POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Blog: Astro Adviser

Blogger: Anil Sharma
आज से एक नई श्रंखला शुरू करने जा रहे है. जिस में कि भारतीय ज्योतिष शास्त्र अनुसार महत्वपूर्ण तथा सटीक उपाय के बारें में बताया जाएगा, इन  सरल और छोटे छोटे उपायों से आप अपने जीवन की सभी समस्याओं का लाभ ले  सकते है..अनिष्टकारी राहू की शान्ति के लिए  चाय की कम से कम 200 ग्रा... Read more
clicks 130 View   Vote 0 Like   4:39pm 21 May 2016 #
Blogger: Anil Sharma
“भारतीय संस्कृति में “तिलक”का महतवपूर्ण स्थान है, बिना तिलक के कोई भी कार्य शुरू नही होता. बिना तिलक के रस्मों रिवाज भी नही होते है, अतः तिलक का महत्व इतना ज्यादा है कि इसके बिना विवाह आदि मंगल कार्य भी सफल नही होतें है”..तिलक से ही धर्म की पहचान होती है, कोई भी नया कार्य श... Read more
clicks 190 View   Vote 0 Like   3:40pm 20 May 2016 #
Blogger: Anil Sharma
सिद्ध बजरंग बाणभौतिक मनोकामनाओं की पुर्ति के लिये बजरंग बाण का अमोघ विलक्षण प्रयोग......... अपने इष्ट कार्य की सिद्धि के लिए मंगल अथवा शनिवार का दिन चुन लें। हनुमानजी का एक चित्र या मूर्ति जप करते समय सामने रख लें। ऊनी अथवा कुशासन बैठने के लिए प्रयोग करें। अनुष्ठान के लि... Read more
clicks 163 View   Vote 0 Like   10:40pm 19 May 2016 #
Blogger: Anil Sharma
गोस्वामी श्री तुलसी दास जी ने सभी प्राणियों के सुख के लिए श्री राम चरित मानस की रचना की उसमें प्रत्येक चौपाई, दोहा, सोरठा और छंद आदि सभी मंत्रो का सिद्ध रूप ही है. इसका अनुष्ठान कर लाभ प्राप्त किया जा सकता  है.मानस के दोहे-चौपाईयों को सिद्ध करने का विधान यह है कि किसी भी ... Read more
clicks 141 View   Vote 0 Like   10:25pm 19 May 2016 #
Blogger: Anil Sharma
यदि आप  और आपका परिवार सुखी और समृद्ध होना चाहता हैं तो भगवान गणेश जी की पूजा अनिवार्य है..आज के युग में परिवार में सुख समृद्धि प्राप्त करना बहुत कठिन सा प्रतीत होता है, परिवार  में तीन प्रकार की समस्याएं बहुत अधिक देखने को मिलती है, अगर हम कहें कि यही तीन समस्या ना हों... Read more
clicks 218 View   Vote 0 Like   3:05pm 19 May 2016 #
Blogger: Anil Sharma
"जीवन में साथ चलने वाले तो कई लोग मिलते हैं लेकिन जो व्यक्ति अपने कदमों के निशान आपके ह्रदय में दूर-दूर तक छोड़ जाए"मेरे अनुसार वही है आपका सच्चा  दोस्त / मित्र है.......मित्र एक ऐसा शब्द है, जिस की परिभाषा अलग अलग रूप में सभी व्यक्ति देते है.ये प्रश्न आज भी वहीँ उसी जगह खड़ा ह... Read more
clicks 199 View   Vote 0 Like   4:46pm 18 May 2016 #
Blogger: Anil Sharma
गृहस्थ जीवन का मुख्य आधार पति और पत्नी का आपसी विशवास.....वैवाहिक जीवन तभी तक सुखमय बना रहता है जब तक पति-पत्नी का विशवास बना रहता है, जिस समय भी आपसी विश्वास कमजोर हुआ तो उसी समय से  गृहस्थ जीवन के सुख में दरार आणि शुरू हो जायेगी, जिसके कारण एक छोटी सी मामूली बात भी भयंकर र... Read more
clicks 207 View   Vote 0 Like   10:11am 18 May 2016 #
Blogger: Anil Sharma
नित्य पहनने वाले कपड़ें भी आपकी समस्या को काफी हद तक दूर करने में सहायक हो जाती है, हर समस्या का एक समाधान भी होता है, कपड़ें का रंग अलग अलग समस्या को सुलझाने में सहायता प्रदान करता है.प्रत्येक रंग अपना एक गुण रखता है, रंगों के चयन से उस व्यक्ति का स्वभाव, गुण तथा उस की आदते... Read more
clicks 125 View   Vote 0 Like   12:46am 18 May 2016 #
Blogger: Anil Sharma
