Hamarivani.com

कारवॉं karvaan

कुमार मुकुलसे सुधीर सुमनकी बातचीत ‘डाॅ. लोहिया और उनका जीवन दर्शन 'नामक यह पुस्‍तक, सत्ता में मौजूद लोहियावादियों के सैद्धांतिक पतन और चरम अवसरवाद के विपरीत लोहिया को अपने देश की समाज, राजनीति और अर्थनीति में परिवर्तन चाहने वाले बुद्धिजीवी और नेता के रूप में हमार...
कारवॉं karvaan...
कुमार मुकुल
Tag :Lohia
  October 10, 2018, 4:16 pm
सहरसा की सेंट्रल लाइब्रेरी से लेकर अंधाधुंध किताबें पढने का दौर था वह। साल 1985 रहा होगा। मुझे एक किताब मिली 'भाेजपुर- नक्‍सलिज्‍म इन द प्‍लेन्‍स ऑफ बिहार'। टाइटल में भोजपुर लिखा देख किताब को उलटा-पलटा तो उसमें संदेश-सहार का जिक्र था।वह रपटनुमा शोध पुस्‍तक थी । मेरा गां...
कारवॉं karvaan...
कुमार मुकुल
Tag :जसम
  October 9, 2018, 12:13 pm
दिल्ली के बुराड़ी में मोक्ष प्राप्ति के लिए 11 लागों ने जान दे दी। उन्‍हें विश्‍वास था कि फंदे से लटकने के बाद मौत होते ही कोई आकर उन्‍हें जिला देगा। अब यह अफवाह भी फैलायी जा रही कि उनका पुनर्जन्‍म हो चुका है। देश भर में तमाम जगहों से ऐसे मामले आते रहते हैं। ऐसा नया मामला ...
कारवॉं karvaan...
कुमार मुकुल
Tag :मोक्ष
  October 5, 2018, 4:28 pm
निर्भया और बिलकिस बानो केस में सर्वोच्‍च न्‍यायालय और उच्‍चन्‍यायालय मुंबई के फैसले आए। निर्भया मामले में जहां चार अरोपितों को मृत्‍युदंड की घोषणा की गयी वहीं बिलकिस मामले में ग्‍यारह आरोपितों को आजीवन कारावास दिया गया। मिलती हुई इन बीभत्‍स घटनाओं पर अलग-अलग सजा न...
कारवॉं karvaan...
कुमार मुकुल
Tag :बिलकिस बानो
  October 3, 2018, 1:10 pm
आखिरकार किसान आ ही गया केंद्रीय बहस के केंद्र में।  राजनेता से लेकर अभिनेता तक सब उसकी मौत पर बयान और टवीट करने लगे हैं। पर इसके लिए उसे दिल्ली आकर अपनी शहादत देनी पडी। अपनी  जान देकर उसने माननीयों की लस्टम पस्टम बहस में जान डाल दी और रंगभेद पर बहस कर रही राजनीति अब ...
कारवॉं karvaan...
कुमार मुकुल
Tag :किसान
  October 2, 2018, 11:03 am
महीपाल की किताब 'हिन्‍द और हिन्‍दू'भारत के हजारों सालों के इतिहास का संक्षिप्‍त व्‍योरा है। पुस्‍तक में पूर्व पाषाण काल की पंजाब की सोन की घाटी की सोन या सोहन संस्‍कृति से लेकर आजाद हिंद फौज तक के घटनाक्रमों को नये दृष्टिकोण और सामयिक संदर्भों के साथ प्रस्‍तुत किया ग...
कारवॉं karvaan...
कुमार मुकुल
Tag :महीपाल
  September 1, 2018, 1:12 pm
आपने ये डंबल क्‍यों रखे हैंजी, फिटनेस के लिए कितने वजनी हैं येइनसे तो किसी को चोट पहुंचायी जा सकती हैमुगदर क्‍याें नहीं रखतेगदा भी रख सकते हैंक्‍या आपको देश से, धर्म से प्‍यार नहीं फिटनेस के लिए योगा कीजिएअपने मोदी जी भी करते हैंमोदी जी तो ब्रह्मचारी हैंइसमें क्...
