Hamarivani.com

महफ़िल-ए- फितरत MEHFIL E FITRAT

आज न जाने क्यों फिर से अपने भूले बिसरे ब्लॉग की याद आ गई , सोचा की अब तो मैं रोज़ एक दो पन्ने तो नहीं पर अपना कुछ तो ज़रूर ही लिखूंगा । देखते हैं क्या होता हैतो बस एक नज़्म  से शुरुआत करते हैंचलते हैं हम तन्हाई में किसी को ढूंढते हुए , अनजाने रास्तों पे अपनों को खोजते हुए, तमा...
महफ़िल-ए- फितरत MEHFIL E FITRAT...
जयंत कुमार "फितरत"
Tag :
  August 1, 2012, 9:33 pm
एक मजबूत जन लोकपाल कानून के लियेअन्ना हजारे का साथ देंभ्रष्टाचार के खिलाफ एक मजबूत जन लोकपाल कानून बनाने की मांग के लिए अन्ना हज़ारे के नेतृत्व में एक राष्ट्रव्यापी अभियान शुरू हुआ है। आज पर्याप्त सबूतों के बावजूद भ्रष्टाचारियों को सज़ा नहीं मिलती। जन लोकपाल यह सु...
महफ़िल-ए- फितरत MEHFIL E FITRAT...
जयंत कुमार "फितरत"
Tag :
  August 22, 2011, 11:14 am
इन आंखों ने एक नया रंग देखा है,जब से तेरा रुप नजरों मे समाया है,तु हु तु अब मुझे नज़र आता है तेरे इश्क ने यूं बेखुद किया कि हमे खुद का होश न रहाकि किन राहों से हम गुज़रेतु ही  अब जिन्दगी मेरी है ...
महफ़िल-ए- फितरत MEHFIL E FITRAT...
जयंत कुमार "फितरत"
Tag :
  June 3, 2011, 7:13 pm
Jo bandishein thi zamaane ki tod aaya hoon Main tere vaaste duniya ko chhod aaya hoon Aaya tere dar par diwaana -2 Aaya hoon aaya, aaya tera diwaana Aaya tere dar par diwaana -2 Tera diwaana, tera diwaana, tera diwaana Aaya tere dar par diwaana -2 Tera diwaana, (tera) Tera diwaana, (diwaana) Tera diwaana, tera Tera diwaana Tera diwaana, tera diwaana, tera diwaana Aaya tere dar par diwaana -2 Ye hai tera hi saudaayee, ye hai tera hi shahdaayee -2 Tere ishq mein hai isse mar jaana Aaya tere dar par diwaana -2 Aa.... Aa.... Aa... Tera jalwa jo paaun, main har gham bhool jaaun Tera jalwa jo main paaun, main toh har gham bhool jaaun Ye aansoo jo hai behte, bas itna hai ye kehte Kahaan tu aur kaha...
महफ़िल-ए- फितरत MEHFIL E FITRAT...
जयंत कुमार "फितरत"
Tag :पसंदीदा गाने
  May 29, 2011, 8:00 pm
पीर ओ मुर्शिद जनाब आमिर खुसरो की एक खडी बोली मे कविता  अपनी छब बनाई के , जो मैं पी के पास गई  जब छब देखि पिहू कि सो मैं अपनी भूल गइ  छाप तिलक सब छीनी रे मोसे नैना मिलाईके छाप तिलक सब छीनी रे मोसे नैना मिलाईके प्रेम वटी का मदवा पिलाईके , मतवाली कर लीनी रे मोसे नैना मिलाईके, गो...
महफ़िल-ए- फितरत MEHFIL E FITRAT...
जयंत कुमार "फितरत"
Tag :
  May 29, 2011, 7:57 pm
नागार्जुनका वास्तविक नाम वैद्यनाथ मिश्र है। वे शुरूआती दिनों में यात्री उपनाम से भी रचनाएं लिखते रहे हैं। नागार्जुन एक कवि होने के साथ-साथ उपन्यासकार और मैथिली के श्रेष्ठ कवियों में जाने जाते हैं। अमल धवल गिरि के शिखरों पर,बादल को घिरते देखा है।छोटे-छोटे मोती जैसेउ...
महफ़िल-ए- फितरत MEHFIL E FITRAT...
