POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Blog: Hindi Sahitya Ka Jharokha

Blogger: rishabh shukla
सुप्रभात मित्रों, मैने ऑनलाइन शौपिंग के लिये एक बेबसाईट बनायी है| जिस पर आप सभी अच्छे ब्राण्ड की खरीददारी अच्छे छुट के साथ कर सकते हैं| कर सकते हैं| यह भारत का पहला ऐसा ऑनलाइन स्टोर है जो भारत मे सभी पिन कोड पर उपलब्ध है| और सभी सामानो पर कैश ऑन डीलेवरी उपलब... Read more
clicks 60 View   Vote 0 Like   5:42pm 25 Feb 2018 #ebay
Blogger: rishabh shukla
नेता जी के आगमन पर शर्मा जी ने प्रसन्नता के भाव चेहरे पर लाते हुए कहा - "अद्भुत संयोग है की नेता जी स्वयं यहाँ पधारे|"चौबे जी पास में खड़े थे उन्होंने कहा - "यह सच में अद्भुत संयोग ही है की नेता जी चुनाव के बाद पधारे| शायद यह इतिहास में पहली बार हो रहा है|"यह चित्र गूगल से लिया गय... Read more
clicks 74 View   Vote 0 Like   5:41am 22 Feb 2018 #Hindi Story
Blogger: rishabh shukla
एक दिन सहसा जब उमेश देर रात को घर आया तो मैंने देखा तो उसका पाँच साल का बेटा रोहन टी.वी. पर अपने मनपसंद कार्टून देख रहा था। उमेश ने अंदर जाकर उसकी पत्नी निशा से कहा- ''तुमने रोहन को अभीतक सुलाया क्यों नही?''"कब से तो कह रह... Read more
clicks 121 View   Vote 0 Like   8:07am 3 Aug 2017 #Hindi
Blogger: rishabh shukla
अाज हमारे समक्ष ढेर सारी परेशानीयाँ है, उनमे से कुछ प्रमुख समस्यायें जैसे - महंगाई, गरीबी, भुखमरी, जनसंख्या वृध्दी और पर्यावरण प्रदुषण । और इस प्रदुषण की वजह से ही ना सिर्फ हमारे देश कि वरन पूूरे विश्व कि हजारो, लाखो जिन्दगीयां प्रभावित हो रही है। हाल ही मे हुए एक ताजा शो... Read more
clicks 113 View   Vote 0 Like   5:31am 1 Aug 2017 #clean india
Blogger: rishabh shukla
#meremankee #hindi #book #poetry #story #onlinegatha #rishabhshukla"अरे ओ राधे! अभी उठा की नहीं?" - पुष्पा जी कर्कश स्वर में बोली|राधे दौड़ता हुआ आया| एक १२ वर्षीय लड़का जोर-जोर से हाफते हुआ चला आ रहा था|"जी माताजी|"सांसो को रोकते हुए बोला| "कहाँ था तू कब से आवाज लगा रही थी, तुझे कितनी दफा समझाया है मैंने की चुस्त रहा कर, ... Read more
clicks 73 View   Vote 0 Like   7:02am 19 Jul 2017 #Hindi Sahitya Ka Jharokha
Blogger: rishabh shukla
आप सभी को ब्लॉगर दिवस की हार्दिक शुभकामनाएँ|ब्लॉग तो पहले भी लिखे जा रहे थे, लेकिन हिन्दी भाषा में ब्लॉगो के लिखे जाने की शुरुआत कुछ वर्ष पहले हुई| लेकिन शुरुवात मे हिन्दी प्रेमीयों के पढने का माध्यम या तो पुस्तकों को बनाते थे या पत्रिकाओं को| लेकिन धीरे-धीरे हिन्दी ब्ल... Read more
clicks 84 View   Vote 0 Like   11:33am 1 Jul 2017 #blogger's
Blogger: rishabh shukla
