POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Blog: Know About Uttarakhand उत्तराखंड के बारे में जाने

Blogger: Lokesh Rawat
एक बार रमेश दा लड़की देखने गया!लड़की गांव से उपर रोड साइड एक कस्बे में रहती थी. रमेश दा ने लड़की देखी - गोरी फनार लड़की ठैरी रमेश दा तो चाइयैं रह गया लड़की को .. बोला तुमर नाम कि छ ? कतु तक पढाई कर रे ? लड़की - कमुली ठैरा मेरा नाम .. हाइस्कूल में तीन नम्बर से थर्ड डिबिजन रुक गयी ठै... Read more
clicks 177 View   Vote 0 Like   2:27pm 10 Oct 2016 #
Blogger: Lokesh Rawat
Rampur Tiraha firing caseरामपुर तिराहा गोलीकाण्ड मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से https://hi.wikipedia.org/s/80pq(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); रामपुर तिराहा गोली काण्डपुलिस द्वारा उत्तराखण्ड राज्य आन्दोलनके आन्दोलनकारियों पर उत्तर प्रदेशके रामपुर क्राॅसिंग, मुज़फ्फरनगर जिलेमें की गई गोलीबारी की घटना को कह... Read more
clicks 113 View   Vote 0 Like   11:19am 2 Oct 2016 #
Blogger: Lokesh Rawat
नवरात्रिएक हिंदू पर्व है। नवरात्रि एक संस्कृतशब्द है, जिसका अर्थ होता है 'नौ रातें'। इन नौ रातों और दस दिनों के दौरान, शक्ति / देवी के नौ रूपों की पूजा की जाती है। दसवाँ दिन दशहराके नाम से प्रसिद्ध है। नवरात्रि वर्ष में चार बार आता है। पौष, चैत्र,आषाढ,अश्विनप्रतिपदा से न... Read more
clicks 101 View   Vote 0 Like   5:35am 1 Oct 2016 #
Blogger: Lokesh Rawat
Navaratri is a festival dedicated to the worship of the Hindu deity Durga. The word Navaratri means 'nine nights' in Sanskrit, nava meaning nine and ratri meaning nights.[2] During these nine nights and ten days, nine forms of Devi are worshipped. The tenth day is commonly referred to as Vijayadashami or "Dussehra" (also spelled Dasera). Navaratri is an important major festival and is celebrated all over India and Nepal. Diwali the festival of lights is celebrated twenty days after Dasera. Though there are in total five types of Navaratri that come in a year, Sharad Navaratri is the most popular one. Hence, the term Navaratri is being used for Sharada Navaratri here.[3](adsbygoogle = window... Read more
clicks 109 View   Vote 0 Like   5:32am 1 Oct 2016 #
Blogger: Lokesh Rawat
आप सब लोगो को हरेला की शुभकामनाये|  (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); श्रावण मास के हरेला का अपना महत्व है| जैसे की विदित है की श्रावण मास भगवान शंकर के प्रिय मास है, इसलिए इस हरेले को कही कही हर-काली के नाम से भी जन जाता है|चैत्र व आश्विन मास के हरेले मौसम के बदलाव के सूचक है|चैत्र मास... Read more
clicks 111 View   Vote 0 Like   2:37pm 15 Jul 2016 #
Blogger: Lokesh Rawat
ईजा की इच्छा-ब्वारि 👰ऐसी चााहिए(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); जो अंग्रजी के साथ कुमाउनी में भीबात करती होघास काटने 🌾🌾के साथ फेसबुक भी चलाती होटीबी पर न चिपकी रहे,गुणी बानर🐒भी भगाती हो..ब्वारि👰ऐसी चााहिए , जो सबको भाती हो..ब्वारि ऐसी चााहिएपिज्जा 🍕🍝चोमिन के साथ भट के डूबुक भी ब... Read more
