POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Blog: ram ram bhai

Blogger: veerubhai
मार्क्सवादी भकुओं के कच्चे चिठ्ठे  : डॉ। नन्द लाल मेहता "वागीश "डी.लिट                               (पूर्व फेलो संस्कृति मंत्रालय )एक ख़ास तरीके से साहित्य अकादमी पुरुस्कारों को वापस करने की होड़ लगी है। ये पुरुस्कार वापस करने वाले लोग कई खेमों के एक स... Read more
clicks 113 View   Vote 0 Like   4:41pm 2 Nov 2015 #
Blogger: veerubhai
मार्क्सवादी भकुओं के कच्चे चिठ्ठे  : डॉ। नन्द लाल मेहता "वागीश "डी.लिट                               (पूर्व फेलो संस्कृति मंत्रालय )एक ख़ास तरीके से साहित्य अकादमी पुरुस्कारों को वापस करने की होड़ लगी है। ये पुरुस्कार वापस करने वाले लोग कई खेमों के एक स... Read more
clicks 86 View   Vote 0 Like   4:30pm 2 Nov 2015 #
Blogger: veerubhai
We are suffering because of our memory retained by our tiny brains  which is a small fraction of our vast genetic memory .The genetic apparatus of each cell of our body remembers even the color of the skin of our distant past ancestors .And we are not even aware of this vast reservoir of genetic memory and that little memory retained by the brain of events related to the past and of our past experiences  is eating our present  moments .We are not deleting those unpleasant things .We are refreshing those unpleasant memories each day and want to settle the score .with our opponents .We are suffering because of this memory . We are suffering because of our projections w... Read more
clicks 78 View   Vote 0 Like   1:59am 2 Nov 2015 #
Blogger: veerubhai
भाषा का स्वत : स्फूर्त विस्फोट है फेसबुकिया भाषा डिजिटल भाषा ने कुछ दिन पहले एक शब्द गढ़ा था -साइबोर्ग। संक्षिप्त रूप था यह साइबर्नेटिक ऑर्गेनिज़्म का।साइबर्नेटिक्स से 'साई'लिया गया और ऑर्गेनिज़्म से 'ऑर्ग'हो गया साइबोर्ग।   हम और हमारे आसपास आज साइबोर्ग ही साइबो... Read more
clicks 71 View   Vote 0 Like   12:18am 2 Nov 2015 #
Blogger: veerubhai
ऐसा कहते हैं ये सम्पूर्ण अखिल ब्रह्माण्ड भगवती पराम्बा के नख से उत्पन्न हुआ है।आदि शक्ति ये ही, जग उपजाया ,सो अवतरित तोर ,यह  माया। जो कुछ भी दृष्टि गोचर हो रहा है ऐसा कहते हैं यह उस पराम्बा की परममाया है। उस पराम्बा को आदि शक्ति को जानने के लिए देवीभगवती श्रीमद... Read more
clicks 77 View   Vote 0 Like   7:13pm 31 Oct 2015 #
Blogger: veerubhai
संसार की माया जब आपको घेरने लगे तब इस महामाया को याद कर लेना। महामाया के सामने माया की एक नहीं चलती। सुद्युम्न को लेकर श्राद्ध देव गुरु वशिष्ठ को साथ लेकर देवी भगवती पराम्बा जगदम्बा के पास पहुंचे। जय सर्व सुर आराधे। बोले श्राद्धदेव -माँ हम आपकी शरण में आये हैं। आप तो ... Read more
