POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Blog: pashchimiujala

clicks 16 View   Vote 0 Like   6:11am 3 Oct 2019 #
clicks 0 View   Vote 0 Like   6:05am 3 Oct 2019 #
clicks 48 View   Vote 0 Like   2:38pm 7 Jun 2019 #
clicks 29 View   Vote 0 Like   2:31pm 7 Jun 2019 #
clicks 118 View   Vote 0 Like   5:27am 29 Mar 2019 #
clicks 106 View   Vote 0 Like   5:53am 2 Mar 2019 #
clicks 116 View   Vote 0 Like   2:13pm 25 Jan 2019 #
clicks 118 View   Vote 0 Like   2:01pm 3 Jan 2019 #
clicks 146 View   Vote 0 Like   12:40pm 10 Nov 2018 #
clicks 73 View   Vote 0 Like   5:00am 27 Sep 2018 #
clicks 172 View   Vote 0 Like   8:55am 29 Jul 2018 #
clicks 135 View   Vote 0 Like   6:43am 18 Jun 2018 #
clicks 176 View   Vote 0 Like   2:16pm 28 Apr 2018 #
clicks 153 View   Vote 0 Like   4:59am 30 Mar 2018 #
clicks 89 View   Vote 0 Like   4:55am 30 Mar 2018 #
clicks 170 View   Vote 0 Like   11:10am 26 Jan 2018 #
Blogger: pashchimi ujala
आपत्ति- मैं जानता हंू कि धर्मग्रन्थ में समानताएं बल्कि अधिकतर समानताएं ही है। पर प्रश्न उस शेष का जो समान नही है जो समानतओं वाले बहु भाग पर आच्छादित होकर उसको निष्क्रिय बना बैठा है....जब तक इस समस्या को नही समझा जायेगा उससे नही निपटा जायेगा अथवा उसे हल नही किया जायेगा, सम... Read more
clicks 207 View   Vote 0 Like   6:04am 30 Dec 2017 #
Blogger: pashchimi ujala
आपत्ति- असंख्य सौर जगत हैं और इस सौर जगत की हकीकत महासागर में एक बंूद की हकीकत से ज्यादा नही, फिर इस सौर जगत में भी इस पृथ्वी की कोई हैसियत नही है और इस पृथ्वी में अरब जैसे छोटे से देश की हैसियत नही है। प्रश्न यह है कि....उन्होंने (अल्लाह ने) अरब में ऐसे कौन से गुण देखे की समस्... Read more
clicks 185 View   Vote 0 Like   7:03am 27 Nov 2017 #
Blogger: pashchimi ujala
आपत्ति- ईश्वर या खुदा के सर्व-शक्ति सम्पन्न या कादिरे कुल होने की जो धारणा या आस्था है उससे पैगम्ब्र, अवतार या सन्देशवाहक को अन्तिम मानने की आस्था की कोई संगति नही है। खुदा को एक तरफ तो हम कादिरे कुल कहें और साथ ही कहें कि अब अनन्त काल तक ब्रहमाण्ड में स्थित असंख्य दुनिय... Read more
clicks 148 View   Vote 0 Like   2:08pm 28 Oct 2017 #
Blogger: pashchimi ujala
आपत्ति- प्रत्येक धर्म मज़हब ने अपने-अपने सन्देश वाहक, पैगम्बर या संस्थापक को आखरी कहा है। हद यह है कि अनीश्वरवादी, जैन धर्म व बौद्ध धर्म में भी अपने तीर्थकर व बुद्ध को अन्तिम बताकर आगे के लिऐ तीर्थकरत्व व बौद्ध का दरवाजा बन्द कर दिया।उत्तर- न केवल यह कि इस्लाम के मूल तत्व... Read more
clicks 107 View   Vote 0 Like   2:22pm 29 Sep 2017 #
Blogger: pashchimi ujala
अपत्ति- कुरआन में चन्द्रमा पर मानव पदार्पण का और अन्तरिक्ष में खोज की उपलब्धियों का वर्णन नही है।उत्तर- यह वर्णन भी देख लिजिए- ‘हे जिनों और मनुष्यों की टोलियों! अगर तुम समझते हो कि आकाश और पृथ्वी के व्यासों  संकेत है, गुरूत्वाकर्षण की सीमा की ओर व पृथ्वी व अन्य ग्रहों ... Read more
clicks 153 View   Vote 0 Like   7:36am 31 Aug 2017 #
Blogger: pashchimi ujala
जुलाई 2017 अंकं आपत्ति- ऐटमबम, हाईड्रोजन बम, आदि चमत्कारपूर्ण आविष्कारों व उपलब्धियों के बारे में, जिन्हें मानव जीवन की व पृथ्वी की काया पलट दी है (वेद, तौरते, इन्जील व कुरआन आदि में) एक भी शब्द नही मिलता, न उनमें हाल ही में हुए भयंकर विश्व युद्धों को कोई संकेत है।उत्तर- जैसा ... Read more
clicks 179 View   Vote 0 Like   1:38pm 27 Jul 2017 #
clicks 128 View   Vote 0 Like   5:31am 20 Jul 2017 #
Blogger: pashchimi ujala
आपत्ति- भारत और चीन जैसे महान देशों की न किसी किताब का नाम वहां (कुरआन में) दिया गया है और न इन देशों में खुदा के जरिये भेजे गये पैगम्बरों का जिक्र है और इसकी एक वजह है कि मुहम्मद (स0) साहब को जितना मालूम था उन्होंने कह दिया और जितना नही मालूम था उसके बारे में मौन रहे।उत्तर- भ... Read more
clicks 202 View   Vote 0 Like   5:02am 14 Jun 2017 #
Blogger: pashchimi ujala
आपत्ति- कुरआन में स्थान पर हज़रत मुहम्मद स0 को ईश्वर दूत न मानने वाले ............को मार डालने और नष्ट कर दने का अहवान और दूसरों को लड़ाने की खुदा की इच्छा का वर्णन है।उत्तर- ऐसा प्रतीत होता है आप उन लोगों के प्रचार से प्रभावित हो गये हैं जिन्होंने कुरआन मजीद को या तो पूरा नही पढ... Read more
clicks 159 View   Vote 0 Like   7:30am 29 Apr 2017 #मासांहारी
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Publish Post