जयंत कुमार "फितरत"
Tag :कविताएँ
  May 29, 2011, 7:11 pm
कोई दीवाना कहता है, कोई पागल समझता है !मगर धरती की बेचैनी को बस बादल समझता है !!मैं तुझसे दूर कैसा हूँ , तू मुझसे दूर कैसी है !ये तेरा दिल समझता है या मेरा दिल समझता है !!मोहब्बत एक अहसासों की पावन सी कहानी है !कभी कबिरा दीवाना था कभी मीरा दीवानी है !!यहाँ सब लोग कहते हैं, मेरी ...
महफ़िल-ए- फितरत MEHFIL E FITRAT...
जयंत कुमार "फितरत"
Tag :कविताएँ
  May 29, 2011, 6:46 pm
पेश ए खिदमत है मीर साहब कि एक मकबूल ओ मारूफ नजम फिल्म बजार से  दिखाई दिए यूं, के बेखुद किया -2हमें आप से भी जुदा कर चले दिखाई दिए यूं, के बेखुद किया-2 दिखाई दिए यूं,जबीं सज्दा करते ही  करते गई -२हक ए बन्दगी हम अदा कर चलेदिखाई दिए यूं, के बेखुद किया हमें आप से भी जुदा कर चलेदिखा...
महफ़िल-ए- फितरत MEHFIL E FITRAT...
जयंत कुमार "फितरत"
Tag :पसंदीदा गाने
  May 28, 2011, 9:22 am
पिछले दिनों फिल्म इजाज़त पचीसवी बार देखी, पर दिल नहीं भरा, न जाने क्या बात है इस फिल्म की मेरा दिल नहीं भरता , चाहे कितनी बार भी देखूं,और ये गाना मेरा कुछ सामान तुम्हारे पास पड़ा है, जो की लगभग बारह साल से मेरा पसंदीदा है  !मैं  क्या लिख सकता हूँ , गुलज़ार साब के बारे में , वो इक ...
महफ़िल-ए- फितरत MEHFIL E FITRAT...
जयंत कुमार "फितरत"
Tag :पसंदीदा गाने
  May 28, 2011, 9:21 am
कभी गुलाब  की  पंखुरियों पे शबनम के कतरे देखे हैं, कैसा लगता है  मानो मोती हों या फिर हवा का संगीत सुना है, तनहाई में रातों को सितारों से दिल का हाल सुनाया है, चांद से बात की है, आप सोच रहें हैं की लगता है मेरा दिमाग फिर  गया है, पगलों सी बात कर रहा हुँ, पर आप भी कभी ये सब करना, यक...
महफ़िल-ए- फितरत MEHFIL E FITRAT...
जयंत कुमार "फितरत"
Tag :कुछ बातें अनकही सी
  May 28, 2011, 8:58 am
हजारों ख्वाहिशे ऐसी फिल्म से एक गाना जिसे स्वानंद किरकिरे जी ने लिखा है और ये गाना  मेरे दिल के  बेहद करीब ह, और मेरी हकीकत है  बावरा मन देखने चला एक सपना, बावरा मन देखने चला एक सपना  बावरे से मन, कि देखो बावरी सी बातें,   बावरे से मन, कि देखो बावरी सी बातें,   बावरी सी धड्कनें ...
महफ़िल-ए- फितरत MEHFIL E FITRAT...
जयंत कुमार "फितरत"
Tag :पसंदीदा गाने
  May 27, 2011, 11:42 pm
 बावरा मन देखने चला एक सपना, बावरा मन देखने चला एक सपना  बावरे से मन, कि देखो बावरी सी बातें,   बावरे से मन, कि देखो बावरी सी बातें,   बावरी सी धड्कनें हैं, बावरी हैं  सांसें, बावरी  सी  करवटों  से , निन्दिया  दूर  भागे   बावरे  से  नैन  चाहे , बावरे  झरोखों  से , बावरे   नज़रों  को  ...
महफ़िल-ए- फितरत MEHFIL E FITRAT...
जयंत कुमार "फितरत"
Tag :
  May 27, 2011, 10:59 pm
...
महफ़िल-ए- फितरत MEHFIL E FITRAT...
जयंत कुमार "फितरत"
Tag :
  February 23, 2011, 1:13 pm
पेश ए खिदमत है मीर साहब कि एक मकबूल ओ मारूफ नजम फिल्म बजार से  दिखाई दिए यूं, के बेखुद किया -2हमें आप से भी जुदा कर चले दिखाई दिए यूं, के बेखुद किया-2 दिखाई दिए यूं,जबीं सज्दा करते ही  करते गई -२हक ए बन्दगी हम अदा कर चलेदिखाई दिए यूं, के बेखुद किया हमें आप से भी जुदा कर चलेदिखा...
