Hamarivani.com

Astrological Guidence - ज्योतिषीय समाधान

‘सर्वर्तुपरिवर्त्तस्तु स्मृतः संवत्सरो बुधैः’ (क्षीरस्वामी कृत अमरकोश) ।भारतीय मनीषा ने सभी ऋतुओं के एक पूरे चक्र को संवत्सर के नाम से अभिहित किया है, अर्थात् किसी ऋतु से आरम्भ कर पुनः उसी ऋतु की आवृति तक का समय एक संवत्सर होता है‘संवसन्ति ऋतवः अस्मिन् संवत्सरः’(क्...
Astrological Guidence - ज्योतिषीय समाधान...
Tag :
  April 6, 2016, 6:53 pm
#भीष्म_अष्टमी_व्रत-#पितृ्दोष_से मुक्ति और गुणवान संतान एवं मोक्ष की प्राप्ति के लिए#माघ मास शुक्ल पक्ष की अष्टमी तिथि को भीष्म अष्टमी व्रत किया जाता है इस दिन महाभारत के पौराणिक पात्र भीष्म पितामह को अपनी इच्छा अनुसार मृ्त्यु प्राप्त हुई थी। धर्म शास्त्रों के अनुसार ...
Astrological Guidence - ज्योतिषीय समाधान...
Tag :
  February 14, 2016, 10:10 pm
#बसंत_पंचमी_2016 माघ मास शुक्लपक्ष की पंचमी तिथि को ज्ञान,  बुद्धि, विवेक और यश प्रदान करने वाली वीणा वादिनी, विद्या की अधिष्ठात्री देवी माँ सरस्वती का उद्भव हुआ था, माघ मास में शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि का दिन ऋतुराज वसंत के आगमन का प्रथम दिवस माना गया है। इसी दिन श्री अर्था...
Astrological Guidence - ज्योतिषीय समाधान...
Tag :
  February 11, 2016, 9:16 pm
सोमवार को अमावस्या पड़े तो उसे सोमवती अमावस्या कहा जाता है इसे मौनी अमावस भी कहा जाता है| पुराणों में सोमवती अमावस्या का बहुत महत्त्व बताया गया है सोमवती अमावस्या वर्ष भर में एक या दो बार ही मिलती है और माघ मास की सोमवती अमावस्या अत्यंत दुर्लभ होती है| सोमवती अमावस्या क...
Astrological Guidence - ज्योतिषीय समाधान...
Tag :
  February 8, 2016, 10:40 am
मितिहास के अनुसार राहू असुर का कटा हुआ सर है जो समुन्द्र मंथन से निकलने वाले अमृत को पीने के लिए छल से देवताओं में शामिल हो जाता है उसके इसी छल को सूर्य और चन्द्र ने पहचान कर भगवान विष्णु को बता दिया इसी कारण राहू सूर्य और चन्द्र से द्वेष रखता है और ग्रहण लगाता है |खगोल वि...
Astrological Guidence - ज्योतिषीय समाधान...
Tag :
  January 22, 2016, 5:58 pm
सूर्य के राशि सिंह में राहु देव का आगमन विश्व राजनीति और व्यापार पर क्या असर होगा चंडीगढ़ के ज्योतिष आचार्या अंजु आनंद के अनुसार, 18  माह तक अपनी राशि कन्या में विचरण करने के पश्चात 30  जनवरी 2016को राहु का प्रवेश सूर्य अधिष्ठित राशि सिंह में होगा और अगले 18मास सिंह में ही रहें...
Astrological Guidence - ज्योतिषीय समाधान...
Tag :
  January 22, 2016, 5:28 pm
दीपावलीपरलक्ष्मीकापूजनकरनेकेलिएस्थिरलग्नश्रेष्ठमानाजाताहै।इसलग्नमेंपूजाकरनेपरमहालक्ष्मीस्थाईरूपसेघरमेंनिवासकरतीहैं।दीपावलीपरब्रह्ममुहूर्तमेंउठेंऔरस्नानकरतेसमयनहानेकेपानीमेंकच्चादूधऔरगंगाजलमिलाएं।स्नानकेबादअच्छेवस्त्रधारणकरेंऔरसूर्यको...
Astrological Guidence - ज्योतिषीय समाधान...
Tag :
  November 5, 2015, 5:58 pm
नवरात्रि के प्रत्येक दिन माँ भगवती के एक स्वरुप श्री शैलपुत्री, श्री ब्रह्मचारिणी, श्री चंद्रघंटा, श्री कुष्मांडा, श्री स्कंदमाता, श्री कात्यायनी, श्री कालरात्रि, श्री महागौरी, श्री सिद्धिदात्री की पूजा की जाती है। यह क्रम आश्विन शुक्ल प्रतिपदा (प्रथम नवरात्र) को प्...
