Hamarivani.com

मन के वातायन

जग दुख का आगार है नहीं रोइये रोज।रोना धोना छोड़ कर सुख के कारक खोज।।सुख के कारक खोज लगा लत नेक काम की।कर दुखियों की मदद फिकर नहीं कर इनाम की।।परमारथ की लगन जब तुम्हें जायेगी लग।भूलोगे निज कष्ट लगेगा अति सुंदर जग।।पोथी पढ़कर फैंक दी हुआ न कुछ भी ज्ञान।नहीं किया चिंतन मनन ...
मन के वातायन...
Tag :
  October 28, 2018, 7:29 am
सुन चिड़े हो सावधान,बदल गया है अब विधान।हम दोनों हैं अनुगामी।नहीं हो तुम मेरे स्वामी।तुम मुझको नहीं  टोक सकोगे,अब नहीं मुझको रोक सकोगे।चाहे कहीं भी मैं जाऊँ,चाहे किसी के नीड़ रहाऊँ।तेरी ही होकर नहीं रहूँगी,जहाँ  चाहूँगी मैं विचरूँगी।मादाओं को नरों ने बहुत सताया,अब ...
मन के वातायन...
Tag :
  October 20, 2018, 4:09 pm
धृतराष्ट्र थे जन्मांध,सुनयना थीं गांधारी।पटका  बाँध  बनीं  निरंध,ओढ़ ली लाचारी।अविवेकी मन कुंठित  बुद्धि ने,करी वंश वृद्धि।सौ पुत्रों को दिया जन्म,कुविचारों की हुई  सृष्टि।पुत्र मोही राजा रानी,पुत्रों को दे न सके संस्कार।उनके धर्म विरोधी कार्यों का,कर न सके ...
मन के वातायन...
Tag :
  October 13, 2018, 8:04 pm
जिनके बिगड़े रहते हैं बोल,बातों में विष देते घोल।वे सोच समझ कर नहीं बोलते,नहीं जानते शब्दों का मोल।आपे में वे नहीं रहते हैं,जो मुँह में आता है कहते हैं।वे नहीं जानते छिछली बातों से,खुल जाती है उनकी पोल।कुछ लोग बातों का ही खाते हैं,बातों से वे अपनी साख बनाते हैं।रहता है स...
मन के वातायन...
Tag :
  October 6, 2018, 8:46 am
पावस की अमावस की रात किसी पापीके मन सी काली                                घोर डरावनी गंभीर मेघ गर्जन                                                          दामिनी की चमक कर देती है विरहणी को त्रस्त                      ...
मन के वातायन...
Tag :
  September 29, 2018, 7:43 pm
मैं गलियों में गलियारों में इंसानियत ढूंढता रहा,मंदिरों में मस्जिदों में उसका पता पूँछता  रहा।वह मिली तो मिली सर्वहारों के बीच,जिनका जीवन अभावों से जूझता रहा।वे अपनी पीड़ा से दुखी रहते हैं,अंग अंग उनके टीसते रहते हैं।पूँछते हैं एक दूसरे की कुशल क्षेम,नहीं चुराते जी ...
मन के वातायन...
Tag :
  September 21, 2018, 8:24 pm
जय गणेश गिरिजा नन्दन, करते हैं तेरा वंदन................. जय गणेश.....।शंकर सुवन भवानी नन्दन-हम शरण तुम्हारी आये हैं।पान, फूल, मेवा, मिष्ठान-हम पूजा को लाये हैं।सिंदूर का मस्तक पर तिलक लगा कर-करते हैं तेरा अभिनन्दन.................जय गणेश.....।मूषिकारुढ़ प्रभु कृपा करें,भक्तों का संताप हरें।अशु...
मन के वातायन...
Tag :
  September 13, 2018, 10:06 pm
सखी री मैं तो उनकी दिवानी,नहीं आवै उन बिन चैन।मन तड़पत घायल पंछी सौ,विरह करै बेचैन.................सखी री...........।                    बानि पड़ी ऐसी अंखियन को,                    प्रतिक्षण देखन चाहत उनको।                    नहीं दिखाई दें वे पलभर,             ...
मन के वातायन...
