Deprecated: mysql_connect(): The mysql extension is deprecated and will be removed in the future: use mysqli or PDO instead in /home/hamariva/public_html/config/conn.php on line 13
मेरी अभिव्यक्तियाँ : View Blog Posts
Hamarivani.com

मेरी अभिव्यक्तियाँ

                       (चित्राभार इन्टरनेट से)मन को क्यों तूने गौरैया बना डाला,,बनाया भी अगर तो उसकी मुंडेर सेखुद को क्यों परचा डाला,,,?रोज़ जाता है उड़ कर तेरी खिड़कीपर लिए एक आस ,,,,,,,,,,कुछ प्यार भरे दानों और चाहतकी लिए प्यास ,,,,,,,,चल पागल! उड़ जा हो जा फुर्ररररररररअभी घर ...
मेरी अभिव्यक्तियाँ...
Tag :मुंडेर
  August 20, 2017, 11:32 am
                          (चित्राभार इन्टरनेट)दौड़ मैया के करे गलबइयां,सरस बोल रिझाएं कन्हैंया।लपट झपट पुचकार     रहे,नटखटी चाल बूझें हैं मइयां।मइया सो माखन ना बनावे कोई,स्वाद दूजा मन को ना भावै कोई।कान्हा के मन की सब समझ रहीं,बालक के प्रेम मे जसोदा सुध ख...
मेरी अभिव्यक्तियाँ...
Tag :माखन
  August 14, 2017, 12:02 pm
                       (चित्राभार इन्टरनेट) भारत माँ की आत्मव्यथा**********************माँ को ही लपेट तिरंगें से,सूली पर उसको टांग दिया।देश के रखवालों ने देखो,देश का जनाज़ा निकाल दिया।आरोपों की बोली ऊँचीं,निज कर्तव्यों को त्याग दिया।आत्मव्यथा से कराह रही माँ ,हमने विवे...
मेरी अभिव्यक्तियाँ...
Tag :देश
  August 14, 2017, 11:02 am
                         (  चित्राभार इन्टरनेट)   🌺🍃सभी को श्रीकृष्णजन्माष्टमी की हार्दिक शुभकामनाएं🌺🍃श्रीकृष्ण जन्माष्टमी की आप सभी को अग्रिम शुभकामनांए🍃🌺🍃🌺🍃🌺🍃🌺🍃🌺🍃🌺🍃🌺🍃घुटुवन के बल जाए केमाखन में अंगुरी डूबाए के कछू खाए रहे,कछू गिराए रहेम...
मेरी अभिव्यक्तियाँ...
Tag :
  August 14, 2017, 10:56 am
                       (चित्र इन्टरनेट से)जो होता है वहदिखाया नही जाता,,एक निर्धारित फोकस के गोले मे पूरा सचसमाया नही जाता,,,,,,कौन है असल कसूरवारये समझना है मुश्किलबहुत सर खुजा के देखलिया नही हुआ कुछ हासिल,,सच को झूठ बनाने वालाभी पेट की खातिर लड़ेझूठ को सच बनवा क...
मेरी अभिव्यक्तियाँ...
Tag :मीडिया
  August 13, 2017, 11:58 am
                       (चित्राभार इन्टरनेट)उल्टी गिनती शुरू,जश्ने आज़ादी मनाईजाने लगी है,,,,,,,,,दिल्ली मेट्रो कोउड़ानेकी धमकियांआने लगी हैं,,,,,सुरक्षा कर्मियों कीस्पेशल ड्यूटियांलगाई जाने लगी हैंकुछ अतिसंवेदनशीलइलाकों की नाकेबंदियोंकी खबरें आने लगी हैं,,अफव...
मेरी अभिव्यक्तियाँ...
Tag :
  August 11, 2017, 8:24 pm
                        (चित्राभार इन्टरनेट) सुनो सजन!दिखाओ नाज़रा नयनोंका दर्पण,,माथे पे बिंदियाहै लगानी,,फिर आढूंमै चुनर धानी।सुनो सजन!दिखाओ नाज़रा नयनोंका दर्पण,,आंखों मे कजराहै लगाना,,फिर नयनहै तोहसे लड़ाना।सुनो सजन!दिखाओ नाज़रा नयनोंका दर्पण,,जूड़े मे ग...
मेरी अभिव्यक्तियाँ...
Tag :नयन
  August 10, 2017, 9:37 pm
                            (चित्राभार इन्टरनेट)                      आज शुभरात्रि बोलने का मन नही है,,,,,चांद को,,,,,।कुमुदिनियों ने अभी तो अलसाई पलकों को मलना शुरू किया है। धवल,,सुकोमल,,,अधखुली पंखुड़ियों ने अभी तो चांद को देखना शुरू किया है।     दिन भर ...
