POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Blog: प्रेमवाणी

Blogger: safat alam taimi
एक सज्जन ने फेसबुक पर लिखा है कि " बुरा ना मानें पर मैंने सुना है कि गैर मुस्लिम को मारो सताओ कुछ भी करो पर उन्हें इस्लाम कबूल करवाओ। जिसे जिहाद का नाम दिया गया है और जो भी इस काम करेगा उसे जन्नत प्राप्त होगी। क्या ये बात सही है ?"सर्व प्रथम हम आपके स्वभाव की शुद्धता का सम्म... Read more
clicks 110 View   Vote 0 Like   2:32pm 6 Sep 2014 #
Blogger: safat alam taimi
अपनी मातृभूमि से प्रेम, स्नेह और मुहब्बत एक ऐसी प्राकृतिक भावना है जो हर इंसान बल्कि हर ज़ीव में पाई जाती है। जिस धरती पर मनुष्य पैदा होता है, अपने जीवन के रात और दिन बिताता है, जहां उसके रिश्तेदार सम्बन्धी होते हैं,वह धरती उसका अपना घर कहलाती है, वहाँ की गलयों, वहाँ के दर... Read more
clicks 139 View   Vote 0 Like   11:17am 14 Aug 2014 #
Blogger: safat alam taimi
http://feeds.feedburner.com/http/safatalamblogspotcom... Read more
clicks 69 View   Vote 0 Like   7:59pm 2 Jul 2014 #
Blogger: safat alam taimi
http://feeds.feedburner.com/http/safatalamblogspotcom... Read more
clicks 95 View   Vote 0 Like   7:39pm 2 Jul 2014 #
Blogger: safat alam taimi
यदि आप धर्मों का अध्ययन करें तो पाएंगे कि हर युग में महिलाओं के साथ सौतेला व्यवहार किया गया, हर धर्म में महिलाओं का महत्व पुरुषों की तुलना में कम रहा। बल्कि उनको समाज में तुच्छ समझा गया, उन्हें प्रत्येक बुराइयों की जड़ बताया गया, उन्हें वासना की मशीन बना कर रखा गया। एक त... Read more
clicks 68 View   Vote 0 Like   7:55pm 8 Mar 2014 #
Blogger: safat alam taimi
अपनी मातृभूमि से प्रेम, स्नह और मुहब्बत एक ऐसी प्राकृतिक भावना है जो हर इंसान बल्कि हर ज़ीव में पाई जाती है। जिस धरती पर मनुष्य पैदा होता है, अपने जीवन के रात और दिन बिताता है, जहां उसके रिश्तेदार सम्बन्धी होते हैं,वह धरती उसका अपना घर कहलाती है, वहाँ की गलयों, वहाँ के दरो-... Read more
clicks 67 View   Vote 0 Like   12:21pm 26 Jan 2014 #
Blogger: safat alam taimi
यदि कुरआन मुहम्मद सल्ल. का संकलन होता और वह अल्लाह के भेजे गए रसूल न होते तो क्या मुहम्मद सल्ल. स्वयं को धोखा में रख कर अपनी जान जोखिम में डाल सकते थे ?आपके सामने एक घटना बयान कर रहा हूँ आप अपनी बुद्धि विवेक से उस पर विचार करें:अल्लाह तआला ने फरमाया : يَا أَيُّهَا الرَّس... Read more
clicks 67 View   Vote 0 Like   8:44am 19 Jan 2014 #अवतार
Blogger: safat alam taimi
मुस्लिमःकिसने हमें, आपको तथा सम्पूर्ण संसार को पैदा किया ?इसाईः गाड नेमुस्लिमः गाड कौन है ?इसाईःजिससमुस्लिमः क्या हम आपकी बात से यह समझें कि जिसस ने अपनी माता को भी पैदा किया और उन से पूर्व संदेष्टा हज़रत मूसा अलैहिस्सलाम आए थे, उनको भी पैदा किया ?इसाईःजिसस प्रमेश... Read more
clicks 109 View   Vote 0 Like   5:34am 26 Dec 2013 #
Blogger: safat alam taimi
ज़कात इस्लाम के पाँच स्तम्भों में से एक महत्वपूर्ण स्तम्भ है,यह हृदय को बख़ीली और कंजूसी से शुद्ध करती है और दानशीलता लाती है, सहानुभूति और निर्धनों की सहायता की भावना पैदा करती है और जब हम अपने पैदा करने वाले के समक्ष उपस्थित होंगे तो उसका पुण्य भी बड़ा लाभदायक और स... Read more
clicks 83 View   Vote 0 Like   4:30pm 11 Dec 2013 #
Blogger: safat alam taimi
नमाज़ मुसलमान और उसके रब के बीच एक प्रकार का सम्पर्क है, जब मुस्लिम नमाज़ में विनम्रता अपनाता है तो उसे शान्ति, सुकून और राहत का अनुभव होता है इसलिए कि उसने एक सर्वशक्तिमान अल्लाह से सम्पर्क किया और उसका द्वार खटखटाया है। इसी लिए मुहम्मद सल्लल्लाहु अलैहि व सल्लम  ह... Read more
clicks 78 View   Vote 0 Like   4:23pm 11 Dec 2013 #
Blogger: safat alam taimi
मुसलमान मात्र एक अल्लाह की पूजा करतें हैं जो प्यारे प्यारे नामों और महान गुणों से सुसज्जित है। वह उस अल्लाह पर विश्वास रखते हैं जो उनका श्रृष्टा और मालिक है, उसे न पत्नी की आवश्यकता है, न सन्तान की ज़रूरत है, उसे न निन्द्रा आती है और न ऊँघ, उसने आकाश और पृथ्वी की रचना की, ... Read more