Tag :
  September 8, 2018, 5:47 pm
मैं अनुरागी श्री राधा कौ!नाम लेत बन जाती बिगड़ी,महा मंत्र भव बाधा कौ•••।राधा प्रसन्न, मैं प्रसन्न,बात नही है यह प्रच्छन्न।कर न सकूँगो मैं अनदेखी,उनके भक्तों की ब्याधा कौ•••।बिन राधा के श्याम अधूरौ,कर न सकूं कोई काम मैं पूरौ।वे हैं मेरी कर्म शक्ति,मैं उन बिन प्रतीक आधा ...
मन के वातायन...
Tag :
  September 1, 2018, 10:52 am
मधुकर मत कर अंधेर। अभी कली है नहीं खिली है,नहीं कर उनसे छेड़।वे अबोध हैं तू निर्बोध है,प्रीत की रीत का नहीं प्रबोध है।समझेंगी वे चलन प्रेम का,रे भ्रमर देर सवेर.....................मधुकर मत........।रह भँवरे तू कुछ दिन चुप,खिलने दे कलियाँ बनने दे पुष्प।चढ़ने दे उन पर मौसम के रंग,मादक बनते न...
मन के वातायन...
Tag :
  August 26, 2018, 3:05 pm
जय शिव शंकर बम भोले।पी गये गरल,जैसे पेय तरल।न बनाया मुंह,न कुछ बोले ......जय शिव शंकर।थी लोक कल्याण की भावना,सबके प्रति थी सद्द्भावना।हुआ कंठ नीलाभ,भड़कने लगे आँख से शोले ......जय शिव शंकर।चन्द्र कला सिर पर धरी उसकी शीतलता से विष ज्वाल हरी।हुये शान्त उमाकांत,सामान्य हुए हौले ...
मन के वातायन...
Tag :
  August 12, 2018, 12:40 pm
उसकी बात बात होती है,मेरी बात गधे की लात।लग जाये तो ठीक है वरना,उसकी नहीं कोई बिसात।                मैं जब तक प्रश्न समझ पाता हूँ,                वह उत्तर दे देती है।                मैं जब तक विषय में उतराता हूँ,                वह समाधान दे देती है।...
मन के वातायन...
Tag :
  August 6, 2018, 9:40 pm
आयौ बसंत फूली सरसों,खेतों से सौंधी महक उठी।सोये से तरुवर जाग उठे, चिड़िया आँगन में चहक उठी।पक गये धान मगन भये किसान,  ओठों पर तैरी मुस्कान। चंग बजाते रंग जमाते, गाते सोरठ-फगुआ के गान। बात बात पर हँसती छोरी,घूँघट में गोरी मुस्काती है। करती रह-रह कर सैन मटक्का,&nb...
मन के वातायन...
Tag :
  February 28, 2018, 11:28 pm
दम्भी पुत्र जिसको पिता ने घर से  निकाल दिया था, ने छल-बल से घर में पुनः प्रवेश किया और गर्वोक्ति से पिता से कहा, पापा मैं आ गया हूँ, आप हार गये। पिता ने शान्त स्वर में कहा “ठीक है तुम रहो, मैं जा रहा हूँ"।अगले ही पल स्वाभिमानी पिता का निस्पंद शरीर कुर्सी पर लुढ़क गया।  जयन्...
मन के वातायन...
Tag :
  November 25, 2017, 3:30 pm
प्रजा तंत्र का दोष है, तंत्र रहे कमजोर। शाह झांकते है बगल, हावी रहते चोर।।बागी-दागी तंत्र को, कर देते कमजोर।शासन का इन पर नहीं, चल पाता है जोर।। तुष्टिकरण समाज में, पैदा करता भेद। बढ़ जाते हैं भेद से, आपस में मतभेद।। मैं चाहूँ मेरी बने, एक अलग पहचान। इनका उनका सा ...
मन के वातायन...
Tag :
  October 28, 2017, 10:45 am
जय हनुमान महाबलवान,रक्षा करो,करों दुखों का शमन दुष्टों का दमन,नहीं किसी आदेश की प्रतीक्षा करो .............जय हनुमान....।                            तुम प्रखर बुद्धि हो,                            स्वयं सिद्ध हो।                            भक्तों क...
मन के वातायन...
Tag :
  October 21, 2017, 5:57 pm
आदरणीय प्रवर बन्धुसादर नमस्ते।कुछ अपरिहार्य कारणों और कंप्यूटर की हार्ड डिस्क तथा मदर बोर्ड  के खराब हो जाने के कारण एक लम्बे समय तक आपसे सम्पर्क नहीं हो पाया, जिसका मुझे अत्यंत खेद है। धन्यबाद जहाँ तुम थे वहाँ मैं भी था,किसी पुस्तक सी प्रस्तावना सा।तमाम किन्तु...