clicks 98 View   Vote 0 Like   3:20pm 13 Jul 2016 #
Blogger: Lokesh Rawat
(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); -तू ठहरी coffee की शौक़ीन, मैं ठहरा चूल्हे की चाय का अमली।--तू ठहरी DJ और लाउंज वाली , मैंठहरा पहाड़ी ढोल - दमुआ वाला ।--तुझे शौक़ ठहरा स्विमिंग पूल का , मैंठहरा नदियों - धारों वाला । --Mom-dad कहना तो नहीं सीखा ,लेकिन इजा और बौजु से सब सीखा । --तूने आज तक डाँट भी खाई की नह... Read more
clicks 102 View   Vote 0 Like   3:05pm 13 Jul 2016 #
Blogger: Lokesh Rawat
(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); आज मैं आपको विशुद्ध पहाड़ी तरीके से मरचाणी बनाने की बिधि बता रहा हूंमरचांणी बनाने की बिधि - सामग्री - जांती .. छिलुक .. लाकाड़ .. सलाई ( सलाई ना होने पर पड़ौस से एक डाड़ू आगाक क्वैल मांग कर ला सकते हैं ) सिलबरैकि कितैलि ... पाणि ... काली मिर्च ... सिल - लोड़ ...पीतलक ग... Read more
clicks 104 View   Vote 0 Like   3:00pm 13 Jul 2016 #
Blogger: Lokesh Rawat
यदि आप एडवेंचर ट्रैकिंग के शौक़ीन है तो रूपकुंड झील आपके लिए एक बेहतरीन जगह हैं। रूपकुंड झील (Roopkund lake ) हिमालय के ग्लेशियरों के गर्मियों में पिघलने से उत्तराखंड के पहाड़ों मैं बनने वाली छोटी सी झील हैं।(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); यह झील 5029 मीटर ( 16499 फीट )कि ऊचाई पर स्तिथ हैं जिसके चा... Read more
clicks 103 View   Vote 0 Like   9:52am 13 Jul 2016 #
Blogger: Lokesh Rawat
आप सभी को पावन गंगा दशहरे की बहुत-बहुत बधाई व शुभकामनायें!गंगा दशहरा बहुत उत्साह  से उत्तराखंड में मनाया जाता है। यह त्यौहारज्येष्ठ (मई-जून) के दसवें दिन शुरू होता है हिन्दू कैलेंडर के अनुसार। कोईलोग पोस्टरपरज्यामितीय डिजाइनों के साथ ,इन पोस्टरोंको अपने घर के स... Read more
clicks 114 View   Vote 0 Like   2:37pm 14 Jun 2016 #
Blogger: Lokesh Rawat
Chholiya(Kumaoni-छोलिया) एकडांसउत्तराखंड केकुमाऊं क्षेत्रमें प्रचलितरूप है।यह मूल रूप सेएकबारातके साथएक तलवारनृत्य है, लेकिन अब यहकईशुभ अवसरोंपर किया जाता है |... Read more
clicks 123 View   Vote 0 Like   3:06pm 23 May 2016 #
Blogger: Lokesh Rawat
केदारनाथ, गंगोत्री, यमुनोत्री के कपाट खुले, शुरू हुई चारधाम यात्रादेहरादून: उत्तराखंड में गढवाल हिमालय के चारधामों में से तीन केदारनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री मंदिर के कपाट अक्षय तृतीया के पावन पर्व पर आज छह माह के अंतराल के बाद श्रद्धालुओं के लिये दोबारा खोले जाने ... Read more
clicks 95 View   Vote 0 Like   6:57pm 12 May 2016 #uttarakhand news
Blogger: Lokesh Rawat
फौजीललितमोहनजोशी का जन्म  रानीखेत, उत्तराखंडमेंहुआऔरकुमाऊंनी,उत्तरांचलीलोककलाकार(एकमहानगायक)केरूपमें प्रसिद्धहै। फौजीललितमोहनजोशीकानामउत्तराखंडकेशीर्षगायकोंसूचीमेंआताहै।वह शुरू मेंसेनामेंथे, लेकिन गायनऔरमधुरआवाजकेकारण, उन्होंनेगायनकेक्षेत्र... Read more
clicks 265 View   Vote 0 Like   6:50am 14 Jan 2016 #Uttarakhand
Blogger: Lokesh Rawat