आपकी जन्म-कुंडली में सरकारी नौकरी के योग है...या नही ? व्यक्ति अपने जॉब के प्रति ज्यादा चिंतित रहता है, और आज के युग में तो सरकारी जॉब एक लाटरी से कम नही है.सरकारी जॉब मिलते ही इस प्रकार ख़ुशी होती है जैसे कोई लाटरी निकल आई हो, इसीलिए हर किसी का यही एक सपना होता है की मेरी सर... Read more
clicks 193 View   Vote 0 Like   3:02pm 17 May 2016 #
Blogger: Anil Sharma
एक आदर्श घर की परिभाषा क्या है ? घर में सुख समृद्धि कहाँ से प्रवेश करती है ? धन लक्ष्मी का वास कहाँ है ?आज के युग में ये एक ऐसा प्रश्न है जिसका उत्तर कहीं बाहर नही है इसका हल केवल घर में ही है, अर्थात घर के सदस्यों द्वारा ही सुख, धन और समृद्धि को प्राप्त किया जा सकता है. और इस प्... Read more
clicks 326 View   Vote 0 Like   7:35pm 11 May 2016 #
Blogger: Anil Sharma
भारत वर्ष की परम्परा रही है की सौभाग्यवान महिला अपना श्रृंगार सबसे पहले करती है जिसे प्राचीन काल से हमारे ऋषि मुनियों ने शास्त्रों द्वारा निर्देश दिए है, चूड़िया या कंगन इसमें सबसे महत्वपूर्ण  भूमिका अदा करते है, क्योंकि चूडिया और कंगन ही महिला के साथ हमेशा रहते है द... Read more
clicks 214 View   Vote 0 Like   6:46am 11 May 2016 #
Blogger: Anil Sharma
हमारी क्या विश्व में किसी भे देश में महिलाओं को आभूषण से बहुत अधिक  लगाव रहता हैं भारतीय  संस्कृति में गहने पहनना एक रस्म और मर्यादा के अन्तर्गत आते हैं। आभूषण एवं गहनों से केवल शारीरिक सौन्दर्य ही नहीं निखरता वरन् इससे स्वास्थ्य रक्षा भी होती हैं। शरीर को सजाने क... Read more
clicks 165 View   Vote 0 Like   6:21pm 10 May 2016 #
Blogger: Anil Sharma
ॐ श्री महालक्ष्म्यै नमः...आप सभी को अक्षय तृतीया के पावन पर्व पर हार्दिक शुभकामनाएं...    माँ लक्ष्मी जी आपके घर में सदा वास करें.....!! श्रीरस्तु !!... Read more
clicks 148 View   Vote 0 Like   6:44pm 8 May 2016 #
Blogger: Anil Sharma
मनुष्य शरीर पर तिल क‌िसी भी अंग पर कहीं भी और कभी भी हो सकते हैं. तथा प्रत्येक तिल का अपना अलग स्वभाव तथा शुभ अशुभ फल होता है, हर तिल के अंदर मनुष्य की प्रकृति का कोई न कोई राज छिपा होता है, जिस व्यक्ति के हाथ में तिल होता है वह बहुत धनवान होता है,ऐसा सभी लोग सोचते है या ऐसी ... Read more
clicks 278 View   Vote 0 Like   3:08am 2 May 2016 #
Blogger: Anil Sharma
स्वप्न मनुष्य के लिए बड़े ही आकर्षक लुभावने और रहस्यमय होते है. डरावने और बुरे स्वप्न जहां उसे भयभीत करते है. वहीं दिलचस्प, मनोहारी और अच्छे स्वप्न उसे आत्मविभोर कर देते है. रात्री में सुप्त अवस्था में देखे गए स्वप्नों के स्वप्न जाल में घिरा वह सारा दिन एक अजीब सी खुश... Read more
clicks 199 View   Vote 0 Like   12:08am 1 May 2016 #
Blogger: Anil Sharma
ज्योतिष शास्त्र में मनुष्य के जीवन की समस्त घटनाओं को जानने  के लिए हमारे ऋषि मुनियों ने तप और साधना कर जन्म कुंडली का साधन दिया उस जन्म कुंडली में नौ ग्रह, बारह राशियाँ तथा सत्ताईस नक्षत्रों का वर्णन किया इन सबके आपस में जो योग बनते है और दशाओं का ज्ञान से मनुष्य अपने... Read more
clicks 261 View   Vote 0 Like   8:14pm 29 Apr 2016 #
Blogger: Anil Sharma
ज्योतिष शास्त्र में मनुष्य के जीवन की समस्त घटनाओं को जानने  के लिए हमारे ऋषि मुनियों ने तप और साधना कर जन्म कुंडली का साधन दिया उस जन्म कुंडली में नौ ग्रह, बारह राशियाँ तथा सत्ताईस नक्षत्रों का वर्णन किया इन सबके आपस में जो योग बनते है और दशाओं का ज्ञान से मनुष्य अपने... Read more
