (विषय सुझाने के लिए नेहा को धन्यवाद            गोपियों को छेंक रंगने की तैयारी है,            टोली बन रही नेता कृष्ण मुरारी हैं।            भाव...
मेरी अभिव्यक्तियाँ...
Tag :गोपियां
  March 10, 2017, 2:39 pm
                       (चित्र इन्टरनेट से)मुझे तुममे रहने दो,,,,,नही चाहती कि तुम्हारे हृदय के मखमली गलीचों से बाहर अपने कदम निकालूँ,,,,,बहुत नरम हैं ये एहसासों के गलीचे,,,और ये जो तुमने मेरे लिए अपनी प्रीत-प्रसून से इसे सजा दिया है,,,,,,मेरे सिरहाने अपनी सुगंधित,सुवास...
मेरी अभिव्यक्तियाँ...
Tag :
  March 9, 2017, 9:58 am
                    (गुल्लू अपनी अध्यापिका के साथ)                                 *बालकविता*     गुल्लू बोला मम्मी से ,     आज क्लास मे मैडम जी ने     बड़े पते की बात बताई-     खेल-खेल मे हम बच्चों कों     बड़े मज़े की बात सिखाई।      ...
मेरी अभिव्यक्तियाँ...
Tag :
  March 4, 2017, 10:57 am
                     (चित्र इन्टरनेट से)                           *बालकविता*   गुटुर-मुटुर मुंडी घुमाए गौरैया  खिड़की पे झांक-तांक मचाए गौरैया  फुदक-मटक इधर-उधर नाचे गौरैया  भोली सी सूरत बना लुभाए गौरैया।                         मिट्...
मेरी अभिव्यक्तियाँ...
Tag :बाल कविता
  March 2, 2017, 11:37 pm
                     (एक सोच,,,एक ख़्याल,,,)सुबह का सूरज निकला तो है,,,बहुत तेज,,,ऊष्मा,,,और प्रकाश लिए,,,,,,पर मेरे अन्तरमन का सूरज आज कुछ मद्धम् है।छुट्टी के दिन की सुबहें ऐसी तो ना होती थीं कभी,,,,,   तुमसे पहले भी एक वजह थी,,,,तुमसे मिलकर 'वजह'को रफ्तार मिली, पर,,,,,,,,तुम्हार...
मेरी अभिव्यक्तियाँ...
Tag :
  February 25, 2017, 2:27 pm
                       (चित्र इन्टरनेट से)मनुष्य की निजता (privacy)उसकी सबसे बड़ी पूँजी है,,,, सदैव एक सीमा रेखा खींच कर रखिए,,उस सीमा को लांघने से पहले ,,,हर कोई चाहे वह आपके प्रियजन ही क्यों ना हो,,, एकबार पूछने को विवश हों,,कि "-क्या मैं इस सीमा के अन्दर प्रवेश कर सकता हूँ?"औ...
मेरी अभिव्यक्तियाँ...
Tag :
  February 22, 2017, 11:19 am
(चित्र इन्टरनेट से)कोई विछोह से हो रहा तार तार,,,तो कहीं मिलन की तड़प लिएसंजोता नित नए योजनाओं का संसार,,,विरह के दोनो ही रूप से आकार लेता काव्य हार,,प्रकृति मे खोजता उदाहरणकरता आत्मसात,,,तो कभी कहता नियति की बिसात,,नयन झरे निरन्तर ,अश्रु उड़ जाएँ बन भाप,,,श्रृवण संवेदना अति प्...
मेरी अभिव्यक्तियाँ...
Tag :
  February 20, 2017, 8:50 am
(चित्र इन्टरनेट से)                 कुछ रिश्तों के कोई नाम नही होते                 गुमनाम भटकते, अंजाम नही होते।                 खुले आसमान मे उड़ते रहने की सोच                 कोई इनके,आसमानी दायरे नही होते।ख्यालों की धुंध मे जीने की हो चा...