clicks 126 View   Vote 0 Like   10:37pm 30 Oct 2015 #
Blogger: veerubhai
बिहार के चुनावी समर पर पढ़िए :डॉ. वागीश मेहता जी की रचनामुख में आ बैठा शैतान ,वाणी पर जिन्ना का जिन्न ,इनसे बचना मित्र अभिन्न।           (२)घूम रहे ठग अपने अपने ,ऐसा बना महाठगबंधन ,भीतर से चित महामलिन।          (३)तैतीस कोटि देव हैं साक्षी ,चारा चोर  घोटाले तैतीस ... Read more
clicks 85 View   Vote 0 Like   4:20pm 30 Oct 2015 #
Blogger: veerubhai
मुख में आ बैठा शैतान ,वाणी पर जिन्ना का जिन्न ,इनसे बचना मित्र अभिन्न।           (२)घूम रहे ठग अपने अपने ,ऐसा बना महाठगबंधन ,भीतर से चित महामलिन।          (३)तैतीस कोटि देव हैं साक्षी ,चारा चोर  घोटाले तैतीस ,कथनी करनी इनकी भिन्न।        (४)काश कहीं ऐसा न हो ,ज... Read more
clicks 90 View   Vote 0 Like   2:36pm 30 Oct 2015 #
Blogger: veerubhai
अहंकार अति दुखद डमरुवाडमरू की ध्वनि की तरह बढ़ता ही जाता है अहंकार। इसी के बढ़ने से रावण और कंस मारे जाते हैं जबकि दोनों में बल कोई काम न था। अर्थात बहुत अधिक था।जय बोलने से विजय होती है। जय बोलने से मन एकाग्र होता है। श्रेष्ठ जनों की देवकुल की जय बोलनी चाहिए।देवी भागवद क... Read more
clicks 90 View   Vote 0 Like   2:01am 30 Oct 2015 #
Blogger: veerubhai
श्रीमद देवीभागवद पुराण इस सृष्टि की रचना देवी पराम्बा ने की अपनी (योग )माया से की थी सकल पदार्थ हैं जग माहिं ,कर्महीन कछु पावत नाहिं।कथा सुनने तो आपको खुद ही आना पड़ेगा। इतना पुरुषार्थ (सेल्फ एफर्ट )तो आपको करना ही पड़ेगा। और एक बार नहीं अनेक बार आप आयेंगे तभी नया संस्क... Read more
clicks 78 View   Vote 0 Like   11:50pm 29 Oct 2015 #
Blogger: veerubhai
आज का ब्लॉगपक्षगुरुवार, 29 अक्तूबर 2015श्रीमद देवीभागवद पुराण इस सृष्टि की रचना देवी पराम्बा ने की अपनी (योग )माया से की थी सकल पदार्थ हैं जग माहिं , कर्महीन कछु पावत नाहिं। कथा सुनने तो आपको खुद ही आना पड़ेगा। इतना पुरुषार्थ (सेल्फ एफर्ट )तो आपको करना ही पड़ेगा। और एक बार नहीं... Read more
clicks 83 View   Vote 0 Like   11:34pm 29 Oct 2015 #
Blogger: veerubhai
डरे हुए अपनी करनी से ,खुद से भी घबराये लोग ,कैसे करें विकास की बातें ,ये भ्रष्टाचारी छाये लोग। जाति और मज़हब का ,छौंका हुप हुप करते आये लोग ,भाड़ में जाएँ देश के वासी ,ऐसे ये कुत्ताए लोग। जाति  में  उपजाति ,बाँटें ललवे  नीतू आये लोग ,जीने और मरने की हद तक ,ऐसे ये भन्न... Read more
clicks 79 View   Vote 0 Like   4:30pm 29 Oct 2015 #
Blogger: veerubhai
वो वोट डालने आया था ,बंदर को मोदी भाया था। लालू को (बहुत )भौत खिजाया था ,नीतीश को भी भरमाया था। बन पुत्र अंजना आया था ,संग भीम देव को लाया था। बंदर दिल्ली से आया था ,पीऍमओ ने भिजवाया था। उद्देश्य :बंदर ये देखने आया था ,कहीं बूथ कैप्चरिंग तो नहीं ,वोट तो नहीं छापे जा रहे... Read more