clicks 282 View   Vote 0 Like   9:35am 29 Apr 2016 #
Blogger: Anil Sharma
ज्योतिष शास्त्र में मनुष्य के जीवन की समस्त घटनाओं को जानने  के लिए हमारे ऋषि मुनियों ने तप और साधना कर जन्म कुंडली का साधन दिया उस जन्म कुंडली में नौ ग्रह, बारह राशियाँ तथा सत्ताईस नक्षत्रों का वर्णन किया इन सबके आपस में जो योग बनते है और दशाओं का ज्ञान से मनुष्य अपने... Read more
clicks 193 View   Vote 0 Like   7:41pm 28 Apr 2016 #
Blogger: Anil Sharma
ज्योतिष शास्त्र में मनुष्य के जीवन की समस्त घटनाओं को जानने  के लिए हमारे ऋषि मुनियों ने तप और साधना कर जन्म कुंडली का साधन दिया उस जन्म कुंडली में नौ ग्रह, बारह राशियाँ तथा सत्ताईस नक्षत्रों का वर्णन किया इन सबके आपस में जो योग बनते है और दशाओं का ज्ञान से मनुष्य अपने... Read more
clicks 229 View   Vote 0 Like   11:34am 28 Apr 2016 #
Blogger: Anil Sharma
ज्योतिष शास्त्र में मनुष्य के जीवन की समस्त घटनाओं को जानने  के लिए हमारे ऋषि मुनियों ने तप और साधना कर जन्म कुंडली का साधन दिया उस जन्म कुंडली में नौ ग्रह, बारह राशियाँ तथा सत्ताईस नक्षत्रों का वर्णन किया इन सबके आपस में जो योग बनते है और दशाओं का ज्ञान से मनुष्य अपने... Read more
clicks 231 View   Vote 0 Like   3:40pm 27 Apr 2016 #
Blogger: Anil Sharma
वशीकरण कर्म अनुसार सबसे महत्वपूर्ण स्थान "जल"का है, जैसा की आप सब जानते है कि जल ही जीवन है, बिना जल के कोई भी मनुष्य, जीव जंतु और सभी वनस्पति भी जल पर आधारित है.बिना जल के जीवन का अस्तित्व ही नही है तथा बिना जल के हमारा कर्म काण्ड, पूजा पाठ सभी अधूरा है,गोस्वामी तुलसी दास जी ... Read more
clicks 183 View   Vote 0 Like   8:02pm 25 Apr 2016 #
Blogger: Anil Sharma
ज्योतिष शास्त्र में मनुष्य के जीवन की समस्त घटनाओं को जानने  के लिए हमारे ऋषि मुनियों ने तप और साधना कर जन्म कुंडली का साधन दिया उस जन्म कुंडली में नौ ग्रह, बारह राशियाँ तथा सत्ताईस नक्षत्रों का वर्णन किया इन सबके आपस में जो योग बनते है और दशाओं का ज्ञान से मनुष्य अपने... Read more
clicks 194 View   Vote 0 Like   9:36pm 24 Apr 2016 #
Blogger: Anil Sharma
ज्योतिष शास्त्र में मनुष्य के जीवन की समस्त घटनाओं को जानने  के लिए हमारे ऋषि मुनियों ने तप और साधना कर जन्म कुंडली का साधन दिया उस जन्म कुंडली में नौ ग्रह, बारह राशियाँ तथा सत्ताईस नक्षत्रों का वर्णन किया इन सबके आपस में जो योग बनते है और दशाओं का ज्ञान से मनुष्य अपने... Read more
clicks 185 View   Vote 0 Like   9:26pm 24 Apr 2016 #
Blogger: Anil Sharma
ज्योतिष शास्त्र में मनुष्य के जीवन की समस्त घटनाओं को जानने  के लिए हमारे ऋषि मुनियों ने तप और साधना कर जन्म कुंडली का साधन दिया उस जन्म कुंडली में नौ ग्रह, बारह राशियाँ तथा सत्ताईस नक्षत्रों का वर्णन किया इन सबके आपस में जो योग बनते है और दशाओं का ज्ञान से मनुष्य अपने... Read more
clicks 230 View   Vote 0 Like   6:47pm 23 Apr 2016 #
Blogger: Anil Sharma
ज्योतिष शास्त्र में मनुष्य के जीवन की समस्त घटनाओं को जानने  के लिए हमारे ऋषि मुनियों ने तप और साधना कर जन्म कुंडली का साधन दिया उस जन्म कुंडली में नौ ग्रह, बारह राशियाँ तथा सत्ताईस नक्षत्रों का वर्णन किया इन सबके आपस में जो योग बनते है और दशाओं का ज्ञान से मनुष्य अपने... Read more
clicks 246 View   Vote 0 Like   12:16am 22 Apr 2016 #
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Publish Post