Hamarivani.com

क्षितिज(horizon)

हिंदु दर्शन के तहत रिश्तों मे सबसे ऊंचा स्थान हमने मां को दिया है और यही भावना हमारी गंगा, गाय और जमीन से जुडी है । हम इन तीनों को मां से संबोधित करते हैं । गंगा मां का पावन जल, गाय माता का अमृत समान दूध और धरती मां से उपजा अन्न हमारे जीवन का आधार है । लेकिन हम कितने दुर्भाग्...
क्षितिज(horizon)...
Tag :
  April 12, 2017, 4:13 pm
     दिनहैसुहानाआजपहलीतारीखहै।खुशहैजमानाआजपहलीतारीखहै।कभीयहगीतरेडियोसेहरमाहकीपहलीतारीखकोसुनायाजाताथा।यहसिलसिलावर्षोंतकचला।दर-असल70और80कावहएकदौरथाजबइसगीतकाजुडावहमअपनीजिँदगीसेगहरेमहसूसकरतेथे।बचपनकीयादोँमेआजभीउसपहलीतारीखकीअनगिनतधुधंलीया...
क्षितिज(horizon)...
Tag :
  March 1, 2017, 11:06 am
जब फिजा मे वेलेंटाइन यानी प्यार की खुशबू हो तो बरबस ही याद आती है प्यार की सपनीली दुनिया । वह भी एकदौरथाजबदर्शकोंकोरूलानेवालीफिल्मेंबहुतायतमेबनतीथीं।लोगसिनेमाहालमेबैठकरसुबक-सुबककररोतेभीथे।इनमेंएकबडाहिस्सादुखदप्रेमकहानियोंपरबनीफिल्मोंकाहुआकरताथा।नजा...
क्षितिज(horizon)...
Tag :
  February 9, 2017, 10:51 am
अगर आज के दौर को थोडा गहरी निगाह से देखने का प्रयास करें तो यह बात साफ हो जाती है कि राजनीति ने हमारे मूल्यों और सामाजिक सरोकारों को बहुत हद तक डस लिया है । हमारी सोच मे राजनीति हावी है और हमारी चिंताएं भी उसके इर्द गिर्द ही घूमती दिखाई देती हैं । पता नही हम कब और कैसे राजन...
क्षितिज(horizon)...
Tag :
  December 27, 2016, 4:11 pm
भारतीय संसदीय इतिहास मे संभवत: यह पहला अवसर है जब विपक्ष ने बौखलाहट मे जनसमर्थन को नकारते हुए आत्मघाती कदम उठाने का दुस्साहस किया है  । जन भावनाओं को अनदेखा कर कालेधन को लेकर विपक्ष ने जिस तरह की राजनीति की और नोटबंदी के खिलाफ हुंकार भरी उसने राजनीति की दिशा पर सोचने ...
क्षितिज(horizon)...
Tag :
  November 30, 2016, 12:16 pm
कभी गोमती के किनारे बसा तहजीब का एक शहर था लखनऊ । नवाबों की नगरी, बागीचों का शहर लखनऊ | नवाबी काल मे अवध की राजधानी का अपना एक अलग चेहरा था परंतु एक महानगर में तब्दील होते इस शहर मे अब सब कुछ खडंहर व उजाड मे बदलने लगा है ।अब लखनऊ नवाबों की नगरी नहीं, बल्कि ” साहबों ” और ” बाबू...
क्षितिज(horizon)...
Tag :
  November 28, 2016, 12:02 pm
 मौजूदा समय मे देश दो बडी समस्याओं से जूझ रहा है । एक तरफ देश मे बढता भ्र्ष्टाचार है तो दूसरी तरफ बढता प्रदूषण  । ऐसा भी नही कि इन्हें गंभीरता से नही लिया गया । सरकारी स्तर पर प्रयास भी किये गये । लेकिन कुल मिला कर वही ढाक के तीन पात । अभी हाल मे सर्द मौसम की शुरूआत मे जि...
क्षितिज(horizon)...
Tag :
  November 16, 2016, 12:06 pm
      समय  के साथ हमारे  त्योहारों का स्वरूप तेजी से बदल रहा है |  यह बदलता स्वरूप हमें त्योहार के सच्चे उल्लास से कहीं दूर ले जा रहा है | यही कारण है कि आज तीज त्योहारों के अवसर पर वह खुशी चेहरों मे नही दिखाई देती जो कभी नजर आया करती थी ।  सच् तो यह है कि अपने  बदल र...
क्षितिज(horizon)...