दोपहर के दो बज गये थे, पार्क से सब जा चुके थे| वही पार्क मे एक पेड़ के नीचे बेंच पर बैठा 8 साल का सीबु सोच रहा था कि सुबह दो अंकल आपस में बात कर रहे थे कि छोटे बच्चे तो भगवान का रुप होते है| उनकी शरारतें भी खुशी देती हैं| और अपने मित्र के छ: साल के लड़के को देखकर बहुत खुश हो रहे थे|... Read more
clicks 88 View   Vote 0 Like   10:22am 23 Jun 2017 #असहिष्णुता
Blogger: rishabh shukla
मेरी पहली पुस्तक "मेरे मन की"की प्रिंटींग का काम पूरा हो चुका है | और यह पुस्तक बुक स्टोर पर आ चुकी है| आप सब ऑनलाइन गाथा के द्वारा बुक कर सकते है| मेरी पहली बुक कविताओ और कहानीओ का अनुपम संकलन है| http://www.bookstore.onlinegatha.com/bookdetail/450/%E0%A4%AE%E0%A5%87%E0%A4%B0%E0%A5%87-%E0%A4%AE%E0%A4%A8-%E0%A4%95%E0%A5%80.......htmlआप सभी इसे ऑनलाइन गाथ... Read more
clicks 93 View   Vote 0 Like   6:17pm 19 Jul 2016 #keetab
Blogger: rishabh shukla
असहिष्णुता ....एक ऐसा शब्द, जो कुछ दिनों से मेरे कानो को भेद रहा था और मै ठहरा अनपढ़, गवार, और एक नंबर का आलसी आदमी, मुझे बस अपना काम करना आता है | रोज खाने के लिए कड़ी मेहनत करनी पड़ती है | मुझे इससे क्या, की देश के प्रधानमंत्री, किस देश के दौरे पर है या इस देश में कितना कला धन आया | मु... Read more
clicks 182 View   Vote 0 Like   3:17pm 24 Nov 2015 #intolerance in India
Blogger: rishabh shukla
"अरे मुर्ख, ये क्या कर रहा है?... Read more
clicks 158 View   Vote 0 Like   8:34pm 4 Nov 2015 #कहानी
Blogger: rishabh shukla
अचानक पुरा वातावरण शोर-गुल और व्यस्तता की भेट चढ़ गया | अभी कुछ देर पहले रामानंद पाण्डे जी चौक की दुकान पर बैठे चाय की चुस्की ले रहे थे, और किसी के आने क इंतज़ार कर रहे थे, जिनसे वे गप्पे लड़ा सके, लेकिन इस धुप भरी दोपहरी में कोई दिखाई ना दे रहा था | पुरे बाजार में श्मशान सा सन्ना... Read more
clicks 147 View   Vote 0 Like   11:30am 4 Nov 2015 #Hindi Sahitya Ka Jharokha
Blogger: rishabh shukla
घनश्याम बाहर बैठकर महीने का हिसाब ठीक कर रहा था की कही से खेलकर आते हुए उनके आठ वर्षीय बेटे गुड्डू ने पास आकर पुछा - "पापा! क्या कोई त्यौहार आने वाला है?"पापा ने कुछ सोचकर बोला - "नहीं तो|"फिर गुड्डू ने पूछा - "आजकल गाँव में सभी खुश है क्योकी रोज कोई सफेद कपड़े पहने अंकल आते है, स... Read more
clicks 164 View   Vote 0 Like   4:28am 3 Nov 2015 #Hindi Sahitya Ka Jharokha
Blogger: rishabh shukla
एक 11 वर्षीय लड़की है शर्मीली नाम उसका| अपने नाम की ही तरह वह बहूत शर्माती है| वो बच्ची मेरे पास के ही एक गांव के कुम्हार की लड़की थी| पिताजी मिट्टी के बर्तन बनाते और बाज़ार मे बेच आते, माँ घर का काम निपटने के बाद दूसरे घरो म़ें चुढा-चौककर आती| आमदनी तो अच्छी ना थी, लेकिन ज... Read more
