Hamarivani.com

S.M.MAsoom

(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({});इसमें कोई मतभेद नहीं की आज का इंसान अकेलेपन का शिकार होता जा रहा है और बहुत बार तो ऐसा देखा गया है की अब इंसान अकेले रहने में अधिक खुश नज़र आता है | लोग अक्सर कहते हैं फेसबुक की दुनिया से बाहर निकलो और देखो आपके आस पास अच्छे पडोसी अच्छे दोस्त और अच्छे रिश...
S.M.MAsoom...
Tag :social issues
  March 30, 2017, 7:52 am
(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({});सभी धर्म के संस्थापकों का आदर करो हजरत मोहम्मद (स.अ.व)Discover Jaunpur , Jaunpur Photo AlbumJaunpur Hindi Web , Jaunpur Azadari...
S.M.MAsoom...
Tag :
  March 29, 2017, 9:37 pm
(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); जवानी भी अजीब हुआ करती है | अक्सर देखा गया है की भारत जैसे देशों में जवानी में एक लड़के को किसी लड़की से प्रेम हो जाता है | फिर शुरू होता है कसमो वादों और एक दुसरे पे मर मिटने की कसमो का सिलसिला और उसके बाद जब इस प्रेम कहानी का राज़ खुलता ही तो मचता है दो परिव...
S.M.MAsoom...
Tag :love marriage
  March 10, 2017, 11:16 pm
इंसान को जीने के लिए इस दुनिया मैं बहुत कुछ करना पड़ता है. बचपन से बच्चों को पढाया लिखाया जाता केवल इसलिए है कि समाज मैं इज्ज़त से सर उठा के जी सकें. अपनी अपनी सलाहियत के अनुसार हर इंसान अपने रोज़गार का रास्ता चुन लेता है. कोई व्यापार करने लगता है, कोई विज्ञान मैं महारत हास...
S.M.MAsoom...
Tag :भारतीय संस्कृति
  February 22, 2017, 3:14 pm
शक या वहम  एक बुरा रोग  है। अगर यह हो गया किसी को तो इसका इलाज हकीम लुकमान के पास भी नहीं है.  यह व्यक्ति को विवेकहीन बना देता है। शक से आपसी संबंधों में दरार  पैदा हो जाया करती है। समाज मैं एक दुसरे का संबंध भरोसे पर टिका होता है। इसे कायम रखने की जिम्मेदारी हम सब की&nb...
S.M.MAsoom...
Tag :सदाचार
  February 10, 2017, 8:04 am
(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({});अपने धर्म को मानो और दूसरों के धर्म की इज्ज़त करो |डी एम् जौनपुर के साथ Discover Jaunpur , Jaunpur Photo AlbumJaunpur Hindi Web , Jaunpur Azadari...
S.M.MAsoom...
Tag :
  December 23, 2016, 10:58 pm
आज से ६ साल  पहले जब हिंदी ब्लॉगिंग में क़दम रखा तो बहुत से नए लोगों से जान पहचान हुयी और बहुत से मित्र बने उन्ही में से एक ब्लॉगर थे जिन्हें मेरी लेखनी समाज के हित में काम करना बहुत पसंद आता था | नाम मैं उनका नहीं देना चाहता क्यूँ की वो अक्सर मुझसे दिल की बातें किया करते थ...
S.M.MAsoom...
Tag :Editorial
  November 3, 2016, 8:07 am
बड़े प्यार से भरोसा कर के लाये थे तुम्हे और सोंचा था यह अपना प्यारा सा घर तरक्की की राह पे चल निकलेगा भर्ष्टाचार से मुक्ति मिलेगी लेकिन तुमने तो वो किया की घर में ही आग लगने लगी | तलाक़ तलाक़ ......... संभल जाओ वरना एक बार और कहा की हमेशा के लिए छुटकारा मिल जायगा फिर नयी .. आरे भाई पत...
S.M.MAsoom...
Tag :
  October 21, 2016, 8:05 pm
(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({});प्रतिभा और  कला  किसी  की मुहताज  नहीं यह  हमेशा  से  सुनता  आया  था  लेकिन दो  दिन  पहले लखनऊ में मेगा गंजिंग फेस्टिवल के दौरान| देख भी  लिया | हुआ यूँ की लखनऊ में मेगा गंजिंग फेस्टिवल के दौरान जहां बॉलीवुड की स्टार सिंगर शेफाल...
S.M.MAsoom...