Tag :
  October 28, 2016, 12:53 pm
वोट बैंक की राजनीति के चलते जिस धर्मनिरपेक्षता के नाम पर मुस्लिम तुष्टिकरण का राजनीतिक खेल खेला जा रहा था उसका बिगडेल चेहरा अब सतह पर स्पष्ट दिखाई देने लगा है । बहुसंख्यक हिंदुओं ने देश व समाज हित मे बनाये गये कानूनों पर कभी कोई संदेह नही किया । लेकिन अब  जब बात समान न...
क्षितिज(horizon)...
Tag :
  October 15, 2016, 2:01 pm
आखिरकार नाउम्मीदों का वह अंधेरा जिसने पूरे देश को निराशा के गर्त मे डाल दिया था, खत्म हुआ । एकबारगी फिर जयकारों से पूरा देश गूंज रहा है । बार बार के आतंकी हमलों और उसके बाद भारत की कमजोर् राजनीतिक प्रतिकिया से ऊबी देश की जनता को मानो एक नया टानिक मिल गया हो । दर-असल आतंकी ...
क्षितिज(horizon)...
Tag :
  October 4, 2016, 12:54 pm
इसबारउरी ।सीमापरगोलियोंऔरबमकीआवाजोंसेकिसीकोसिहरननहीहोती।लेकिनजबयहीआवाजेंघरकेअंदरजहांहमअपनेकोसबसेज्यादासुरक्षितसमझतेहैंसुनाईदेतीहैंतोडरनास्वाभाविकहीहै। हमारे सुरक्षित समझे जाने वाले सैन्य बेस पर चार आतंकीआएऔरफिरहमेघावदेगये।सोते हुए हमारे 18 जवान...
क्षितिज(horizon)...
Tag :
  September 20, 2016, 5:28 pm
भागलपुर जेल से रिहा हुए बाहुबली नेता शहाबुद्दीन की रिहाई ने बिहार  की राजनीति को एक बार फिर गरमा दिया है । इस सियासी घमासान मे सत्तारूढ जेडीयू-आर.जेडी सरकार मे उथल पुथल मची है । बात सिर्फ इतनी भर नही । बल्कि  जेल से छूटते ही शहाबुद्दीन के इस वक्तब्य ने कि मुख्यमंत्री ...
क्षितिज(horizon)...
Tag :
  September 17, 2016, 9:08 am
अपनी पत्नी की लाश को अपने कंधों पर ढोते दाना मांझी के मामले मे सिर्फ़ शासन-प्रशासन, व्यवस्था ही जिम्मेदार नही बल्कि सवाल उस पत्रकार पर भी जिसने सिर्फ़ अपने पेशेवर जिम्मेदारी का निर्वाह भर किया | माना ऐसे मामलों को बतौर पत्रकार सामने लाने की भी एक नैतिक जिम्मेदारी होती ह...
क्षितिज(horizon)...
Tag :
  August 28, 2016, 12:44 pm
(L. S. Bisht  )ईरोम चानू शर्मीला, जी हां यही नाम है मणिपुर की उस महिला का जिसे "आयरन लेडी "यानी लौह महिला भी कहा जाता है । पूर्वोत्तर मे लागू भारत सरकार के विवादास्पद कानून 'आफस्पा 'यानी सशस्त्र बल विशेषाधिकार कानून के खिलाफ उसकी लडाई की अपनी कहानी है । राष्ट्रीय - अंतरराष्ट्री...
क्षितिज(horizon)...
Tag :
  July 31, 2016, 2:12 pm
मौसम की पहली बरसात ने ही केदारनाथ व बदरीनाथ पहुंचने के तमाम रास्ते बंद कर दिये | जगह जगह पहाड़ की चट्टाने टूट कर गिरने लगीं | ऐसा पहली बार नहीं है | बरसात के मौसम मेइसी तरहसाल-दर-साल घायल होता हिमालय क्षेत्र आज हमारी उपलब्धियों के तमाम दावों को झुठलाने लगा है | साथ ही विकास...
क्षितिज(horizon)...
Tag :
  July 7, 2016, 1:27 pm
इसमे संदेह नही कि मूल्यों व आदर्शों से विहीन मौजूदा दौर की राजनीति को हम कोसने मे कहीं पीछे नही । लेकिन इस नकारात्मक्ता के बाबजूद इसी राजनीति ने कब हमे अपने मोहपाश मे बांध लिया, हम समझ भी न सके ।यही कारण है कि हमारी राजनीतिक खबरों मे जितनी दिलचस्पी है उसकी आधी भी सामाजि...
क्षितिज(horizon)...
Tag :
  May 20, 2016, 1:41 pm
21 दिसंबर 1963 को संसद मे भ्र्ष्टाचार पर हुई बहस पर डा. राममनोहर लोहिया ने जो भाषण दिया था वह आज भी प्रासंगिक है । उन्होने कहा था - "सिंहासन और व्यापार के बीच सबंध भारत मे जितना दूषित, भ्र्ष्ट व बैइमान हो गया है उतना दुनिया के इतिहास मे कहीं नही हुआ है । "साठ के दशक मे कहे गये उनक...
