POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Blog: कोलाहल

Blogger: kaustubh upadhyay
प्रिंट मीडिया के पत्रकारों को मजीठिया वेज बोर्ड की सिफारिशों के मुताबिक वेतन दिलाने के मसले पर मोदी सरकार मौन है। सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बावजूद अखबारों के ज्यादातर मालिक इसे लागू नहीं कर रहे है और ‌लागू करने वालों ने भी कमोबेश इसका मजाक बनाकर ही रखा हुआ है। कुल मिला... Read more
clicks 201 View   Vote 0 Like   9:52am 17 Apr 2015 #
Blogger: kaustubh upadhyay
देश के सरकारी न्यूज चैनल और रेडियो पर अपनी वाह-वाही का प्रसारण कराने वाले मोदी महाशय को फ्रांस के एक अखबार ने सीधे-सीधे ठेंगा दिखा दिया है। फ्रेंच अखबार 'ल मॉन्द'ने पेरिस में मोदी की जो किरकिरी की है उसकी ऊंचाई भीएफिल टावर से कतई कम नहीं कही जा सकती।  दरअसल सातवें आसमान... Read more
clicks 148 View   Vote 0 Like   11:48am 12 Apr 2015 #
Blogger: kaustubh upadhyay
नरेंद्र मोदी की सरकार चुनाव में किए गए बड़े-बड़े वायदों को निभा पाने में दस माह बाद भी भले ही मीलों पीछे खड़ी नजर आती हो, पर मोदी के विचित्र मंत्री और सांसद आए दिन नए-नए विवाद खड़े करने में जरा भी पीछे नहीं हैं। ज्यादातर विवाद मंत्रियों की बदजुबानी या बेमतलब के बयानों से ... Read more
clicks 190 View   Vote 0 Like   12:07pm 8 Apr 2015 #
Blogger: kaustubh upadhyay
रेलवे में एक ऐसी योजना अमल लाने की बात चल रही है, जो लागू हो जाए तो यात्रियों को जहां काफी आराम मिलेगा, पर टीटी महाशयों की दो नंबर की कमाई ही बंद हो जाएगी। इसी के चलते इस योजना के लागू हो पाने को लेकर अशंका भी जताई जा रही है। मामला है यात्रियों को ट्रेन में ही रिजर्वेशन करा... Read more
clicks 145 View   Vote 0 Like   12:40pm 6 Apr 2015 #
Blogger: kaustubh upadhyay
 देश के बड़े उद्योग पतियों में शुमार सॉफ्टवेयर कंपनी विप्रो के प्रमुख अजीम प्रेम जी ने उनके चेहरे को अपने इमेज मोडिफिकेशन के लिए इस्तेमाल करने के आरएसएस के मंसूबे परकॉरपोरेट अंदाज में पानी फेर दिया है। दरअसरल संघ अजीम प्रेमजी जैसे साफ-सुथरी छवि और परोपकार के कामों स... Read more
clicks 169 View   Vote 0 Like   12:37pm 6 Apr 2015 #
Blogger: kaustubh upadhyay
संघ प्रमुख मोहन भागवत के मदर टेरेसा द्वारा धर्म परिवर्तन के लिए सामाजिक कार्य किए जाने के बयान की चारों ओर हुई तीखी आलोचना के बाद आरएसएस अब इसे बैलेंस करने के लिए कुछ उदारवादी चेहरा पेश करने की जुगत में दिख रहा है। यह पहल दिल्ली के बाहरी इलाके में हो रहे संघ तीन दिवसीय ... Read more
clicks 166 View   Vote 0 Like   11:21am 5 Apr 2015 #
Blogger: kaustubh upadhyay
हमारे देश का मीडिया दंगे, लव जिहाद जैसी खबरें और सामाजिक समरसता को बिगाड़ने वाले रामजादे-हरामजादे जैसे बयान बड़ी आसानी से सुर्खियों बनाता है, पर देश की गंगा-जमनी तहजीब को बढ़ावा देने वाली कोई घटना या प्रयास हो तो उसे कोई खास तवज्जो नहीं दी। बनारस में एक ऐसी ही पहल हो रह... Read more
clicks 189 View   Vote 0 Like   11:11am 5 Apr 2015 #
Blogger: kaustubh upadhyay
‘औरों को नसीहत, खुद मियां फजीहत’ का जुमला आम आदमी पार्टी पर आज एक बार फिर सौ फीसदी फिट बैठता दिखा। मसला लोकसभा चुनाव खर्च का ब्योरा न दिए जाने के चलते चुनाव आयोग द्वारा पार्टी की मान्यता खत्म किए जाने को लेकर जारी नोटिस का है। यानी नीतय के साथ-साथ पार्टी के वजूद का भी सवा... Read more
clicks 124 View   Vote 0 Like   9:16am 19 Mar 2015 #आप
Blogger: kaustubh upadhyay
