POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Blog: शब्द-क्रांति

Blogger: जेपी हंस
तोड़ता तो आज हर कोई है।कोई धर्म के नाम पर,कोई जाति के नाम पर,पर,जोड़ता तो एक ही हैवह है,डॉक्टर!धर्म, जाति के भेद मिटाकर,धर्म और ... Read more
clicks 2 View   Vote 0 Like   3:52pm 4 Oct 2019 #
Blogger: जेपी हंस
जब से भारत में,नया मोटर वेहिकल नियम आयी है।मृत्यु-दर में कमी आयी है।इसलिए नहीं की,सड़कों पर गाड़ियां नहीं चल रहे हैं।लोग ब... Read more
clicks 0 View   Vote 0 Like   2:41am 27 Sep 2019 #
Blogger: जेपी हंस
भूला दिया है तुझको खुद से मैंबस यही झूठ बोलता हूँ।डूबी होगी यही इश्क की नाव हमारीयही सोचकर मैं दिल की समंदर कोहर रोज टटो... Read more
clicks 1 View   Vote 0 Like   3:00pm 26 Sep 2019 #
Blogger: जेपी हंस
दर्द मुहब्बत के सह लू ,जख्मों का अधिकारी हूँ मैं।पीठ पर जिसने खंजर घोंपे,उन सब का आभारी हूँ मैं।... Read more
clicks 28 View   Vote 0 Like   7:39am 24 Sep 2019 #
Blogger: जेपी हंस
      आमतौर पर शिक्षक शब्द का जिक्र आते ही हमारे मन में जो पहली तस्वीर उभरती है । वह हमारे स्कूल या कॉलेज के शिक्षक की होती है । इसमें दो राय नहीं कि इन दो संस्थाओं के शिक्षक हमें सबसे ज्यादा ज्ञान देते हैं । व्यक्ति के जीवन को बनाने में इन शिक्षकों का अमूल्य योगदान हो... Read more
clicks 2 View   Vote 0 Like   7:44am 5 Sep 2019 #
Blogger: जेपी हंस
हमें अपने आस-पास जितने भी कैरिअर क्षेत्र दिखते है, उनमें जाने के लिए सामान्य या विशेष अध्ययन की जरूरत होती है । स्कूल, कॉलेज, यूनिवर्सिटी में सामान्य शिक्षक, विभिन्न विषयों के शिक्षकों से लेकर मैनेजमेंट, इंजीनियरिंग, मेडिकल, बिजनेस, मार्केटिंग, फाइन आर्ट, नृत्य, संगीत, ... Read more
clicks 2 View   Vote 0 Like   7:43am 5 Sep 2019 #
Blogger: जेपी हंस
शिक्षक के सम्मान में पूरी दुनिया झुकती है । 56 देशों की संस्कृतियों में शिक्षक का स्थान सबसे ऊपर है । अलग-अलग देशों में शिक्षक दिवस अलग-अलग दिन मनाया जाता है । यूनेस्को ने 5 अक्टूबर को वर्ल्ड टीचर्स डे घोषित किया है। यह दुनियाभर के शिक्षकों के मुद्दों को उठाने का दिन है ।Ø... Read more
clicks 4 View   Vote 0 Like   7:41am 5 Sep 2019 #
Blogger: जेपी हंस
अक्सर याद आती है,वो पुरानी चश्मा बुढ़ी नानी के ।नित्य धूल झाड़ कर,रेक पर ऐसे सहजती,मानो कोई अनमोल हीरा ।वो हीरा ही था,नानी के लिए,हर चीज देख पाती आज भी ।जैसे वह वर्षों पहले देखा करती थी ।उसे पहनकर,जवानी अहसास होती ।वरना, खो जाने पर,बेसहारा बुढ़ापे की कसक मेंसपने बुनती रहत... Read more
clicks 7 View   Vote 0 Like   1:28pm 3 Aug 2019 #
Blogger: जेपी हंस
सर्वप्रथम रेमन मैग्सेसे पुरस्कार फाउंडेशन को बहुत-बहुत धन्यवाद और आभार कि उनकी संस्था ने सच्चाई की राह पर चलने वालों को बियाबान अंधेरे में आशा की एक किरण दिखा दी।दूसरे नंबर पर एनडीटीवी इंडिया को बधाई और धन्यवाद कि उसने रवीश कुमारको तमाम झंझावातों के बाद अपने न्यूज़ ... Read more
clicks 6 View   Vote 0 Like   1:23am 3 Aug 2019 #
Blogger: जेपी हंस
चाहा था बनाऊंगा एक पुल तेरे दिल तक पहुचने को।तुम्हें क्या पता कितना दर्द होता है प्यार में अपनों का।मर-मिटने की कसमें खì... Read more
clicks 3 View   Vote 0 Like   3:17pm 23 Jul 2019 #
Blogger: जेपी हंस
मेहंदीमेरे नाम की लगने वाली थी।फूल सपनों की खिलने वाली थी।बीत गयी सोलह सावन देखते-देखते,आज उनके घर पराये कीशहनाई बजने ज... Read more
clicks 7 View   Vote 0 Like   3:11pm 23 Jul 2019 #
Blogger: जेपी हंस
सेवा में,माननीय  मुख्यमंत्री, बिहारपटनाविषयः- सहायक प्रोफेसर की भर्ती प्रतियोगिता परीक्षा  द्वारा कराने के संबंध में ।महोदय,आप भारतीय राजनीति के बहुमूल्य मोती रहे हैं, इसलिए बिहार के छात्रों का एक बड़ा समूह आपसे एक महत्वपूर्ण विषय पर हस्तक्षेप की मांग करते है... Read more
clicks 9 View   Vote 0 Like   4:54pm 4 Jul 2019 #
Blogger: जेपी हंस