Tag :Editorial
  July 27, 2016, 10:05 am
(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); इस्लाम का एक कानून है दुनिया में अच्छी बातें लोगों को बताते रहो ,समाज के अच्छे लोगों को सहयोग दे के आगे बढाते रहो इस से बुराई और बुरे लोगों पे अंकुश लगेगा और खुले आम बुरा काम करने वाले तो सत्य दिखा के बुराई से रोकते रहो और केवल इतना ही नहीं अगर आप के साम...
S.M.MAsoom...
Tag :featured
  May 15, 2016, 5:47 pm
(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); आज एकल परिवार ये यकीन करने वालों का ज़माना है मैं मेरे मेरे पति/पत्नी और बच्चे और ऐसे लोग अपने परिवार वालों को ही अपनी दुनिया समझ लेते हैं | ऐसे परिवार में बच्चे जब तक माता पिता के साथ रहते हैं तब तक तो उन्हें अपनी दुनिया समझते हैं लेकिन जैसे ही अपना घर ब...
S.M.MAsoom...
Tag :
  March 18, 2016, 10:22 pm
(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); आज गेंदे के खिले हुए फूल देखे जिनमे से कुछ पीले,कुछ केसरिया,कुछ कथ्थई थे लेकिन सब थे गेंदे के ही फूल जो अलग रंग के होते हुयी एक साथ मिल के खिले हुए थे| काश हम इंसान भी ये समझ जाते की हम अलग अलग रंग के हैं अलग अलग धर्म हैं लेकिन हम सब हैं एक जैसे इंसान जो भगव...
S.M.MAsoom...
Tag :Editorial
  February 6, 2016, 12:56 am
(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); धर्मपरिवर्तन पे बड़ा बवाल मचता है आज ख्याल आया क्यूँ ना हम लोग कुछ दिन आपस पे एक दुसरे से धर्म बदल लें| कुछ दिनों के लिए इसाई मुसलमान बन जाएँ, मुसलमान हिन्दू या ईसाई, हिन्दू मुसलमान या इसाई और फिर देखें क्या आपमें और हममे कोई बदलाव आया? यकीन जानिये धर्म ...
S.M.MAsoom...
Tag :
  January 24, 2016, 8:37 am
डीजे का शोर  एक ऐसा शोर होता  है  जिसपे  इंसान नाचता  दिखाई देता  है और जो उस समारोह में हिस्सा नहीं  ले  रहा होता वो अपने कमरे  बंद  कर के डीजे के  आगे  बढ़  जाने  का इंतज़ार  डीजे वालों को कोसते हुए नज़र  आया  करता है |बात कुछ भी हो  लेकिन डीजे का शोर ...
S.M.MAsoom...
Tag :
  December 10, 2015, 4:16 pm
(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); मुझे मुंबई में रहने के दौरान समाज के उस तबक़े को बहुत करीब से देखने का मौक़ा मिला जिन्हें लोग ख्यातिप्राप्त और प्रतिष्ठित कहा करते हैं | आम भाषा में फिल्म से जुड़े अदाकार इन्हें कहा जाता है और यही वो जगह है जहां से कपड़ों का ,उठने बैठने का अंदाज़ आज का युवा ...
S.M.MAsoom...
Tag :
  December 10, 2015, 11:38 am
(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); महराजगंज थाना क्षेत्र के विझवट गांव में बारात के समय डीजे की आवाज सुनकर हाथी भड़क गया। उसने अपनी सूड़ से डीजे को वाहन समेत गढ्ढे में फेक दिया उसके बाद जमकर उत्पात मचाना शुरू कर दिया | हाथी ने ऐसा उत्पात केवल डीजे की आवाज़ को सहन ना करने के कारण मचाया | ए...
S.M.MAsoom...
Tag :current affairs
  December 10, 2015, 11:36 am
(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); वतन से मुहब्बत और सोशल मीडिया जब दोनों मिल जाएँ तो "हमारा जौनपुर डॉट कॉम " जौनपुर सिटी डॉट इन " और "जौनपुर अज़ादारी डॉट कॉम" जैसे वेब पोर्टल का जन्म हुआ करता है |मैंने २०१० में जौनपुर को आगे लाने के लिए तीन वेब पोर्टल बनाए "हमारा जौनपुर डॉट कॉम " जौनपुर सिट...
S.M.MAsoom...