Astrological Guidence - ज्योतिषीय समाधान...
Tag :
  October 13, 2015, 1:32 pm
'उदीरतामवरउत्‌परासउन्‍मध्‍यमा: पितरसोम्‍यास: ।असुंयईयुरवृकाऋतज्ञा: तेनोऽवन्‍तुपितरोहवेषु।।' - - ऋग्‍वेद, मंडल१०, सूक्‍त१५, ऋचा१"Let ancestors residing on Earth attain an evolved region and ancestors living on a higher plane of existence 'in heaven' never degrade. Let the ones who are at a medium plane of existence, attain a higher plane. Let the ancestors who symbolise the Truth protect us." Rishi Kindam describes 3 types of debts in Mahabharata that nee...
Astrological Guidence - ज्योतिषीय समाधान...
Tag :
  September 25, 2015, 8:07 pm

शुभ मुहूर्त :- भूमि क्रय विक्रय मुहूर्त:- भूमि एवं प्लाट खरीदने या बेचने हेतु वैशाख, ज्येष्ठ, आषाढ़, मार्गशीर्ष, Read more »...
Astrological Guidence - ज्योतिषीय समाधान...
Tag :
  September 5, 2015, 7:20 pm
भद्रा–विष्टिकरण‘न कुर्यान्मंगलं विष्ट्यां जीवितार्थी कदाचन।कुर्वन्नज्ञस्तदा क्षिप्रं तत्सर्वं नाशतां व्रजेत्॥’महृषिवशिष्ठ ने भी कहा कि भद्राकाल में भूलकर भी किसी व्यक्ति को शुभकृत्य करने से बचना चाहिए वरना मंगल कार्य में विघ्र होता है |संहिता-ग्रंथों में ...
Astrological Guidence - ज्योतिषीय समाधान...
Tag :
  August 29, 2015, 10:10 am
An article by shri rajiv Dixit jiयहाँदोपात्रहैं : एकहैभारतीयऔरएकहैइंडियन | आइएदेखतेहैंदोनोंमेंक्याबातहोतीहै |इंडियन: येशिवरात्रिपरजोतुमइतनादूधचढातेहोशिवलिंगपर, इस सेअच्छातोयेहोकियेदूधजोबहकरनालियोंमेंबर्बादहोजाताहै, उसकीबजाएगरीबोंमेबाँट दियाजानाचाहिए | तुम्हारेशिवज...
Astrological Guidence - ज्योतिषीय समाधान...
Tag :
  August 11, 2015, 8:14 pm
 अंजु आनंद ज्योतिष आचार्या (Astro Windows Researches)श्रावण मास की पूर्णिमा के दिन मनाया जाने वाला रक्षा बन्धन का पर्व एक ऐसा पर्व है जिसकी प्रतीक्षा हर कोई बड़ी उत्कण्ठा के साथ करता है | श्रावण मास की पूर्णिमा को प्रातः स्नानादि से निवृत्त होकर बहनें भाइयों की कलाई पर रक्षा सूत्र ब...
Astrological Guidence - ज्योतिषीय समाधान...
Tag :
  August 11, 2015, 7:10 pm
...
Astrological Guidence - ज्योतिषीय समाधान...
Tag :
  August 11, 2015, 2:00 am
भारतीय संस्कृति में गुरु का पद सर्वोच्च माना गया है | 'गुरु गोविंद दोउ खड़े काके लागू पांव,बलिहारी गुरु आपने गोविंद दियो बताए' - गुरु का पद माता-पिता,बंधु-सखा यहां तक कि ईश्वर से भी ऊंचा कहागयाहै ।गीता के चतुर्थ अध्याय के 34वें श्लोक में प्रभु स्वयं कहते हैंतद्विद्धि प्...
Astrological Guidence - ज्योतिषीय समाधान...
Tag :
  July 30, 2015, 10:16 pm
क्यों है श्रावण मास भगवान भोलेनाथ का प्रिय मासअंजु आनंदहिन्दू पंचांग के अनुसार वर्ष का पाँचवाँ महीना, सावन मासभगवान भोले नाथ का प्रिय माहहै | श्रावण मास में मनाये जाने वाले त्योहारों में 'हरियाली तीज', 'रक्षाबन्धन', 'नागपंचमी' आदि प्रमुख त्यौहार  हैं। 'श्रावण...
Astrological Guidence - ज्योतिषीय समाधान...
Tag :
  July 30, 2015, 7:07 pm
चतुर्मासजोकिहिन्दूकैलेण्डरकेअनुसारचारमहीनेकाआत्मसंयमकालहै, देवशयनीएकादशीसेप्रारम्भहोजाताहै। सूर्यकेमिथुनराशिमेंआनेपरयेएकादशीआतीहै।इसीदिनसेचातुर्मासकाआरंभमानाजाताहै।Read more »...