clicks 70 View   Vote 0 Like   1:28am 29 Oct 2015 #
Blogger: veerubhai
दूकानें कई क़दीमी हैं ,गाहक जिनके दीवाने हैं।ये फेसबुकिया दूकानें हैं।कुछ दूकानों पर बोर्ड लगे ,कुछ बिना बोर्ड दूकाने हैं ॥          (२)कुछ पर सेकुलर सामान सजे ,लहू -रंगी जिनके मालिक हैं ,सब भकुओं की दूकानें हैं।बाज़ारू अर्थव्यवस्था के कुल -सौ-एक ठिकानें हैं ,खुलकर आत... Read more
clicks 87 View   Vote 0 Like   11:08pm 28 Oct 2015 #
Blogger: veerubhai
स्त्री अलग जात (Species)है वह मनुष्यों में नहीं ,उसमें दैवीय गुण हैं।कथा है एक बार ब्रह्मा विष्णु महेश को  पराम्बा के रूप में एक परम ज्योति दिखलाई दी।पराम्बा प्रकट हुईं।  वे अत्यंत तेजरूपा ,जननी स्वरूप दिखलाई दीं त्रिदेवों को।  उनकी दिव्यता और परम तेज  को देख कर ... Read more
clicks 78 View   Vote 0 Like   8:06pm 28 Oct 2015 #
Blogger: veerubhai
ईश्वर अंश जीव अविनाशी ,चेतन अमल , सहज सुख राशि।आप नहीं बदलें हैं आपकी देह बदली है जो परिवर्तन दिखाई दे रहा है वह देह का है। आप आनंद के धाम हैं। जिस दिन यह पता चल जाता है आप अपने मूल स्वभाव में लौट आते हैं। साधना का एक फल है द्व्न्द्व रहित हो जाना। जगदानन्द विषयानन्द एक पल क... Read more
clicks 110 View   Vote 0 Like   1:25pm 28 Oct 2015 #
Blogger: veerubhai
ये मन बांसुरी है ,बंदर को दी तो असुर निकलेंगे अच्छे व्यक्ति को दी तो सुर निकालेगा। मन से ही मनुष्य का निर्माण हुआ है। होता है। राम का जप करने से आप राम हो जाते हैं। दुःख का जप करने से आप दुःख नहीं हो जाएंगे।?दुःख ही हो जाएंगे आप।दूसरे के दोषों का चिंतन करने से उसके दोष तु... Read more
clicks 65 View   Vote 0 Like   12:29pm 28 Oct 2015 #
Blogger: veerubhai
श्रद्धावान लभते ज्ञानमलबारी लालू और शूरसेन के वंशज अरुण शौरी में कुछ तो फर्क होना चाहिए। आप मेधा और बुद्धि के धनी  रहे हैं। इस वक्त जबकि पाकिस्तान और चीन दोनों भारत को तिरछी  नज़र से देख रहे हैं घात लगाए बैठे हैं -देश को आपके बड़प्पन की आपके समर्थन की ज़रूरत  थी... Read more
clicks 65 View   Vote 0 Like   4:44pm 27 Oct 2015 #
Blogger: veerubhai
ब्रह्मनिष्ठ लोकपावना ये वो लोग हैं ऋषि मुनि हैं  जिन्हें एक हज़ार बार गंगा पैदा करने की  सामर्थ्य प्राप्त है। इनके भरोसे ही मैं तुझे धरती पर भेज रहा हूँ। ये उद्बोधन था  शिव का गंगा को। गंगा तो पृथ्वी पर आना ही नहीं चाहती थी उसने भगीरथ से कहा भले तेरा तप बहुत बड़ा ह... Read more
clicks 71 View   Vote 0 Like   2:42pm 27 Oct 2015 #
Blogger: veerubhai
