POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Blog: शरारती बचपन

Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
भगत सिंह की वैचारिक विरासत -भगत सिंह ने अपने समय के राष्ट्रीय आन्दोलन पर जो आलोचनात्मक टिपण्णी की थी अपने देश काल की जमीन पर खड़े होकर उन्होंने भविष्य की सम्भावनाओं के बारे में जो आकलन प्रस्तुत किया था , कांग्रेसी नेतृत्व का जो वर्ग विश्लेषण किया था , देश की मेहनतकश जनता... Read more
clicks 7 View   Vote 0 Like   7:06am 11 Nov 2019 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
सन्यासी विद्रोह और उसके सबक ( 1763-1800 )( क्या आज के सन्यासी , फकीर , महात्मा , धर्मगुरु व धार्मिक नेता सन्यासी विद्रोह के शहीदों व फकीरों से प्रेरणा ले सकेगे ? इन विदेशी साम्राज्यी ताकतों और उनके सहयोगी देश के धनाढ्य वर्गियो से संघर्ष कर सकेगे ? उनके द्वारा लायी गयी और देश के धन... Read more
clicks 14 View   Vote 0 Like   7:58am 26 Oct 2019 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
भगीरथ की प्रतीक्षा में है माँ गंगा........................................विश्व के प्राचीनतम ज्ञान सकलन ऋग्वेद में गंगा सहित अनेक नदियों से राष्ट्र कल्याण की प्रार्थना है |गंगा भारत की पहचान है ,आस्था और संस्कृति है |मृत्यु के समय दो बूंद गंगाजल की अभीप्सा सनातन है |गंगा राष्ट्र जीवन का स्पंद... Read more
clicks 28 View   Vote 0 Like   9:26am 15 Oct 2019 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
भगीरथ की प्रतीक्षा में है माँ गंगा........................................विश्व के प्राचीनतम ज्ञान सकलन ऋग्वेद में गंगा सहित अनेक नदियों से राष्ट्र कल्याण की प्रार्थना है |गंगा भारत की पहचान है ,आस्था और संस्कृति है |मृत्यु के समय दो बूंद गंगाजल की अभीप्सा सनातन है |गंगा राष्ट्र जीवन का स्पंद... Read more
clicks 9 View   Vote 0 Like   9:26am 15 Oct 2019 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
लहू बोलता भी है जमात - ए - उलमा -ए हिन्द और उल्माओ के आन्दोलन भागउलेमाओं की राय थी की अब जो हालात है , उसके मुताबिक़ सिर्फ मुसलमानों के आन्दोलन से अंग्रेज को मुल्क से बाहर कर पाना मुश्किल ही नही बल्कि नामुमकिन है | इसी दौरान जालियाँवाला बाग़ के हादसे ने खुद - ब खुद हिन्दू मुसल... Read more
clicks 22 View   Vote 0 Like   9:20am 14 Oct 2019 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
लहू बोलता भी हैं ---जमात - ए - उलमा -ए हिन्द और उल्माओ के आन्दोलन भाग- चार सबकी राय के बाद विद्रोह का फैसला तय हो गया | अब सवाल हुआ कि अमीरुल - मोमनीन किसे बनाया जाए | सबकी इत्तेफाके - राय से हाजी इम्दादुल्लाह सैय्यद बहादुर को अमीरुल - मोमनीन बनाकर मजलिसे - शुरा ने आजादी का एलान कर... Read more
clicks 28 View   Vote 0 Like   8:09am 7 Oct 2019 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
आगरा रेड फोर्ट - भाग दो -अदभुत है रेड फोर्ट---------------------------इस गेट से अन्दर जाने के बाद सामने ही खुबसूरत महल पर नजर पड़ती है यह है जहाँगीर महल यह लाल पत्थरों की बनी दो मंजिला इमारत है , अकबर ने इसे अपने पुत्र के लिए बनवाया था इसकी छत और दीवारे आकर्षित रंगों से सजी हुई है इसमें सुनहर... Read more
clicks 14 View   Vote 0 Like   7:32am 6 Oct 2019 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
आगरा रेड फोर्ट में -- भाग एक24 सितम्बर हम सब भाई एह्तेशाम और मारुफ़ भाई से मिलने के बाद सीधे राज के छोटे भाई के घर पहुचे रात वही पर व्यतीत हुआ दूसरे दिन हम लोग अंशुल के यहाँ गये वहाँ पर राज को शहीद मेला की वेव साईट की प्रगति देखनी थी , सारा काम सम्पन्न होने के बाद वापसी फिर यमुन... Read more
clicks 6 View   Vote 0 Like   7:31am 6 Oct 2019 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