महफ़िल-ए- फितरत MEHFIL E FITRAT...
जयंत कुमार "फितरत"
Tag :
  February 20, 2011, 3:45 pm
पिछले दिनों फिल्म इजाज़त पचीसवी बार देखी, पर दिल नहीं भरा, न जाने क्या बात है इस फिल्म की मेरा दिल नहीं भरता , चाहे कितनी बार भी देखूं,और ये गाना मेरा कुछ सामान तुम्हारे पास पड़ा है, जो की लगभग बारह साल से मेरा पसंदीदा है  !मैं  क्या लिख सकता हूँ , गुलज़ार साब के बारे में , वो इक ज...
महफ़िल-ए- फितरत MEHFIL E FITRAT...
जयंत कुमार "फितरत"
Tag :
  January 13, 2011, 8:15 pm
आप सभी तो इक बार फिर से नमस्ते ! लगता है कुछ दिन दूर का हुए की लोग हमें भूल ही गएपर कोई बात है जी ! हम फिर वापस आ गया हूँ इस बार खास बिहारी स्टाइल में अरे का कहें हम तो भैया इक चक्कर में पड़ कर थोडा बिज्जी हो गए थे हम अंग्रेजी में नॉवेल लिख रहे हैं है न आईडिया एकदम झकास तो फिर आप ल...
महफ़िल-ए- फितरत MEHFIL E FITRAT...
जयंत कुमार "फितरत"
Tag :
  December 16, 2010, 8:50 pm
एक आग है दिल में उसे नफरतों से हवा न दे कहीं तेरा ये दामन न जल जाये कही इन शोलों की ज़द में तेरा वजूद न आ जाये अपने मजार पे उदासियों के गुलाब सजा लूँ मुझे इतनी शिद्दत न दे शौक है धूप में साथ चलने का कही तेरा मोम सा तन ये सूरज न पिघला देदीगर एहवाल है ये "फितरत" टूटा हूँ म...
महफ़िल-ए- फितरत MEHFIL E FITRAT...
जयंत कुमार "फितरत"
Tag :नज्में
  August 22, 2010, 1:13 pm
न जाने कौन सी खलिश है सीने मैं ,इक दर्द सा दिल में लिए फिरता हूँ ,मैं तो  आवारा हूँ , इक बंजारा हूँ खुद ही जाने क्या सोचता हूँ ,कभी यूँ ही दिल में मुस्कुराता हूँ ,कभी तन्हाई में रोता हूँ ,उदास बैठ कर शब् भर चाँद को देखता हूँ ,या साहिल पे बैठे लहरों को गिनता हूँ ,...
महफ़िल-ए- फितरत MEHFIL E FITRAT...
जयंत कुमार "फितरत"
Tag :कुछ बातें अनकही सी
  August 22, 2010, 11:31 am
मुस्कुरा के मुट्ठी भर रेत यूँ हवा में उछाल दी चुटकी में भर के खाक मेरे सर पे डाल दी इश्क की इक फकीर ने यूँ मिसाल दी डूबे मेरे इश्क में वो या फिर निकल गए किनारे से इस उम्मीद में हमने सारी दरिया खंगाल दी 'चाहा था निकले बादलों से ईद का चाँद तूने रुख से नकाब हटा के दिल की ये ह...
महफ़िल-ए- फितरत MEHFIL E FITRAT...
जयंत कुमार "फितरत"
Tag :नज्में
  August 19, 2010, 8:08 pm
आज अपना पसंदीदा बंगला गाना सुन रहा था जो की की नचिकेता ने गाई है SO A GREAT ROUND OF APPLAUSE FOR NACHKETA FULL LYRICS WID VIDEO ENJOY................... laal fite shada moja school er uniform no'taar siren sonket, syllabus e monojog kompora fele ek chut chute rastar mor edekhe siren miss kora dokanita dae ghorite domer pore ek rush kalo kalo dhoaaschool bus e kore taar druto chole jawaer por bishonno din baaje nobonobinoboshaade ghire thaka she dirgho dinhajar kobita bekar shobi taarhajar kobita bekar shobi taartar kotha keu bolenashe prothom prem amaar neelanjonashe prothom prem amaar nee...
महफ़िल-ए- फितरत MEHFIL E FITRAT...
जयंत कुमार "फितरत"
Tag :NEELANJONA
  August 15, 2010, 8:02 pm
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3652) कुल पोस्ट (163728)