सत्संग के फूल :नदिया का नीर कब दुर्गन्ध को ,मैलेपन को प्राप्त होता है तब जब वह -किनारे पे ठहरा हुआ रह जाए -इसीलिए हमारे ग्रंथों में कहा गया -रमता जोगी ,बहता पानी ,यानी साधू रमता (एक जगह ठहरा )भला और पानी बहता भला। मनुष्य के लिए हमारे शास्त्रों में कहा गया -कहीं एक जगह ठहर म... Read more
clicks 57 View   Vote 0 Like   10:10pm 26 Oct 2015 #
Blogger: veerubhai
beauty bitesनुस्खे सौन्दर्य के  Coffee for your skin ,not your cupकॉफ़ी के पादप से फसल लेने के दरमियान कोफ़ी -बेरी (Coffeeberry)  उत्पाद  के रूप में मिलती है .हमारी त्वचा की देखभाल में इसे बहुत जन प्रिय घटक के रूप में मान्यता प्राप्त है .हर्बल और वानस्पतिक यह जादुई घटक एंटी -ओक्सिडेंट से लबालब है .Bell peppers  as beauty tr... Read more
clicks 97 View   Vote 0 Like   5:06pm 14 Jul 2012 #
Blogger: veerubhai
मुक्तावली से जुडी किस्सागोई मिथ और  यथार्थ Tooth Fairy Tales     Setting straight some crooked ideas about kids and their teeth क्या कहतीं हैं Dr. Barbara Shearer मिथ :यदि वह Kindergarten जातें है तब वह अपने दांतों की साफ़ सफाई खुद कर सकतें हैं .यथार्थ :इन बालकों में इतनी काबलियत नहीं होती इतनी संभाल और समझ नहीं होती कि मुक्तावली को ठीक से... Read more
clicks 129 View   Vote 0 Like   3:07am 14 Jul 2012 #
Blogger: veerubhai
कब जांच करवाएं बीनाई (विज़न ,रिफ्रेक्शन) बच्चों की क्या कहतीं   हैं माहिर ऑप्टो -मेट-रिस्ट(Optometrist)DR.Jenny Nance तथा    DR.Jody Simmons ,Independent Doctors of optometry ,Sam's Club ,6249 ,Franklin ,Tenn.   जानिए Start early on vision testing for kids आप के मुताबिक़ ५७ %अमरीकी अपने नौनिहालों को लेकर जांच के लिए तब तक नहीं पहुंचतें हैं जब तक वह kindergarten में दा... Read more
clicks 108 View   Vote 0 Like   1:33am 13 Jul 2012 #
Blogger: veerubhai
घर का वैद्य न बनें बच्चों के मामले में भारत में कई पढ़े लिखे जानकार लोग इशेंशियल मेडिसन बोक्स रखतें हैं .उसमे अकसर एंटी -हिस्टा-मिनिक (एलर्जी से बचाने वाली ,प्र्त्युर्जा रोधी )दवाएं भी होतीं हैं एनाल्जेसिक्स (दर्द हर ,पीड़ा नाशी )भी .एंटी -पाय -रेटिक(ज्वर नाशी ,टेम्प -रेचर ... Read more
clicks 125 View   Vote 0 Like   12:41am 12 Jul 2012 #
Blogger: veerubhai
ज़रूर रहें आशावादी लेकिन खामख्याली में न जिएँ हवाई  किले  न बनाएं . जी हाँ बचें विशफुल थिंकिंग से ,खाम ख्याली से , फिर शौक से रहें पोजिटिव ,सकारात्मक ,निहारें ज़िन्दगी के ,हर घटना के उजले पक्ष को .पूर्व राष्ट्र पति मिसायल -पति ए पी जे अब्दुल कलाम साहब कहतें हैं और ठीक ही कह... Read more
clicks 125 View   Vote 1 Like   9:25pm 10 Jul 2012 #
[ Prev Page ] [ Next Page ]


Members Login

Email ID:
Password:
        New User? SIGN UP
  Forget Password? Click here!
Share:
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3938) कुल पोस्ट (195050)