clicks 202 View   Vote 0 Like   9:53am 22 Jun 2015 #कहानी
Blogger: rishabh shukla
“I am participating in the #DilKiDealOnSnapdealactivity at BlogAdda in association with SnapDeal.”अचानक दरवाजे पर किसी ने दस्तक दी, रुची ने जाकर दरवाज़ा खोला तो स्तब्ध रह गयी| लेकिन यह क्या, ये तो वही व्यक्ती है जिनसे रुची कल मिली थी| इससे पहले की वो कुछ कह पाते की रुची बोल पड़ी - "मैने क्या किया साहब? मुझे आपका बटुआ रास्ते पर... Read more
clicks 157 View   Vote 0 Like   1:13pm 3 Apr 2015 #ऋषभ शुक्ला
Blogger: rishabh shukla
शर्मा जी अभी-अभी रेलवे स्टेशन पर पहुँचे ही थे। शर्मा जी पेशे से मुंबई मे रेलवे मे ही स्टेशन मास्टर थे। गर्मीकी छुट्टी चल रही थी इसलिए वह शिमला घूमने जा रहे थे, उनके साथ उनकी धर्मपत्नी मंजू और बेटी प्रतीक्... Read more
clicks 193 View   Vote 0 Like   5:28pm 24 Mar 2015 #कहानी
Blogger: rishabh shukla
एक दिन सहसा जब उमेश देर रात को घर आया तो मैंने देखा तो उसका पाँच साल का बेटा रोहन टी.वी. पर अपने मनपसंद कार्टून देख रहा था। उमेश ने अंदर जाकर उसकी पत्नी निशा से कहा- ''तुमने रोहन को अभीतक सुलाया क्यों नही?''"कब से तो कह रह... Read more
clicks 209 View   Vote 0 Like   7:57pm 23 Mar 2015 #कहानी
Blogger: rishabh shukla
अाज हमारे समक्ष ढेर सारी परेशानीयाँ है, उनमे से कुछ प्रमुख समस्यायें जैसे - महंगाई, गरीबी, भुखमरी, जनसंख्या वृध्दी और पर्यावरण प्रदुषण । और इस प्रदुषण की वजह से ही ना सिर्फ हमारे देश कि वरन पूूरे विश्व कि हजारो, लाखो जिन्दगीयां प्रभावित हो रही है। हाल ही मे हुए एक ताजा शो... Read more
clicks 349 View   Vote 0 Like   10:35am 16 Mar 2015 #कविता
Blogger: rishabh shukla
अनुपमा (सोनाली से)-:  सोनाली ! इधर आ । मै तुझे खिलौना दिखाती हूँ ।सोनाली नीचे पोछा करती हुयी, एक पल के लिए पीछे पलटी, लेकिन पूर्ववत अपने काम में लग गयी, जैसे उसने कुछ सुना ही ना हो । शायद उसे पिछली घटना का स्मरण हो आया था, जब बड़ी मालकिन ने सिर्फ इसीलिए उसे पिट दिया था की उसके प... Read more
clicks 229 View   Vote 0 Like   1:12pm 5 Feb 2015 #कविता
Blogger: rishabh shukla
बात तब की है जब मै सिर्फ १२ साल का था | मै अपने जन्म स्थान, उत्तरप्रदेश के भदोही जिले में अपने माता-पिता के साथ रहता था | वही भदोही जो अपने कालीन निर्यात के लिए विश्व विख्यात है | मेरा परिवार एक संयुक्त परिवार है, जहाँ मेरे दादाजी अपने दो भाइयों और उनके पुरे परिवार के साथ रहत... Read more
clicks 197 View   Vote 0 Like   8:30am 15 Dec 2014 #कविता
clicks 203 View   Vote 0 Like   12:00am 1 Jan 1970 #
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Publish Post