POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Blog: अपनी शायरी अपनी जुबानी

Blogger: सुब्रत आनंद
वफा मैनेँ की है वफा चाहता हुँ खुद से भी ज्यादा मैँ तुझे चाहता हुँ ना दिन की फिकर ना रात का गम है जो केवल तुझे देखे वो नजर चाहता हुँ बैठे रहो तुम पास मेरे ना हो दुरियाँ जुदा ना हो हम कभी ऐसा हमसफर चाहता हुँFiled under: शायरी ... Read more
clicks 154 View   Vote 0 Like   1:29am 24 Jan 2016 #
Blogger: सुब्रत आनंद
तेरी चाहत की गहराई मेँ कुछ ऐसे खोया हुँ जैसे बरसोँ थकान के बाद आज सोया हुँ ना आरजू है ना तमन्ना है मेरी जमाने की एक तुम ही तो हो जिसके लिए मैँ बरसोँ रोया हुँFiled under: शायरी ... Read more
clicks 151 View   Vote 0 Like   11:25am 29 Nov 2015 #
Blogger: सुब्रत आनंद
कर ली हमने भी मुहब्बत दुनिया को देखकर जिसे सारी दुनिया करती है वो महज धोखा तो हो नहीँ सकतीFiled under: शायरी ... Read more
clicks 155 View   Vote 0 Like   11:16am 29 Nov 2015 #
Blogger: सुब्रत आनंद
तेरी चाहत मेँ मैनेँ खुद को युँ सँवारा है तेरे बिना नहीँ एक पल गँवारा  है दुर अगर हो जाओ तो जी नहीँ लगता मैनेँ खुदा से सजदे मेँ सिर्फ तुझे ही माँगा हैFiled under: शायरी ... Read more
clicks 142 View   Vote 0 Like   5:59am 26 Nov 2015 #
Blogger: सुब्रत आनंद
आँखोँ मेँ चाहत दिल मेँ प्यार बिछाए बैठे हैँ अपनी आशिकी मेँ तुझको कुछ युँ सजाए बैठे हैँ अरमानोँ मेँ बसी हो तुम की तुझे हमसफर बना लुँ कितने अरसोँ से तुम्हेँ खुद मेँ समाए बैठे हैँFiled under: शायरी ... Read more
clicks 133 View   Vote 0 Like   5:52am 26 Nov 2015 #
Blogger: सुब्रत आनंद
मेरी जिँदगी अब तेरी अमानत है तु है तो मेरी जिँदगी सलामत है आरजू नहीँ है अब तेरे बिन जीने की अगर नहीँ हो तुम तो कयामत ही कयामत हैFiled under: शायरी ... Read more
clicks 153 View   Vote 0 Like   12:00am 7 Nov 2015 #
Blogger: सुब्रत आनंद
हमेँ जमाने की आरजू कहाँ थी मैँ वहाँ था वो जहाँ थी सितारोँ की चमक मेँ चाँदनी क्या खुब लगती है आशिकी वहाँ थी मेरी तेरी चाहत जहाँ थी खिदमत को तेरी मैँ चाँद तारे तोङ लाउँ पेश खुन-ए-दिल था मेरा तेरी कदमेँ जहाँ थी कशिश पाने की है तुझे की दुर तुझसे रह ना पाता हुँ मैँनेँ खुद को ही प... Read more
clicks 148 View   Vote 0 Like   8:21am 28 Oct 2015 #
Blogger: सुब्रत आनंद
किस्मत की लकीरोँ मेँ तुम नहीँ शायद मेरी पुरी जिँदगी पर तेरे नाम होगी तुम मुझे बेवफा कहो मुझे परवाह नहीँ परवाह है तो बस ये कि मेरे बिना तुम भी कैसे खुश होगीFiled under: शायरी ... Read more
clicks 135 View   Vote 0 Like   8:18am 28 Oct 2015 #
Blogger: सुब्रत आनंद
कर दी जिँदगी मैँ थोङी भुल हमने भी देख ली सपने बेबुनियाद हमने भी रेत मेँ चले थे बनाने को घर इसी सीलसिले मेँ खो दी खुशी और सकून हमने भी नफरत होती है हमेँ अब मुहब्बत के नाम से इसमेँ कभी अश्क नैनोँ से रुकते नहीँ जख्मोँ से सनी है मुहब्बत-ए-दाँस्ता ये ऐसे जख्म है जो कभी युँ दिखते... Read more
clicks 146 View   Vote 0 Like   8:16am 28 Oct 2015 #
Blogger: सुब्रत आनंद
साँस थम जाती है आपके जाने के नाम से , दिल मचल उठता है आपके आने के नाम से। कभी दुर मत जाना की जी नहीँ लगता, जान चली जाएगी आपको भुलाने के नाम सेFiled under: शायरी ... Read more
clicks 165 View   Vote 0 Like   4:49am 11 Oct 2015 #
Blogger: सुब्रत आनंद
अश्को को आँखो से शिकायत इतनी है , दिल को मुहब्बत की जरुरत जितनी है। क्योँ कर देते हो मुझे पास लाकर इतनी दुर, जब तुझको मुझसे नफरत इतनी है।।Filed under: शायरी ... Read more
clicks 143 View   Vote 0 Like   4:48am 11 Oct 2015 #
Blogger: सुब्रत आनंद