सम्पूर्ण भारत में सहायक प्रोफेसर की भर्ती प्रतियोगिता परीक्षा से होती है पर हमारे बिहार राज्य ने इस अति उच्च योग्यता वाले पद को भरने में “डिग्री-लाओ-नौकरी-पाओ”को भर्ती का आधार बनाया है । हमारे देश में कई बोर्ड और कई विश्वविद्यालय है, जिनके मार्किंग पैटर्न में बहुत अं... Read more
clicks 12 View   Vote 0 Like   5:39pm 28 Jun 2019 #
Blogger: जेपी हंस
सेवा में,माननीय ...........................................................................................विषयः- सहायक प्रोफेसर की भर्ती में “डिग्री-लाओ-नौकरी-पाओ”             सिस्टम की जगह  प्रतियोगिता परीक्षाआयोजन कराने के संबंध              में ।महोदय,          सम्पूर्ण भारत मे... Read more
clicks 8 View   Vote 0 Like   6:50am 24 Jun 2019 #
Blogger: जेपी हंस
सेवा में,माननीय...................बिहारविषयः- सहायक प्रोफेसर की भर्ती में “डिग्री-लाओ-नौकरी-पाओ”             सिस्टम की जगह  प्रतियोगिता परीक्षा आयोजन कराने एवं              डोमिसाईल नीतिलागू करने के संबंध में ।महोदय,          सम्पूर्ण भ... Read more
clicks 31 View   Vote 0 Like   1:59pm 26 May 2019 #
Blogger: जेपी हंस
कहा जाता है कि रिश्ते और परिवार समाज की अहम डोर होते हैं । जब नये-नये रिश्ते जुड़ते है तो नये समाज का निर्माण होता है । आधुनिकता के इस दौर में भौतिकता के चक्कर में समाज निर्माण की कार्य-गति धीमी पड़ती जा रही है । नित्य नये रिश्ते तो जुड़ रहे हैं, लेकिन पुराने रिश्ते में धी... Read more
clicks 16 View   Vote 0 Like   2:55am 6 May 2019 #
Blogger: जेपी हंस
     इस धरती का वो नमुना व्यक्ति जिसे आज तक किसी लड़की से प्यार नहीं हुआ । जिसने प्यार शब्द के बारे में दूर-दूर तक सोचा भी नहीं थाऔर जिसे प्यार शब्द से भी चिढ़ था । उसे गाँव से शहर आते ही आज से लगभग 15 वर्ष पहले एक अनजानी परी से मुलाकात हुई । देखते- देखते पल भर तो ठिठका, पर व... Read more
clicks 17 View   Vote 0 Like   2:21am 30 Apr 2019 #
Blogger: जेपी हंस
14 फरवरी को जम्मू-कश्मीर के पुलवामामें हुए आतंकी हमले में शहीद भारतीय नौजवानों को अश्रुपूर्ण श्रद्धांजलि।... Read more
clicks 30 View   Vote 0 Like   3:53pm 19 Feb 2019 #
Blogger: जेपी हंस
स्वतंत्रता दिवस की हादिक बधाई...जय हिंद, जय भारत... Read more
clicks 178 View   Vote 0 Like   5:52am 15 Aug 2018 #
Blogger: जेपी हंस
जी हाँ, दोस्तों, इंटरनेट के इस दौर में पत्र लेखन करीब बंद होती जा रही हैं । एक तरह से लोगों ने पत्र लिखना बंद कर दिया है साथ ही सोशल मीडिया के कारण पत्र लेखन विधा विलुप्त हो रही है । सोशल मिडिया द्वारा लोगों में नकारात्मक विचार जल्दी पनप रही हैं । इसलिए हमें अपनी लेखनी के ज... Read more
clicks 60 View   Vote 0 Like   4:32am 31 Jul 2018 #
Blogger: जेपी हंस
हिन्दी आशुलिपि (शॉर्टहैंड) सीखने के बाद किन-किन विभागों में नौकरी मिल सकती है ।हिन्दी-अंग्रेजी शॉर्टहैंड सीखने के बाद कई राष्ट्रीय-बहुराष्ट्रीय कम्पनियों में स्टेनोग्राफर की नौकरी मिल सकती है । नई दिल्ली स्थित कर्मचारी चयन आयोग प्रत्येक वर्ष स्टेनोग्राफर ग्रेड-ड... Read more
clicks 75 View   Vote 0 Like   2:47am 29 Dec 2017 #
Blogger: जेपी हंस
“बहुत हेल्प हो रहा है बाबू, बहुत, बड़े-बड़े घरों के लोग आ रहे हैं, जिसको जो बुझा रहा है हेल्प कर रहे हैं.“बुढ़ी सी दिखने वाली महिला ने कहा. यह किसी उपन्यास या कथा की शुरूआत नहीं, बल्कि एक अग्निकांड का आंखों देखी वर्णन है. मेरे कार्यालय में शनिवार और रविवार को छुट्टी रहती है. ... Read more
clicks 77 View   Vote 0 Like   2:43am 29 Dec 2017 #
Blogger: जेपी हंस
      आजकल हमारा पुरा देश ही राजनितिक दलों का अखाड़ा बना हुआ है । चाहे वह लोकसभा चुनाव हो, राज्यसभा, विधानसभा, विधान परिषद् चुनाव हो या नगरपालिका/नगर निगम के मेयर, पार्षद का चुनाव या पंचायती चुनाव के मुखिया, सरपंच, पंच या वार्ड सदस्य का हो या कॉलेज का छात्र संघ चुनाव । स... Read more
clicks 79 View   Vote 0 Like   7:59am 24 Dec 2017 #
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Publish Post