मेरी अभिव्यक्तियाँ...
Tag :
  February 15, 2017, 10:09 am
                   *जीवन की जीवटता को पहचानिए*"कुछ लोग ज़िन्दगी मे नही होते,,,ज़िन्दगी होते हैं,,,"यह पंक्तियां कहीं पढ़ी थी,,,तब से मेरे मानस पटल पर लहरों सी हिंडोले मारती रहीं,,मै इन लहरों के थपेड़ो से भीगती बचती, डूबती तैरती, कभी साहिल पर तो कभी गहराइयों मे उतरती रही...
मेरी अभिव्यक्तियाँ...
Tag :
  February 12, 2017, 6:51 pm
(चित्र इन्टरनेट से)प्रत्येक मनुष्य अपनी दिनचर्या के कुछ काम बड़े नियमित और मनोयोग से करता है,यह काम उन्हे अधिक प्रिय हो जाते हैं क्योंकि यह उनका 'अपना नीजि समय'होता है। कार्य का कार्यवहन काल भले ही छोटा  क्यों ना हो, उन्हे पूरी तन्मयता से जिया जा सकता है।मेरी भी दिनचर्य...
मेरी अभिव्यक्तियाँ...
Tag :
  February 7, 2017, 6:51 pm
(चित्र इन्टरनेट की सौजन्य से)रोज़ की तरह आज भी स्कूटर लेकर अपने चित-पराचित उबड़-खाबड़ सड़कों पर 'ऊँट की सवारी सी अनुभूति'तो कहीं चिकनी सपाट सड़कों पर मक्खन से फिसलते पहियों  के साथ स्कूटर चालन का आनंद लेती मै ,,,। वाहहह ऐसी चिकनी सड़कों पर स्कूटर चलाना जैसे जीवन संगीत की धुन प...
मेरी अभिव्यक्तियाँ...
Tag :
  January 31, 2017, 11:25 pm
 क्या होगा जब हमारा प्यारअंतरमुखी हो जाएगा,रस्मों रिवाज़ों से मजबूर दूर से ही प्रीत की उष्मा पाएगा,कोई राहतुम तक नही पहुँती होगी,बस कल्पनाओं मे ही अपनी मंजिल पाएगा,मन घर का कोई ऐसा कोना खोजेगा,जहाँ कोई औरना आएगा जाएगा,आंखें मूंदकरफिर तुम्हारी यादों का बटन दबाए...
मेरी अभिव्यक्तियाँ...
Tag :
  January 23, 2017, 8:29 pm
(चित्र इन्टरनेट से)           हिन्दी भाषा की वेदना          ***************भारत विभिन्नताओं का देश है, उत्तर से दक्षिण और पूरब से पश्चिम तक सरसरी दृष्टि से इसका सर्वेक्षण किया जाए तो भौगोलिक,सांस्कृतिक,धार्मिक,क्षेत्रिय, भाषायिक वैभिन्नता देखने को मिलती है, परन्तु इत...
मेरी अभिव्यक्तियाँ...
Tag :
  January 18, 2017, 9:47 pm
स्मृतियां जीवन्त होती हैं, मानव शरीर क्षण भंगुर है। अपने निकले हुए पेट को छुपाते हुए 'बाबा'और उनकी वह हंसीं बस इस तस्वीर मे ही दिखेगी। 'स्मृतियां'मनुष्य को ईश्वर प्रदत्त एक अमूल्य उपहार है।  आज फिर से जीवन्त हो उठी बाबा की स्मृतियां,,,, यूँ तो उनकी हर बात, उनकी भाव-भंगिमा...
मेरी अभिव्यक्तियाँ...
Tag :
  January 14, 2017, 12:38 pm
आज एक पोस्ट पर मेरी और गीतांजली के बीच काव्यमयी वार्तालाप हुआ जो ह्दय स्पर्शी लगा,,मैने इसे सदा के लिए अपने पास संजो लिया।गीतांजली  *  हिरदय होय बेकल और शब्द भय गऐ मौन                 मन खोयो वीरानी मे तुम बिन समझे कौनलिली     *   मौन भए जब शब्द त...