तेरी खुबसुरती का ये फसाना हुआ ये चाँद भी आज तुम्हारा दिवाना हुआ जुल्फोँ को तुम बिखराओ तो घटा बरसती है हर किसी की जान अब तेरी जान मेँ बसती है दुपट्टा गर लहराओ तो ही हवा भी चलती है तेरी साँस को छुने को हर अरमाँ तङपती है तुम हँसो तो बहारोँ के फुल भी तब खिलते हैँ भँवर भी तब कही... Read more
clicks 122 View   Vote 0 Like   1:16am 11 Oct 2015 #
Blogger: सुब्रत आनंद
बेबसी ने मुझे इस कदर सताया है खुद की लाचारी पर अब मुझे रोना आया है जिन्दगी तुझसे मैँ एक सवाल पुँछता हुँ तुने दिया किया है मुझे केवल खोया हुँ किरदार भी दिया तुमने तो ये कैसा दिया खुद को ही तुमने खुद से जुदा किया ना खुशी दी ना खुशनुमा संसार दिया ना दिल दी ना मुहब्बत और प्यार ... Read more
clicks 144 View   Vote 0 Like   1:15am 11 Oct 2015 #
Blogger: सुब्रत आनंद
मंजिल वही रहती है बस सफर बदल जाते है मुहब्बत भरी दुनिया मेँ हमसफर बदल जाते हैँ आरजू होती है तुझ मेँ खो जाने की बेवफा तुम ना हो जाओ कहीँ ये सोच ख्यालात बदल जाते है ।Filed under: शायरी ... Read more
clicks 128 View   Vote 0 Like   1:13am 11 Oct 2015 #
Blogger: सुब्रत आनंद
तमन्ना होती है तुम्हेँ हमसफर बना लुँ दुनिया की नजरोँ से तुझ को बचा लुँ कर के एलान हाँ मुहब्बत है तुमसे सारी दुनिया से कहकर खुद मेँ छुपा लुँ भुल कर दुनिया की रश्म-ओ-रिवाज तेरी झील से आँखो मेँ खो जाउँ आज तेरी सादगी मेँ कुछ ऐसा कर जाऊँ तुम मेरी गजल बनो मैँ तेरा शायर बन जाऊँ तु... Read more
clicks 139 View   Vote 0 Like   1:12am 11 Oct 2015 #
Blogger: सुब्रत आनंद
साँसोँ का क्या भरोसा ये तो टुट जाते हैँ चंद लम्होँ मेँ सारे रिश्ते-नाते छुट जाते हैँ जिसे आज तुम अपना-अपना कहते हो शव पर आकर तेरे बस ये ही कुछ देर रो जाते हैँ शमशान पर पहुँच कर तेरे ये अपने वक्त क्या लगेगा जलने मेँ ये सवाल पुछते हैँ कुछ नहीँ जाता साथ तेरे ए मनुष्य बस तेरे अ... Read more
clicks 129 View   Vote 0 Like   1:07am 11 Oct 2015 #
Blogger: सुब्रत आनंद
मेरे लफ्जोँ मेँ तेरे सिवा कोई नाम ना हो तेरे बिना मेरी पुरी कोई शाम ना हो साँस भी चले तो बस तेरे पास होने पे चले हमारी जिँदगी मेँ गम का कोई नामो निशान ना होFiled under: शायरी ... Read more
clicks 122 View   Vote 0 Like   12:00am 11 Oct 2015 #
Blogger: सुब्रत आनंद
शहर की झोपङपट्टी से मैँ कभी कभी गुजरा करता था एक बच्ची को नंगे पैर दौङते देखा करता था चिलचिलाती धुप ने सबको बदहाल बना डाला था उसके चेहरे पर सिकन तक ना थी शायद भुख ने उसे बेदर्द बना डाला था मेरी भी इच्छा हुई मै भी नंगे पैर चल कर देखुँ उस बच्ची की तरह मै भी दौङ कर देखुँ चप्पल ... Read more
clicks 124 View   Vote 0 Like   3:05pm 10 Oct 2015 #
Blogger: सुब्रत आनंद
एक गरीब भुख का मारा कुछ ऐसा था करता रोज सुबह रास्ते मेँ अक्सर वो था मिलता सुबह सुबह वह कचरे के डिब्बे से कुछ था चुनता आँखे तेज थी उसकी कचरे मेँ कुछ था ढुँडता सारे पोटली को खोल खोल कर था कुछ वो देखता कंधे पर उसने एक बोरा बाँधे रखा था गर मिल जाए कुछ तो वो उसमेँ डाला करता था लाच... Read more
clicks 130 View   Vote 0 Like   3:02pm 10 Oct 2015 #
Blogger: सुब्रत आनंद
चाहत मे तेरी मैँ जिँदगी सँवार दुँ जितना किसी ने ना दिया वो मैँ प्यार दुँ खुदा के बेमिशाल कारीगरी का तोहफा हो तुम फिर क्युँ ना तेरी जिँदगी मेँ सारी दुनिया वार दुँFiled under: शायरी ... Read more
clicks 129 View   Vote 0 Like   3:23pm 9 Oct 2015 #
[ Prev Page ] [ Next Page ]


Members Login

Email ID:
Password:
        New User? SIGN UP
  Forget Password? Click here!
Share:
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3916) कुल पोस्ट (192564)