मेरी अभिव्यक्तियाँ...
Tag :शांत सरोवर
  August 9, 2017, 11:50 pm
                      (चित्राभार इन्टरनेट)रक्षा-बंधन के पावन-पर्व की धूम अभी शांत नही हो पाई थी कि,,,'चंडीगढ़ की वर्णिका कुंडू'का पीछा किन्ही राजनेता के सुपुत्र द्वारा किए जाने की घटना आज हर तरफ फैली हुई है।   ऐसा नही है कि- यह कोई पहली घटना है। रोज़ाना ऐसी शर्मस...
मेरी अभिव्यक्तियाँ...
Tag :
  August 9, 2017, 12:25 am
उसको कहाँ खोजूँ जो मन मे समाया है,,फूल तो दिखता है पर खूशबू कहाँ दिखती है,,और हठ खूशबू को देखने की है,,,महसूस तो बहुत कर चुकी,,,,अब आप कहेंगें फूल जीव और खूशबू ईश के समान है,,एक शरीर और दूजा प्राण है,,नसिका ले रही गंध और इन्द्रियांहो रही सम्मोहन से निष्प्राण हैं,,पलके मुंद रही और...
मेरी अभिव्यक्तियाँ...
Tag :पुष्प
  August 8, 2017, 9:04 pm
                    (माँ बन्दर और बेबी बन्दर का यह प्यारी                      सी ड्राइंग नेहा ने बनाई,,और मै कविता                        लिखे बिना रह नही पाई😃)                     *बालकविता*     माँ बन्दरऔर बेबी बन्दर  संग-संग खेलें&...
मेरी अभिव्यक्तियाँ...
Tag :
  August 8, 2017, 11:32 am
(ऐ ज़िन्दगी तू लाखसितम कर,,,,,हम भी तेरी ईंटों काजवाब पत्थर से देंगें😜)पत्थर दिल सनम कहा गयादर्द ना सहा गयापर हमारी रितुके केस मे कुछउल्टा हो गयापत्थर इसकेदीवाने हो गएप्यार की मूरतबना रितु मेखो गए 😜पत्थरों के इश्कका अंजाम हुआबुरा बेचारी के पीछेहाथ धोकर पड़ गईं दवा...
मेरी अभिव्यक्तियाँ...
Tag :
  August 8, 2017, 10:44 am
                  (चित्राभार इन्टरनेट से)'धूल 'उड़ती है जब तो सबको संक्रमित कर देती है,,,, क्योंकि वह खुद किसी स्थूलता से खंडित हो,,टुकड़े-टुकड़े मे विभाजित हो चुकी होती है,,,। दर्द होता है बहुत जब अस्तित्व बिखरता है। आंखें दुखती हैं पर आंसू नही टपकता है। आज समझ पाई मैं ...
मेरी अभिव्यक्तियाँ...
Tag :सावनी बादल
  August 6, 2017, 12:22 pm
                         (चित्राभार इन्टरनेट)हर चीज़ इतनी ढकीं-मुदी क्यों होती है,,? किताबें जिल्द से,,आत्म शरीर से,,शरीर कपड़ों से,,,भाव जज़्बात अल्फाजों से,,बदसूरत चेहरे मेकअप से,,बालों की सफेदी डाई सेपाप कर्म दया-दान से,,झूठ फरेब एक कपट मुस्कान सेघर की बदहाली...
मेरी अभिव्यक्तियाँ...
Tag :मुखौटा
  August 3, 2017, 10:50 am
                                                       एक गीत लिखो                      तुम मेरे खातिर                      जिसमे पायल                      सी रूनझुन हो                      सुर ढालों जब          &nb...
मेरी अभिव्यक्तियाँ...
Tag :दीप
  August 1, 2017, 1:40 pm
                      ( चित्र मेरे सुपुत्र गुल्लू जी की सौजन्य)दिन की शुभकामनाओं के साथ सूरजमुखी दे गए आप,,,एक जलता हुआ आग का गोला बना गए आप,,ठीक ही तो किया खुद को मेरे जलते वजूद से दूर कर लिया, खुद को एक फूल बनाकर जीवन सहज कर लिया,,सूरज कहाँ रोता है? वह तो बस जलता है,,और ...
मेरी अभिव्यक्तियाँ...
Tag :
  July 31, 2017, 10:51 am
                        (चित्र इन्टरनेट से)महीना-ए-अगस्तआने को है जनाबउठने को है देशप्रेमका सोया सैलाब।               कोई व्हट्सऐप पर तिरंगे                की डी पी लगाएगा,               कोई फेसबुक पर देशभक्ति                का परचम ल...