श्राद्ध के बारे में जानेश्राद्ध Shraddh(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); श्राद्ध में तर्पण प्रदर्शन, हमारे पूर्वजों का सम्मान करने का एक तरीका है।यहलोगोंकोअपनेमाता-पिताऔरपूर्वजोंकेप्रतिहार्दिककृतज्ञताऔरधन्यवादव्यक्तकरनेकेलिएएकरास्ताहै|श्राद्ध यह बताने का एक तरीका है। कि व... Read more
clicks 95 View   Vote 0 Like   6:46am 14 Jan 2016 #Uttarakhand
Blogger: Lokesh Rawat
श्राद्ध के बारे में जानेश्राद्ध Shraddhश्राद्ध में तर्पण प्रदर्शन, हमारे पूर्वजों का सम्मान करने का एक तरीका है।यहलोगोंकोअपनेमाता-पिताऔरपूर्वजोंकेप्रतिहार्दिककृतज्ञताऔरधन्यवादव्यक्तकरनेकेलिएएकरास्ताहै|श्राद्ध यह बताने का एक तरीका है। कि वे अभी भी परिवार का ए... Read more
clicks 156 View   Vote 0 Like   6:46am 14 Jan 2016 #Uttarakhand
Blogger: Lokesh Rawat
टिहरी गढ़वालभारत के उत्तराखण्ड राज्य का एक जिला है। पर्वतों के बीच स्थित यह स्थान बहुत सौन्दर्य युक्त है। प्रति वर्ष बड़ी संख्या में पर्यटक यहां पर घूमने के लिए आते हैं। यह स्थान धार्मिक स्थल के रूप में भी काफी प्रसिद्ध है। यहां आप चम्बा, बुदा केदार मंदिर, कैम्पटी फॉल... Read more
clicks 244 View   Vote 0 Like   6:44am 14 Jan 2016 #Uttarakhand
Blogger: Lokesh Rawat
(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); कैंची धाम, नैनीताल से 38 किमी की दूरी पर अल्मोड़ामार्ग में स्थित सुप्रसिद्ध मंदिर हैं। इसकी संस्थापक बाबा नीब करौली महाराज ने सन १९६२ के आसपास यहाँ आये थे। इस आश्रम को "नीम करौली", "नीब करौली", "कैंची धाम"नाम से भी जाना जाता है।प्रति वर्ष 15 जून को यहाँ विशा... Read more
clicks 113 View   Vote 0 Like   6:39am 14 Jan 2016 #kaichi-dham
Blogger: Lokesh Rawat
कैंची धाम, नैनीताल से 38 किमी की दूरी पर अल्मोड़ामार्ग में स्थित सुप्रसिद्ध मंदिर हैं। इसकी संस्थापक बाबा नीब करौली महाराज ने सन १९६२ के आसपास यहाँ आये थे। इस आश्रम को "नीम करौली", "नीब करौली", "कैंची धाम"नाम से भी जाना जाता है।प्रति वर्ष 15 जून को यहाँ विशाल मेला/ भंडारा आयोज... Read more
clicks 157 View   Vote 0 Like   6:39am 14 Jan 2016 #kaichi-dham
Blogger: Lokesh Rawat
(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); उत्तरायणी मेला 14 जनवरी को शुरू होता है. इस मेले में बड़ी संख्या में श्रद्धालु पहुंचते हैं. श्रद्धालु सरयू और गोमती नदी के संगम पर डुबकी लगाते हैं. बागनाथ के मंदिर में भगवान शिव के दर्शन करते हैं और ब्राह्मणों और भिक्षुकों को दान-दक्षिणा देकर पुण्य अर... Read more
clicks 100 View   Vote 0 Like   10:26am 13 Jan 2016 #Uttarakhand
Blogger: Lokesh Rawat
                         🌴"उत्तरायणी मेले को लेकर एक खास कथा भी प्रचलित है."🌴उत्तरायणी मेला 14 जनवरी को शुरू होता है. इस मेले में बड़ी संख्या में श्रद्धालु पहुंचते हैं. श्रद्धालु सरयू और गोमती नदी के संगम पर डुबकी लगाते हैं. बागनाथ के मंदि... Read more
clicks 137 View   Vote 0 Like   10:26am 13 Jan 2016 #Uttarakhand
clicks 156 View   Vote 0 Like   12:51pm 13 Oct 2015 #
clicks 177 View   Vote 0 Like   9:05am 6 Oct 2015 #
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Publish Post