clicks 160 View   Vote 0 Like   8:18am 22 Sep 2013 #ईश्वर की पहचान
Blogger: safat alam taimi
विज्ञान के इस आधुनिक युग में इस्लामी उपवास के विभिन्न आध्यात्मिक, सामाजिक, शारीरिक, मानसिक तथा नैतिक लाभ सिद्ध किए गए हैं। जिन्हें संक्षिप्त में बयान किया जा रहा है।आध्यात्मिक लाभः (1) इस्लाम में रोजा का मूल उद्देश्य ईश्वरीय आज्ञापालन और ईश-भय है, इसके द्वारा एक व्... Read more
clicks 70 View   Vote 0 Like   12:30pm 9 Jul 2013 #इबादत
Blogger: safat alam taimi
यह एक व्यर्थ प्रश्न है। सर्वप्रथम हम यह सवाल करते हुए मान रहे हैं कि अल्लाह  है और यदि किसी को इस विषय पर विश्वास नहीं है तो स्वयं उसे अपने वजूद पर भी विश्वास नहीं करना चाहिए क्यों कि उसका वजूद यह पता देता है कि उसका कोई बनाने वाला है, हम बिना बनाने वाले के नहीं बन सकत... Read more
clicks 78 View   Vote 0 Like   1:46pm 4 Jul 2013 #
Blogger: safat alam taimi
http://feeds.feedburner.com/http/safatalamblogspotcom... Read more
clicks 68 View   Vote 0 Like   8:20pm 1 Jun 2013 #
Blogger: safat alam taimi
वन्दे मातरम् बंगला भाषा के प्रसिद्ध उपन्यासकार बंकिमचंद्र चटर्जी की उपन्यास 'आनंदमठ' मैं शामिल है। मूल रूप में यह उपन्यास इस्लाम शत्रुता पर आधारित है और उसमें अंग्रेज़ों को अपना सुरक्षक और मसीहा सिद्ध किया गया है। वन्दे मातरम् उपन्यास का एक भाग है। उपन्यास में विभि... Read more
clicks 170 View   Vote 0 Like   5:30pm 10 May 2013 #
Blogger: safat alam taimi
http://feeds.feedburner.com/http/safatalamblogspotcom... Read more
clicks 123 View   Vote 0 Like   5:17am 29 Apr 2013 #
Blogger: safat alam taimi
http://feeds.feedburner.com/http/safatalamblogspotcom... Read more
clicks 70 View   Vote 0 Like   5:16am 29 Apr 2013 #
Blogger: safat alam taimi
http://feeds.feedburner.com/http/safatalamblogspotcom... Read more
clicks 77 View   Vote 0 Like   5:14am 29 Apr 2013 #
Blogger: safat alam taimi
http://feeds.feedburner.com/http/safatalamblogspotcom... Read more
clicks 84 View   Vote 0 Like   5:13am 29 Apr 2013 #
Blogger: safat alam taimi
http://feeds.feedburner.com/http/safatalamblogspotcom... Read more
clicks 65 View   Vote 0 Like   5:12am 29 Apr 2013 #
Blogger: safat alam taimi
http://feeds.feedburner.com/http/safatalamblogspotcom... Read more
clicks 65 View   Vote 0 Like   5:10am 29 Apr 2013 #
Blogger: safat alam taimi
بِسْمِ اللَّهِ الرَّحْمَٰنِ الرَّحِيمِअल्लाह के नाम से जो बड़ा कृपाशील और अत्यन्त दयावान हैं प्रिय मित्रो, कुछ समय से इन्टरनेट पर पंडित महेंद्रपाल आर्य के 15 प्रश्नों की अधिक चर्चा थी। आर्य समाज की विचारधारा के लोग इस प्रश्नपत्र को प्रचारित कर रहे हैं, और इस प्रश्नपत्र के उत्... Read more
clicks 133 View   Vote 0 Like   9:18pm 18 Apr 2013 #
Blogger: safat alam taimi
 Global Warming आज की सब से बड़ी समस्या है। रसूल सल्ल. ने इस्लाम की रोशनी में धरती से अमली तौर पर हर प्रकार की गंदगी को दूर करने की ताकीद की जिस से पर्यावरण भंग हो सकता हो. आप (सल्ल.) ने पवित्रता और सफाई के लिए लोगों की समझ को जागरूक किया। आप सल्ल. ने रास्ते और साए में शौचालय करन... Read more
clicks 130 View   Vote 0 Like   5:47am 10 Apr 2013 #
Blogger: safat alam taimi
  इस्लाम में अल्लाह के अधिकार के तुरन्त बाद मानव के अधिकार के पालन का आदेश दिया गया है। क़ुरआन कहता हैः "नेकी और भलाई के काम में एक दूसरे की सहायता करो।" (अल-माईदा 2")मुहम्मद सल्ल. की जीवनी का अध्ययन करें तो पाएंगे कि आप बाल्यावस्था से ही जनसेवा में ग्रस्त रहे, जब ... Read more
clicks 72 View   Vote 0 Like   2:45pm 13 Mar 2013 #
[ Prev Page ] [ Next Page ]


Members Login

Email ID:
Password:
        New User? SIGN UP
  Forget Password? Click here!
Share:
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3941) कुल पोस्ट (195200)