POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Blog: पलक

Blogger: Ramesh kumar Singh
०१मुस्कान तेरी,जीवन की नईया,है खेवईया।        ०२खिलखिलाना,तेरा  मृदुल वाणी,मुस्कान मेरा।      ०३सदाबहार,बने रहे मुस्कान,मन हर्षित।... Read more
clicks 196 View   Vote 0 Like   11:15am 23 Mar 2015 #
Blogger: Ramesh kumar Singh
यहाँ दूसरों को ना लाओ भाई।पूछेगा अपने सारा लोग भाई।यह वही जगह है सवँरती थी हँसकर,वह मेरे नयनों में रहती थी धँसकर,आँखें उस पर रह जाती थी फँसकर,लहराते थे, घुघराले काले बाल भाई।उसकी हँसीं बहुत ही कुछ कहती थी,फिर भी अपने में सदा मग्न रहती थीं,खुशियाँ बहुत अपने मन में रखती थी,... Read more
clicks 187 View   Vote 0 Like   12:16am 9 Mar 2015 #
Blogger: Ramesh kumar Singh
अकेले   बैठे  हैं,  सोच रहे हैं ।सब  कुछ  है ,  धुप ले रहे हैं ।         प्रकृति के गोद में।।पिला-सफेद,सब देख रहे है ।सरसों फुली है,मटर फुली है।          प्रकृति के गोद में।। फसल उगा है,  हरी  भरी  कलियाँ। सबको सुख देती,हवाओं का बहना।  &... Read more
clicks 158 View   Vote 0 Like   10:19am 13 Feb 2015 #
Blogger: Ramesh kumar Singh
नव वर्ष "~~~~~~~~~~~~( ज०न०वि०-२जपला पलामू झारखंड  )*संस्मरण *------------------------------------------------                आज भी मेरा ख्याल है किअगर आप ज०न०वि०-२जपला पलामू आप जायें तो और वहाँ पुछे तो कि नया साल  कैसे  मनाया जाता है तो जरूर कुछ बच्चे दो  चार कहानी सुना ही देगे।नव वर्... Read more
clicks 198 View   Vote 0 Like   9:05am 12 Feb 2015 #
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Publish Post