कारवॉं karvaan...
कुमार मुकुल
Tag :अश्‍वत्‍थामा
  August 31, 2018, 10:53 am
एक दिन यूं ही आदर्श पिता, राजा व पति पर विचार करने लगा राम-दशरथ के संदर्भ में तो पाया कि इनमें हर लिहाज से दशरथ आदर्श थे।पहली बात कि दशरथ में पिता हेाने की इच्‍छा थी इसलिए जब संतान नहीं होती तो वे संतान के लिए यज्ञ करते हैं। पर राम में पुत्रेच्‍छा थी यह प्रकट करने वाले प्...
कारवॉं karvaan...
कुमार मुकुल
Tag :दशरथ
  August 22, 2018, 1:23 pm
अभी तक देश में विभिन्न संगठनों द्वारा गाय को राष्ट्रीय पशु घोषित करने की मांग की जाती रही है पर अब मध्यप्रदेश की शिवराज सरकार द्वारा कैबिनेट मंत्री बनाए गए स्वामी अखिलेश्वरानंद ने सरकार से  गाय को पशु की श्रेंणी से बाहर कर गाय मंत्रालय बनाने की मांग की है। उनका वा...
कारवॉं karvaan...
कुमार मुकुल
Tag :गाय
  August 20, 2018, 4:07 pm
वेनेजुएला संकट से आप जियो-मरो टाइप विकास को समझ सकते हैं। सर्वाधिक मिस वर्ल्‍ड देने वाले देश में आज दूध 80 लाख रूपये लीटर बिक रहा। इस लिहाज से आप इन विकास पुरुषों की असली कीमत जान सकते हैं। ये त्‍ाथाकथ‍ित पूंजीपति जो सरकार से जनता के टैक्‍स का पैसा बैंकों के माध्‍यम से ...
कारवॉं karvaan...
कुमार मुकुल
Tag :वेनेजुएला
  July 30, 2018, 6:07 pm
यूसुफ रईस के उपन्‍यास 'मैं शबाना'से गुजरते हुए दो चर्चित उपन्‍यासों की कथाएं जहन में कौंधीं। एक जैनेन्‍द्र की 'त्‍यागपत्र'और दूसरी मिर्जा हाजी रूस्‍वा की 'उमराव जान अदा'। इनमें जो बात कॉमन है, वह है विडंबना। भारतीय समाज में एक औरत होने की विडंबना। कुर्रतुल एन हैदर की कह...
कारवॉं karvaan...
कुमार मुकुल
Tag :मैं शबाना
  May 29, 2018, 2:25 pm
अरसा बाद आज चेतन का फोन आया। पूछा - क्‍या हो रहा, बोले - रजाई में हूं। मां कैसी हैं...। ठीक हैं। इधर दिल्‍ली नहीं आए।मेने बताया कि एकाध दिन को आया था पर मिल नहीं सका। होली में कुछ ज्‍यादा वक्‍त मिलेगा तो मिलते हैं उस वक्‍त। फिर उन्‍होंने पूछा - कैसा रहा साहित्‍योत्‍सव। मैंन...
कारवॉं karvaan...
कुमार मुकुल
Tag :साहित्‍योत्‍सव
  February 12, 2018, 4:03 pm
...
कारवॉं karvaan...
कुमार मुकुल
Tag :
  February 8, 2018, 4:56 pm
ना दोस्‍त है ना रकीब है,तेरा शहर कितना अजीब है...सुबह जगा तो धुंधलका छंटने लगा था और पड़ोसी के लौपडॉग को प्रशिक्षण देने को उसका ट्रेनर उसे पार्क ले जाने की तैयारी में था। रविवार को मेरी फुर्ती भी कुछ बढ जाती है सो दिशा-फरागत हो मैंने वह टेपडांस बजाया जो ऑरकुट मित्र और कथा...
कारवॉं karvaan...
कुमार मुकुल
Tag :
  November 11, 2017, 12:28 pm
बेचैन सी एक लड़की जब झांकती है मेरी आंखों में... बेचैन सी एक लड़की जब झांकती है मेरी आंखों मेंवहां पाती है जगत कुएं काजिसकी तली में होता है जलजिसमें चक्‍कर काटत हैं मछलियों रंग-बिरंगीलड़की के हाथों में टुकड़े होते हैं पत्‍थर केपट-पट-पटउनसे अठगोटिया खेलती है लड़कीकि गि...