क्षितिज(horizon)...
Tag :
  May 5, 2016, 11:38 am
यहां महक वफाओं की, मोहब्बतों का रंग है,ये घर तुम्हारा ख्वाब है, ये घर मेरी उमंग है ये तेरा घर ये मेरा घर, किसी को देखना हो गर........... हिमालय की घाटियों मे पहाड की ढालों पर मिट्टी, पत्थर और लकडी से बने पारंपरिक मकान कभी यहां की ग्रामीण जिंदगी का हिस्सा रहे हैं । इनसे पीढीयों का ...
क्षितिज(horizon)...
Tag :
  April 19, 2016, 1:09 pm
अतीत मे हुए दर्दनाक हाद्सों से सबक न सीखने के कारण केरल के पुत्तिंगल देवी मंदिर के हादसे मे सौ से अधिक लोगों को अकाल मृत्यु का ग्रास बनना पडा । इस दर्दनाक घटना मे वास्तव मे कितने श्र्ध्दालु काल कवलित ह्ए इसकी सही संख्या का पता लगना अभी शेष है । दुर्भाग्यपूर्ण तो यह है क...
क्षितिज(horizon)...
Tag :
  April 11, 2016, 3:11 pm
उत्तराखंड की यह त्रासदी रही है कि आजादी के बाद लंबे समय तक यह राजनीतिक रूप से उत्तरप्रदेश का एक उपेक्षित हिस्सा रहा है । अपनी विशेष भौगोलिक संरचना के कारण विकास की दौड मे भी यह पर्वतीय अंचल प्रदेश के दूसरे क्षेत्रों की तुलना मे कहीं पीछे छूटता चला गया । इसके आर्थिक पिछ...
क्षितिज(horizon)...
Tag :
  March 30, 2016, 11:32 am
हर सुबह के साथ भारतीय राजनीति का चेहरा कुछ और कुरूप होता जा रहा है । अब इस बात की संभावना कहीं नही दिखती कि यह मूल्यों की राजनीति के अपने पुराने दौर की तरफ वापसी कर सकेगी । दर-असल वोट के माध्यम से जनसमर्थन की अभिव्यक्ति के महत्व ने ही इसे इस स्थिति मे ला खडा किया है ।क्या य...
क्षितिज(horizon)...
Tag :
  March 20, 2016, 11:29 am
जाट आरक्षण आंदोलन से आंदोलनकारियों को क्या मिला और आंदोलन पर राजनीतिक रोटियां सेकने वाले राजनेताओं की रोटी कितनी सिक सकी, यह तो समय् बतायेगा । लेकिन करोडों रूपये की सरकारी संपत्ति का जो नुकसान हुआ, वह किसी से छिपा नही है । जिसे जो मिला उसने उसे आग के हवाले कर अपनी पीठ थ...
क्षितिज(horizon)...
Tag :
  March 1, 2016, 1:10 pm
जे.एन.यू घटना से यह बात पूरी तरह साफ हो गई है कि हमारे विश्वविधालयों के परिसर मे दलगत राजनीति किस हद तक अपनी जडें जमा चुकी है । राजनीतिक दलों की विचारधारा के प्रभाव मे छात्रराजनीति किस सीमा तक भटकाव का शिकार हो सक्ती है, यह बात भी  पूरी तरह से उजागर हुई है । देखा जाए तो जे...
क्षितिज(horizon)...
Tag :
  February 22, 2016, 5:18 pm
कभी मान-मर्यादा, शान-ओ-शौकत का प्रतीक हुक्का बदली रूचियों में उपेक्षा का शिकार हो कर रह गया है । गांव की चौपालों से लेकर दरबारों तक इसकी अपनी शान थी । जहां एक तरफ आम आदमी के बीच यह मेलजोल का माध्यम बना वहीं राजा-रजवाडों और नवाबों की ठसक का प्रतीक भी ।इसका महत्व इस बात से ही...
क्षितिज(horizon)...
Tag :
  February 1, 2016, 4:30 pm
इंतजार की भी एक सीमा होती है । अनंतकाल तक कोई किसी के लिए इंतजार नही करता और न ही किसी चीज के लिए । लेकिन लगता है वादी के वाशिंदों के लिए अपने घर की वापसी एक सपना बन कर रह गई है ।साल-दर-साल नाउम्मीदी के बादल गहराते जा रहे हैं । भारतीय राजनीति का चरित्र देखिए तो अल्पसंख्यक त...
क्षितिज(horizon)...
Tag :
  January 29, 2016, 3:20 pm
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3652) कुल पोस्ट (163613)