Tag :society
  December 10, 2015, 11:32 am
(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); मैं जीवन को पूरी तौर पे जीने की कोशिश करता हूँ | यह सुख दुःख ,धन दौलत, इत्यादि तो इस ज़िन्दगी के सफ़र के ऐसे साथी हैं जो आते और जाते रहते है फिर इनकी फ़िक्र में घुल के क्यों आज की ख़ुशी को खराब करना| ज़िदगी को जीना है तो गाँव के लोगों के बीच जाओ उनकी तरह से जी की द...
S.M.MAsoom...
Tag :Editorial
  November 30, 2015, 4:53 pm
आज का धार्मिक इंसान सवेरे उठ के पूजा करता है  आरती करता है यज्ञ  करवाता है चारो धाम की यात्रा पे जाता है , दिनभर धर्म की बातें करता और भजन गुनगुनाता है या नमाज़ पढता है, हज और ज़ियारत पे जाता है ,मजलिस करता है नौहे सुनता और गुनगुनाता है । इस प्रकार धर्म के नाम पे हज़ारो ल...
S.M.MAsoom...
Tag :culture
  November 23, 2015, 10:08 am
इंसान आज परेशान अपनों से अधिक गैरो से कम है | आज जिस समाज में हम रह रहे हैं उसमे हर इंसान परेशान नज़र आता है और उसे अधिक परेशानी उन्होंने दी है जिनसे यह आशा की जानी चाहिए कि वो परेशानी को दूर करने में मददगार होंगे जैसे पडोसी, क़रीबी रिश्तेदार इत्यादि । आज मुझे एक सज्जन मिल ग...
S.M.MAsoom...
Tag :
  November 21, 2015, 7:43 pm
एक समय था जब मैने एक ब्लोग " अमन का पैगाम " बनाया जिसे ब्लोग जगत ने बहुत सराहा भी और मुझे उन सबका सहयोग भी मिलाजिसके लिये मै उन सभी का हमेशा आभारी रहूंगा | यह मेरा तजुर्बा है की केवल हिंदी ब्लोगजगत ही नही इस समाज के अधिकतर लोग अमन और शांति के लिये काम करने वालो सराहते है और ...
S.M.MAsoom...
Tag :#avinash vachaspati
  November 3, 2015, 6:16 pm
हमें यह चुनने का अवसर नहीं मिलता कि इस दुनिया से कब हम जाएंगे लेकिन यह चुनने का अवसर मिलता है की मृत्यु के बाद हम औरों के दिलों में कैसे जीवित रहेंगे ?यह आपके ऊपर है कि आप राम की तरह लोगों के दिलो में जीना चाहते हैं या रावण की तरह , आप हुसैन (अ.स) की तरह जीना चाहते हैं या यज़ीद...
S.M.MAsoom...
Tag :
  October 22, 2015, 11:26 pm
कर्बला की जंग असत्य पे सत्य की विजय क्यों कही जाती है जबकि दुनियावी लिहाज़ से यज़ीद की फ़ौज तो हज़रत मुहम्मद (स.अ.व) के नवासे हुसैन (अ.स)  और उनके घराने वालो को शहीद करने के बाद जीत की ख़ुशी मना रहे थे । इसे समझने के लिए इस्लाम के इस उसूल को समझना आवश्यक है की जीत उसकी हुआ करती ह...
S.M.MAsoom...
Tag :कर्बला
  October 22, 2015, 10:51 pm
  लोगो को कहते सुना है कि आज के युग में क़ौमी सियासत में जो पड़ा बर्बाद हो गया । मैंने भी जब ध्यान दिया तो मुझे इसका एक ही कारण समझ में आया की आज वो ज़माना आ गया है कि क़ौल ए अइम्मा तहीरीन और हुक्म ए खुदा को देखते हुए कोई अपने फैसले  नहीं करता बल्कि क़ौमी सियासत में उसका साथ दिय...
S.M.MAsoom...
Tag :
  October 22, 2015, 10:20 pm
हर  साल  मुहर्रम  का  चाँद  दिखाई  देते  ही ,हर तरफ कर्बला, या हुसैन की सदा सुनाई देने लगती है, लोगों की ज़बान पे पैगाम है इंसानियत,सब्र ए हुसैन (ए.स) और कुर्बानियों  की कहानी फिर से सुनाई देने लगती है. कल १० मुहर्रम आशूरा का रोज़  है जिस दिन इमाम हुसैन शहीद  ह...
S.M.MAsoom...
Tag :Editorial
  October 22, 2015, 8:15 pm
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3661) कुल पोस्ट (164696)