कारवॉं karvaan...
कुमार मुकुल
Tag :
  October 24, 2017, 3:01 pm
ऋग्‍वेद के अनुसार - मन्‍द्रस्‍यरूपंविविदुर्मनीषिण: - विद्वान लोग मदकर सोमरस का स्‍वरूप जानते हैं। स: पवस्‍वमदिन्‍तम। सोम को अत्‍यंत प्रमत्‍त करने वाला बताया गया है। सोम को स्‍वर्ग से बाज ले आया था। एक जगह इसके पृथ्‍वी से पैदा होने का भी जिक्र है। सोम धुनष से छूटे बाण ...
कारवॉं karvaan...
कुमार मुकुल
Tag :कुमार मुकुल
  October 13, 2017, 4:33 pm
बीबीसी सहित तमाम मीडिया ने पिछले दिनों एक खबर चलाई थी 'आइआइटी में समोसे बेचने वाले का बेटा'। यह क्‍या तरीका है खबरें बनाने का। कल को अमित शाह जैसे राजनीतिज्ञ इसे 'बनिये का बेटा बना आइआइटीयन'  कह सकते हैं। जब वे गांधी को बनिया कह सकते हैं तो फिर उनसे और क्‍या उम्‍मीद की ...
कारवॉं karvaan...
कुमार मुकुल
Tag :चाय
  October 5, 2017, 3:03 pm
हिन्दी के वरिष्ठ कवियों में शुमार रघुवीर सहाय ने हिन्दी को कभी दुहाजू की बीबी का संबोधन देकर उसकी हीन अवस्था की ओर इशारा किया था। इस बीच ऐसी कोई क्रांतिकारी बात हिन्दी को लेकर हुयी हो ऐसा भी नहीं है। हां, यह सच्चाई जरूर है कि पिछले पचास-साठ वर्षों में हिन्दी भीतर ही भी...
कारवॉं karvaan...
कुमार मुकुल
Tag :हिन्‍दी
  October 3, 2017, 4:22 pm
कुछ हो नहीं रहा आपसे या जम नहीं रहा या आप बोर हो रहे तो आप वायरल हो जाइए। इसके लिए कुछ खास नहीं करना। आप ऐसे व्‍यक्ति की पहचान कीजिए जो जवाब मेंजूतेना मार सके। (इस लोकतंत्र को ऐसे लोगों से भरा जा रहा है।) फिर उसे गिन कर कुछ जूतेमारिए। फिर जूतों की या उसके जूताखाए चेहरे की त...
कारवॉं karvaan...
कुमार मुकुल
Tag :वायरल
  October 3, 2017, 4:16 pm
मोदी जी चुनाव जीतने के बाद भी चुनाव मे लगे हैं निरंतर। मिशन 2014, के बाद मिशन 2017, 2019, फिर 2025।  कोई काम ही नहीं है इनके पास, भाइयों लग जाइए मिशन में। मोदी लहर चल रही, दिल्‍ली में पिटे पर लहर चलती रही, बिहार में पिटे पर लहर चलती रही, जहां लहर का बहर नहीं सध रहा वहां मोल-भाव का कहर जा...
कारवॉं karvaan...
कुमार मुकुल
Tag :
  September 14, 2017, 3:45 pm
अपनी पीढ़ी के एक कवि की चर्चा धूमिल की पंक्ति से शुरू करने के लिए विज्ञजन से क्षमा की आशा रखता हूं। ‘कविता भाषा में आदमी होने की तमीज है।’ मैं इसे थोड़ा सुधारकर कहना चाहता हूं कि ‘आदमी’ होना कविता लिखे जाने की पहली और अनिवार्य शर्त है। व्यक्तित्व के फ्रॉड से ‘बड़ी’ कविता ...
कारवॉं karvaan...
कुमार मुकुल
Tag :राजू रंजन प्रसाद
  August 22, 2017, 5:07 pm
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3822) कुल पोस्ट (181626)