लहू बोलता भी है - जमात - ए - उलमा -ए हिन्द और उल्माओ के आन्दोलन भाग -तीन भाग दो से आगे -ब्रिटिश अधिकारियो के दस्तावेजो से पता चलता है कि मुस्लिम जंगे - आजादी तंजीम के जरिये संघर्ष की रोजाना आवाजे कही - न कही - से उठने लगी , जो की आगे चलकर सन 1857 की जंगे - आजादी की जमीन तैयार करने में क... Read more
clicks 24 View   Vote 0 Like   7:47am 5 Oct 2019 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
लहू बोलता भी हैं - जमात - ए - उलमा -ए हिन्द और उल्माओ के आन्दोलन भाग - दो इस बारे में शाह अब्दुल अजीज ने कहा था कि भारत अब मुस्लिमो और धिमिम्यो ( गैर मुस्लिम ) के लिए सकूं और हिफाजत की जगह नही रह गयी है काफ़िरो (अंग्रेजो ) की ताकत में लगातार इजाफा होता जा रहा है | वे जब चाहते है , कोई ... Read more
clicks 25 View   Vote 0 Like   12:52pm 4 Oct 2019 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
बगाल की संस्कृति का आगमन आजमगढ़ तक --------------परानापुर में काली बाड़ी में होती है पारम्परिक तरीके से पूजाओकार स्वरूप की अविभाज्य ऊर्जा ''प्रकृति ''के रूप में ''शक्ति 'की उपासना वैदिक काल से प्रचलित रही है | किन्तु ''नव दुर्गा ''रूपायन ''सप्तशती ''मूर्ति स्थापना एवं सामूहिक पूजा -- विस... Read more
clicks 25 View   Vote 0 Like   6:16am 1 Oct 2019 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
बगाल की संस्कृति का आगमन आजमगढ़ तक --------------परानापुर में काली बाड़ी में होती है पारम्परिक तरीके से पूजाओकार स्वरूप की अविभाज्य ऊर्जा ''प्रकृति ''के रूप में ''शक्ति 'की उपासना वैदिक काल से प्रचलित रही है | किन्तु ''नव दुर्गा ''रूपायन ''सप्तशती ''मूर्ति स्थापना एवं सामूहिक पूजा -- विस... Read more
clicks 6 View   Vote 0 Like   6:16am 1 Oct 2019 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
आज जन्मदिन पर भगत के --कल भी गुलाम थी - आज भी गुलाम है आम जनतामहान क्रांतिकारी महावीर सिंह............( लोग भगत सिंह के साथ रहे क्रांतिकारी महावीर सिंह के बारे में शायद कम ही जानते होंगे | महावीर सिंह का जीवन संघर्ष और उसमे उनके पिता का उत्कृष्ट प्रेरणादायक योगदान आज के पिताओं ,प... Read more
clicks 33 View   Vote 0 Like   6:42am 27 Sep 2019 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
आज जन्मदिन पर भगत के --कल भी गुलाम थी - आज भी गुलाम है आम जनतामहान क्रांतिकारी महावीर सिंह............( लोग भगत सिंह के साथ रहे क्रांतिकारी महावीर सिंह के बारे में शायद कम ही जानते होंगे | महावीर सिंह का जीवन संघर्ष और उसमे उनके पिता का उत्कृष्ट प्रेरणादायक योगदान आज के पिताओं ,प... Read more
clicks 10 View   Vote 0 Like   6:42am 27 Sep 2019 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
लहू बोलता भी हैं - जमात - ए - उलमा -ए हिन्द और उल्माओ के आन्दोलन अंग्रेजो ने सन 1799 में टीपू सुलतान को धोखे से हराकर उनका कत्ल कर दिया था | उससे पहले प्लासी की जंग में भी उन्होंने नबाब के ख़ास लोगो को अपनी तरफ मिलाकर उनका कत्ल करके उनकी सरहदों तक पर अपना कब्जा जमा लिया था | इस तरह... Read more
clicks 7 View   Vote 0 Like   6:31am 27 Sep 2019 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
हिंदू बनाम हिंदू ----------------------- राममनोहर लोहियाभारतीय इतिहास की सबसे बड़ी लड़ाई, हिंदू धर्म में उदारवाद और कट्टरता की लड़ाई पिछले पाँच हजार सालों से भी अधिक समय से चल रही है और उसका अंत अभी भी दिखाई नहीं पड़ता। इस बात की कोई कोशिश नहीं की गई, जो होनी चाहिए थी कि इस लड़ाई को नज... Read more
clicks 49 View   Vote 0 Like   9:35am 20 Sep 2019 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
हिंदू बनाम हिंदू ----------------------- राममनोहर लोहियाभारतीय इतिहास की सबसे बड़ी लड़ाई, हिंदू धर्म में उदारवाद और कट्टरता की लड़ाई पिछले पाँच हजार सालों से भी अधिक समय से चल रही है और उसका अंत अभी भी दिखाई नहीं पड़ता। इस बात की कोई कोशिश नहीं की गई, जो होनी चाहिए थी कि इस लड़ाई को नज... Read more