मेरी अभिव्यक्तियाँ...
Tag :
  January 10, 2017, 11:04 pm
                         (चित्र इन्टरनेट से)            बेफिक्र हो सबसे अब जीना चाहती हूँ,            अपने खोए वजूद को छूना चाहती हूँ।            बन्द पिंजरे मे पंख फड़फड़ाती रही हूँ,            खुद के आसमान मे उड़ना चाहती हूँ।            कई ...
मेरी अभिव्यक्तियाँ...
Tag :दर्द
  January 5, 2017, 2:13 am
                        ( चित्र इन्टरनेट से)            ज़िन्दगी का एक वर्ष कुछ नए अनुभव जोड़ गया           अनमोल पलों के संग कुछ खट्ट-मिट्ठी यादें जोड़ गया।अधूरी ख्वाहिशों को पूरा करने को 365 दिन जोड़ गयाजो मिल गई बिन मांगे उनसे खुशिया जोड़ गया।        &nbs...
मेरी अभिव्यक्तियाँ...
Tag :
  December 30, 2016, 4:51 pm
(चित्र इन्टरनेट से)तुम तो निर्णय कर चुकी कि मैं तुमसे मिल न पाउँगा,ज़िद मेरी भी सुनलो प्रियतमा मिले बिना न जी पाउँगा।प्रेम सुवासित पुष्प प्रिये मै ह्दय लिए, बस कालचक्र में बाधित हूँ ,अवसर पा गजरे मे गुथ प्रिये तुम्हारे जुड़े मे गुथ जाउँगा।जनमो से मै प्रीत का रीता ,खाली ग...
मेरी अभिव्यक्तियाँ...
Tag :
  December 30, 2016, 2:39 pm
कविता लिखने की प्रेरणा मुझे तुमसे मिली प्रिया ,, तुम्हारी ही पंक्तियों को तुम्हे समर्पित करना चाहती हूँ-"हर इन्सान के दिल में यादों की एक ऐसी किताब होती है, जो कभी अचानक से खुल जाती है,और भाग-दौड़ की रोज़मर्रा की ज़िन्दगी में दो पल राहत का एहसास दिला जाती है। "          &...
मेरी अभिव्यक्तियाँ...
Tag :
  December 21, 2016, 9:21 am
                            (चित्र इन्टरनेट से)  शान्त दिसम्बर की नीरव रात सोने की पूरी तैयारी कर चुकी थी,तकिये पर सर रख,,नरम कम्बल को ओढ़ रात लेटकर ,आंखों को बंद करने की कोशिश कर रही थी, परन्तु आंखे तो अपलक खिड़की से बाहर आसमान को निहारने लगी। सूनसान वातावरण में ...
मेरी अभिव्यक्तियाँ...
Tag :
  December 20, 2016, 7:11 pm
                      (चित्र इन्टरनेट से)             हे प्रियतम! विश्वरूप सा वृहद प्रेम तुम्हारा             मेरा सर्वस्य तुमसे ही उत्पन्न है,             तुममे ही विलीन हो जाएगा।            हे प्रियतम! दिव्य प्रकाशपुंज सा प्रेम तुम्हार...
मेरी अभिव्यक्तियाँ...
Tag :
  December 15, 2016, 11:56 pm
                        (चित्र इंटरनेट से)              जीवन की जटिलताओं से परे,जीवन की                     सरलताओं को आत्मसात कर साइकिल पर                  सवार दो मतवालों की मस्ती😊😊*****                 एक दीवानी,,,बस आपकी          &n...
मेरी अभिव्यक्तियाँ...
Tag :
  December 13, 2016, 7:59 pm
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3644) कुल पोस्ट (162481)