राज्यसभा में वित्त मंत्री एक बार फिर से अपने चिर-परिचित अंदाज में मोदी सरकार द्वारा काले धन पर लगाम कसने के लिए सख्त कदम उठाए जाने का दम भरते दिख। वह संसद में सरकार द्वारा इस संबंध में पेश किए जा रहे विधेयक के समर्थन में दलीलें दे रहे थे। जेटली काले धन पर नए कानून के लिए ... Read more
clicks 170 View   Vote 0 Like   9:27am 18 Mar 2015 #कर
Blogger: kaustubh upadhyay
सुप्रीम कोर्ट ने जाटों को ओबीसी  की लिस्ट से बाहर करने का ऐतिहासिक फैसला सुनाया है। कोर्ट के ‌आदेश में फैसले से ज्यादा महत्वपूर्ण और काबिलेगौर उसकी टिप्पणियां (आब्जर्वेशन) मुझे लग रही हैं। देश की शीर्ष अदालत ने न केवल महज वोट की खातिर यूपीए सरकार द्वारा आनन-फानन में ल... Read more
clicks 170 View   Vote 0 Like   9:10am 17 Mar 2015 #आरक्षण
Blogger: kaustubh upadhyay
देश की सियासत के तौर-तरीके और दिशा बदल देने के इरादे जताने वाली आम आदमी पार्टी (आप) को दिल्ली में सत्ता नशीं हुए बमुश्किल अभी महीने भर ही बीते हैं कि दलीय राजनीति की सारी खामियां उसके डीएनए में समाती नजर आ रही हैं। एक के बाद एक हो रहे खुलासे, विवाद और खुद आप की कारगुजारिया... Read more
clicks 160 View   Vote 0 Like   10:45am 15 Mar 2015 #
Blogger: kaustubh upadhyay
देश की कुंडली में किस्मत का विरोधाभास देखिए। पिछले प्रधानमंत्री के मुख से बोल ही नहीं फूटते थे, तो नए पीएम बतोलेबाजी में निकले वर्ल्ड चैंपियन। चुनावी सभाओं में इनके बड़बोलेपन, बड़े-बड़े वादों और दस साल से राज कर रही मनमोहन सरकार (ये अलग बात है कि उनकी चलती कुछ न थी) के प्... Read more
clicks 167 View   Vote 0 Like   10:52am 12 Mar 2015 #
Blogger: kaustubh upadhyay
हुजूर की महिमा निराली है और मीडिया में बैठे इनके पालतू संपादक भी हैं पूरे वफादार। रेल बजट में यात्री किराया न बढ़ाकर सीना चौड़ा किया और यूरिया से लेकर अनाज तक का भाड़ा बिना बताए ही बढ़ा दिया। आम बजट के दिन भी यह खेल उसी शातिराना अंदाज में दोहराया गया। फ्यूचरिस्टक और आर... Read more
clicks 181 View   Vote 0 Like   8:49am 3 Mar 2015 #
Blogger: kaustubh upadhyay
मुगलों से पहले मध्य कालीन भारत का सबसे चर्चित शासक था मोहम्मद बिन तुगलक। उसे आज भी याद किया जाता है। बहादुरी, दरियादिली या फिर सुगठित शासन व्यवस्‍था के लिए नहीं, बल्कि राजधानी को दिल्ली से दौलता बाद ले जाने और चमड़े के सिक्के (टोकन करेंसी) चलाने जैसे सनक भरे फैसलों के च... Read more
clicks 163 View   Vote 0 Like   11:36am 19 Feb 2015 #
Blogger: kaustubh upadhyay
प्यार का तोहफा तेरा, बना है जीवन मेरा जंपिंग जैक जीतेंद्र पर फिल्माया यह गाना आजकल प्रेमी जोड़ों के साथ-साथ ऑन लाइन स्टोर चलाने वाले कारोबारियों के दिलों में भी फुल वॉल्यूम पर बज रहा है। हो भी क्यों न? वेलेंटाइन डे पर उन्हें अपने बिजनेस का वॉल्यूम बढ़ने की उम्मीदें साक... Read more
clicks 167 View   Vote 0 Like   11:00am 13 Feb 2015 #
Blogger: kaustubh upadhyay
अनूठा है केजरी का यह ठाकरे कनेक्‍शन बात अटपटी और चौंकाने वाली लगती है। शीर्षक पढ़कर लग रहा होगा कि दिल्ली विधानसभा चुनाव में प्रचंड बहुमत के साथ सत्तासीन हो रहे अरविंद केजरीवाल और उद्धव ठाकरे या राज ठाकरे के बीच किसी गुपचुप सियासी गठजोड़ का खुलासा होने वाला है। सस्प... Read more
clicks 170 View   Vote 0 Like   9:39am 12 Feb 2015 #
Blogger: kaustubh upadhyay
पौने दो लाख करोड़ रुपये के २जी स्पेक्ट्रम घोटाले का शोर अभी संसद की फिजाओं में गूंज ही रहा था कि सैकड़ों-हजारों करोड़ की एक और बंदरबांट का जुगाड़ बैठाने की एक और खबर सामने आ गई। 'खाने-पकानेÓ की यह नई स्कीम लांच की है कर्मचारियों के पीएफ और पेंशन का लेखा-जोखा रखने वाले कर्... Read more