clicks 12 View   Vote 0 Like   9:35am 20 Sep 2019 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
लहू बोलता भी हैं -- सैय्यद शाहनवाज कादरीचम्पारण बगावत 12 वी रेजिमेंट के सिपाही रंगी खान को 4 जून 1857 को होम्स ने फांसी पर लटका दिया | 23 जुलाई 1857 की शाम से चम्पारण जिले के सुगौली में घुड़सवार पलटन ने बगावत शुरू कर दिया | बागी सैनिको के साथ मेजर होम्स ने चूँकि बहुत जुल्म किये थे , इ... Read more
clicks 34 View   Vote 0 Like   8:10am 18 Sep 2019 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
गजब बनारसजितनी निराली बनारस है .उतने निराले यहाँ के मकान भी .किस गली को किस मकान के अन्दर से पार करना है .वह तो बस बनारसी जान सकता है ।बनारस के मकान.....................बनारस के मकानों पर कुछ लिखने से पहले एक बात साफ़ कर देना चाहता हूँ | मेरा मकसद यह नही है की बनारस में कहा ,किस मुहल्ले मे... Read more
clicks 15 View   Vote 0 Like   5:16am 18 Sep 2019 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
गजब बनारसजितनी निराली बनारस है .उतने निराले यहाँ के मकान भी .किस गली को किस मकान के अन्दर से पार करना है .वह तो बस बनारसी जान सकता है ।बनारस के मकान.....................बनारस के मकानों पर कुछ लिखने से पहले एक बात साफ़ कर देना चाहता हूँ | मेरा मकसद यह नही है की बनारस में कहा ,किस मुहल्ले मे... Read more
clicks 8 View   Vote 0 Like   5:16am 18 Sep 2019 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
लहू बोलता भी हैं -- सैय्यद शाहनवाज कादरी गया में नजीबो और सिपाहियों की बगावत बिहार में गया जेल का फाटक तोड़कर बागी सैनिको ने वहाँ बंद आंदोलनकारियो को आजाद करा लिया था | अंग्रेज अफसरों का मानना था की जेल के मिलाजिमो की मिलीभगत से ही जेल पर हमला कैदियों को आजाद कराया गया है... Read more
clicks 37 View   Vote 0 Like   7:10am 17 Sep 2019 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
अहमदाबाद एक नजर -अहमदाबाद से 8 किलो मी दूर सरखेज क्षेत्र अहमदाबाद की स्थापना से पूर्व यह जगह सरखेज के नाम से विख्यात था | सरखेज एक प्राचीन जगह है कभी इस जगह से साबरमती नदी का प्रवाह इसके पास से बहता था | साबरमती नदी के तटवर्ती में स्थित होने के कारन इसका नाम ''श्रीक्षेत्र ''भ... Read more
clicks 43 View   Vote 0 Like   8:58am 16 Sep 2019 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
लहू बोलता भी हैं -- सैय्यद शाहनवाज कादरी बिहार शरीफ - नवादा बगावत 1857 की जंगे आजादी की पहली लड़ाई में नवादा के लोग भी अंग्रेजो के खिलाफ बगावत करने में किसी से पीछे नही थे | एक तो यहाँ आरा की बगावत का असर था , दुसरे यहाँ के बहुत से लोग सेना और पुलिस से बगावत करके अपने - अपने गाँव प... Read more
clicks 33 View   Vote 0 Like   6:11am 16 Sep 2019 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
कानून के दरवाज़े पर ----------- फ़्रांज काफ़्काकानून के द्वार पर रखवाला खड़ा है। उस देश का एक आम आदमी उसके पास आकर कानून के समक्ष पेश होने की इजाज़त मांगता है। मगर वह उसे भीतर प्रवेश की इजाज़त नहीं देता।आदमी सोच में पड़ जाता है। फिर पूछता है- ‘‘क्या कुछ समय बाद मेरी बात सुनी जा... Read more
clicks 33 View   Vote 0 Like   6:25am 13 Sep 2019 #
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक"
बना रहे बनारस( प्राचीन शहर )जिस प्रकार हिन्दु धर्म कितना प्राचीन है पता नही चलता ठीक उसी प्रकार काशी कितनी प्राचीन है ,पता नही लग सका |यद्धपि बनारस की खुदाई से प्राप्त अनेक मोहरे ,ईट,पथ्थर ,हुक्का ,चिलम और सुराही के टुकडो का पोस्मार्टम हो चुका है फिर भी सही बात अभी तक प्रक... Read more
clicks 30 View   Vote 0 Like   12:32pm 12 Sep 2019 #
[ Prev Page ] [ Next Page ]


Members Login

Email ID:
Password:
        New User? SIGN UP
  Forget Password? Click here!
Share:
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3931) कुल पोस्ट (193275)