मन के वातायन...
Tag :
  September 19, 2017, 10:03 pm
समता निश्छलता और वत्सलता,हैं मित्रता क आधार। वे भाई तो नहीं होते, भाई से बढ़कर होता है उनका प्यार।              निश्छल प्रेमी जन ही मित्र बन पाते हैं,              निष्ठावान होकर वे उसे निभाते हैं।              जब सारे रिश्ते हो जाते है बेकार, &n...
मन के वातायन...
Tag :
  May 27, 2017, 11:09 am
माँ जीवन का आधार,माँ ममता का भण्डार।नहीं माँ जैसा कोई उदार, कैसा भी हो बच्चा करती प्यार। माँ सुख बच्चों को देती, बलायें उसकी ले लेती। नहीं माँ की ममता का मोल, नहीं उसके स्नेह का तोल।माँ कष्ट में बच्चे को पाती, भूख प्यास उसकी उड़ जाती। नहीं माँ की करुणा का अन्त,...
मन के वातायन...
Tag :
  May 13, 2017, 12:47 pm
जिया जाता नहीं मरा जाता नहीं,अफसाना मौत का कहा जाता नहीं। सोचा था मौत तो हमराह है, चाहेंगे जब आ जायेगी। नहीं बनेगी बेवफा,नहीं महबूब सी तड़पायेगी।दिल घबड़ा उठा सांसें लगी डूबने,लगता है अब मौत आयेगी।ले जायेगी हम को साथ अपने,सभी दुश्वारियों से बचायेगी।नाते रिश्ते वा...
मन के वातायन...
Tag :
  May 5, 2017, 10:25 pm
वे भ्रष्टाचारी हैं भ्रष्टों से अनुबंधित हैं, भ्रष्टाचार के जितने भी प्रकार हैं सबसे संबंधित हैं। वे राजनीति में थे शक्तिपुंज,बदले हालातों में हो गये हैं लुंज-पुंज। लोकतंत्र के मेले में जनादेश खंडित है। भलों से रखते थे दुराव, बुरों का करते थे बचाव। वे कर पा...
मन के वातायन...
Tag :
  April 29, 2017, 10:30 pm
मारी नैन कटारी सैंया ने मारी।          नैन कटारी सैंया ने मारी,          सीधे दिल में मेरे उतारी।          ऐसी घात करी जुल्मी ने,          सह नहीं पाई मैं बेचारी।मैं मर गई दरद की मारी......सैंया ने..............।          सैंया ने मोहे दुख दीनों,          नैन...
मन के वातायन...
Tag :
  April 14, 2017, 10:39 pm
है जन्म अनिश्चित मृत्यु शाश्वत सत्य है ,नहीं कुछ भी स्थिर सब अनित्य है।जैसा जिसका भोग है रहता है वह साथ।जाने की बेला में चल देता है पैदा कर निर्वात।नहीं आत्मा का कोई होता रिश्ता नहीं कोई नाता,इस संसार के रंगमंच पर शरीर ही हर किरदार निभाता।सब हैं सब कुछ जानते नहीं कोई अन...
मन के वातायन...
Tag :
  April 3, 2017, 11:42 am
एक नन्हीं सी चिरैया,छोटी सी प्यारी सी गौरैया।उमर मेरी हो गई है पचपन,याद आता है मुझको बचपन।जब देखता हूँ आँगन में,एक नन्हीं सी चिरैया........................ छोटी सी प्यारी सी..............।चूँ चूँ  करती वह आती थी,रहती थी वह शरमाती सी।डर डर कर चुगती थी दाना,वह नन्हीं सी चिरैया.......................... छोटी सी...
मन के वातायन...
Tag :
  March 20, 2017, 12:30 pm
मन में उमंग लिये,सखियन को संग लिये।आई मदमाती नारि,विरज की खोरी में।                पुकारती फिरे नाम,                छोड़ूँगी नहीं आज श्याम।                चटक रंग घोरि लाई,                बौरी कमोरी में..............आई मदमाती............।कजरारे रसीले नैन,मिसरी ...
मन के वातायन...
Tag :
  March 12, 2017, 10:56 am
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3814) कुल पोस्ट (182839)