Hamarivani.com

Mere jajbaat...

 जेहाद नहीं, पाप है जेहाद के नाम पर कितनी बस्तियां उजाडीं ,कितनी ही तक़दीरें बनने से पहले बिगाड़ी,मासूमों के हाथ में रख दिए हथियार,मिटा दिये सुहागिनों के सोलह श्रृंगार,तुम्हारे जुल्म कहानी कहती है कश्मीर की हर गली,ये गुलशन-ए- गुल लगता है कोई बस्ती जली ,क...
Mere jajbaat......
Tag :
  January 11, 2014, 1:50 pm
                              काश आंसू सच या झूठ बता पातेआंसू  जब  आँखों से निकल कर कपोलों पर लुढ़कते हैं,  तो  दर्शाते हैं, कि ह्रदय में  ग़मों की बर्फ  पिघल रही हैमुसीबतों कि तपिश      सिर पर  पड़ रही है,काश आंसू भी बयान दे पाते ,...
Mere jajbaat......
Tag :
  December 30, 2013, 4:08 pm
टूटकर शाख से पत्ते मिटटी मैं मिल जाते हैं,बीते हुए दिन लौट कर नहीं आते हैं,हर रिश्ते को दोनों हाथों से संभालो,आईना गर गिर तो टुकड़े बिखर जातें हैं,ना कोई शहर अजनबी है, ना कोई शख्स,प्यार से मिलोगे दुश्मन भी दोस्त हो जातें हैं,बुलबुले पानी के खिलोने नहीं हो सकते,हाथ लगते ही ...
Mere jajbaat......
Tag :
  March 27, 2013, 11:59 am

ऐसा कहा जाता है कि मनुष्य के मतिष्क मेँ नवीन विचार सुरक्षा, शांति एवम विश्राम के वातावरण मेँ अंकुरित होते हैँ। लेकिन कुछ संस्थाऐँ अपने कर्मचारियोँ को कोल्हू के बैल की तरह जोतती हैँ , तत्पश्चात अपेक्षा करती हैँ कि उनके कर्मचारी कोई आविष्कारी क्रियाकलाप करेँ। मैँ मानत...
Mere jajbaat......
Tag :
  March 6, 2013, 10:34 am
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3676) कुल पोस्ट (166902)