Astrological Guidence - ज्योतिषीय समाधान...
Tag :
  July 26, 2015, 7:20 am
वैसेतोप्रत्येकतिथि, वार, नक्षत्रएवंमाहअपनाविशेषमहत्वरखतेहैंकिन्तुश्रावणमाहकाअपनाअलगही महत्व है। हिंदूवर्षमेंपांचवामाहश्रावण(जुलाई/अगस्त) शिवभक्तिकाकालहोनेसेबहुतहीपुण्यकालमानागयाहै।इस माह में ग्रहों के राजा सूर्यदेव चन्द्रमा की राशि कर्क में विचरण कर...
Astrological Guidence - ज्योतिषीय समाधान...
Tag :
  July 16, 2015, 10:31 pm
सिद्धांत रूप में सूर्योदय से सूर्योदय पर्यंत रहने वाली चतुर्दशी शुद्धा निशीथ (अर्धरात्रि) व्यापिनी ग्राह्य होती है। यदि यह शिवरात्रि त्रिस्पृशा (त्रयोदशी-चतुर्दशी- अमावस्या के स्पर्श की) हो, तो परमोत्तम मानी गयी है। मासिक शिवरात्रि में, कुछ विद्वानों के मतानुसार, त...
Astrological Guidence - ज्योतिषीय समाधान...
Tag :
  July 16, 2015, 10:23 pm
गुप्त नवरात्रों का बड़ा ही महत्त्व बताया गया है। मानव के समस्त रोग-दोष व कष्टों के निवारण के लिए गुप्त नवरात्र सिद्ध काल है। श्री, वर्चस्व, आयु, आरोग्य और धन प्राप्ति के लिए गुप्त नवरात्रो में देवी की विशेष साधना आराधना के शास्त्रीय विधान हैं| गुप्त नवरात्रि विशेष तौर ...
Astrological Guidence - ज्योतिषीय समाधान...
Tag :
  July 16, 2015, 10:08 pm
गुप्त नवरात्रों का बड़ा ही महत्त्व बताया गया है। मानव के समस्त रोग-दोष व कष्टों के निवारण के लिए गुप्त नवरात्र सिद्ध काल है। श्री, वर्चस्व, आयु, आरोग्य और धन प्राप्ति के लिए गुप्त नवरात्रो में देवी की विशेष साधना आराधना के शास्त्रीय विधान हैं| गुप्त नवरात्रि विशेष तौर ...
Astrological Guidence - ज्योतिषीय समाधान...
Tag :
  July 16, 2015, 10:08 pm
17 जुलाई 2015 बृहस्पति वार को  धर्मअध्यात्म का महीना पुरुषोत्तम मास खत्म  होने के साथ अर्द्ध-रात्रि को सूर्यदेव कर्क राशि में संक्रमण करेंगे| सूर्य के कर्क राशि में प्रवेशका समय 'कर्क संक्रान्ति', 'सावन संक्रान्ति'या 'श्रावण संक्रान्ति' कहलाता है। कर्क संक्रांति...
Astrological Guidence - ज्योतिषीय समाधान...
Tag :'श्रावण संक्रान्ति'
  July 16, 2015, 4:03 pm
अधिक मास: ज्योतिषीय मान्यतानुसार  सूर्य प्रतिमासएक राशि पर संक्रमण करता है और उसे उस राशि की संक्रान्ति कहते हैं। सभी 12 राशियों की संक्रान्ति के पश्चात नवसंवत्सर आता है।असंक्रांति मासोऽधिमासः स्फुटः स्यात्‌,द्विसंक्रांति मासः क्षयाख्यः कदाचित्‌॥स्पष्टार्कसं...
Astrological Guidence - ज्योतिषीय समाधान...
Tag :
  June 19, 2015, 8:01 pm
...
Astrological Guidence - ज्योतिषीय समाधान...
Tag :
  June 6, 2015, 6:28 pm
 लाजवर्त (लैपिस लजूली) शनि का रत्न है, लाजवर्त को लाजवर्द, राजावर्त और नीलोपल रत्न भी कहा जाता हैं | लाजवर्त को नीलम का पूरक माना जाता है | नीलोपल रत्न गहरे नीले रंग का अपारदर्शी पत्थर होता है। नीलोपल रत्न में कुछ सोने का भी अंश होता है।  नीले रंग का  सुनहरी धारियां लिए यह ख...
Astrological Guidence - ज्योतिषीय समाधान...
Tag :
  May 31, 2015, 4:00 pm
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3652) कुल पोस्ट (163728)