मेरी अभिव्यक्तियाँ...
Tag :
  July 30, 2017, 7:40 pm
                          (चित्र इन्टरनेट से) दृढ़प्रतिज्ञ हों भारतवासी,गौरव ना धूमिल करना है।अखंड भारत का स्वप्नदीप,मन मे प्रज्जवलित रखना है।औरों का तुम दोष ना बाँचों,निज अवगुण को तजना है।सोच को अपनी पहले बदलो,तभी देशहित उपवन सजना है।कर्तव्यों का ज्ञान क...
मेरी अभिव्यक्तियाँ...
Tag :
  July 29, 2017, 11:02 pm
(चित्र इन्टरनेट से)सतरंगी चुनर माँ तेरीअनेक्य मे एका सीआभा लहराई है।गर्विले इतिहासी आभूषण ने माँ तेरी शान बढ़ाई है।अमृत सी तेरी वाणी मे असंख्य भाषाईत्रिवेणियां बलखाई हैं।माँ तेरे माथे कीबिन्दियां ज्ञान सूर्य बन,जग चमकाई है।पग को धोता हिन्दहै द्योतक यहाँव...
मेरी अभिव्यक्तियाँ...
Tag :
  July 29, 2017, 3:04 pm
                        (चित्र इन्टरनेट से)लघुकथा------------------  मन्नोंअक्सर छोटी-छोटी गलतियों पर माँ जली-कटी सुनाती थी,,,,, अरे जन्मजली! पैदा होते ही मर जात तो अच्छा होत,,।भाग फूट गए हमार जे दिन तू हमार कोख से जन्म लिए रही ,,,। जेकरे घरे जाई ऊ घर के हो नरक बना देई,,! बहुतही दु...
मेरी अभिव्यक्तियाँ...
Tag :
  July 28, 2017, 11:20 am
                        (चित्र इन्टरनेट से)                                      तुममे खोकर                         तुमको पाने की चाहत                         तुमको पाकर                         तुममे खोने की चाहत  ...
मेरी अभिव्यक्तियाँ...
Tag :चाहत
  May 8, 2017, 6:50 am
                         (चित्र इन्टरनेट से)आज आसमान देखने मे डर लग रहा है। इसका फैलाव भयावह है,,,पता नही उड़ते-उड़ते किस छोर पर पहुँच जाऊँ,,,???? वैसे तो इसका कोई ओर-छोर नही,,,व्यक्ति की उन्मुक्तशीलता की क्षमता है वह कितना उड़ सकता है या कितनी दूर तक जा सकता है।आज ज़मीन ...
मेरी अभिव्यक्तियाँ...
Tag :बेकाबू मन
  May 2, 2017, 3:50 pm
                        (चित्र इन्टरनेट से)सुनो,,,,अन्जाने रिश्ते, अन्जाने ही होते हैं,,हवा मे तैरते से ,,,बहुत सारे बादलों के छोटे-छोटे टुकड़ों से,,हाथों की मुट्ठी मे पकड़ने की कोशिश करना बेकार है,,,। कल्पनाओं की वाष्पित जल-बिन्दूं हैं।       हालातों के सूरज ने मन ...
मेरी अभिव्यक्तियाँ...
Tag :मृगतृष्णा
  April 27, 2017, 11:21 am
                         (चित्र इन्टरनेट से)जीवन की सांझ हो चली हैवह भी जानती है वह अब जाने को हैसमेट रही है अपनी ज़िम्मेदारियांआहिस्ता-आहिस्ता,,,बांट रही है जो है बचा-खुचा,,,रोज़ गुछाती है घर-संसार अपने बेटा का,,,,पता नही कौन सी शाम जीवन का सूरज ढल जाए,,।कभी अलमारि...
मेरी अभिव्यक्तियाँ...
Tag :जीवन की सांझ
  April 25, 2017, 10:47 am
(चित्र इन्टरनेट से),,,,,क्यों द्रवित हो जाते हैं मनोभावनसिका पर डालते असहनीय दबावअश्रुओं का रोकने को सैलाबरूप मे तुम्हारे ऐसा क्या फैलाव,,,??प्रेम को और परिपक्व बना दो ,,इसे मन के गहनतम कोर मे पहुँचा दो,,समस्त अभिव्यक्तियों मूक कर ,,स्मरण पथ को सक्रिय बना दो,,तड़पन को तृप्ति क...
मेरी अभिव्यक्तियाँ...
Tag :परिपक्व
  April 24, 2017, 10:45 am
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3710) कुल पोस्ट (171458)