clicks 170 View   Vote 0 Like   9:08am 21 Dec 2010 #
Blogger: kaustubh upadhyay
दफ्तर में बस पहुंचा ही हूं कि आईबीएन-७ पर चलती एक 'न्यूज स्टोरीÓ टीवी पर चलती दिखती है। स्टोरी है राजस्थान के सीकर की। कुएं में गिरे एक बैल को बचाने केलिए एक डाक्टर को कुएं में उतारा जाता है। मकसद है कि डाक्टर बैल को इंजेक्शन लगाकर बेहोश कर दे। इसकेबाद बेहोश बैल को रस्से ... Read more
clicks 148 View   Vote 0 Like   9:06am 26 Jul 2010 #
Blogger: kaustubh upadhyay
मंदी,सूखे और महंगाई की तिहरी मार के बाद पेश किए गए इस बजट में देखने वाली सबसे बड़ी बात यह थी कि संकट के इस दौर से हमारी सरकार ने क्या सबक सीखा। वित्त मंत्री का बजट भाषण सुनने के बाद स्पष्टï है कि हमारे नीति-नियंताओं ने आफत के इस दौर से कोई सबक नहीं लिया। बजट में ग्रामीण विक... Read more
clicks 163 View   Vote 0 Like   9:00am 2 Mar 2010 #
Blogger: kaustubh upadhyay
मीडिया का ये 'जी-फैक्टर ''ज्ञानोदय'के मीडिया विशेषांक में पत्रकारिता की दुनिया के 'बड़े लोगोंÓ अनुभवों और संस्मरणों के रास्ते कहीं न कहीं मीडिया के चाल-चरित्र में हाल के वर्षों में आए बदलाव की झलक देखने को मिली। विनोद दुआ ने अपने आलेख में पत्रकारिता की चुनौतियों के एक व... Read more
clicks 179 View   Vote 0 Like   9:07am 9 Feb 2010 #
Blogger: kaustubh upadhyay
महंगाई आज देश की जनता के लिए ङ्क्षचता का सबसे बड़ा का मुद्दा है। दूसरी ओर सरकार में बैठे लोगों लिए शायद यह महज बौद्धिक कलाकारी और बयानबाजी का विषय बनकर रह गया है। शायद यही वजह है कि सरकार की तमाम कोशिशों केबावजूद महंगाई जहां की तहां कायम है। उधर सरकार में ऊंचे ओहदों पर ... Read more
clicks 159 View   Vote 0 Like   8:20am 20 Jan 2010 #
Blogger: kaustubh upadhyay
एक खास विज्ञापन की तलाश में पिछले दो-चार दिन के हिन्दुस्तान टाइम्स के पन्ने पलट रहा था। एक पेज की लीड स्टोरी पर गया। चार-पांच काॅलम में छपी स्टोरी थी, रंगीन फोटो के साथ। फोटो में एक खूबसूरत सी लड़की अपनी छोटी सी कार पर चढ़ रही थी, बड़े अंदाज-ओ-अदा के ध्यानसाथ। ध्यान खिंचना ला... Read more
clicks 170 View   Vote 0 Like   8:48am 27 Sep 2009 #
Blogger: kaustubh upadhyay
माथे पर रोली का लंबा सा टीका लगाए आज उनके मुख की शोभा कुछ अलग सी है। रोजाना के रौब के साथ-साथ एक अनूठा तेज टपक रहा है चेहरे से। जिप्सी की अगली सीट पर बैठे एसओ साहब पूरे एक्शन में हैं। अरे, एक्शन मतलब वसूली नहीं यार ! आप लोग तो खामखां एक ही जगह अटक जाते हो। अरे नौराते शुरू हो च... Read more
clicks 148 View   Vote 0 Like   8:44am 25 Sep 2009 #
Blogger: kaustubh upadhyay
मदारी की बाजीगरी दिल बहलाती है। लोग सिक्के फेकते हैं। मीडिया की बाजीगरी इससे कहीं गहरी है। व्यापकतर असर रखती है। चैनलों का चलाया दाती गरु का मंतर आजकल दिल्ली में खूब कमाल दिखा रहा है। दाती गुरु वही रजत शर्मा मार्का। इंडिया टीवी वाले। बाद में शायद अच्छा आफर मिला तो न्य... Read more
clicks 143 View   Vote 0 Like   8:23am 20 Sep 2009 #
Blogger: kaustubh upadhyay
दिल्ली की बसों नगर बसों में सफर करना यूं तो अपने आप में एक यातना है, पर इस यातना में एक मजा भी कहीं छिपा हुआ है। यह मजा है कंडेक्टरों की बोली और चुहलबाजी का। कभी-कभी सोचता हूं कि जाने कब नजर पडे़गी ललित कला अकादमी वालों की, इन कलाकारों की कलाकारी पर। हर स्टाॅप पर खिड़की से स... Read more
clicks 181 View   Vote 0 Like   8:37am 15 Sep 2009 #
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Publish Post